ICICI बैंक किस देश का बैंक है? ICICI बैंक के मालिक कौन है?

|| ICICI बैंक की स्थापना कब हुई, क्या आईसीआईसीआई बैंक पहले सरकारी था, आईसीआईसीआई बैंक का मुख्यालय कहां है, ICICI बैंक के संस्थापक कौन है, ICICI बैंक के सीईओ कौन है 2022 ||

आईसीआईसीआई बैंक भारत के निजी क्षेत्र (ICICI bank kis desh ka hai) में एक ऐसा नाम है जिसके बारे मे लगभग हर कोई जानता है। यह भारत के निजी बैंक है जो भारत के अन्य निजी बैंकों में एक तरह से सबसे बड़ा बैंक माना जाता है।

आईसीआईसीआई के बारे में हम सुनते तो (ICICI bank ka malik kaun hai) बहुत हैं लेकिन इसके बारे में पूरी जानकारी हमें नही होती हैं। इसका उदाहरण आप इसी से ले सकते हैं कि हम में से 99 प्रतिशत लोगों को आईसीआईसीआई बैंक का पूरा नाम तक नही पता होगा।

ऐसे में आईसीआईसीआई बैंक किस देश का है (ICICI bank history in Hindi) या आईसीआईसीआई के मालिक का क्या नाम है, इत्यादि के बारे में भी हम नही जानते है।

इसलिए आज के इस लेख में आप जानेंगे कि आईसीआईसीआई बैंक है किस देश का व साथ ही आईसीआईसीआई बैंक का मालिक कौन है (ICICI bank ka itihaas)। इसके अलावा आपको आईसीआईसीआई बैंक का संपूर्ण इतिहास भी जानने को मिलेगा।

आईसीआईसीआई बैंक किस देश का है? (ICICI bank kis desh ka hai)

ICICI बैंक किस देश का बैंक है? ICICI बैंक के मालिक कौन है?

सबसे पहले बात करते हैं ICICI बैंक के देश की या फिर आईसीआईसीआई बैंक किस देश में स्थपित हुआ और अब यह किस देश का माना जाता है। यदि बात ICICI बैंक के मूल देश की की जाए तो वह भारत देश है क्योंकि इसी स्थापना आज से (ICICI bank kis country ka hai) लगभग 28 वर्षों पहले हुई थी।

आईसीआईसीआई बैंक की स्थापना 5 जनवरी 1994 को भारत देश के गुजरात राज्य में वडोदरा शहर में हुई थी। वडोदरा शहर भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के बाद देशभर में विख्यात हो गया था। तो बस वही से आईसीआईसीआई बैंक की नींव रखी गयी थी। वर्तमान में आईसीआईसीआई बैंक का मुख्यालय भी गुजरात के वडोदरा शहर में ही स्थित है।

आज के समय में आईसीआईसीआई बैंक बहुत बड़ा नाम बन चुका है। यदि भारत के निजी क्षेत्र के बैंकों की बात की जाए तो उसमे आईसीआईसीआई अपना प्रमुख स्थान रखता है। आज देशभर में आईसीआईसीआई बैंक की लगभग पांच हज़ार से भी ज्यादा शाखाएं हैं।

इस तरह आईसीआईसीआई बैंक जिस देश से संबंध रखता है वह भारत देश है। कहने का तात्पर्य यह हुआ कि आईसीआईसीआई बैंक भारत देश का हैं लेकिन अब यह निजी बैंक होने के साथ-साथ बहुराष्ट्रीय बैंक भी है। इसका अर्थ हुआ कि आईसीआईसीआई बैंक की शाखाएं विदेशों में भी स्थित हैं और अब यह विश्व प्रसिद्ध बैंक बन चुका है।

ICICI बैंक के मालिक कौन है? (ICICI bank ka malik kaun hai)

अभी तक आपने जान लिया कि आईसीआईसीआई बैंक है किस देश का या फिर इसका संबंध किस देश से है। अब हम जानेंगे कि आखिरकार आईसीआईसीआई बैंक का मालिक कौन है या फिर इस पर किसका अधिकार है।

अब यह कोई सरकारी बैंक तो है नही जिस पर (ICICI bank ka owner kaun hai) भारत सरकार का नियंत्रण हो। निजी बैंक होने के नाते इस पर किसी व्यक्ति विशेष का ही अधिकार होगा।

ऐसे में यदि ICICI बैंक के मालिक की बात की जाए तो ICICI बैंक के मालिक का नाम गिरीश चंद्र चतुर्वेदी है। यह आईसीआईसीआई बैंक में चेयरमैन या चेयर पर्सन (ICICI bank ka chairman kaun hai) की भूमिका निभाते हैं। इसी के साथ ICICI बैंक के सीईओ व एमडी का नाम संदीप बक्शी (ICICI bank ka CEO kaun hai) है।

यह दोनों ही ICICI बैंक के लिए सबसे महत्वपूर्ण व्यक्ति हैं और इन्हीं के द्वारा आईसीआईसीआई बैंक का संचालन किया जाता है।

हालाँकि इसकी बहुत सी हिस्सेदारी को सार्वजनिक कर दिया गया और जब से यह शेयर मार्किट में आई हैं तब से इसकी हिस्सेदारी को अलग अलग निवेशकों के द्वारा खरीद लिया गया हैं। फिर भी आईसीआईसीआई बैंक पर मालिकाना हक गिरीश चंद्र चतुर्वेदी व संदीप बक्शी ही निभाते हैं। हालाँकि इसके बारे में हम विस्तार से ICICI बैंक के इतिहास के अंदर जानेंगे।

आईसीआईसीआई बैंक का इतिहास (ICICI bank history in Hindi)

अभी तक आपने जान लिया कि आईसीआईसीआई बैंक किस देश का है व ICICI बैंक के मालिक का क्या नाम है लेकिन ICICI बैंक के इतिहास पर भी नज़र डालना आवश्यक है।

वह इसलिए क्योंकि किसी भी बैंक के बारे में संपूर्ण रूप से जानने के लिए उसके बारे में पूर्ण रूप से पता होना चाहिए तभी हम उसके बारे (ICICI bank ka itihaas) में किसी अन्य व्यक्ति को बता सकते हैं या अपनी जानकारी बढ़ा सकते हैं। इसलिए चलिए नज़र डालते हैं आईसीआईसीआई बैंक की हिस्ट्री पर।

आईसीआईसीआई बैंक का पूरा नाम (ICICI bank ka pura naam)

हम हमेशा आईसीआईसीआई बैंक का शोर्ट नाम ही लेते हैं क्योंकि इसका पूरा नाम बहुत बड़ा है। ऐसे में आईसीआईसीआई बैंक का हमेशा शोर्ट फॉर्म ही प्रचलन में रहा हैं और यही कारण रहा हैं कि हम में से अधिकांश आईसीआईसीआई बैंक का पूरा नाम या इसकी फुल फॉर्म जानते तक नही हैं। इसलिए आज आपका सबसे पहले आईसीआईसीआई बैंक का पूरा नाम जानना आवश्यक हैं।

आईसीआईसीआई बैंक का फुल फॉर्म – इंडस्ट्रियल क्रेडिट एंड इन्वेस्टमेंट कारपोरेशन ऑफ इंडिया (Industrial Credit and Investment Corporation of India) है।

यदि बात ICICI बैंक के हिंदी नाम की की जाए तो आईसीआईसीआई बैंक का हिंदी नाम भारतीय औद्योगिक ऋण और निवेश निगम (ICICI bank full form in Hindi) होगा।

इस तरह से इसका पूरा नाम बहुत बड़ा हैं और यही कारण हैं कि इसका शोर्ट फॉर्म ही हर जगह प्रचलन में हैं। यहाँ तक कि ICICI बैंक के कर्मचारियों को भी कभी कभार इसके पूरे नाम को लेकर उलझन हो जाती हैं।

इसलिए आप कहीं भी आईसीआईसीआई बैंक की शोर्ट फॉर्म इस्तेमाल कर सकते हैं और हर कोई समझ जाएगा कि आप किस बैंक की बात कर रहे हैं।

आईसीआईसीआई बैंक की स्थापना (ICICI bank ki sthapna kab hui)

हालाँकि आईसीआईसीआई बैंक की स्थापना तो वर्ष 1994 में की गयी थी लेकिन इसकी नींव वर्ष 1955 में ही पड़ गयी थी। तब तक ICICI बैंक के नाम से नही जाना जाता था और इसकी पैरेंट कंपनी विश्व बैंक या वर्ल्ड बैंक था।

उस समय यह वर्ल्ड बैंक द्वारा भारत के कई अन्य पब्लिक सेक्टर बैंक व पब्लिक सेक्टर insurance कंपनी का मिला जुला रूप था जिसका उद्देश्य भारतीयों को वित्तीय सहायता उपलब्ध करवाना था।

साथ ही इसका काम भारतीयों कंपनी को वित्तीय सहायता प्रदान कर उन्हें आगे बढ़ने में सहयोग देना भी था। इस तरह कई वर्षों तक आईसीआईसीआई बैंक ने इस तरह काम किया लेकिन अंत में इसे एक बैंक का नाम दे दिया गया।

अंत में 5 जनवरी 1994 को आईसीआईसीआई बैंक की वडोदरा में स्थापना की गयी और इसकी पैरेंट कंपनी का इसी में विलय कर दिया गया।

नए बने ICICI बैंक के पहले चेयरमैन सर Arcot Ramasamy Mudaliar बनाए गए थे जो इसके पहले कार्यकारी अध्यक्ष बने थे। वर्ष 1998 में आईसीआईसीआई बैंक ने अपने शेयर बाज़ार में ला दिए और इसके जरिये कई भारतीय निवेशकों ने कंपनी में अपनी हिस्सेदारी खरीद ली। इसमें कंपनी के लगभग 54 प्रतिशत शेयर भारतीय निवेशकों में वितरित कर दिए गए और आईसीआईसीआई ने अपने पास ४६ प्रतिशत शेयर रखे।

आईसीआईसीआई बैंक की सेवाएं (ICICI bank services and products)

अभी तक हमने ICICI बैंक के बारे में बहुत कुछ जान लिया हैं लेकिन हमारा यह जानना भी आवश्यक हैं कि आईसीआईसीआई बैंक क्ले द्वारा अपने ग्राहकों को किस किस तरह की सुविधाएँ प्रदान की जाती हैं। इसलिए ICICI बैंक के द्वारा अपने ग्राहकों को जो सुविधाएँ दी जाती हैं उनमे से कुछ इस प्रकार हैं:

  • बैंकिंग [banking]
  • ऋण [Loan]
  • क्रेडिट कार्ड्स [credit cards]
  • ट्रेडिंग [trading]
  • बीमा [Insurance]
  • म्यूच्यूअल फंड्स [mutual funds]
  • एसेट मैनेजमेंट [asset management]
  • रिस्क मैनेजमेंट [risk management]
  • वेल्थ मैनेजमेंट [wealth management]
  • इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट [investment management]
  • डिजिटल वाल्लेट्स [digital wallets]
  • लाकर्स [lockers]

इसके अलावा आईसीआईसीआई बैंक अपने ग्राहकों को बैंकिंग के जरिये पैसों के लेनदेन, ऑनलाइन भुगतान, विदेशों में पैसे भेजना या मंगवाना, सेविंग या करंट अकाउंट खोलना, इत्यादि कई तरह की सुविधाएँ प्रदान करती हैं।

आईसीआईसीआई बैंक की विदेशों में शाखाएं (ICICI bank foreign branches)

भारत में तो आईसीआईसीआई बनी की लगभग 5 हज़ार से अधिक शाखाएं हैं लेकिन विदेशों में भी आईसीआईसीआई बैंक बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। आईसीआईसीआई बैंक की लगभग 17 देशों में अपनी शाखाएं हैं जिनमे से कुछ प्रमुख देश हैं:

  • इंग्लैंड [England]
  • अमेरिका [America]
  • सिंगापोर [singapore]
  • होन्ग कोंग [Hong Kong]
  • कतर [Queue]
  • ओमान [Oman]
  • दुबई [Dubai]
  • चीन [China]
  • दक्षिण अफ्रीका [South Africa]
  • बांग्लादेश [Bangladesh]
  • मलेशिया [Malaysia]
  • इंडोनेशिया इत्यादि। [Indonesia etc.]

ICICI बैंक के बारे में अन्य जानकारी (ICICI bank ke bare mein jankari)

चलिए अब अंत में ICICI बैंक के बारे में कुछ अन्य जानकारी भी जुटा ली जाए ताकि हमारी जानकारी अधूरी ना रह जाए।

  • ICICI बैंक के देशभर में लगभग 5,275 शाखाएं काम कर रही हैं।
  • ICICI बैंक के देशभर में 15,589 एटीएम काम करते हैं।
  • आईसीआईसीआई बैंक एक सार्वजनिक बैंक है।
  • आईसीआईसीआई बैंक का वर्ष 2022 तक रेवेन्यु 157,536 करोड़ रुपए है।
  • आईसीआईसीआई बैंक में लगभग 1 लाख से ज्यादा कर्मचारी काम करते है।

आईसीआईसीआई बैंक से Related FAQs

प्रश्न: आईसीआईसीआई मुख्यालय कहाँ है?

उत्तर: आईसीआईसीआई बैंक का मुख्यालय गुजरात के वडोदरा शहर में है।

प्रश्न: आईसीआईसीआई बैंक क्या करता है?

उत्तर: आईसीआईसीआई बैंक लोगों को ऋण देता है व लोगों के पैसे को सुरक्षित रखता है व साथ ही अपने ग्राहकों को बैंक से संबंधित सभी प्रकार की सुविधाएँ उपलब्ध करवाता है।

प्रश्न:  आईसीआईसीआई बैंक की शुरुआत कैसे हुई?

उत्तर: पहले यह वर्ल्ड बैंक के अधीन था लेकिन वर्ष 1994 में इसी भारत में एक निजी बैंक के तौर पर शुरू किया गया और इसका नाम आईसीआईसीआई बैंक कर दिया गया।

प्रश्न: आईसीआईसीआई बैंक 2022 के अध्यक्ष कौन है?

उत्तर: आईसीआईसीआई के वर्तमान अध्यक्ष संदीप बक्शी जी हैं जो इसके एमडी व सीईओ हैं।

प्रश्न:  ICICI की फुल फॉर्म क्या है?

उत्तर: आईसीआईसीआई बैंक की फुल फॉर्म इंडस्ट्रियल क्रेडिट एंड इन्वेस्टमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया है।

प्रश्न:  क्या आईसीआईसीआई बैंक पहले सरकारी था?

उत्तर: नही, आईसीआईसीआई ना तो पहले और ना अब सरकारी बैंक था। यह हमेशा से एक निजी बैंक रहा है।

तो आज के इस लेख में आपने जाना कि आईसीआईसीआई बैंक का मालिक कौन है, आईसीआईसीआई बैंक किस देश का है और आईसीआईसीआई बैंक का इतिहास क्या है इत्यादि। आशा हैं कि आप जो जानकारी ढूँढना छह रहे थे वह सब आपको इस लेख के माध्यम से मिल गयी होगी।

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment

शेयर मार्किट से पैसे कैसे कमाए? जमीन का सरकारी रेट कैसे पता करें? ओटीटी प्लेटफॉर्म क्या है? OTT कैसे काम करता है? सरकारी बैंकों से लोन कैसे लें? इनकम टैक्स चोरी की शिकायत कैसे करें?