आईसीआईसीआई शेयर प्राइस | ICICI Share Price Today

|| आईसीआईसीआई शेयर प्राइस , ICICI share price NSE, Axis Bank share price, ICICI Bank share price nse, ICICI Bank share price target 2022,, ICICI Bank share price BSE, ICICI Bank share price history ||

शेयर क्या है? [What is share?]

इससे पहले कि हम आपको आईसीआईसीआई शेयर प्राइस (ICICI share price) के बारे में जानकारी दें, सबसे पहले जान लेते हैं कि शेयर क्या है? दोस्तों शेयर को सामान्य भाषा में ‘हिस्सा’ कहा जाता है। जैसे खाने की बात कोई करता है तो हम कहते हैं कि हमारा शेयर यानी हिस्सा दे दें।

यदि शेयर बाजार की बात करें तो जब कोई व्यक्ति अथवा कोई संस्थान अपनी कंपनी में निवेश बढ़ाने के लिए किसी दूसरे से पूंजी निवेश करवाता है तो उसे बदले अपनी कंपनी का कुछ मालिकाना हक दे देता है इसे शेयर कहा जाता है।

शेयर प्राइस का क्या मतलब है?

दोस्तों, अब जान लेते हैं कि शेयर प्राइस (share price) क्या होता है। दोस्तों शेयर प्राइस वह कीमत होती है, जिसे कोई व्यक्ति किसी शेयर को खरीदने के लिए कंपनी को भुगतान करता है। आपको बता दें कि आपूर्ति (supply) एवं मांग (demand) वे तत्व हैं, जो शेयर की कीमत निर्धारित करते हैं। मांग अधिक होने पर कीमत बढ़ जाती है और घटने पर घट जाती है।

इसके अतिरिक्त शेयरों की कीमत बोली एवं निवेदन पर भी निर्भर होती है। आपको बता दें कि बोली एक निश्चित कीमत के लिए शेयरों की एक निश्चित संख्या खरीदने के ऑफर (offer) को कहा जाता है। वहीं, निवेदन निश्चित कीमत पर शेयरों की किसी निश्चित संख्या को बेचे जाने का ऑफर है।

आईसीआईसीआई शेयर प्राइस | ICICI Share Price

आईसीआईसीआई के शेयर कहां-कहां लिस्टेड हैं?

मित्रों, अब आपको बताते हैं कि आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) के इक्विटी शेयर equity (share) अपने देश भारत में बांबे स्टॉक एक्सचेंज (Bombay stock exchange) यानी बीएसई (BSE) नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (national stock exchange) यानी एनएसई (NSE) एवं न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज (newyork stock exchange) यानी एनवाईई (NYE) में सूचीबद्ध (listed) हैं।

दोस्तों, आपके दिमाग में यह प्रश्न आ रहा होगा कि आखिर शेयरों को लिस्टेड क्यों किया जाता है? तो आपको बता दें कि एक्सचेंज पर लिस्टेड होने के बाद ही शेयर मार्केट में खरीद एवं बिक्री के लिए उपलब्ध होते हैं। आईपीओ (IPO) यानी इनिशियल पब्लिक आफरिंग (initial public offering) के माध्यम से कंपनी का स्टॉक प्राइमरी मार्केट (primary market) में ट्रेड (trade) के लिए उपलब्ध होता है।

इसके जरिए कंपनियां अपने लिए पूंजी जुटाती हैं। दोस्तों, आपको बता दें कि इस पैसे का इस्तेमाल कोई भी कंपनी रिसर्च एंड डेवलपमेंट यानी आरएंडडी (R&D), बिजनेस एक्सटेंशन (business extension), नए प्रोजेक्ट्स को लागू करने और यहां तक कि मौजूदा लोन को कम करने के लिए करती है।

आईसीआईसीआई का शेयर प्राइस कितना है?

दोस्तों, अब आते हैं आईसीआईसीआई शेयर प्राइस (ICICI share price) पर। आपको बता दें कि 27 जनवरी 2022 की शाम 3.30 बजे आईसीआईसीआई बैंक का शेयर प्राइस ₹794.20 था।

दिन में यह अपने न्यूनतम स्तर 781.05 रुपये से लेकर उच्चतम स्तर ₹801.50 तक पहुंचा। इससे पूर्व सुबह के वक्त यह ₹786.90 पर खुला था।

आईसीआईसीआई शेयरों की रिटर्न परफॉर्मेंस क्या रही है?

साथियों, आपको बता दें कि जब भी हम किसी कंपनी में निवेश करते हैं एवं उसके शेयर खरीदते हैं तो आंखें बंद करके नहीं खरीद लेते। विशेषज्ञ भी इसकी सलाह देते हैं कि निवेश से पूर्व जिस कंपनी में आप निवेश करना चाहते हैं, पहले उसके शेयरों की रिटर्न परफॉर्मेंस (return performance) क्या है, उस पर एक नजर अवश्य डालें।

जल्दी से आईसीआईसीआई शेयरों की परफॉर्मेंस पर एक निगाह डाल लेते हैं-

  • एक सप्ताह की परफॉर्मेंस आईसीआईसीआई बैंक के शेयर प्राइस 2.10 प्रतिशत नीचे आए हैं।
  • एक माह की परफॉर्मेंस आईसीआईसीआई बैंक के शेयर प्राइस 7.77 प्रतिशत ऊपर रहे हैं। -छह माह की परफॉर्मेंस आईसीआईसीआई बैंक के शेयर प्राइस 17.9% ऊपर रहे हैं।

साल भर में आईसीआईसीआई शेयर का उच्चतम एवं निम्नतम स्तर क्या रहा है?

साथियों, अब बात करते हैं आईसीआईसीआई शेयर के साल भर के उच्चतम एवं निम्नतम स्तर की। तो आपको बता दें कि साल भर में आईसीआईसीआई बैंक के शेयर का सबसे ऊंचा प्राइस ₹867 जबकि सबसे लो प्राइस ₹512 रहा है।

हालांकि इसमें शेयर बाजार के स्वभाव के उतार-चढ़ाव के अनुरूप लगातार बदलाव देखने को मिला है।

शेयर के नजरिए से किसी कंपनी की परफॉर्मेंस कैसे आंकते हैं?

दोस्तों, यह तो आप जानते ही हैं कोई भी निवेशक (investor) शेयर बाजार (share market) में इसलिए निवेश करता है, क्योंकि वह यहां से अधिक पैसा कमाना चाहता है। वह उम्मीद करता है कि उसने जिस कंपनी का शेयर खरीदा है, वह भविष्य में उसे और अधिक मुनाफा दे। उसकी कीमतों में भविष्य में तेजी रहे।

आपको बता दें कि किसी भी कंपनी के शेयरों की परफॉर्मेंस (performance) नापने का कोई अकेला पैमाना नहीं होता। इसके लिए कई चीजों को मद्देनजर रखना होता है, जो कि इस प्रकार से हैं-

1. PE ratio

इसे price to earning ratio भी कहा जाता है। इसे स्टॉक शेयर प्राइस (stock share price) को कंपनी की earning per share से डिवाइड करके कैलकुलेट (calculate) किया जाता है।

यदि कोई शेयर लो (low) PE Ratio पर ट्रेड कर रहा है तो इसका अर्थ है कि शेयर अंडरवैल्यूड (undervalued) है हालांकि यह कुछ अन्य कारणों पर भी निर्भर होता है।

2. Return on assets

दोस्तों, इसके जरिए यह आंका जाता है कि एक कंपनी अपने संपत्ति (property) में निवेश (investment) से कितना प्रभावशाली रिटर्न (return) प्राप्त कर सकती है।

दूसरे शब्दों में कहें तो यह प्रदर्शित करता है कि किस कदर प्रभावशाली तरीके से एक कंपनी संपत्ति खरीदने के लिए इस्तेमाल किए गए पैसे को शुद्ध आय अथवा शुद्ध लाभ (net profit) में तब्दील कर सकती है इसका माइनस में होना बुरा संकेत माना जाता है।

3. Current Ratio

दोस्तों, यह रेश्यो किसी कंपनी की देनदारियों के लिए उसकी लघु संपत्तियों के जरिए भुगतान की क्षमता को आंकता है। इसका उच्च अनुपात कंपनी की मजबूत स्थिति (strong position) को दर्शाता है।

4. Return on equity

साथियों, यह किसी फर्म की कंपनी में अपने शेयर होल्डर (share holder) के निवेश से लाभ अर्जित करने की क्षमता को आंकता है। इसका उच्च अनुपात (high ratio) ही बेहतर माना जाता है।

5. Debt to equity Ratio

साथियों, आपको बता दें कि यह पूंजी (capital) में ऋण (loan) के अनुपात को दर्शाता है। यह जितना कम होता है, इसको उतना ही अच्छा माना जाता है।

6. Inventory turnover ratio

साथियों, अब बात करते हैं inventory turnover ratio की। इसे एक्टिविटी रेश्यो (, activity ratio) भी पुकारा जाता है। यह किसी कंपनी की इन्वेंटरी लिक्विडिटी (inventory liquidity) का मूल्यांकन करने के लिए एक टूल होता है।

यह मापता है कि किसी कंपनी ने एक निश्चित समय में कितनी बार अपनी इन्वेंटरी को बेचा अथवा उसमें बदलाव किया है।

7. Sales growth

दोस्तों, सेल्स ग्रोथ किसी कंपनी की परफॉर्मेंस का एक अच्छा द्योतक होती है। इसका पॉजिटिव (positive) होना बेहद आवश्यक है। यदि यह निगेटिव (negative) होता है तो इसका मतलब है कि परफॉर्मेंस में कोई कमी रह गई है।

8. Operating margin

दोस्तों, यह किसी भी कंपनी की परिचालन अथवा ऑपरेशनल कार्यक्षमता का परिचायक होता है। यह बताता है कि कंपनी को कितने एफिशिएंट तरीके से आपरेट किया जा रहा है।

9. Dividend yield

दोस्तों, यह इसका अर्थ यह होता है कि स्टॉक प्राइस के संबंध में हम कितना डिविडेंड यानी लाभांश हासिल कर सकते हैं।

आईसीआईसीआई बैंक शेयर की परफॉर्मेंस मैट्रिक्स ऐसे समझें –

दोस्तों, जो परफॉर्मेंस निर्धारक तत्व हमने आपको ऊपर बताए हैं अब उनके आधार पर हम आपको आईसीआईसीआई बैंक शेयरों की परफॉर्मेंस मैट्रिक्स समझाएंगे। जो कि इस प्रकार से है-

PE Ratio23.72
Earning per share33.4
Price to sales ratio4.51
Price to book ratio3.33
dividend yield0.25

किसी भी कंपनी के शेयरों में निवेश से पहले यह बातें ध्यान रखें

दोस्तों, यदि आप किसी कंपनी के शेयरों में निवेश कर कुछ कमाई करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको कुछ बातों का ध्यान अवश्य रखना होगा, जो कि इस प्रकार से हैं-

निवेश में अनुशासन बेहद आवश्यक-

साथियों, यह सबसे पहला मंत्र है। निवेश में अनुशासन बेहद आवश्यक है। शेयर बाजार बेहद उठापटक वाली जगह है इसलिए निवेशक को जल्दबाजी से बचना चाहिए। लॉन्ग टर्म में कमाई के लिए एक निवेशक को सिस्टमैटिक अप्रोच (systematic approach) रखनी चाहिए।

किसी भी कंपनी के शेयर में निवेश करते वक्त पर्याप्त इन्वेस्टिगेशन कर लें। कंपनी की बैक हिस्ट्री पर एक नजर डालें इसके पश्चात ही अपने कदम आगे बढ़ाएं।

मार्केट में अपना सरप्लस फंड ही लगाएं

साथियों, मार्केट में अपना सरप्लस फंड ही लगाएं। ये वह पैसा होता है, जो आपके सभी खर्चों और अन्य आवश्यकताओं को पूरा करने के पश्चात बचता है।

आपको ताकीद कर दें कि कभी भी कर्ज लेकर शेयर मार्केट (share market) में पैसा फसाने की गुस्ताखी ना करें। इससे आप मुसीबत में फंस सकते हैं।

अपना लक्ष्य प्रैक्टिकल एवं वास्तविक रखें

अपना लक्ष्य हमेशा प्रैक्टिकल एवं वास्तविक रखें। यह मत सोचें कि आपने जो निवेश किया है, वह आपको बेस्ट रिटर्न (best return) देगा। क्योंकि यदि ऐसा नहीं होगा तो आपके सपने टूटेंगे और आप को धक्का पहुंचेगा।

शेयर बाजार के उतार-चढ़ाव को देखते हुए धैर्य बनाए रखें। सही लक्ष्य और सही एप्रोच शेयर मार्केट में सक्सेस की कुंजी है।

भावनाओं में न बसें

दोस्तों, यह एक निवेशक के लिए बेहद आवश्यक है कि वह किसी तरह की भावनाओं में न बहे। किसी प्रकार के लालच में न फंसे। यदि किसी को अपनी भावनाओं पर कंट्रोल नहीं है तो वह मार्केट में तेजी देख कर गलत शेयरों में निवेश कर देगा और लालच में अपनी कमाई भी गंवा बैठेगा।

दूसरों की देखा-देखी कोई रणनीति न अपनाएं

शेयर मार्केट में खरीद बिक्री को लेकर कोई खास सोच पाल कर न बैठें। कई निवेशक अपना पैसा जानकारों के प्रभाव में आकर इन्वेस्ट कर देते हैं। कई बार ऐसा भी होता है कि यदि किसी व्यक्ति के आसपास के लोग किसी खास शेयर में दिलचस्पी दिखाते हैं तो वह भी उसी शेयर में निवेश करने के लिए उतावले हो जाते हैं।

यह स्ट्रैटेजी सही नहीं होती। लांग टर्म में तो खास तौर पर यह कारगर साबित नहीं होती।

आईसीआईसीआई भारत का एक बड़ा बैंक है

दोस्तों, आईसीआईसीआई बैंक भारत का एक बड़ा बैंक है। कंपनी द्वारा डिपॉजिट, लोन, डेबिट/क्रेडिट कार्ड, निवेश एवं बीमा के साथ ही डीमैट अकाउंट की भी सुविधा प्रदान जा रही है। यदि एनआरआई खातों की बात करें तो बैंक में मनी ट्रांसफर, बैंक अकाउंट, इन्वेस्टमेंट, होम लोन इंश्योरेंस, एफडी पर लोन जैसी सुविधाएं मुहैया कराई जा रही हैं।

आपको बता दें दोस्तों कि आईसीआईसीआई बैंक इंडस्ट्रियल क्रेडिट एंड इन्वेस्टमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (industrial credit and investment corporation of India) की संस्था है, जिसकी स्थापना आज से 28 वर्ष पूर्व 5 जनवरी, 1994 को हुई थी। इसका हेड क्वार्टर यानी मुख्यालय मुंबई के बांद्रा कुर्ला कांप्लेक्स में है।

यह बैंक दुनिया भर के 17 देशों में वित्तीय सेवाएं (financial services) प्रदान करता है। वर्तमान में इसकी देश में 5000 से अधिक शाखाएं हैं। और करीब साढ़े 15 हजार से अधिक एटीएम (ATM) पूरे देश में काम कर रहे हैं। सन 2020 तक की बात करें तो इसके कर्मचारियों की संख्या करीब 98 हजार से अधिक थी।

बैंक के चेयरपर्सन (chair person) गिरीश चंद्र चतुर्वेदी हैं, जबकि एमडी और सीईओ (MD & CEO) संदीप बक्शी हैं। इसकी मार्केट कैपिटल (market capital) 5,51,815 करोड रुपए है।

आईसीआईसीआई बैंक का पहला आईपीओ कब आया था?

दोस्तों, आपको बता दें कि आईसीआईसीआई बैंक का पहला आईपीओ 19 जून, सन् 2007 में आया था। इसकी क्लोजिंग डेट (closing date) 22 जून, 2007 थी। उस वक्त इसके शेयर की फेस वैल्यू (face value) ₹10 थी। जबकि ऑफर प्राइस रेंज (offer price range) ₹850 से लेकर ₹950 तक थी।

शेयर क्या होता है?

शेयर का अर्थ है ‘हिस्सा’। यदि किसी निवेशक ने किसी कंपनी के शेयर खरीदे हैं तो इसका अर्थ है कि उसने उसका कुछ मालिकाना ही हासिल किया है

आईसीआईसीआई शेयर प्राइस का साल भर में न्यूनतम स्तर क्या रहा है?

साल भर की बात करें तो आईसीआईसीआई शेयर प्राइस का निम्नतम स्तर ₹512 रहा है।

PE Ratio का क्या अर्थ है?

PE Ratio का अर्थ है- price to earning ratio। यदि शेयर लो पीई रेश्यो पर ट्रेड कर रहा है तो इसका अर्थ है कि शेयर अंडरवैल्यूड है।

आईसीआईसीआई बैंक की स्थापना कब हुई?

आईसीआईसीआई बैंक की स्थापना आज से 28 वर्ष पूर्व 5 जनवरी, 1994 में हुई। यह भारत का एक बड़ा बैंक है।

यदि किसी कंपनी का return on assets नेगेटिव है तो उसका क्या अर्थ है?

यदि किसी कंपनी का return on assets नेगेटिव है तो इसे कंपनी की फ्यूचर परफॉर्मेंस (future performance) के लिए एक बुरा संकेत माना जाता है।

दोस्तों, हमने आपको आईसीआईसीआई शेयर प्राइस पर विस्तार से जानकारी दी उम्मीद करते हैं कि यह पोस्ट आपके लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। इससे शेयर प्राइस और खास तौर पर आईसीआईसीआई शेयर प्राइस को लेकर आपकी जानकारी में वृद्धि हुई होगी। यदि आपके इस पोस्ट से जुड़े कुछ सवाल अथवा सुझाव हैं, तो आप उन्हें नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हम तक पहुंचा सकते हैं। ।।धन्यवाद।।

——————————-

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment