गाड़ी बीमा कैसे चेक करें? | How To Check Car Insurance | mParivahan, Vaahan, IIB

|| गाड़ी बीमा कैसे चेक करें? how to check vehicle’s insurance?, बाइक का बीमा कैसे करे, वाहन बीमा की जानकारी 2022, ऑनलाइन वाहन बीमा, वाहन बीमा की जानकारी 2022 ||

यदि आपने गाड़ी खरीदी है तो इसे आप बगैर बीमा के सड़क पर नहीं चला सकते। क्योंकि भारत में इंजन से चलने वाली हर गाड़ी का बीमा अनिवार्य है। सड़क पर होने वाली दुर्घटनाओं को कम करने के मद्देनजर हमारे देश में थर्ड पार्टी इंश्योरेंस को आवश्यक किया गया है।

इसका अर्थ यह है कि किसी टक्कर की स्थिति में बीमा कंपनी सामने वाले को उसके वाहन को हुए नुकसान का मुआवजा भरेगी। यह इंश्योरेंस न होने पर जेल एवं जुर्माना भी हो सकता है।

बहुत से लोग अपनी गाड़ी का बीमा चेक करना चाहते हैं। वे ऐसा कैसे कर सकते हैं, इस पोस्ट में हम आपको इसी संबंध में जानकारी देंगे।

गाड़ी बीमा क्यों आवश्यक होता है?

सबसे पहले आपको यह बताते हैं कि गाड़ी का बीमा क्यों आवश्यक होता है। बीमा कराने से आपकी गाड़ी किसी भी हादसे की स्थिति में बीमा सुरक्षा कवर प्राप्त करती है। इसके अतिरिक्त वाहन चालक भी कानूनी कार्रवाई (legal proceedings) से बच जाता है।

हमारे देश में थर्ड पार्टी इंश्योरेंस (third party insurance) अनिवार्य है। ऐसे में जब भी किसी बीमित वाहन से किसी दूसरी गाड़ी की टक्कर होती है तो उसका मुआवजा देने की जिम्मेदारी बीमा कंपनी (insurance company) की होती है। इस प्रकार बीमा कराने वाले को आर्थिक क्षति नहीं उठानी पड़ती।

गाड़ी बीमा कैसे चेक कर सकते हैं?

गाड़ी का बीमा कैसे चेक करें? | How To Check Car Insurance | mParivahan, Vaahan, IIB
  1. यदि आप अपनी गाड़ी का बीमा चेक करना चाहते हैं तो इसके लिए आपके पास पांच तरीके हैं-
  2. mParivahan app की सहायता से
  3. VAHAN पोर्टल से
  4. IIB पोर्टल के जरिए
  5. इंश्योरेंस कंपनी अथवा ब्रांच आफिस में जाकर
  6. आरटीओ (rto) आफिस से

1. mParivahan एप से बीमा कैसे चेक करें? How to check insurance through mParivahan app?

सबसे पहले जान लेते हैं कि mPparivahan एप से गाड़ी का बीमा कैसे चेक कर सकते हैं। इस मोबाइल एप (mobile app) को केंद्रीय परिवहन मंत्रालय (central transport ministry) की ओर से जारी किया गया है। इससे अपना बीमा चेक करने के लिए आपको निम्न कदम उठाने होंगे-

  • सर्वप्रथम अपने मोबाइल पर गूगल प्ले स्टोर (Google Play Store) अथवा Apple के एप स्टोर (app store) से mParivahan एप इंस्टाल (install) कर लें।
  • अब इस एप (app) को ओपन (open) कर इसमें दिख रही 10 भाषाओं में से अपनी भाषा (language) चुन लें। इसके पश्चात कंटीन्यू (continue) के आप्शन पर क्लिक कर दें। अब आपके सामने डैशबोर्ड (dashboard) खुल जाएगा।
mParivahan एप से बीमा कैसे चेक करें? How to check insurance through mParivahan app?
  • यहां आपसे पूछा जाएगा कि आप गाड़ी की आरसी (RC) अर्थात रजिस्ट्रेशन नंबर (registration number) से वाहन बीमा चेक करेंगे अथवा डीएल (DL) यानी ड्राइविंग लाइसेंस (driving licence) से। आपके यहां आरसी वाले आप्शन का चुनाव करना होगा।
  • अब खाली बाक्स (box) में गाड़ी का रजिस्टेशन नंबर (registration number) डालकर सर्च (search) के आप्शन पर क्लिक कर दें।
mParivahan एप से बीमा कैसे चेक करें? How to check insurance through mParivahan app?
  • इसके पश्चात आपको साइन इन (sign-in) का आप्शन दिखाई देगा। इस पर क्लिक कर दें। एवं अपना रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर (registered mobile number) डालकर कंटीन्यू (continue) के आप्शन पर क्लिक करें।
  • अब आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक 6 डिजिट (digit) का ओटीपी आएगा। इसे ओटीपी बाक्स (OTP box) में दर्ज कर वेरिफाई (verify) के आप्शन पर क्लिक कर दें।
  • अब आप mParivahan एप पर साइन इन (sign in) हो जाएंगे। अब आप वाहन का नंबर डालकर उसके रजिस्ट्रेशन (registration) एवं बीमा (insurance) का ब्योरा चेक कर सकते हैं।
  • जैसे- गाड़ी मालिक का नाम, संबंधित आरटीओ आफिस, गाड़ी की कैटेगरी, आरसी का status, गाड़ी की आयु, रजिस्ट्रेशन की तारीख, बीमा पालिसी एक्सपायर (insurance policy expire) होने की तिथि आदि।

2. VAHAN पोर्टल से गाड़ी बीमा कैसे चेक करें? How to check vehicle insurance through VAHAN portal?

अब हम आपको बताएंगे कि आप VAHAN पोर्टल की सहायता से गाड़ी का बीमा कैसे चेक कर सकते हैं-

Total Time: 15 minutes

VAHAN पोर्टल से गाड़ी का बीमा कैसे चेक करें? How to check vehicle insurance through VAHAN portal?

सबसे पहले VAHAN पोर्टल के लिंक https://vahan.nic.in/nrservices/ पर जाएं। अब आपके सामने होम पेज (home page) खुल जाएगा। यहां आपको know your vehicle details के option पर क्लिक करें।

VAHAN पोर्टल से गाड़ी का बीमा कैसे चेक करें? How to check vehicle insurance through VAHAN portal?

अब आपसे आपका मोबाइल नंबर (mobile number) मांगा जाएगा। यदि आपका मोबाइल नंबर vahan portal पर पहले से रजिस्टर्ड है तो next के option पर जाएं। यहां login के रूप में मोबाइल नंबर एवं पासवर्ड password डालकर continue के आप्शन पर क्लिक कर दें।

VAHAN पोर्टल से गाड़ी का बीमा कैसे चेक करें? How to check vehicle insurance through VAHAN portal?

अब आपके सामने खाली बाक्स में गाड़ी का रजिस्ट्रेशन नंबर (registration number) डाल दें। नीचे दिख रहे खाली बाक्स (box) में कैप्चा वेरिफिकेशन कोड (captcha verification code) डाल दें एवं वाहन सर्च (vahan search) के option पर क्लिक कर दें।

VAHAN पोर्टल से गाड़ी का बीमा कैसे चेक करें? How to check vehicle insurance through VAHAN portal?

अब आपके सामने गाड़ी के बीमा के साथ ही तमाम डिटेल्स (details) आ जाएंगी। जैसे-गाड़ी का रजिस्ट्रेशन नंबर एवं रजिस्ट्रेशन की तिथि, गाड़ी का माडल (model), कंपनी, ईंधन का प्रकार, आरटीओ आफिस, वाहन स्वामी का नाम, फिटेनस की आखिरी तिथि, रोड टैक्स (road tax) के पेमेंट का स्टेटस, पाल्यूशन सर्टिफिकेट (pollution certificate) की वैलिडिटी (validity) एवं बीमा पालिसी (insurance policy) खत्म होने की तारीख।

Estimated Cost: 00 INR

यदि आपका मोबाइल नंबर VAHAN पोर्टल पर रजिस्टर्ड नहीं तो क्या होगा?

यदि आपका मोबाइल नंबर vahan portal पर रजिस्टर नहीं है तो आपको इस प्रक्रिया को पूरा करना होगा-

  • सबसे पहले create account के आप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने दो खाली बाक्स आ जाएंगे।
  • पहले बाक्स में अपना मोबाइल नंबर (mobile number) एवं दूसरे में अपनी ईमेल आईडी (email id) डालें।
  • इसके बाद जेनरेट ओटीपी (generate OTP) के आप्शन पर क्लिक कर दें।
  • आपके मोबाइल नंबर एवं ईमेल आईडी पर संबंधित ओेटीपी आ जाएंगे।
  • इसके बाद इन्हें निर्धारित बाक्स में दर्ज कर दें एवं वेरिफाई (verify) पर क्लिक कर दें।
  • वेरिफिकेशन (verification) होने के पश्चात आपसे पासवर्ड (password) तय करने को कहा जाएगा। पासवर्ड बनाने के पश्चात कभी भी आप अपने मोबाइल नंबर एवं पासवर्ड की सहायता से लाॅगिन (login) कर सकेंगे।

3. IIB की वेबसाइट से गाड़ी बीमा कैसे चेक करें?

अब हम आपको आईआईबी (IIB) अर्थात इंश्योरेंस इंफार्मेशन ब्यूरो (insurance information bureau) की वेबसाइट (website) से गाड़ी का बीमा चेक करने का तरीका बताएंगे।

आईआईबी को आईआरडीएआई (IRDAI) अर्थात भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (insurance regulatory and development authority of India) ने गाड़ियों का इंश्योरेंस से जुड़ा डाटा फीड (data feed) करने के लिए तैयार किया है।

लेकिन इस पोर्टल (portal) पर केवल उन्हीं वाहनों का इंश्योरेंस डाटा मिलता है, जिनका रजिस्ट्रेशन एक अप्रैल, 2010 के पश्चात हुआ है। इसके अतिरिक्त किसी एक मोबाइल नंबर एवं ईमेल आईडी पर आप अधिकतम तीन ही बार बीमा संबंधी ब्योरा हासिल कर सकते हैं। इस पोर्टल पर वाहन बीमा इस प्रकार से चेक किया जा सकता है-

  • सबसे पहले आईआईबी (IIB) की वेबसाइट https://iib.gov.in/ पर जाएं।
  • अब आपके सामने वेबसाइट (website) होम पेज home (page) खुल जाएगा।
  • यहां आपको quick links का आप्शन दिखेगा। आपको इस पर क्लिक (click) करना है।
IIB की वेबसाइट से गाड़ी का बीमा कैसे
  • अब आपके सामने एक फार्म (form) खुल जाएगा। आपको इसमें अपना नाम, पता, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, गाड़ी का रजिस्ट्रेशन नंबर आदि भरना होगा।
  • आखिर में बाक्स box में कैप्चा कोड (captcha code) भरकर सबमिट (submit) के option पर क्लिक करें।
  • इतना करते ही आपके सामने गाड़ी की इंश्योरेंस पालिसी (insurance policy) का ब्योरा सामने आएगा।

4. बीमा कंपनी अथवा ब्रांच आफिस जाकर गाड़ी बीमा कैसे चेक करें?

यदि आप बीमा कंपनी से अपनी गाड़ी का बीमा चेक करना चाहते हैं तो आपको संबंधित कंपनी के आफिस जाकर अथवा कंपनी के एजेंट (agent) से संपर्क करके सारी बीमा डिटेल्स (insurance details) मिल जाएंगी। इसके लिए आपको एजेंट द्वारा मांगी गई डिटेल्स जैसे पालिसी नंबर (policy number) आदि उपलब्ध कराना होगा। वे आपको आपके वाहन की बीमा संबंधी जानकारी उपलब्ध करा देंगे।

यदि आप चाहें तो आपको वहां तक जाने की भी आवश्यकता नहीं। आप बीमा कंपनी के टोल फ्री नंबर (toll free number) पर काॅल करके संबंधित प्रतिनिधि (representative) को अपनी बीमा पाॅलिसी एवं गाड़ी का नंबर बताकर भी बीमा संबंधी डिटेल्स हासिल कर सकते हैं। आप चाहें तो एसएमएस (sms) एवं ईमेल (email) के माध्यम से भी यह जानकारी ले सकते हैं।

5. RTO से गाड़ी बीमा कैसे चेक करें?

RTO अर्थात regional transport office से गाड़ी का बीमा करने के लिए आपको सबसे पहले अपने आरटीओ अर्थात क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय जाना होगा, जहां आपकी गाड़ी का रजिस्ट्रेशन हुआ है।

आप गाड़ी का रजिस्ट्रेशन नंबर बताकर यहां से अपनी बीमा संबंधी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। अधिकांश लोग अपनी बीमा संबंधी जानकारी प्राप्त करने के लिए इसी तरीके का इस्तेमाल करते हैं।

गाड़ी बीमा चेक करते हुए किन बातों का ध्यान रखें

यदि आप किसी भी गाड़ी मसलन कार अथवा बाइक का बीमा आनलाइन चेक कर रहे हों, इस दौरान आपको कुछ बातों का अवश्य ध्यान रखना चाहिए। जैसे-

  • अपने वाहन का पूरा नंबर एक साथ लिखें। इसके नंबरों के बीच किसी प्रकार का गैप (gap) न छोड़े। इसके अतिरिक्त किसी भी प्रकार के साइन का इस्तेमाल न करें। जैसे-यदि आपकी गाड़ी का नंबर यूके14 एसएल 1564 है तो आपको इसे ऐसे लिखना होगा- यूके14एसएल1564
  • यदि आपने अपनी गाड़ी पिछले दो माह के भीतर खरीदी है तो यह संभव है कि उसकी इंश्योरेंस डिटेल (insurance details) अभी आनलाइन (online) न की गई हो। आरंभ में बीमा कंपनियां नई गाड़ी का सिर्फ चेसिस (chesis) एवं इंजन नंबर (engine number) ही जमा कराती हैं। इश्योरेंस की डिटेल्स बाद में जमा करती हैं।

भारत में अधिकांश लोग थर्ड पार्टी इंश्योरेंस कराते हैं

हमारे देश में थर्ड पार्टी इंश्योरेंस को आवश्यक किया गया है। ऐसे में देश में अधिकांश लोग थर्ड पार्टी इंश्योरेंस ही कराने पर जोर देते हैं। यह हम आपको पहले भी बता चुके हैं कि थर्ड पार्टी इंश्योरेंस में वाहन बीमा कंपनी केवल दूसरे वाहन को हुए नुकसान का मुआवजा देती है।

इसे देखते हुए बीमा विशेषज्ञ भी यही सलाह देते हैं कि बीमा कराने वाले व्यक्ति को वाहन का कांप्रेहेन्सिव बीमा (comprehensive insurance) कराना चाहिए, ताकि उसे थर्ड पार्टी इंश्योरेंस (third party insurance) का लाभ तो मिले ही, ओन डेमेज कवर (own damage cover) यानी उसकी खुद की गाड़ी को हुए नुकसान का भी मुआवजा मिले।

इसके साथ ही यदि वह चाहे तो एड आन कवर का भी लाभ ले सकें। आपको जानकारी दे दें कि कांप्रेहेन्सिव बीमा ऐच्छिक होता है। इसका प्रीमियम (premium) थर्ड पार्टी इंश्योरेंस की अपेक्षाकृत थोड़ा महंगा पड़ता है, ऐसे में लोग इसे कराने को प्राथमिकता नहीं देते।

कांप्रेहेन्सिव का अर्थ विस्तृत होता है। कांप्रेहेन्सिव बीमा को विस्तृत बीमा इसीलिए पुकारा जाता है, क्योंकि यह विस्तृत कवरेज देता है। यहां तक कि इसमें गाड़ी के चोरी चले जाने पर, आग लग जाने पर अथवा गाड़ी के किसी हादसे में पूरी तरह नष्ट हो जाने की स्थिति में भी बीमा कंपनी की ओर से मुआवजे का भुगतान किया जाता है। थर्ड पार्टी इंश्योरेंस कराने पर यह सारी सुविधा मुहैया नहीं होती।

क्या गाड़ी बीमा आनलाइन चेक किया जा सकता है?

जी हां, सरकार की ओर गाड़ी का बीमा आनलाइन चेक करने की सुविधा दी गई है।

हमारे देश में कौन सा बीमा अनिवार्य किया गया है?

हमारे देश में सड़क पर गाडी चलाते हुए थर्ड पार्टी इंश्योरेंस अनिवार्य किया गया है।

क्या कांप्रेहेन्सिव बीमा कराना भी अनिवार्य है?

जी नहीं, यह यह बीमा ऐच्छिक है, हालांकि यह वाहन को थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के लाभों समेत विस्तृत बीमा कवरेज देता है।

आप गाड़ी बीमा कैसे चेक कर सकते हैं?

आप एमपरिवहन एप, वाहन पोर्टल, आईआईबी के पोर्टल के साथ ही बीमा कंपनी के आफिस अथवा आरटीओ कार्यालय जाकर गाड़ी का बीमा चेक कर सकते हैं।

एमपरिवहन एप कहां से डाउनलोड किया जा सकता है?

एमपरिवहन एप की सुविधा केंद्रीय परिवहन मंत्रालय ने दी है। एंड्रायड यूजर्स इसे गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। एपल आईफोन यूजर्स इसे एपल स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं।

आईआईबी पोर्टल किसके द्वारा शुरू किया गया है?

आईआईबी पोर्टल आईआरडीएआई द्वारा शुरू किया गया है। इसका पूरा नाम इंश्योरेंस इंफार्मेशन ब्यूरो है।

आईआईबी पोर्टल पर किस प्रकार का डाटा रहता है?

आईआईबी पोर्टल पर गाड़ियों के इंश्योरेंस संबंधी डाटा रहता है। इसे इरडा ने गाड़ियों का बीमा कराने वाले लोगों की सुविधा के मद्देनजर तैयार किया है।

आईआईबी के पोर्टल से कौन सी गाड़ियों का बीमा चेक कर सकते हैं?

आईआईबी के पोर्टल से केवल उन्हीं गाड़ियों का बीमा चेक किया जा सकता है, जिनका रजिस्ट्रेशन एक अप्रैल, 2010 के पश्चात हुआ है। इससे पूर्व रजिस्टर्ड गाड़ी के बीमा का ब्योरा इस पोर्टल से नहीं मिल सकेगा।

क्या बीमा कंपनी के कस्टमर केयर पर काल करके भी गाड़ी का बीमा जांचा जा सकता है?

जी हां, बीमा कंपनी के कस्टमर केयर पर काॅल करके आपको अपनी गाड़ी की बीमा पालिसी संख्या के साथ ही कुछ अन्य जानकारी देनी होगी, जिसके पश्चात आपके बीमा की डिटेल आपको बता दी जाएगी।

हमने इस पोस्ट के माध्यम से आपको आपकी गाड़ी का बीमा चेक करने संबंधी जानकारी दी। आप पोस्ट में बताए गए किसी भी तरीके से गाड़ी का बीमा चेक कर सकते हैं। आनलाइन एवं आफलाइन दोनों प्रकार के तरीके हमने आपको पोस्ट में बताए हैं।

आप दोपहिया एवं चौपहिया दोनों प्रकार के वाहनों का बीमा इन तरीकों से चेक कर सकते हैं। इस जानकारी का प्रसार करने के उद्देश्य से आप इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर करना न भूलें। धन्यवाद।

————————————–

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment