इन्वेस्टमेंट बैंकर कैसे बनें? जॉब, सैलरी, करियर | Investment banker Kaise Bane?

Investment banker kya hota hai, आजकल जैसे जैसे निवेश के विकल्प बढ़ते जा रहे हैं वैसे वैसे ही इन्वेस्टमेंट बैंकिंग में कम करने के विकल्प भी तेजी से बढ़े हैं। पहले यह शब्द शायद ही सुनने को मिलता था लेकिन आजकल हर (Investment banking kya hai) बड़ी कंपनी, व्यक्ति या संस्था में इन्वेस्टमेंट बैंकर का पद सबसे बड़ा और अहम (Investment banker kaise bane) माना जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि वही उस कंपनी की ग्रोथ के लिए उत्तरदायी होता हैं।

ऐसे में यदि आप भी इन्वेस्टिंग बैंकिंग में अप भविष्य बनाया चाहते हैं और जानना चाहते हैं कि इन्वेस्टमेंट बैंकर कैसे बने तो आज हम आपको इन्वेस्टमेंट बैंकर बनने के ऊपर संपूर्ण जानकारी (Investment banker ki jankari) देंगे।

इस लेख को अंत तक पढ़ने के बाद आप पाएंगे (Investment banking kya hota hai) कि कैसे आप सही तरह से पढ़कर और सही जगह पर काम करके एक सफल इन्वेस्टमेंट बैंकर बन सकते हैं। आइए जाने।

इन्वेस्टमेंट बैंकर कैसे बने? (Investment banker kaise bane)

यदि आप इन्वेस्टमेंट बैंकिंग में अपना भविष्य उज्जवल बनाना चाहते हैं तो आपको बैंकिंग प्रणाली, गणित, धन व निवेश का अच्छे से ज्ञान होना चाहिए। एक सफल इन्वेस्टमेंट बैंकर की यही सबसे बड़ी पहचान होती हैं। ऐसे में यदि आप इन्वेस्टमेंट बैंकर कैसे बने के बारे में ढूँढ रहे हैं तो आज हम आपको इसके बारे में शुरू से लेकर अंत तक बताएँगे।

दरअसल जब तक आप इन्वेस्टमेंट बैंकिंग व इन्वेस्टमेंट बैंकर के बारे में सही से नही जानेंगे तो फिर आप कैसे ही एक इन्वेस्टमेंट बैंकर बन पाएंगे। इसलिए आइए पहले इन्वेस्टमेंट बैंकर के बारे में सब कुछ जान लेते हैं।

इन्वेस्टमेंट बैंकर कैसे बनें? जॉब, सैलरी, करियर | Investment banker Kaise Bane?

इन्वेस्टिंग बैंकिंग क्या होती हैं (Investment banking kya hai)

इन्वेस्टमेंट का अर्थ होता है निवेश और बैंकिंग अर्थातापने पैसों, संपत्ति, एसेट्स व अन्य चीज़े। इस तरह किसी व्यक्ति, कंपनी या संस्था के द्वारा अपने पैसों, संपदा, चीजों का सही क्षेत्र में किया गया निवेश इन्वेस्टमेंट बैंकिंग कहलायेगा। यदि यह आपको उलझन भरा लगा तो आइए इसे सरल भाषा में समझे।

हम अपने घर पर सोना ज्यादा क्यों खरीदते हैं? या फिर शेयर क्यों खरीदते हैं? या फिर अन्य किसी चीज़ को स्टोर करके क्यों रखते हैं? आप उत्तर होगा कि (Investment banking meaning in Hindi) यह सब आप पैसा कमाने के लिए ही तो करते हैं। तो इस तरह से आपने अपने पैसों का एक उचित जगह पर निवेश किया ताकि आप और ज्यादा कमा सके।

इसके जरिये ना तो आपने कोई उत्पाद को बेचा जो की व्यापार में होता हैं और ना ही किसी के यहाँ नौकरी की जो कि कंपनी में होती हैं और ना ही किसी को कोई सेवा दी जो कि संस्थाओं में होती (Investment banking ki definition) हैं। फिर भी आपने अपने पैसों को बढ़ा लिया क्योंकि इसे आपने इन्वेस्ट या निवेश किया। तो आपके द्वारा कियाब्जाने वाला यह कृत्या इन्वेस्टमेंट बैंकिंग ही कहलायेगा।

इन्वेस्टमेंट बैंकर क्या होता है? (Investment banker kya hota hai)

अब जब आपको इन्वेस्टमेंट बैंकिंग समझ में आ गया हैं तो आशा हैं कि आपको इन्वेस्टमेंट बैंकर भी समझ में आ जाएगा। अब आप सोचेंगे कि आप भी तो अपने पैसों का निवेश करते हैं या आपके घर में आपके पिताजी या अन्य कोई और भी तो पैसों (Investment banker kya hai) का निवेश करते हैं तो हम सभी इन्वेस्टमेंट बैंकर हुए।

यदि आप स्वयं को या अन्य किसी जानने वाले को अपने पर किये गए निवेश को देखकर उसे इन्वेस्टमेंट बैंकर समझ रहे हैं तो आप गलत हैं। उन्हें बस अपने पैसों को सही तरीके से निवेश करने वाले या निवेशक कहा जाएगा।

इन्वेस्टमेंट बैंकर वो होता हैं जो किसी कंपनी, व्यक्ति या संस्था के लिए उनके पैसों को सही जगह निवेश करवाने में सहायता करें और उन्किकमाई करके दे और बदले में सैलरी ले। अब इसे भी एक उदाहरण से समझिये। अपने देश में लाखों तरह की कंपनी काम करती हैं जिनके पास बहुत सा पैसा आता हैं। इसी तरह बहुत से धनी या अमीर व्यक्ति भी हैं। ठीक उसी तरह बहुत सी संस्थाएं भी होती हैं जहाँ पर कई व्यक्तियों का पैसा लगा होता हैं।

अब उन पैसों को यूँ ही पड़े रहने (Investment banker kaise bane in Hindi) देने से अच्छा उसे निवेश करना होता हैं। यह निवेश किसी भी तरह का हो सकता हैं। निवेश कहां हो रहा हैं यह महत्वपूर्ण नही होता हैं। बल्कि निवेश को किस तरीके से निवेश किया जाए कि वह ज्यादा से ज्यादा पैसा लाकर दे, यह महत्वपूर्ण होता हैं।

ऐसे में उन कंपनी, व्यक्तियों या संस्थाओं के द्वारा अपने यहाँ ऐसे व्यक्तियों को रखा जाता हैं जिन्होंने इन्वेस्टमेंट बैंकिंग में पढ़ाई की हो और उन्हें इसका अच्छा अनुभव हो। उन्हीं व्यक्तियों को इन्वेस्टमेंट बैंकर कहा जाता हैं। अब वह व्यक्ति उस कंपनी या व्यक्ति (Investment banker kaise bante hain) को उसके पैसे सही जगह निवेश करवाने में सहायता करता हैं और उसे उचित राय देता हैं।

इन्वेस्टमेंट बैंकर क्या करता है? (Investment banker job description)

अब जब आपने इन्वेस्टमेंट बैंकर होता क्या है यह अच्छे से जान लिया हैं तो आपके मन में इन्वेस्टमेंट बैंकर के बारे में और अधिक जानने की जिज्ञासा भी बन रही होगी। ऐसे में हम आपकी जिज्ञासा पर विराम लगाते हुए आज आपको विस्तार से बताते हैं कि आख्रिकर एक इन्वेस्टमेंट बैंकर के क्या काम होते हैं या फिर वह क्या क्या कर सकता हैं। आइए जाने इन्वेस्टमेंट बैंकर के काम के बारे में।

  • एक इन्वेस्टमेंट बैंकर उक्त कंपनी या व्यक्ति को उसके पैसे निवेश करने से संबंधित सलाह दे सकता हैं जैसे कि उसे अपने पैसे किस क्षेत में निवेश करने चाहिए और क्यों करने चाहिए।
  • साथ ही इन्वेस्टमेंट बैंकर उसे यह भी बता सकता हैं कि किस क्षेत्र में निवेश करना जोखिमभरा हो सकता हैं तथा उसमे किस प्रकार का और कितना बड़ा जोखिम हो सकता हैं।
  • किस क्षेत्र में निवेश नही करना चाहिए या उसमे निवेश करने से पैसे डूबेंगे ही डूबेंगे, यह भी इन्वेस्टमेंट बैंकर का काम होता हैं।
  • मार्किट के बारे में पूरी रेसेराच करना और कहां निवेश करना बेहतर रहेगा और क्यों बेहतर रहेगा, इसके बारे में रिसर्च कर एक रिपोर्ट तैयार करना।
  • कंपनी या व्यक्ति के द्वारा निवेश किये गए पैसों से नुकसान हो रहा हैं तो उसकी भरपाई अन्य क्षेत्रों से करना।
  • अपने आप को मार्किट में हुई किसी भी बड़ी डील, समझौते, मर्जर इत्यादि से अपडेट रखना और उससे मार्किट में क्या प्रभाव पड़ सकता है, इसका आंकलन करना।
  • जिसके लिए इन्वेस्टमेंट बैंकर काम करता हैं, उसकी सभी संपत्ति, सिक्यूरिटी, बैंक बैलेंस इत्यादि के बारे में जानकारी रखना।
  • उस कंपनी या व्यक्ति के सीए या सीएस के साथ अच्छे संबंध स्थापित करना और टैक्स बचाने में मदद करना।
  • सरकार की किस स्कीम के तहत टैक्स को बचाया जा सकता हैं या सरकार की किस कल्याणकारी योजना में पैसा निवेश किया जा सकता हैं।
  • अपनी कंपनी किसी अन्य छोटी कंपनी का मर्जर करना ताकि एक बेहतर डील हो सके।

इस तरह एक इन्वेस्टमेंट बैंकर जिस भी व्यक्ति या कंपनी के लिए काम करता हैं उसे उस व्यक्ति या कंपनी के पैसों को मैनेज करने का पूरा अधिकार होता हैं। इसके साथ ही वह अपनी विशेषज्ञता के आधार पर पैसों को सही जगह निवेश कर उस व्यक्ति या कंपनी का लाभ करवाता हैं।

इन्वेस्टमेंट बैंकर कहां कहां निवेश कर सकता है?

अब आपका प्रश्न होगा कि एक इन्वेस्टमेंट बैंकर अपनी कंपनी या व्यक्ति के पैसों का कहां कहां निवेश कर सकता हैं। तो आइए अब जानते हैं कि एक इन्वेस्टमेंट बैंकर अपनी कंपनी या व्यक्ति को पैसे निवेश करने के लिए कौन कौन से क्षेत्र बता सकता हैं या उनमे निवेश कर सकता हैं।

शेयर मार्किट

इन्वेस्ट करने में यदि सबसे पहला नाम आता हैं तो वह होता हैं शेयर मार्किट में शेयर खरीदना। ऐसे में यदि उस इन्वेस्टमेंट बैंकर को शेयर मार्किट की अच्छी जानकारी हैं और किस शेयर का प्राइज कब बढ़ सकता हैं और कब गिर सकता हैं। तो वह कंपनी के पैसों को शेयर मार्किट में निवेश कर सकता हैं।

सोना या चांदी

अब सोना या चांदी ऐसे बहुमूल्य रत्न हैं जिनके भाव प्रतिदिन के अनुसार चढ़ते व गिरते हैं। ऐसे में आज सोने या चांदी का जो भाव हैं वह आवश्यक नही कि कल भी इतना ही हो। यदि आपके घर पर समाचार पत्र आता हैं तो उस पर आज के सोने व चांदी का भाव लिखा होता हैं। ऐसे में आप कंपनी का पैसा सोना या चांदी में भी निवेश कर सकते हैं।

स्टार्ट अप

आजकल बहुत सी बड़ी कंपनियां या व्यक्ति स्टार्ट अपमे भर भर कर पैसा लगा रहे हैं। ऐसा वे अपने इन्वेस्टमेंट बैंकर की सलाह पर ही करते हैं। ऐसे में इन्वेस्टमेंट बैंकर को यह देखना होता हैं कि मार्किट में कितने और किस तरह के स्टार्ट अप खुल रहे हैं, उनके प्रतिद्वंद्वी क्या हैं और उनमे पैसा लगाना भविष्य के लिए कैसा रहेगा। इस तरह एक इन्वेस्टमेंट बैंकर किसी स्टार्ट अप को आगे बढ़ाने और अपने निवेशक के पैसे बढ़ाने का काम भी करता हैं।

क्रिप्टो करेंसी

पिछले कुछ दशक में क्रिप्टो करेंसी का बिज़नेस बहुत तेजी के साथ बढ़ा हैं और लोगों के द्वारा इसमें भर भर कर निवेश भी किया गया हैं। इसमें सबसे बड़ा नाम बिटकॉइन का हैं जिसका मूल्य सबसे अधिक बढ़ा हैं।

हालाँकि अब कई देशों के द्वारा इन पर प्रतिबन्ध लगाया गया हैं लेकिन यह पूरी तरह से कभी भी बंद नही होने वाले हैं। उसी के साथ हर देश अपनी खुद की एक बिट’कॉइन करेंसी भी लाने जा रहा हैं। ऐसे में क्रिप्टो करेंसी पर निवेश करना भी एक इन्वेस्टमेंट बैंकर का काम होता हैं।

तकनीक

आजकल प्रतिदिन किसी ना किसी तरह की तकनीक आ रही हैं। फिर चाहे वह मोबाइल में हो या कंप्यूटर में या कोई अन्य डिवाइस या कोई फीचर। इस तरह तकनीक में निवेश करने के कई सारे विकल्प उपलब्ध हैं जिसमें एक इन्वेस्टमेंट बैंकर निवेश कर सकता हैं। उसे बस सही जगह और सही अवसर की तलाश होती हैं।

इस तरह से एक इन्वेस्टमेंट बैंकर दुनिया के ऐसे किसी भी क्षेत्र में अपने निवेशक का पैसा निवेश कर सकता हैं जहाँ से उसे लगता हैं कि यह भविष्य में उसे ज्यादा पैसा कमाकर देगा। फिर चाहे वह इंफ्रास्ट्रक्चर से संबंधित हो या आईटी से या किसी अन्य क्षेत्र से।

इन्वेस्टमेंट बैंकर बनने के लिए योग्यता (Investment banking qualities and skills in Hindi)

यदि आप भी इन्वेस्टमेंट बैंकर बनने का सोच रहे हैं तो इसके लिए आपके अंदर कुछ योग्यताएं होनी चाहिए ताकि आप आगे चलकर एक सफल इन्वेस्टमेंट बैंकर बन सके। तो आइए जाने एक इन्वेस्टमेंट बैंकर बनने के लिए आपके अंदर क्या क्या गुण होने चाहिए।

गणित की अच्छी समझ

दरअसल इन्वेस्टमेंट बैंकिंग अर्थात अंकों का खेल। इसमें आपको दिनभर गुणा, भाग, जोड़, घटाना, प्रतिशत, लाभ, हानि इत्यादि कई कारको को देखना होगा। ऐसे में यदि आपका गणित में हाथ कमजोर हैं तो आप फिर से एक बार सोच लीजिए कि क्या आप एक इन्वेस्टमेंट बैंकर बनने की दिशा में आगे बढ़ पाएंगे या नही।

कम्युनिकेशन स्किल्स

अब इन्वेस्टमेंट बैंकिंग का अर्थ केवल गणित में अच्छी पकड़ होना ही नही होना चाहिए बल्कि उसकी वाकपटुता भी होना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि आपको अपने निवेशक के साथ दिनभर बात करनी होगी ओरेक टीम के साथ भी समनव्य स्थापित करना होगा। ऐसे में यदि आपकी कम्युनिकेशन स्किल ही सही नही होगी तो आप अपनी बात को नही समझा पाएंगे।

डील करने की क्षमता

अब यदि आप जिस कंपनी या व्यक्ति के लिए काम कर रहे हैं और उसके लिए सही से डील नही कर पाते हैं तो फिर क्या ही लाभ। ऐसे में आपको डील कैसे की जाए यह सीखना होगा। इसमें आपकी समझदारी और कम्युनिकेशन स्किल्स व सही मौके का लाभ उठाना इत्यादि शामिल हैं।

चौकन्ने बने रहना

अब आप ही सोचिये कि आपने अपनी कैलकुलेशन का इस्तेमाल करके एक सही डील भी कर ली लेकिन कल को कोई और आपसे बेहतर डील कर ले या कुछ अन्य निवेशक उसमे हाथ मार ले तो क्या होगा। ऐसे में आपको हमेशा सतर्क रहना पड़ेगा और अपने आसपास हो रही गतिविधियों का ध्यान रखना होगा।

मल्टी टास्किंग स्किल्स

अब जब आपके ऊपर कंपनी या व्यक्ति का पैसा निवेश करने का उत्तरदायित्व होगा तो आप उसका सारा पैसा एक जगह तो लगा नही देंगे। आप अवश्य ही इसे अलग अलग क्षेत्रों में निवेश करेंगे। ऐसे में आपको एक साथ बहुत सी चीज़े देखनी होंगी और उन पर ध्यान रखना होगा।

इन्वेस्टमेंट बैंकर कैसे बने (How to become investment banker in Hindi)

अब जब आपने इन्वेस्टमेंट बैंकर के बारे में सबकुछ जान लिया हैं और आपके मन में भी यह ख्याल आ रहा हैं कि एक इन्वेस्टमेंट बैंकर कैसे बना जाए तो आज हम वह भी आपको बताएँगे। दरअसल इन्वेस्टमेंट बैंकर बनने के लिए आपको बहुत पहले से ही अपनी तैयारी शुरू कर देनी चाहिए।

यदि आप पहले से ही इसे लेकर सीरियस हो जाएंगे तो फिर आपको इन्वेस्टमेंट बैंकर बनने में कोई समस्या नही होगी। तो आइए जानते हैं कि इन्वेस्टमेंट बेकर बनने के लिए आपको क्या क्या करना पड़ेगा।

#1. दसवीं के बाद ले कॉमर्स

हम नेआप्को पहले ही कहा कि यदि आप इन्वेस्टमेंट बैंकर बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको बहुत पहले से ही तैयारी शुरू कर देनी होगी। तो ल्ज्जिये, आपकी तैयारी दसवीं के बाद से ही शुरू हो जाएगी। इसके लिए पहले तो आप दसवीं में अच्छे नंबर लेकर आये। उसके बाद जब अआपकी दसवीं पास हो जाए तब आपको 11वीं में अपने विषय के तौर पर कॉमर्स को चुनना होगा।

ऐसा इसलिए क्योंकि अन्य किसी भी क्षेत्र में आपको इन्वेस्टमेंट बैंकिंग से संबंधित विषयों के बारेमे नही पढ़ाया जाएगा केवल गणित को छोड़कर। हालाँकि यह गणित का विषय आपकी कॉमर्स में भी होगा। और यदि किसी कारणवश नही हैं तो आप एक्स्ट्रा सब्जेक्ट के तौर पर गणित विषय का ही चुनाव करें।

#2. बारहवीं में लाये 60 प्रतिशत से अधिक अंक

अब जब आप चाहते हैं कि आप इन्वेस्टमेंट बैंकिंग में अपना एक सुनहरा भविष्य बनाए तो उसके लिए आपको बारहवीं कक्षा में 60 प्रतिशत से अधिक अंक लाने होंगे ताकि आपको बेहतर कॉलेज सके। सबसे पहले तो आपको 11वीं व बारहवीं कक्षा में अपने सभी विषयों पर अच्छे से ध्यान देना होगा।

साथ ही यदि आप चाहे तो इन विषयों के बारे में अच्छे से पढ़ने के लिए आपको कोचिंग की आवश्यकता हैं तो वह भी ले। कुल मिलाकर आप अपनी जानकारी एकाउंट्स, मैथ्स, बैंकिंग जैसे विषयों में एक दम पक्की रखें। साथ ही बारहवीं में ज्यादा से ज्यादा प्रतिशत लाने का प्रयास करें।

#3. इन्वेस्टमेंट बैंकिंग में करे ग्रेजुएशन

अब जब आप अपनी बारहवीं अच्छे अंकों से पास कर लेंगे तो अगला स्टेप होगा इन्वेस्टमेंट बैंकिंग से संबंधित कोई कोर्स करना। इसमें आप एक तरह का नही बल्कि कई तरह के कोर्स कर सकते हैं। इसलिए यह आवश्यक नही कि आप किसी एक ही स्पेसिफिक कोर्स का चुनाव करें। आप अपनी सहूलियत के अनुसार नीचे दिए गए कोर्स में से कोई भी एक कोर्स कर सकते हैं।

  • बी कॉम (बैचलर इन कॉमर्स)
  • बीए फाइनेंस (बैचलर ऑफ़ आर्ट्स इन फाइनेंस)
  • बीए इकोनॉमिक्स (बैचलर ऑफ़ आर्ट्स इन इकोनॉमिक्स)
  • बीबीए फाइनेंस (बैचलर इन बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन इन फाइनेंस)

तो इस तरह से आप बैंकिंग प्रणाली से संबंधित कोई भी कोर्स में डिग्री ले सकते हैं। बहुत से लोगों को लगता हैं कि वे केवल बी. कॉम करके ही इन्वेस्टमेंट बैंकर बन सकते हैं जो कि गलत हैं। आप फाइनेंस या इकोनिमिक्स में बीए या बीबीए करके भी इन्वेस्टमेंट बैंकर बन सकते हैं।

इन सभी कोर्स को करने की अवधि 3 वर्ष की हैं। साथ ही इसमें लगने वाली फीस 50 हज़ार से लेकर 3 लाख तक की होगी। यह आपके द्वार चुने गए कॉलेज, स्थान, डिग्री इत्यादि पर निर्भर करेगा। सरकारी कॉलेज में इन कोर्स की फीस प्रिवते कॉलेज की अपेक्षा में कम होगी।

#4. इन्वेस्टमेंट बैंकिंग में पोस्ट ग्रेजुएशन

यदि आप चाहते हैं कि आपका इन्वेस्टमेंट बैंकर के तहत जल्दी और अच्छे पद पर काम मिल जाए या अच्छी सैलरी मिले तो आपको इसमें मास्टरी हासिल करनी होगी। और इन्वेस्टमेंट बैंकिंग में मास्टरी हासिल करने के लिए आपको इसमें पोस्ट ग्रेजुएशन या उच्च स्नातक की डिग्री हासिल करनी होगी। इसलिए इन्वेस्टमेंट बैंकिंग में मास्टरी करने के लिए कुछ डिग्री के नाम हैं:

  • एम कॉम (मास्टर्स इन कॉमर्स)
  • एमए फाइनेंस (मास्टर्स ऑफ़ आर्ट्स इन फाइनेंस)
  • एमए इकोनॉमिक्स (मास्टर्स ऑफ़ आर्ट्स इन इकोनॉमिक्स)
  • एमबीए फाइनेंस (मास्टर्स इन बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन इन फाइनेंस)
  • सीएफए (चार्टेड फाइनेंसियल एनालिस्ट)

इस तरह से आपको इन्ही डिग्री में कई अन्य क्षेत्र भी मिल जाएंगे जिनके तहत आप इन्वेस्टमेंट बैंकिंग में मास्टरी हासिल कर सकते हैं और उसके जरिये एक अच्छी नौकरी पा सकते हैं। हालाँकि आपको इन्वेस्टमेंट बैंकिंग में ग्रेजुएशन के तहत भी नौकरी मिल जाएगी लेकिन एक अच्छी और जल्दी नौकरी पाने के लिए आपको इसमें पोस्ट ग्रेजुएशन करनी ही पड़ेगी।

#5. इन्वेस्टमेंट बैंकिंग में नौकरी के लिए करे आवेदन

अब इन्वेस्टमेंट बैंकर के लिए सबसे अंतिम चरण के बारे में बात की जाए। अब जब आपने अपनी ग्रेजुएशन व पोस्ट ग्रेजुएशन भी कर ली हैं तो आप भारत की किसी भी कंपनी में इन्वेस्टमेंट बैंकर की पोस्ट के लिए आवेदन कर सकते हैं। पहली बात तो यदि आपका पोस्ट ग्रेजुएशन का कॉलेज ही बड़ा कॉलेज हैं तो कई कंपनियां आपके कॉलेज में ही आपको लेने आ जाएगी।

इसके लिए आपका इंटरव्यू लिया जाएगा। उसमे आपको परखा जाएगा और पोस्ट ग्रेजुएशन में आये अंकों को भी आधार बनाया जाएगा। इसके बाद आपको उस कंपनी में इन्वेस्टमेंट बैंकर की नौकरी मिल जाएगी। यदि आपके कॉलेज में कंपनी नही आई या आपको उसमे जॉब नही लगी तो आप अपनी ओर से भी भारत की किसी भो कंपनी में इन्वेस्टमेंट बैंकर के पद के लिए आवेदन कर सकते हैं।

इसके लिए आपको अपना एक अच्छा सा सीवी बनाकर उस कंपनी में भेजना होगा। उस सीवी के आधार पर वे आपसे संपर्क करेंगे और आपका इंटरव्यू लेंगे। यदि आप उनके द्वारा इंटरव्यू में चुने जाते हैं तो आपको कंपनी ज्वाइन करने की तिथि व आपकी सैलरी बता दी जाएगी।

इन्वेस्टमेंट बैंकिंग में नौकरी (Investment banker jobs in India)

अब यदि आप सोच रहे हैं कि इन्वेस्टमेंट बैंकिंग के तौर पर आपको कोम्पन्य्मे क्या नौकरी मिलेगी या आपको क्या पद दिया जाएगा। तो आइए (Investment banker career path) जानते हैं कि एक इन्वेस्टमेंट बैंकर के तौर पर क्या क्या नौकरी मिल सकती हैं।

  • जूनियर एनालिस्ट
  • सीनियर एनालिस्ट
  • टैक्स असिस्टेंट
  • बैंकिंग मैनेजर
  • चार्टेड अकाउंटेंट
  • एसोसिएट एनालिस्ट
  • मैनेजिंग डायरेक्टर

एक तरह से इन्वेस्टमेंट बैंकर का रोल या नौकरी एक ऐसी नौकरी होती हैं जिसमे यदि आपने सही काम किया तो आप उस कंपनी के शीर्ष पदों तक भी पहुँच सकते हैं। कहने का अर्थ यह हुआ कि यदि आप कंपनी को बहुत पैसा कमा कर दे रहे हैं तो अवश्य ही वे आपको बड़े पड़ देगी।

इन्वेस्टमेंट बैंकर की सैलरी (Investment banker ki salary)

अब सबसे अंतिम व मुख्य बात जो हैं कि एक इन्वेस्टमेंट बैंकर कितना कम लेता हैं। दरअसल जैसा कि हमने आपको ऊपर ही बताया कि एक इन्वेस्टमेंट बैंकर अपने काम से किसी भी कंपनी में किसी भी पद तक पहुँच सकता है। यहाँ तक कि वह उस कंपनी का डायरेक्टर तक बन सकता हैं। ऐसे में उसकी सैलरी का अनुमान लगाना बहुत मुश्किल हो सकता (Investment banker monthly salary) हैं।

यदि हम सामान्य इन्वेस्टमेंट बैंकर की बात करें तो उसकी शुरूआती सैलरी 3 लाख सालाना हो सकती हैं। जो आगे चलकर कितनी भी बढ़ सकती हैं। एक तरह से एक इन्वेस्टमेंट बैंकर 3 लाख प्रति वर्ष की शुरुआत करके 3 लाख प्रति माह भी कमा सकता हैं। इसलिए यह संपूर्ण रूप से इन्वेस्टमेंट बैंकिंग की पढ़ाई, कॉलेज और आपके अनुभव पर निर्भर करेगा।

इन्वेस्टमेंट बैंकर क्या होता है – Related FAQs

प्रश्न: निवेश बैंकर कैसे बनें?

उत्तर: निवेश बैंकर बनने के लिए आपको सबसे पहले बी कॉम, बीबीए या बीए इन फाइनेंस या इकोनॉमिक्स में डिग्री लेनी होगी।

प्रश्न: निवेश बैंकर की सैलरी कितनी होती है?

उत्तर: निवेश बैंकर की सैलरी 3 लाख प्रति वर्ष से शुरू होकर 3 लाख प्रति माह भी हो सकती है।

प्रश्न: निवेश बैंकर से आप क्या समझते हैं?

उत्तर: निवेश बैंकर से तात्पर्य किसी कंपनी या व्यक्ति के पैसों का सही जगह निवेश कर उसका लाभ कमाना होता है।

प्रश्न: एक निवेश बैंकर के लिए शुरुआती वेतन क्या है

उत्तर: एक निवेश बैंकर के लिए शुरुआती वेतन 3 लाख प्रति वर्ष के आसपास है।

प्रश्न: एक निवेश बैंकर का अधिकतम वेतन कितना होता है?

उत्तर: एक निवेश बैंकर का अधिकतम वेतन 3 करोड़ प्रति वर्ष तक हो सकता है।

तो आज के इस लेख में आपने जाना कि एक इन्वेस्टमेंट बैंकर क्या होता है, इन्वेस्टमेंट बैंकिंग क्या होती है, इसे करने के लिए किस तरह के गुण चाहिए, इन्वेस्टमेंट बैंकर बनने के लिए आपको क्या पढ़ना पड़ता है और इसमें आप किस तरह की नौकरी कर सकते हैं और उसमे कितना कमा सकते हैं इत्यादि।

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment

एक देश एक राशन कार्ड योजना नानाजी देशमुख कृषि संजीवनी योजना यूपी जनसंख्या कानून क्या है? मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना झारखण्ड कम्युनिकेशन स्किल इम्प्रूव करने के 8 तरीके