गैस कनेक्शन कैसे ट्रांसफर करें, प्रक्रिया, आवश्यक दस्तावेज

गैस कनेक्शन कैसे ट्रांसफर करें, इंडेन गैस कनेक्शन ऑनलाइन ट्रांसफर, एचपी गैस कनेक्शन ऑनलाइन ट्रांसफर, गैस कनेक्शन ट्रांसफर आवेदन, भारत गैस कनेक्शन ऑनलाइन ट्रांसफर, इंडेन गैस कनेक्शन ट्रांसफर फॉर्म, मृत्यु के मामले में इंडेन गैस कनेक्शन हस्तांतरण, परिवार के सदस्य को इंडेन गैस ट्रांसफर।

इस समय देश के अधिकांश घरों में घरेलू गैस पर खाना पक रहा है। कई बार ऐसा होता है कि किराये पर रहने वाले अपना मकान बदलते हैं या फिर उनका दूसरे शहर में ट्रांसफर हो जाता है, अब समस्या उठती है गैस कनेक्शन ट्रांसफर की। लोगों को लगता है कि घरेलू गैस कनेक्शन ट्रांसफर कराना एक बेहद मुश्किल काम है। कई लोग लंबी लाइन और प्रक्रिया का झांसा देकर उनके डर को बढ़ाते भी हैं। कई बार घरेलू सिलेंडर में किसी तरह की दिक्कत आने भी लोगों को कनेक्शन या एजेंसी बदलने की सलाह दी जाती है। लेकिन ज्यादातर लोग यही सोचते हैं कि यह काम कैसे होगा।

गैस कनेक्शन कैसे ट्रांसफर करें? How to transfer a gas connection?

दोस्तों, यदि आप भी यही सोचते हैं तो कतई परेशान हों। ऐसा नहीं है। आपको बता दें कि गैस कनेक्शन ट्रांसफर कराना अब एक आसान प्रक्रिया है। आप गैस कनेक्शन कैसे ट्रांसफर करा सकते हैं आज इस पोस्ट में हम आपको यही जानकारी देंगे। आपको इसकी पूरी प्रक्रिया कदमवार बताएंगे और यह भी बताएंगे कि इसके लिए आपको किन दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी। आइए, शुरू करते हैं-

अपने एरिया में गैस कनेक्शन कैसे ट्रांसफर करें? How to transfer gas connection in the same area?

गैस कनेक्शन कैसे ट्रांसफर करें, प्रक्रिया, आवश्यक दस्तावेज

दोस्तों, सबसे पहले बात अपने मुहल्ले की। यदि आप जिस मुहल्ले में रहते थे और अब इसी मोहल्ले में नए घर में शिफ्ट हुए हैं तो आपको अपने डिस्ट्रीब्यूटर से संपर्क करना होगा। आपको वह एक फॉर्म देगा। आपको इस फॉर्म को भरना होगा। इस पर नए घर का पता लिखने के साथ ही प्रमाण पत्र भी संलग्न करना होगा। इसके अलावा आपको कोई जानकारी देने की जरूरत नहीं पड़ेगी, क्योंकि अन्य जानकारी गैस एजेंसी के पास पहले से ही रहती है।

यह प्रक्रिया आप ऑनलाइन अपने अकाउंट में लॉग इन करके भी पूरी कर सकतें हैं। यदि आपका अपने गैस कंपनी की वेबसाइट पर अकाउंट नही है तो इसके लिए आपको पहले वेबसाइट http://mylpg.in/index.aspx पर जाकर अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नम्बर से अकाउंट बनाये और फिर अप्लाई करें।

शहर बदलने पर गैस कनेक्शन कैसे ट्रांसफर करें? How to Transfer Gas Connection to Another City?

हमने ऊपर आपको बताया है कि यदि आप मुहल्ले में ही दूसरे मकान में शिफ्ट हुए हैं तो किस तरह गैस कनेक्शन ट्रांसफर करा सकते हैं। आपने देख ही लिया है कि यह बेहद आसान प्रक्रिया है। लेकिन दोस्तों, यदि आपने शहर बदल लिया है तो गैस कनेक्शन के ट्रांसफर की प्रकिया थोड़ी अलग है। यह प्रक्रिया क्या है? आपको क्या क्या कदम उठाने होंगे? आइए जानते हैं-

  • सबसे पहले आपको अपनी पुरानी एजेंसी पर जाकर संपर्क करना होगा।
  • यहां पर आपको अपना सब्सिक्रप्शन वाउचर, डोमेस्टिक गैस कंज्यूमर कार्ड, ट्रांसफर सब्सक्रिप्शन वाउचर, सिलेंडर और रेगुलेटर को जमा करना होगा।
  • प्रक्रिया के तीसरा कदम यह है कि इसके बाद आपका डिस्ट्रीब्यूटर आपको टर्मिनल वाउचर बनाकर दे देगा।
  • इस टर्मिनल वाउचर को लेकर जब आप उस शहर में पहुंचेंगे, जहां आपका ट्रांसफर हुआ है तो वहां आपको अपनी नजदीकी एजेंसी से संपर्क करना होगा।
  • यहां आपको अपना टर्मिनल वाउचर और नए घर का पता जमा कराना होगा।
  • बस इसके बाद आपके दस्तावेज की जांच और पते के सत्यापन के बाद यह नई एजेंसी आपको रेगुलेटर और गैस सिलेंडर प्रदान कर देगी।

यह भी जानें –

उपकरण जमा करने पर मिल जाती है सिक्योरिटी मनी

जैसा कि आप जानते ही हैं कि गैस कनेक्शन देते समय एजेंसी आपसे एक सिक्योरिटी डिपॉजिट कराती है। ऐसे में जब आप गैस कनेक्शन ट्रांसफर दूसरे शहर में चाहते हैं और पहले मिले उपकरण जमा करा देते हैं तो प्रक्रिया पूरी होने के बाद पुरानी एजेंसी आपको सिक्योरिटी मनी वापस कर देती है। और एक तथ्य यह भी है कि नई एजेंसी पर आपको सिक्योरिटी राशि फिर से जमा करानी होती है। यहां भी वही प्रक्रिया है कि यदि इसके बाद आप अपने गैस कनेक्शन को किसी अन्य शहर में ट्रांसफर कराएंगे तो यह एजेंसी भी आपको आपकी सुरक्षा राशि वापस कर देगी।

घरेलू गैस वितरक कंपनी बदलना चाहते हैं तो भी मुश्किल नहीं

यदि आप अपना वितरक बदलना चाहते हैं तो वह भी बेहद आसान है। लेकिन इसकी प्रक्रिया कनेक्शन ट्रांसफर करने की प्रक्रिया से एकदम अलग है। आपको सबसे पहले अपने पुराने वितरक के कार्यालय में जाकर रजिस्ट्रेशन के समय मिला सब्सक्रिप्शन वाउचर जमा करना होगा।

यहां से आपको टर्मिनल वाउचर मिलेगा। इसमें आपको नया पता दर्ज करना होगा। वाउचर को पूरी तरह भरकर मुहर लगाकर पुराना वितरक आपको सौंप देगा। टर्मिनल वाउचर यहां से नई गैस एजेंसी पहुंचता है और चार से पांच दिन के भीतर ही पता बदल जाता है। ग्राहक को नई एजेंसी से नए कंज्यूमर नंबर के साथ डोमेस्टिक गैस कंज्यूमर कार्ड के साथ मिलता है।

  • आधार कार्ड, जो कि अपडेट कराया गया हो
  • टेलीफोन बिल
  • बिजली का बिल
  • वोटर आईडी
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • पासबुक की फोटो कॉपी
  • आवास के रजिस्ट्रेशन दस्तावेज
  • पासपोर्ट और स्व घोषणा पत्र

यह भी जानें –

यदि आप गैस एजेंसी बदलना चाहते हैं तो उसके लिए इस प्रकार आवेदन कर सकते हैं-

यदि आप अपनी घरेलू गेस की सरकारी एजेंसी मसलन इंडेन, भारत गैस और एचपी का सिलेंडर लेते हैं तो आपको सब्सिडी प्राप्त होती है। इस प्रक्रिया के लिए आपके पास राशनकार्ड होना आवश्यक है। प्राइवेट गैस कनेक्शन के लिए आपके पास केवल पते का प्रमाण यानी एड्रेस प्रूफ ही चाहिए।

ज्यादातर प्राइवेट और सरकारी गैस एजेंसियों से आपको 14.2 किलो और पांच किलो गैस की क्षमता वाले सिलेंडर मिलते हैं। आपको यह भी बता दें कि सरकारी और प्राइवेट गैस एजेंसियों में सिलेंडर का साइज अलग अलग होता है, इसलिए यदि आप किसी से इनकी अदला बदली चाहें तो वह नहीं की जा सकती।

ऑनलाइन गैस कनेक्शन के लिए कैसे अप्लाई करें?

इसके लिए भी एक प्रक्रिया निर्धारित है। आपको क्या क्या कदम उठाने होंगे। आइए, आपको इनसे अवगत कराते हैं-

  • सबसे नजदीकी गैस एजेंसी से संपर्क करें।
  • जब एक बार आप आनलाइन पेमेंट कर देंगे तो एजेंसी से कोई एजेंट आकर आपके घर कनेक्शन इंस्टाल कर देगा।
  • पेमेंट के बाद आपको एक रेफरेंस नंबर मिलता है, जिसके जरिये आप अपने सिलेंडर की डिलीवरी ट्रैक कर सकते हैं।

गैस कनेक्शन के लिए जरूरी कागजात

अब आपको यह बताते हैं कि यदि आप गैस कनेक्शन लेना चाहते हैं तो उसके आवश्यक कागजात कौन कौन से हैं। दोस्तों यह इस प्रकार से हैं-

आपकी पहचान के लिए यह दस्तावेज चाहिए-

  • आधार कार्ड,
  • पासपोर्ट,
  • पैन कार्ड और
  • ड्राइविंग लाइसेंस

निवास स्थान के प्रमाण के तौर पर इन दस्तावेजों से काम चला सकते हैं-

  • राशन कार्ड,
  • पिछले तीन महीने का कोई बिजली बिल,
  • पिछले तीन माह का कोई टेलीफोन बिल,
  • वोटर आईडी,
  • घर के किराए की रसीद,
  • जहां नौकरी करते हैं, वहां का सर्टिफिकेट।

यह भी जानें –

ऑफलाइन गैस कनेक्शन कैसे लें?

ऑनलाइन की ही तरह ऑफलाइन गैस कनेक्शन लेने की भी एक पूरी प्रक्रिया है। आप यह कनेक्शन इस तरह से ले सकते हैं-

  • सबसे पहले आपको अपनी नजदीकी एजेंसी पर जाना होगा।
  • यहां आवेदन फॉर्म लेकर उसे पूरी तरह भरना होगा। याद रखें सारी जानकारी सही हो।
  • फॉर्म के साथ आवश्यक दस्तावेज सबमिट करने के बाद आपको एक रसीद दी जाएगी।
  • इसके साथ ही आपको रजिस्ट्रेशन और गैस बुकिंग नंबर दिया जाएगा।
  • इसके अलावा एजेंसी से आपकी गैस बुकिंग का ब्योरा रखने के लिए एक घरेलू गैस ग्राहक कार्ड यानी डीजीसीसी बुकलेट या पासबुक दी जाएगी।
  • आपको बता दें कि एजेंसी घरेलू गैस कनेक्शन देते समय कुछ सिक्योरिटी डिपॉजिट भी कराती है। यह फीस एजेंसी के हिसाब से अलग अलग हो सकती है। कुछ एजेंसियां इसके लिए अधिक शुल्क लगाती हैं, जबकि कुछ के लिए यह नॉमिनल फीस होती है।

सिक्योरिटी डिपॉजिट में क्या क्या शामिल है?

आपको यह भी बता दें कि इस डिपाजिट में सिलेंडर की लागत, एक रेगुलेटर, पहले सिलेंडर में गैस भरने की फीस, एक गैस ट्यूब और इंस्टालेशन फीस शामिल होती है। आपको बता दें कि इस पूरी प्रक्रिया में करीब एक माह का समय लग सकता है। हालांकि पहले के मुकाबले अब प्रक्रिया को बेहद आसान कर दिया गया है। लोगों को अब पहले की तरह हाय तोबा की जरूरत नहीं रह गई है। दूसरे, उनके पास अब एजेंसियां अधिक होने की वजह से विकल्प भी अच्छे-खासे हैं। वह चाहें तो सरकारी एजेंसी से सिलेंडर ले सकते हैं या फिर इसे बदलकर किसी प्राइवेट एजेंसी से सिलेंडर की व्यवस्था कर सकते हैं। यह अलग बात है कि अभी भी ज्यादातर ग्राहक सरकारी एजेंसी पर ही अपना भरोसा दिखाते हैं।

हालांकि एजेंट्स की सुविधा लोग निजी एजेंसियों में अधिक बेहतर मानते हैं। सिलेंडर पर जैसा कि आप जानते ही हैं कि सब्सिडी की भी सरकार ने व्यवस्था की है। इसे यदि आप ले रहे हैं तो आपका पता बदल जाता है तो उसके लिए भी आपको अपना मोबाइल नंबर और पता हमेशा अपडेट कराना होगा। आपका आधार कार्ड भी आपके बैंक खाते से लिंक होना आवश्यक है। ऐसा इसलिए है कि यदि यह कार्ड आपके बैंक खाते से लिंक नहीं होता तो सब्सिडी आने में दिक्कत हो सकती है। दूसरे सब्सिडी आने पर बैंक आपके खाते में एक मैसेज भी भेजता है ताकि यह कन्फर्म हो सके कि आपके खाते में सब्सिडी का पैसा आ गया है।

ऐसा न होने पर इस प्रक्रिया में समस्या खड़ी हो सकती है। इसके लिए आपको उस बैंक शाखा के, जहां आपका खाता है, उसके संपर्क में रहना भी अति आवश्यक है। यदि घरेलू गैस कनेक्शन धारक, यानी जिनके नाम पर कनेक्शन है, उनकी मौत हो जाती है तो भी आपको इसे कागजात में अपडेट कराना होगा, ताकि सब्सिडी को लेकर कागज अपडेट किए जा सकें।

बाजार या पेट्रोल पंप से भी ले सकते हैं छोटे सिलेंडर

यदि आप या आपका कोई परिचित दूसरे शहर में है और वह पीजी से बचना चाहता है और अपना खुद का छोटा सिलेंडर लेना चाहता है तो आपको बता दें कि यह सिलेंडर बाजारों से लिए जा सकते हैं। इसके साथ ही यह पेट्रोल पंपों पर भी उपलब्ध हैं। इसके लिए आपको केवल आपके आधार कार्ड की आवश्यकता पड़ेगी। यही आपके यानी ग्राहक के निवास स्थान के पते और आपके फोटो पहचान पत्र के बतौर काम करेगा।

बाजारों में आपसे आपका फोटोग्राफ भी मांगा जा सकता है। यह छोटे सिलेंडर अधिकांशत: पांच किलोग्राम के होते हैं। इनसे बाहर रहने वाले लोगों, खास तौर पर छात्रों को बहुत लाभ होता है। सबसे बड़ा फायदा तो यही होता कि इन सिलेंडर के लिए अधिक कागजात की आवश्यकता नहीं होती। आसानी से उपलब्ध हो जाते हैं। इन्हें रीफिल कराना भी बेहद आसान होता है। बस सिलेंडर लेकर या तो बाजार में इनकी दुकान पर निकल जाएं या फिर पेट्रोल पंप पर ही रीफिल किया जा सकता है।

तो दोस्तों, यह थी गैस कनेक्शन कैसे ट्रांसफर करें, विषय पर पूरी जानकारी। उम्मीद है कि इस जानकारी के सहारे आप आसानी से अपना गैस कनेक्शन ट्रांसफर करा सकेंगे। यदि आप हमसे किसी खास विषय पर जानकारी चाहते हैं तो उसका नाम हमें नीचे दिए गए कमेंट बाक्स में लिखकर भेज सकते हैं। आपके किसी भी सुझाव और प्रतिक्रिया का बेहद स्वागत है। हमें शिद्दत से इंतजार है। ।।धन्यवाद।।

Spread the love

अनुक्रम

Leave a Comment