क्रिकेटर कैसे बने? योग्यता, आयु सीमा, फीस व रजिस्ट्रेशन

यदि आप किसी से भी पूछेंगे कि भारत में सबसे लोकप्रिय खेल कौन सा है तो वह आंखें बंद करके क्रिकेट का नाम ले देगा। इस खेल का क्रेज ही इतना है। छोटे-छोटे बच्चे भी विराट कोहली, सूर्या की तरह चौके छक्के उड़ाना चाहते हैं।

इस खेल में खिलाड़ियों पर होने वाली धन वर्षा को देखकर अधिकतर मां बाप भी अब अपने बच्चों को क्रिकेटर बनाने का सपना देखते हैं। लेकिन अधिकांश यह नहीं जानते कि क्रिकेटर कैसे बनें? अभी ऐसे ही लोगों में है तो आज बिल्कुल सही जगह पर है आज हम आपको बताएंगे कि क्रिकेटर कैसे बनें। आइए, शुरू करते हैं-

Contents show

क्रिकेटर कौन होता है? (Who is a cricketer?)

दोस्तों, सबसे पहले जान लेते हैं कि क्रिकेटर कौन होता है। इसको ऐसे समझ लीजिए कि जैसे फुटबॉल खेलने वाला खिलाड़ी फुटबॉलर कहलाता है उसी प्रकार क्रिकेट खेलने वाले खिलाड़ी को क्रिकेटर पुकारा जाता है। क्रिकेटर क्रिकेट टीम टीम का हिस्सा होता है।

क्रिकेटर कैसे बने

वह अपने स्किल के अनुसार टीम में निर्धारित जिम्मेदारी निभाता है। स्पेशलिस्ट बल्लेबाज बल्लेबाजी करता है। बहुत से क्रिकेटर बॉलिंग स्पेशलिस्ट होते हैं। टीम में एक स्पेशलिस्ट विकेट कीपर भी होता है, जो अच्छा बल्लेबाज होने के साथ ही इस जिम्मेदारी को भी संभालता है।

हमारी भारतीय क्रिकेट टीम में बहुत से विकेटकीपर ऐसे भी रहे हैं, जो कप्तानी का भी जिम्मा संभाल चुके हैं, जैसे राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid), महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) आदि।

वर्तमान में भारतीय टीम में ऐसे कई विकेटकीपर बल्लेबाज हैं, जैसे -ईशान किशन (Ishan kishan), केएल राहुल (KL Rahul), ऋषभ पंत (Rishabh Pant) आदि। दोस्तों, आपको बता दें कि यद्यपि एक कार एक्सीडेंट के बाद से ऋषभ पंत अभी क्रिकेट से दूर हैं उनके फिट होने का इंतजार चल रहा है। बाकी मैच खेलते समय क्षेत्ररक्षण यानी फील्डिंग का कार्य सभी क्रिकेटरों को करना ही होता है।

किस क्रिकेटर को ऑलराउंडर पुकारा जाता है? (Which cricketer is called all rounder?)

दोस्तों, ऐसा क्रिकेटर, जो बल्लेबाजी एवं गेंदबाजी (batting and bowling) दोनों का माहिर होता है। उसे ऑलराउंडर (all rounder) पुकारा जाता है। आपको बता दें दोस्तों कि इन दिनों टीम में ऑलराउंडर को खिलाए जाने पर खासा जोर है। क्योंकि इससे किसी बल्लेबाज या गेंदबाज की टीम में अतिरिक्त जगह बन जाती है। आपको बता दें कि हार्दिक पांड्या, आदि ऑलराउंडर ही हैं।

क्रिकेटर बनने के लिए किन स्किल्स की आवश्यकता होती है? (What skills are required to become a cricketer?)

दोस्तों, यदि आपको लगता है कि एक अच्छा क्रिकेटर बनना कोई आसान काम है तो आप गलत हैं। एक अच्छा क्रिकेटर बनने के लिए आपके भीतर आवश्यक रूप से कुछ स्किल्स होने चाहिए, जो कि इस प्रकार से हैं

  • आपको खेल के नियम एवं कायदे-कानून (rules, regulations and law) के साथ ही किट आदि की भी अच्छी जानकारी होनी चाहिए।
  • आपकी इस खेल की किसी न किसी विधा में पकड़ होनी चाहिए। जैसे -बैटिंग, बॉलिंग या विकेट कीपिंग आदि।
  • आपको अपनी स्ट्रेंथ और कमजोरी (strength and weakness) पता हो। आपके भीतर इन पर काम करने की आग भी हो।
  • आप फिजिकली फिट (physically fit) हों।आपकी फिटनेस (fitness) उच्च दर्जे की हो। आप अपना खेल निखारने के लिए कई घंटे अभ्यास यानी प्रैक्टिस (practice) कर सकते हों।

क्रिकेटर कैसे बनें? (How to become a cricketer?)

दोस्तों, अब आते हैं इस आर्टिकल के सबसे मुख्य हिस्से पर। यह है – क्रिकेटर कैसे बनें? (How to become a cricketer?) इसके कई तरीके हैं, जिनके बारे में हम आपको विस्तार से बताएंगे –

* किसी क्रिकेट एकेडमी से जुड़ें (join a cricket academy)

दोस्तों, यदि आप क्रिकेटर बनना चाहते हैं तो सबसे पहले एक अच्छी क्रिकेट एकेडमी से जुड़ना आपके लिए बेहद लाभदायक रहेगा। यहां आपको क्रिकेट की बारीकियां सिखाए जाने के साथ ही इसकी प्रोफेशनल ट्रेनिंग (professional training) मिलेगी। यहां आप बाकी बातें भूलकर प्रोफेशनल कोच के सानिध्य में अपने क्रिकेटिंग स्किल (cricketing skills) को डेवलप (develop) कर सकेंगे।

आपको आपकी ताकत व कमज़ोरी का पता लगेगा। आप उन पर काम करके और बेहतर बनेंगे। विभिन्न एकेडमियों के बीच होने वाले मुकाबलों में आपको अपने स्किल्स व प्रतिभा दिखाने का मौका मिलेगा। यह आपको आगे ले जाएगा। आपको यह भी बता दे दोस्तों कि क्रिकेट अकादमी में प्रवेश की न्यूनतम आयु (minimum age) अधिकांशतः 5 वर्ष है । यानी इस आयु के बाद से यहां प्रवेश लिया जा सकता है।

और तो अब बहुत सी एकेडमी 18 -19 साल के युवाओं को भी अकादमी में एडमिशन (admission) दे देती हैं। आपके लिए कौन सी एकेडमी अच्छे रहेगी? इसके लिए आपको थोड़ा सा इंटरनेट (internet) पर सर्च (search) करना पड़ेगा।

अकादमी के बैकग्राउंड (background) का पता करना पड़ेगा कि यहां से कौन-कौन से अच्छे प्लेयर्स निकले हैं और यहां कोच (coach) कौन हैं। यदि फीस की बात करें तो सामान्यतः एक अच्छी अकादमी की फीस (fee) सालाना हजारों -लाखों में हो सकती है। यह तो आप जानते हैं कि सुविधाओं के लिहाज से प्रत्येक क्रिकेट एकेडमी की फीस अलग-अलग होती है।

* अपने लिए कोई अच्छा कोच चुनें (select a good coach for you)

एक अच्छा कोच आपको कहां से कहां ले जा सकता है, इसकी कई कहानियां अपने क्रिकेट ग्राउंड से सुनी होंगी। क्रिकेट के भगवान का दर्जा रखने वाले महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के कोच रमाकांत अचरेकर को लें, या फिर विराट कोहली के कोच राजकुमार शर्मा को।

क्रिकेटरों को मुकाम तक लाने में इनका बड़ा रोल रहा है। यह कोच ही है, जो अपने शागिर्द की खूबियां और कमियों को पहचानता है। वही उनकी कमियों को दूर कर उनकी खूबियां निखारकर अपनी मेहनत से उनके हुनर को दुनिया के सामने लाता है। आप किसी रिटायर क्रिकेट खिलाड़ी को भी अपना कोच बना सकते हैं। किसी और को कोच चुनने से पहले उसकी बैकग्राउंड पर अवश्य गौर करें।

* स्कूल या कॉलेज की टीम से खेलें (start playing for your school or college’s team)

आप एक क्रिकेट में पैर जमाने की शुरुआती कोशिश अपनी स्कूल या कॉलेज की क्रिकेट टीम से कर सकते हैं। यदि यहां आप बेहतर प्रदर्शन करते हैं तो इससे आपके आत्मविश्वास में इजाफा होगा। यहां बेहतर करने से आपके लिए विभिन्न क्रिकेट क्लबों के द्वार खुल सकते हैं। इनका हिस्सा बनकर आप देश के विभिन्न हिस्सों में होने वाले टूर्नामेंट में खेलें। इनमें अच्छा प्रदर्शन आपको आपका सपना पूरा करने की राह पर ले जाएगा।

* डिस्ट्रिक्ट और स्टेट लेवल के ट्रायल दें और चयनित हों (Take part in district and state level trials and get selected)

यदि आप स्कूल एवं लोकल लेवल पर अच्छा कर रहे हैं तो जिला क्रिकेट ट्रायल की डेट्स का ध्यान रखें। उनमें हिस्सा लेकर बेहतर परफॉर्म करने पर ध्यान दें। जिला टीम के बाद स्टेट टीम के ट्रायल (trial) का ध्यान रखें और उसमें हिस्सेदारी करें।

यहां से अपना ध्यान घरेलू क्रिकेट और रणजी लेवल (Ranji level) पर खेलने पर लगाएं। अच्छी परफॉर्मेंस आपको सब की नजरों में लाएगी और आप बड़े लेवल पर क्रिकेट खेलने की ओर अग्रसर हो सकेंगे। क्योंकि यहां दी हुई परफॉर्मेंस (performance) आपको डॉमेस्टिक सर्किट (domestic Circuit) में आगे बढ़ाने के साथ ही आईपीएल (IPL) जैसी बड़ी लीग में हिस्सा पाने का भी मौका उपलब्ध कराएगी।

* एनसीए के लिए रजिस्ट्रेशन करें (get registered for NCA)

यदि आप स्वयं को एक अच्छा क्रिकेटर मानते हैं और स्टेट लेवल तक खेल कर अच्छा प्रदर्शन कर चुके हैं तो आपको स्वयं को नेशनल क्रिकेट एकेडमी (national cricket academy) यानी एनसीए (NCA) लिए रजिस्ट्रेशन करना चाहिए इसके लिए फीस महज 3150 रुपए है। इसके लिए रजिस्ट्रेशन (registration) की कुछ आवश्यक शर्तें हैं।

जैसे -आप अपने एकेडमिक लेवल (academic level) पर अच्छा स्कूली क्रिकेट खेले हों। इसके बाद जिला स्तरीय चयन के बाद जिले की टीम में खेलते हुए आपने विभिन्न जिलों के बीच हुए मैच में अच्छा प्रदर्शन किया हो। इसके बाद स्टेट लेवल ट्रायल में चुने जाकर आपने अंतर राज्य खेलों में अच्छा प्रदर्शन किया हो। यदि आप इतना कर चुके हैं तो आपको एनसीए के लिए टिकट कटाना चाहिए।

यहां बेहतर प्रशिक्षण की सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं। आपको बता दें कि एनसीए की स्थापना ही ग्रास रूट लेवल (grass root level) से प्रतिभाओं का चयन (selection) करके उसे नेशनल टीम (National) के लिए तराशने के लिए हुआ है। इसके अतिरिक्त एनसीए के सदस्य भी समय-समय पर विभिन्न स्थानों में जाकर खिलाड़ियों का ट्रायल लेते रहते हैं एवं अच्छे खिलाड़ियों पर नजर रखते हैं।

एक अच्छा क्रिकेटर बनने के लिए स्वयं को फिट कैसे रखें? (How to get fit to be a good cricketer?)

दोस्तों, फिटनेस ही एक क्रिकेटर को फील्ड में लंबे समय तक बनाए रख सकती है। चाहे कोई नया क्रिकेटर हो या स्टार, हर किसी के लिए फिट होना बेहद जरूरी है। यही वजह है कि सभी क्रिकेटर हर रोज़ वर्क आउट (workout) करते हैं। दोस्तों , एक अच्छा क्रिकेटर बनने के लिए आपको भी खुद को फिट रखना होगा। इसके लिए आपको बैलेंस्ड डाइट (balanced diet) लेनी जरूरी है।

इसके लिए उन्हें अपनी डाइट से गैर-जरूरी कार्बोहाइड्रेट (carbohydrates) एवं शुगर (sugar) वाले पदार्थों को हटाना होगा और प्रोटीन (protein) पर विशेष ध्यान केंद्रित करना होगा। इसके अतिरिक्त जिम जाना भी भी अपने रुटीन में शामिल कर लें। बेसिक कार्डियो एक्सरसाइज (basic cardio exercise) से लेकर हाई इंटेंसिटी वर्क आउट (high intensity workout) पर भी ध्यान दें।

क्या पढ़ाई के साथ क्रिकेट को जारी रख सकते हैं? (Can one continue cricket with his studies?)

यदि आप एक स्टूडेंट हैं। आपको क्रिकेटर बनने की तमन्ना है और आप पढ़ाई के साथ क्रिकेट को भी जारी रखना चाहते हैं तो आप बिल्कुल दोनों काम एक साथ कर सकते हैं। बस इसके लिए आपको बेहतर टाइम मैनेजमेंट (time management) की आवश्यकता होगी। सबसे पहले अपना एक time table तैयार करें। इसमें अपनी दिन भर की गतिविधियों के लिए अलग-अलग समय निर्धारित करें।

अब इस टाइम टेबल का सख्ती से पालन करें। आपका टाइम टेबल रियलिस्टिक होना चाहिए। यह नहीं कि आप एक गतिविधि को लगातार 10 घंटे दे दें। याद रखें कि जो भी क्रिकेटर टॉप पर रहा है, वह रातों-रात वहां तक नहीं पहुंचा है। इसके लिए उसने लंबी मेहनत और संघर्ष किया है।

क्रिकेटर बनने का कोई शॉर्टकट (short cut) या रेडी टू ईट फार्मूला (ready to eat formula) भी नहीं है। आपको केवल आपकी लगन और मेहनत ही आपके अच्छे क्रिकेटर बनने के मुकाम तक पहुंचा सकती है।

क्या क्रिकेटर बनने के लिए बहुत पैसा होना आवश्यक है? (Is money very necessary to to become a cricketer?)

दोस्तों, आप में से बहुत से लोग यह भी सोच रहे होंगे कि आपके पास बहुत पैसा नहीं तो ऐसे में आप अपने बच्चों का क्रिकेटर कैसे बना सकते हैं? या क्या क्रिकेटर बनने के लिए पैसा होना बहुत जरूरी है? तो दोस्तों आपको बता दे कि क्रिकेटर बनने के लिए पैसे से अधिक जुनून आवश्यक है।

यही आपको शिखर पर ले जाता है। यदि यकीन ना हो तो आप आईपीएल के साथ ही नेशनल टी-20 में धूम मचा रहे यशस्वी जायसवाल (yashaswi jaiswal), तिलक वर्मा (Tilak Verma), (Rinku Singh) जैसे क्रिकेट के युवा सितारों के माता-पिता के बैकग्राउंड (background) देख सकते हैं जिनके पास बहुत पैसा नहीं था, लेकिन उनके बच्चों में अच्छा क्रिकेटर बनने की जिद थी, जिसने उन्हें उनके सपनों के द्वार पर लाकर खड़ा कर दिया।

भारत की सबसे बड़ी क्रिकेट एकेडमी कौन सी है और कहां है? (Which is India’s biggest cricket academy and where it is situated?)

दोस्तों, क्रिकेटर बनने की चाहत पूरी करने के तरीकों के बीच ही आज आपको बताते हैं कि भारत की सबसे बड़ी क्रिकेट एकेडमी कौन सी है? और यह कहां स्थित है? जान लीजिए कि नेशनल क्रिकेट एकेडमी, कर्नाटक के बैंगलुरू बैंगलुरू में स्थित है। दोस्तों, आपको बता दें कि आज से करीब 22 वर्ष पूर्व यानी सन् 2001 में नेशनल क्रिकेट एकेडमी की नींव रखी गई। इसकी स्थापना भारत में

क्रिकेट से रिटायर होने के बाद क्या किया जा सकता है? (What can be done after retiring from cricket?)

दोस्तों, यह तो हमने आपको क्रिकेटर बनने की बात बताई। लेकिन बहुत से लोग यह भी सोचते हैं कि क्रिकेट से रिटायर होने के बाद क्या किया जा सकता है तो आपको बता दे की क्रिकेट से रिटायरमेंट (retirement) के बाद भी करने को बहुत कुछ है। जैसे आप अपनी क्रिकेट एकेडमी (cricket academy) खोलकर क्रिकेट में आने वाली नई पौध को कोचिंग/ट्रेनिंग (coaching/training) दे सकते हैं। युवराज सिंह आदि कई बड़े खिलाड़ी ऐसा कर रहे हैं।

इसके अतिरिक्त आप विभिन्न क्रिकेट मुकाबलों में कमेंटेटर या प्रस्तोता (commentator/presentor) की भूमिका निभा सकते हैं। जैसे -आकाश चोपड़ा आदि। आप बड़े टूर्नामेंट में पैनल क्रिकेट एक्सपर्ट (expert) के तौर पर शामिल हो सकते हैं।

जैसे कि गौतम गंभीर, सुनील गावस्कर आदि। यदि आप चाहें तो आईपीएल की किसी टीम के कोच (coach) बन सकते हैं या उस टीम की मेंटरिंग (mentoring) कर सकते हैं। आप किसी विदेशी टीम के भी कोच बन सकते हैं। जैसे कि इन दिनों पूर्व क्रिकेटर (ex cricketer) अजय जडेजा (Ajay Jadeja) अफगानिस्तान (afghanistan) की टीम की कोचिंग/मेंटरिंग कर रहे हैं।

क्रिकेटर बनने के लिए मेहनत के साथ ही क्या-क्या आवश्यक है? (What is necessary to be a cricketer expect hard work?)

दोस्तों, यह तो हम आपको बता ही चुके हैं कि क्रिकेटर बनने के लिए मेहनत और लगन बेहद आवश्यक है। इसके अलावा भी बहुत सी चीजें हैं, जिन पर आपको ध्यान केंद्रित करना होगा। ये इस प्रकार से हैं-

  • आपका लक्ष्य क्रिकेटर बनना है। ऐसे में केवल अपने लक्ष्य (target /goal) पर फोकस (focus) करें। इससे भटकें नहीं।
  • क्रिकेटर बनने के लिए फिजिकल फिटनेस (physical fitness) आपके लिए बहुत आवश्यक है। इस पर पूरा ध्यान दें।
  • क्रिकेटर बनने के लिए आपको मानसिक रूप से मजबूत यानी मेंटली स्ट्रांग (mentally strong) भी होना होगा।
  • बड़े क्रिकेटर्स के वीडियो (video) देखकर अपने क्रिकेटिंग स्किल (cricketing skills) को लगातार सुधारते रहें।
  • मैदान पर अपने व्यवहार (behaviour) को भी विनम्र और संयत बनाए रखें।
  • आपको आगे बढ़ने का जो भी अच्छा मौका हाथ लगे, उसे पूरी तरह से भुनाने की कोशिश करें।
  • कोई अच्छा मौका हाथ से निकल जाने पर भी निराश ना हों। अगले मौके के लिए प्रयास करें।

क्रिकेटर कौन होता है?

क्रिकेट खेलने वाला खिलाड़ी क्रिकेटर कहलाता है।

क्रिकेट में ऑलराउंडर किसे कहते हैं?

जो क्रिकेटर बैटिंग और बोलिंग दोनों फन में माहिर होता है, उसे ऑलराउंडर पुकारा जाता है।

क्रिकेटर कैसे बनें?

इसके सारे तरीके हमने आपको ऊपर पोस्ट में बताए हैं। आप वहां से देख सकते हैं।

एक क्रिकेटर के लिए अच्छी फिटनेस कितनी आवश्यक है?

एक क्रिकेटर के लिए अच्छी फिटनेस होना बेहद आवश्यक है। इसके साथ ही उसे अपनी डाइट पर भी कंट्रोल रखना होगा। यह बैलेंस्ड होनी चाहिए।

किसी क्रिकेट अकादमी में प्रवेश की न्यूनतम आयु क्या होती है?

क्रिकेट अकादमी में प्रवेश लेने के लिए न्यूनतम आयु अधिकांश तथा 5 वर्ष रखी गई है।

किसी क्रिकेट एकेडमी में प्रवेश लेने से पहले क्या देखना चाहिए?

किसी क्रिकेट अकादमी में प्रवेश लेने से पहले उसकी बैकग्राउंड जांचनी चाहिए। साथ ही देखना चाहिए कि वहां कोच कौन-कौन और कैसे हैं।

एक अच्छा क्रिकेटर बनने के लिए आपके अंदर क्या स्किल्स होने चाहिए?

ऐसा संबंध में हमने आपको ऊपर पोस्ट में विस्तार से बताया है। आप वहां से देख सकते हैं।

क्या एक बड़ा क्रिकेटर बनने के लिए पैसा होना बेहद आवश्यक है?

जी नहीं, एक बड़ा क्रिकेटर बनने के लिए पैसे से ज्यादा प्रतिभा एवं जुनून होना आवश्यक है।

download app

भारत की सबसे बड़ी क्रिकेट एकेडमी कौन सी है और कहां स्थित है?

नेशनल क्रिकेट एकेडमी भारत की सबसे बड़ी क्रिकेट अकादमी है। यह कर्नाटक के बेंगलुरु में स्थित है।

एक क्रिकेटर रिटायरमेंट के बाद क्या-क्या कर सकता है?

एक क्रिकेटर रिटायरमेंट के बाद अपनी एकेडमी खोल सकता है। या एक्सपर्ट/ कमेंटेटर के तौर पर अपना करियर बना सकता है।

क्या क्रिकेटर बनने के लिए शारीरिक तौर पर फिट होने के साथ ही मानसिक रूप से मजबूत भी होना चाहिए?

जी हां, क्रिकेटर बनने के लिए किसी भी युवा में यह दोनों खूबियां होनी चाहिए।

क्रिकेटिंग स्किल सुधारने में बड़े क्रिकेटर्स के वीडियो कितने काम आते हैं?

किसी युवा के क्रिकेटिंग स्किल सुधारने में बड़े क्रिकेटर्स के वीडियो बहुत काम आते हैं। वह इन्हें देख कर अपनी खूबियों को और निखार सकता है तथा कमजोरियों को दुरुस्त कर सकता है।

ऐसी कौन से युवा क्रिकेटर है जो पैसे की तंगी के बावजूद अपनी प्रतिभा के बल पर आगे बढ़े हैं?

ऐसे बहुत से क्रिकेटर हैं। वर्तमान में आप यशस्वी जायसवाल, तिलक वर्मा, रिंकू सिंह आदि के नाम प्रमुख तौर पर ले सकते हैं।

इस पोस्ट (post) में हमने आपको क्रिकेटर बनने के विषय में महत्वपूर्ण जानकारी दी। उम्मीद करते हैं कि यह पोस्ट आपको आपका सपना पूरा करने की दिशा में सहायता करेगी। इस पोस्ट को आप अपने क्रिकेटर बनना चाहने वाले दोस्तों एवं परिचितों के साथ अधिक से अधिक शेयर (share) करें। ।।धन्यवाद।।

प्रवेश
प्रवेश
मास मीडिया क्षेत्र में अपनी 15+ लंबी यात्रा में प्रवेश कुमारी कई प्रकाशनों से जुड़ी हैं। उनके पास जनसंचार और पत्रकारिता में मास्टर डिग्री है। वह गढ़वाल विश्वविद्यालय, श्रीनगर से वाणिज्य में मास्टर भी हैं। उन्होंने गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय से व्यक्तिगत प्रबंधन और औद्योगिक संबंधों में डिप्लोमा भी किया है। उन्हें यात्रा और ट्रेकिंग में बहुत रुचि है। वह वाणिज्य, व्यापार, कर, वित्त और शैक्षिक मुद्दों और अपडेट पर लिखना पसंद करती हैं। अब तक उनके नाम से 6 हजार से अधिक लेख प्रकाशित हो चुके हैं।
WordPress List - Subscription Form
Never miss an update!
Be the first to receive the latest blog post directly to your inbox. 🙂

Leave a Comment