पीएफ के लिए फार्म 15जी कैसे भरें? How To Fill Form 15G For PF

|| पीएफ के लिए प्रपत्र 15जी कैसे भरें, how to fill form 15G for PF, 15g फॉर्म कैसे भरें, 15G फॉर्म डाउनलोड, 15G Form online, Form 15G download in Word format, 15 एच फॉर्म PDF ||

पीएफ का हिंदी में अर्थ भविष्य निधि होता है। नाम से ही स्पष्ट है कि नौकरीपेशा लोगों की तनख्वाह से उसका कुछ हिस्सा उसके भविष्य की आवश्यकताओं को देखते हुए भविष्य निधि के रूप में काटकर जमा किया जाता है। यह उनके नौकरी छोड़ने पर निकाला जा सकता है।

अथवा किसी विशेष आवश्यकता की पूर्ति के लिए इसे एडवांस में निकालने की भी सुविधा दी जाती है। कोरोना महामारी के दौरान लोगों की आवश्यकता को देखते हुए सरकार ने लोगों को उनके पीएफ की 75 प्रतिशत राशि अथवा तीन माह की आय, जो भी कम हो, एडवांस में निकालने की सुविधा दी थी।

आपको बता दें कि कई लोगों को पीएफ निकालने पर फार्म 15जी भी भरना पड़ा। इस पोस्ट में हम आपको यही बताएंगे कि फाॅर्म 15जी क्या होता है? इसे भरने से क्या होता है? इसे किस प्रकार भरा जाता है? आदि। आइए, शुरू करते हैं-

फार्म 15जी क्या है? (what is formG)

दोस्तों, सबसे पहले जान लेते हैं कि प्रपत्र यानी फाॅर्म-15 जी क्या है। आपको बता दें कि यदि आपकी नौकरी को 5 वर्ष पूरे नहीं हुए हैं एवं आपको 50 हजार रुपए से अधिक पीएफ राशि निकालनी है तो इसके लिए आपको क्लेम फाॅर्म भरने के साथ ही फाॅर्म 15 जी भी भरने की आवश्यकता होती है।

इस फाॅर्म को भरकर जमा करने से जो पीएफ की रकम आपको मिलेगी, उस पर टीडीएस (TDS) नहीं कटेगा और पूरा पैसा आपको मिल जाएगा।

पीएफ के लिए फार्म 15जी कैसे भरें? How To Fill Form 15G For PF

यदि फार्म 15जी नहीं भरा जाता तो क्या होता है? (what if a person does not fill form 15G)

साथियों, अब आपके मस्तिष्क में यह सवाल जरूर उठ रहा होगा कि यदि आप प्रपत्र 15जी नहीं भरते तो क्या होता है। यदि आप ऐसा नहीं करते तो आपको मिलने वाले पीएफ की राशि से टीडीएस (TDS) कटेगा और वह भी कोई कम नहीं, बल्कि 10%।

इस लिहाज से पांच वर्ष से पूर्व पीएफ की 50 हजार रूपये से अधिक राशि निकालते हुए प्रपत्र 15जी को भर लेने में ही समझदारी है।

यदि पीएफ खाताधारक की उम्र 60 वर्ष से अधिक होती है तो 15 जी के स्थान पर प्रपत्र 15 एच भरा जाता है

मित्रों, बहुत से लोग प्रपत्र 15 जी एवं 15 एच में कन्फ्यूजन करते हैं। लेकिन इस मामले में कन्फ्यूज होने की कतई आवश्यकता नहीं। आज हम आपको इन दोनों फार्म्स में अंतर समझाएंगे।

जिन पीएफ खाताधारक लोगों की उम्र 60 वर्ष से कम होती है, उन्हें पीएफ निकालने के लिए आवेदन करते वक्त फार्म 15जी भरना होता है, लेकिन जिनकी उम्र 60 साल से अधिक होती है उन्हें फाॅर्म 15 एच भरना होता है। शर्त बस यही है कि आपकी साल भर की कुल आमदनी इतनी न हो कि आपको उस पर टैक्स चुकाना पड़े।

पीएफ निकालने के लिए प्रपत्र जी को कैसे भरा जाता है (how to fill form 15G while drawing PF amount)

अब आपको जानकारी देंगे कि आप पीएफ निकालने के लिए फार्म 15जी कैसे भर सकते हैं। इसकी एक आसान सी प्रक्रिया है, जो कि इस प्रकार से है-

  • सबसे पहले आपको ईपीएफओ के UAN यूनिफाइड पोर्टल https://unifiedportal-mem.epfindia.gov.in/member interface/ पर जाना होगा।
  • यहां आपको यूनिवर्सल एकाउंट नंबर मेंबर ई-सेवा (member e-seva) का login box दिखेगा।
पीएफ के लिए फार्म 15जी कैसे भरें? How To Fill Form 15G For PF
  • अब यहां आपको अपने username एवं password डालकर, दिए गए बाक्स में कैप्चा कोड (captcha code) भरकर login करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको आनलाइन सर्विसेज (online services) के आप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • यहां आपको ड्राप डाउन मेनू में से पहले स्थान पर दिखाई दे रहे क्लेम फाॅर्म (claim form) 31,19,10सी के आप्शन पर क्लिक करना होगा।
पीएफ निकालने के लिए प्रपत्र जी को कैसे भरा जाता है (how to fill form 15G while drawing PF amount)
  • अब आपके सामने जो पेज खुलेगा, आपको उसमें अपनी पर्सनल डिटेल्स (personal details) जैसे – आपका नाम, पिता का नाम, जन्म तिथि मोबाइल नंबर, आधार कार्ड संख्या, पैन कार्ड संख्या, बैंक खाता संख्या आदि भरनी होगी।
  • इसके पश्चात आपको वेरिफाई (verify) के आप्शन पर क्लिक करना होगा। यानी सत्यापित करना होगा कि यह आपका वही बैंक एकाउंट (bank account) है, जो आपके ईपीएफ एकाउंट (EPF account) से लिंक्ड है।
  • इतना करने के पश्चात आपके सामने एक वार्निंग (warning) खुलेगी जिसमें आपको प्रमाणित करना होगा कि-
  • आपने आपके पीएफ क्लेम फाॅर्म (pf claim form) में दिख रहे बैंक खाते (bank account) की जानकारी को चेक कर लिया है। साथ ही आपको इस बात की जानकारी है कि इसमें आपके ईपीएफ की रकम जमा होगी।
  • दूसरे, आपको आपके यूएएन (UAN) से जुड़े सभी पीएफ खातों (PF accounts) से संबंधित क्लेम (claim) के लिए आवश्यक योग्यताओं (eligibility) की जानकारी है। ईपीएफओ (EPFO) को निर्धारित नियमों एवं शर्तों के अनुसार एवं सर्विस के हिसाब से पीएफ क्लेम (PF claim) के सेटलमेंट (settlement) का अधिकार होगा। इसके अनुसार क्लेम को मंजूर (accept) अथवा नामंजूर यानी रिजेक्ट (reject) करने का अधिकार होगा।
पीएफ निकालने के लिए प्रपत्र जी को कैसे भरा जाता है (how to fill form 15G while drawing PF amount)
  • इन शर्तों को पढ़ने के बाद यदि आप इन शर्तों से सहमत हों तो आपको YES के विकल्प पर क्लिक (click) करना होगा।
  • आपको एकाउंट वेरिफाई (account verify) होने के पश्चात फाॅर्म में नीचे proceed for online claim का option दिखेगा है। आपको बेहिचक इस आप्शन पर क्लिक करना होगा।
पीएफ निकालने के लिए प्रपत्र जी को कैसे भरा जाता है (how to fill form 15G while drawing PF amount)
  • अब आपको next पेज पर पीएफ से जुड़े क्लेम का प्रकार चुनना होगा। आपके सामने तीन आप्शन आएंगे-
  • a) only PF withdrawal form-19,
  • b) only pension withdrawal form 10C
  • c) PF advance form 31
  • आपको इसमें से पहला आप्शन only PF withdrawal को चुनना होगा।
  • इस पर क्लिक करते ही आपके सामने सबसे पहले upload form 15G का आप्शन आएगा है।
  • आपको इसके सामने दिख रहे choose file के आप्शन पर क्लिक करना होगा एवं पहले से भरे हुए form 15G की पीडीएफ (PDF) अपलोड (upload) करनी होगी। आपको बता दें कि इस पीडीएफ फाइल (PDF file) का साइज (size) 1mb से ज्यादा न हो, वरना यह अपलोड नहीं होगी।
  • फार्म 15जी अपलोड करने के पश्चात आपको अगले काॅलम में अपना पता (address) एवं पिनकोड (pin code) दर्ज करना होगा।
पीएफ निकालने के लिए प्रपत्र जी को कैसे भरा जाता है (how to fill form 15G while drawing PF amount)
  • इसके पश्चात आपको अपने बैंक एकाउंट (bank account) की चेकबुक (cheque book) अथवा पासबुक (passbook) की scanned काॅपी अपलोड (upload) करनी होगी। आपको बता दें कि यह केवल जेपीजी (jpg) अथवा जेपीईजी (JPEG) फाॅर्मेट (format) में ही होनी चाहिए। साथ ही इनका साइज न्यूनतम 100kb एवं अधिकतम 500kb तक ही होना चाहिए।
  • इसके पश्चात आपको आधार कार्ड संबंधी डाटा (aadhar card related data) इस्तेमाल करने के लिए सहमति देने संबंधी घोषणा पत्र यानी डिक्लेरेशन (declaration) पर टिक (tick) करना होगा।
  • अब आपको सबसे नीचे (Get aadhar OTP) के आप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके आधार में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर (registered mobile number) पर वेरिफिकेशन (verification) के लिए एक ओटीपी (OTP) आएगा। इसे बाक्स में भरकर आपको apply को वैलिडेट करना होगा। इस प्रकार आपके आवेदन पर तीन दिन में प्रोसेसिंग शुरू हो जाएगी।

अपना पीएफ कैसे चेक करें? How To Check Your PF?

यहां अभी अभी हमने आपको पीएफ निकालने की प्रक्रिया की जानकारी दी। यदि आप भी नौकरीपेशा हैं एवं आपका भी पीएफ कटता है तो आप कई प्रकार से अपने पीएफ का बैलेंस पता कर सकते हैं। आइए जान लेते हैं कि यह तरीके कौन कौन से हैं-

मिस्ड काॅल के माध्यम से (by missed call)-

मित्रों, यह पीएफ का बैलेंस जानने का सर्वाधिक आसान सा तरीका है। आपको मिस्ड काॅल के माध्यम से पीएफ की राशि चेक करने के लिए अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 011-22901406 पर मिस्ड काॅल देनी होगी। इसके पश्चात आपको ईपीएफओ से एक मैसेज के माध्यम से आपके पीएफ एकाउंट का सारा ब्योरा मिल जाएगा। एक और जरूरी बात।

इस तरीके से अपने पीएफ का बैलेंस जानने के लिए आवश्यक है कि आपके यूएएन यानी यूनिवर्सल एकाउंट नंबर से आपका बैंक एकाउंट, पैन कार्ड नंबर एवं आधार कार्ड लिंक हों।

एसएमएस के माध्यम से (by sending an sms)-

यह भी पीएफ का बैलेंस जानने का एक आसान तरीका है। यदि आपका मोबाइल नंबर यूएएन/ईपीएफओ के पास रजिस्टर्ड है तो आप केवल एक सिंपल मैसेज से आपके पीएफ की जानकारी हासिल कर सकते हैं। आपको इसके लिए EPFOHO UAN ENG लिखकर 7738299899 नंबर पर एसएमएस (sms) करना होगा।

आपको बता दें कि इस एसएमएस में आखिरी तीन अक्षर भाषा यानी (language) के लिए हैं। यदि आपको हिंदी में जानकारी चाहिए तो आपको EPFOHO UAN HIN लिखकर 7738299899 नंबर पर एसएमएस (sms) करना होगा मैसेज करना होगा।

ध्यान रखें कि यह संदेश आपने अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से भेजा हो, तभी आपको इसके जरिए अपने पीएफ एकाउंट की जानकारी मिलेगी।

ईपीएफओ की वेबसाइट के जरिए (by the website of EPFO)-

आप ईपीएफओ की वेबसाइट के जरिए भी अपने पीएफ का बैलेंस पता कर सकते हैं। इसकी प्रक्रिया इस प्रकार से होगी-

  • सबसे पहले आपको ईपीएफओ की वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहां होम पेज पर आपको एंप्लाई सेंट्रिक सर्विसेज (employee centric services) के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको व्यू पासबुक (view passbook) के आप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब पासबुक देखने आपको आपके यूएएन (UAN), पासवर्ड (password) एवं कैप्चा कोड (captcha code) डालकर लाॅग इन (login) करना होगा।

उमंग एप के माध्यम से (by UMANG app)-

आप UMANG (unified mobile application for new age governance) एप अपने मोबाइल फोन में डाउनलोड (download) करके भी अपना पीएफ बैलेंस चेक कर सकते हैं। इसकी प्रक्रिया इस प्रकार से है-

  • सबसे पहले आपको इस एप (app) को ओपन करना होगा।
  • इसके पश्चात ईपीएफओ (EPFO) पर क्लिक करें।
  • अब एक अन्य पेज पर एंप्लाय सेंट्रिक सर्विस (employee centric services) के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको व्यू पासबुक (view passbook) option दिखेगा। आपको इस पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको आपका UAN एवं पासवर्ड भरना होगा।
  • अब आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आपका ओटीपी आ जाएगा।
  • इसे वेरिफाई (verify) करने के बाद आप अपना पीएफ खाता चेक (pf account check) कर सकते हैं।

UMANG एप के अब तक 10 मिलियन से भी अधिक डाउनलोड हो चुके

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि UMANG एप पर सरकार की ओर से डिजिलाॅकर (digilocker) समेत कई विभागों की सेवाओं का लाभ आनलाइन लेने की सुविधा प्रदान की गई है। यह एप (app) 18mb का है। इसे 4.2 रेटिंग (rating) दी गई है। अब तक इस एप के 10 मिलियन (million) से भी अधिक डाउनलोड (download) हो चुके हैं।

आप चाहें तो उमंग पोर्टल (umang portal) पर जाकर भी इसके लिए रजिस्ट्रेशन (registration) करा सकते हैं। पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने का लिंक https://web.umang.gov.in/web_new/register है।

यहां आप अपना 10 अंकों का मोबाइल नंबर ओटीपी (OTP) के जरिए वेरिफाई (verify) कराकर कैप्चा कोड (captcha code) डालकर आसानी से स्वयं को रजिस्टर (register) करा सकते हैं।

कोरोना के दौरान पीएफ राशि बहुत से लोगों के काम आई

कोरोना काल में बहुत से लोगों के दिन मुश्किल भरे गुजरे। किसी को घर का खर्च चलाने के लिए पैसे की आवश्यकता थी तो किसी को अपने दवा दारू से जुड़े खर्च पूरे करने के लिए। ऐसे में केंद्र सरकार ने भी कोरोना महामारी के दौरान पीएफ राशि निकालने की सुविधा दी थी।

उसका लक्ष्य यह था कि लोगों को अपनी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए पैसे को इधर उधर न भटकना पड़े। लोगों का अपना सैलरी से कटने वाला पैसा ही उनके काम आ जाए। ऐसा ही हुआ भी। इस अवधि के दौरान यह राशि लोगों के बहुत काम आई। खास बात यह थी कि यह राशि निकालने की सुविधा लोगों को आनलाइन (online) यानी घर बैठे उपलब्ध थी।

इसके लिए उन्हें ईपीएफओ कार्यालय (EPFO office) के चक्कर नहीं काटने थे, न ही कोई मैनुअल फाॅर्म (manual form) भरना था। बहुत सारे ऐसे लोग थे, जिन्होंने अपने मोबाइल फोन से इस राशि के लिए अप्लाई किया एवं मुश्किल समय में अपने पीएफ की राशि से लाभ उठाया।

साथियों, आपको बता दें कि इससे पूर्व केवल मकान बनाने, अपनी अथवा बच्चों की शादी एवं मेडिकल इमरजेंसी में ही पीएफ से राशि निकाली जा सकती थी, लेकिन कोरोना महामारी की आमद ने लोगों की जीवनशैली एवं उनकी आवश्यकताओं को पूरी तरह से बदल डाला है।

यदि पीएफ/यूएएन को लेकर कोई समस्या हो तो कहां संपर्क करें

बहुत से लोगों उनके पीएफ/यूएएन (PF/UAN) से संबंधित कई सवाल होते हैं। उन्हें समझ नहीं आता कि वे अपने जवाब कहां से पा सकते हैं।

तो आपको बता दें कि यदि आपके मन में भी आपके पीएफ/यूएएन को लेकर कोई प्रश्न है अथवा आप पीएफ से संबंधित किसी तरह की समस्या का सामना कर रहे हैं तो आप यूएएन (UAN) के टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर (toll free helpline number) 1800118005 पर संपर्क कर सकते हैं।

जैसा कि हमने बताया कि टोल फ्री नंबर है, इसका आशय यह है कि इस नंबर पर फोन करने का आप पर कोई चार्ज नहीं पड़ेगा। आप सप्ताह के सातों दिन सुबह सवा नौ बजे से लेकर शाम को पौने छह बजे तक इस नंबर पर संपर्क करके अपने यूएएन अथवा केवाईसी सेवाओं (KYC services) के विषय में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

फाॅर्म 15जी क्या होता है?

यदि आप नौकरी के पांच वर्ष से पूर्व अपने पीएफ की 50 हजार रूपये से अधिक राशि निकालना चाहते हैं तो आपको इस फाॅर्म को भरना होगा।

फाॅर्म 15जी एवं फाॅर्म 15एच में क्या अंतर है?

फाॅर्म 15जी 60 वर्ष से कम उम्र वालों को भरना होता है, जबकि फाॅर्म 15एच 60 साल से अधिक उम्र वालों को भरना होता है।

पीएफ निकालते हुए फाॅर्म 15जी न भरने पर क्या होता है?

ऐसा न करने पर पीएफ राशि में से टीडीएस कट जाता है, जो 10 प्रतिशत तक होता है।

ईपीएफओ के यूएएन यूनिफाइड पोर्टल का एड्रेस क्या है?

ईपीएफओ के यूएएन यूनिफाइड पोर्टल का एड्रेस https://unifiedportal-mem.epfindia.gov.in/ है।

क्या पीएफ बैलेंस आनलाइन भी चेक भी किया जा सकता है?

जी हां, इसके तरीकों के विषय में हमने आपको ऊपर पोस्ट में विस्तार से बताया है।

उमंग की फुल फाॅर्म क्या है?

उमंग की फुल फाॅर्म यूनिफाइड मोबाइल एप्लिकेशन फाॅर न्यू एज गवर्नेंस है।

उमंग एप को कहां से डाउनलोड कर सकते हैं?

उमंग एप को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है।

यूएएन हेल्पलाइन नंबर क्या है?

यूएएन का टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 1800118005 है। यदि आपका आपके पीएफ/यूएएन को लेकर कोई प्रश्न है तो आप इस पर पूछ सकते हैं।

दोस्तों, हमने आपको जानकारी दी कि आप पीएफ निकालने के लिए फाॅर्म 15जी कैसे भर सकते हैं। उम्मीद है कि यह पोस्ट आपको पसंद आई होगी। यह महत्वपूर्ण जानकारी अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचे, इसके लिए इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर करना न भूलें। ।।धन्यवाद।।

—————————

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment

आत्मनिर्भर भारत अभियान क्या है? भारत की अगली पीढ़ी का बिजनेस टाइकून जेएसडब्ल्यू एनर्जी शेयर के बारे में जानकारी स्मार्ट राशन कार्ड ऑनलाइन आवेदन कैसे करें? टाटा स्काई की डीलरशिप कैसे ले?