हेलमेट का चालान कितना है 2022 में | Fine for Helmet In Hindi

|| Helmet ka chalan kitna hai 2022, हेलमेट का चालान कितने का है 2022, इंश्योरेंस का चालान कितने का है 2022, बाईक चालान नियम 2022 List, बिना हेलमेट चालान फीस राजस्थान, बाइक का चालान कितने का है ||

जब से भारत सरकार के द्वारा चालान के नियमो को लेकर सख्ती की गयी हैं तब से हर कोई इसके बारे में जानना (Helmet ka chalan kitne ka hota hai) चाहता हैं। दरअसल पहले के समय में सड़क पर वाहन चलाना बहुत कम था और लोग अपनी साइकिल के साथ ही वहां चलाया करते थे लेकिन आज के समय में सड़के भी अच्छी (Helmet ka jurmana kitna hai) हो गयी हैं और उस पर सरपट वाहन भी दौड़ते हैं।

ऐसे में आप यदि हेलमेट को पहनकर दोपहिया वाहन चलते हैं तो बहुत बढ़िया अन्यथा आपको हेलमेट का चालान बहुत महंगा पड़ सकता हैं। यदि आप भी (Helmet na hone par challan) नए भारतीय सड़क कानून के अनुसार हेलमेट का चालान जानना चाह रहे हैं तो आज हम आपको हेलमेट के चालान कितना है 2022 में वही बताएँगे। साथ ही कुछ अन्य जानकारी (Helmet ka fine kitna hai) भी जानने को मिलेगी।

हेलमेट का चालान कितना है 2022 में (Helmet ka chalan kitna hai 2022)

सबसे पहले आप यह जान लीजिए कि केवल हेमलेट पहल लेने से ही आप चालान से बच जाएंगे ऐसा नही है। बहुत से लोगों को लगता हैं कि वे कोई भी हेलमेट पहन कर अपनी बाइक या स्कूटी चला लेंगे और उसे कैसे भी पहन लेंगे तो उसका चालान नही कटेगा। यदि आप भी इसी भ्रम में हैं तो संभल जाइये।

आज के इस लेख में हम आपको हेलमेट का चालान से लेकर बाकि वह सब जानकारी देंगे जिनकी वजह से आपका चालान कट सकता हैं। अर्थात हेलमेट के चालान से बचने के लिए केवल हेलमेट पहल लेना ही काफी नही होता बल्कि आपको कई और चीज़ों का भी ध्यान (Helmet na hone par jurmana) रखना पड़ता हैं। आइए इन सभी के बारे में विस्तार से जाने।

हेलमेट का चालान कितना है 2022 में (Helmet ka chalan kitna hai 2022)

हेलमेट का चालान अभी कितना है? (Helmet ka chalan kitne ka hota hai)

यदि आप 2022 में हेलमेट का चालान जानना चाह रहे हैं तो यह मत सोचिये कि यह पहले के जैसे बस 100 या 200 रुपए ही होगा। आज के समय में इसकी कीमत को बढ़ाकर 1000 रुपए कर दिया गया हैं।

जी हां, सही सुना आपने, पूरे एक हज़ार (Helmet na lagane par kitna jurmana hai)। अब यदि आप बिना हेलमेट पहने घर से निकलते हैं तो जेब में एक हज़ार रुपए भी रखकर निकलिएगा क्योंकि गलती से भी यदि आपके ऊपर ट्रैफिक पुलिस की नज़र पड़ गयी तो आपके गए एक हज़ार।

इसके साथ ही हेलमेट ना पहनने की सजा यहाँ समाप्त नही होती हैं। भारत सरकार ने इसके लिए और भी कड़े नियम बनाए हैं ताकि लोग इसका सख्ती से पालन करे।

मोटर वाहन अधिनियम की धारा 194 डी के अनुसार यदि कोई व्यक्ति बिना हेलमेट के वाहन चला रहा हैं तो उस पर एक हज़ार का जुर्माना तो लगाया ही जाएगा। इसके साथ ही 3 माह के लिए उसके लाइसेंस को भी निलंबित कर दिया जाएगा और थाने में जब्त रखा जाएगा।

एक तरह से एक बार हेलमेट ना पहनने का दंड आपको बहुत भारी पड़ने वाला हैं। यदि आप किसी कारणवश हेलमेट नही पहनते हैं तो आपके ऊपर एक हज़ार का दंड लगेगा और 3 माह के लिए आपके लाइसेंस को भी जब्त कर लिया जाएगा। फिर उसके बाद आपको 3 माह बाद ही अपना लाइसेंस मिलेगा और वो भी एक टेस्ट देकर।

हेलमेट का चालान कटने के अन्य कारण (Helmet ka chalan katne ke karan)

अब आप सोच रहे होंगे कि चलो किसी भी तरह से हेलमेट को आपने पहन लिया और अब आपका कोई भी चालान नही काट पाएगा। यदि आप भी कुछ इसी भ्रम में हैं तो जान लीजिए कि ऐसे और भी कई कारण हैं जिनकी वजह से आपके हेलमेट पहनने पर भी आपका हेलमेट का चालान काटा जा सकता हैं। आइए उनके बारे में भी जान लेते हैं ताकि आपको बाद में किसी तरह की कोई समस्या का सामना ना करना पड़े।

#1. बीआईएस मार्क का ही हो हेलमेट (BIS mark helmet)

आपने कई बार अपने शहर की सडकों पर या रेहड़ी पर हेलमेट बिकते हुए देखे होंगे जो आपको 100 या 200 रुपए में हेलमेट दे देते होंगे। शायद इनमे से कुछ हेलमेट आपके पास भी हो। यदि आपने भी यह हेलमेट ख़रीदे हुए हैं तो ना तो ये हेलमेट आपकी सुरक्षा करेंगे और ना ही आपका चालान कटने से बचायेंगे।

दरअसल मोटर वाहन अशिनियम के अनुसार केवल बीआईएस से मार्क हेलमेट ही मान्य होंगे। बीआईएस का अर्थ हुआ भारतीय मानक ब्यूरो अर्थात Bureau of Indian Standards (BIS). कहने का तात्पर्य यह हुआ कि बाकि सभी हेलमेट घटिया गुणवत्ता के होते हैं जबकि BIS के द्वारा रजिस्टर किया हुआ हेलमेट ही मान्यता प्राप्त होगा।

इसलिए यदि आपके हेलमेट पर BIS का मार्क नही लगा हुआ हैं तो अभी उस हेलमेट को फेंक दे क्योंकि उसका कोई अर्थ नही है। हेलमेट को ना केवल चालान से बचने के लिए पहना जाता हैं बल्कि उससे अपने शरीर के सबसे महत्वपूर्ण अंग मस्तिष्क की रक्षा भी की जाती हैं जबकि यह बिना BIS मार्क वाला हेलमेट आपके किसी काम भी नही आएगा।

#2. हेलमेट की स्ट्रिप ना बंधी हो (Helmet stripe kit)

अब भारतीय अक्सर हर काम में जुगाडू होते हैं। अब हम अपने सिर पर हेलमेट पहन तो लेंगे लेकिन उसकी नीचे की स्ट्रिप ही नही बांधेंगे। ऐसे में हेलमेट पहनने का अर्थ ही क्या हुआ। यदि किसी कारणवश हमारी दुर्घटना भी हो जाती हैं तो वह हेलमेट तो झटके से अहमारे सिर से निकल कर दूर जा गिरेगा और हम कही ओर। ऐसे में वह हेलमेट हमारी रक्षा कैसे ही कर पाएगा।

इसलिए यदि आपने हेलमेट पहना भी हुआ हैं लेकिन उसकी स्ट्रिप बंद नही की हुई हैं तो भी आपका हेलमेट नही पहनने का चालान ही काटा जाएगा फिर चाहे आप ट्रैफिक पुलिस के सामने कितनी ही क्षमायाचना करें। इसलिए आगे से हमेशा हेलमेट पहनने के साथ साथ उसकी स्ट्रिप को भी कसकर बंद कर ले।

#3. टूटा हुआ या ख़राब हेलमेट

अब आप सोच रहे होंगे कि आपके पास तो BIS का रजिस्टर मार्क लगा हुआ हेलमेट भी हैं और आप उसकी स्ट्रिप भी बंद कर लेंगे तो आपका चालान नही कटेगा लेकिन जरा रुकिए और अपने हेलमेट को ध्यान से देखिये। कई लोग तो वर्षों वर्ष तक एक ही हेलमेट का इस्तेमाल करते रहते है। फिर चाहे वह कबाड़ हो गया हो या जगह जगह से टूट गया हो।

अब जो खुद ही टूट फुट गया हो वह BIS मार्क के बाद भी आपके सिर की रक्षा कैसे कर पाएगा। इसलिए यदि आपका हेलमेट टूट भी गया है या ख़राब हो गया है तो भी उसका चालान काट दिया जाएगा। ऐसे में अपने हेलमेट को हमेशा सही रखे और यदि यह टूट भी गया हैं तो थोड़े से पैसे खर्च कर एक नया हेलमेट ले लीजिए।

#4. पीछे वाले का हेलमेट ना पहनना

बहुत से छोटे शहर में या गाँव में रहने वाले लोग इस बात को नही जानते हैं कि जो भी व्यक्ति दोपहिया वाहन चला रहा हैं केवल उसी का हेलमेट पहनना ही अनिवार्य नही होता हैं बल्कि जो उसके पीछे बैठा है उसका भी हेलमेट पहनना उतना ही आवश्यक होता हैं।

अब जरा आप ही सोचिये कि सरकार ने यह सब नियम किसलिये बनाए हैं? क्या सरकार को इससे पैसे कमाने हैं या फिर कोई और बात हैं? दरअसल यह सब मोटर वाहन नियम हमारी और आपकी ही सुरक्षा के लिए बनाए गए हैं। अब भगवान ना करे यदि कल को सड़क पर आपके साथ कोई दुर्घटना हो जाती हैं तो यही हेलमेट आपके प्राणों की रक्षा करने में बहुत सहायता हो सकता हैं।

अब ध्यान दीजिए कि आप बाइक या स्कूटी चला रहे हैं और आपके पीछे आपके परिवार वाला या मित्र बैठा हुआ हैं। अब उस बाइक की दुर्घटना हो जाती हैं और आपने हेलमेट पहना हुआ हैं लेकिन पीछे वाले ने नही।

तो ऐसी स्थिति में क्या उसके सिर पर चोट नही लगेगी? यह तो एक हास्यास्पद बात ही लगेगी। अब शायद आपको समझ में आ गया होगा कि हेलमेट पहनना जितना आगे वाले के लिए आवश्यक है उतना ही यह पीछे वाले के लिए भी है।

ऐसे में यदि आपने अपने दोपहिया वाहन पर पीछे किसी को बैठा रखा है और उसने हेलमेट नही पहना हुआ हैं तो ऐसी स्थिति में भी आपका चालान काट लिया जाएगा।

#5. पुलिस को देखकर हेलमेट पहनना

कुछ लोगों को हेलमेट पहनना इतना मुश्किल लगता हैं कि वे इसे ना पहनने के तरीके ढूंढते रहते हैं। जैसे कि हेलमेट को अपने हाथ में लटका लिया या इसे अपने दोपहिया वहां के शीशे के स्टैंड पर लटका दिया। फिर जब भी ट्रैफिक पुलिस दिखे तो उसको देखते ही जल्दी से हेलमेट निकाल कर पहन लिया।

यदि आप अपने आप को स्मार्ट समझते हैं तो अब से ध्यान दीजिए। यदि उस पुलिस वाले ने आपको अपने सामने हेलमेट पहनते हुए देख लिया या उसकी आप पर किसी तरह से पहले ही नज़र पड़ गयी तो आप चाहे चौराहे पर या उस पुलिस वाले के पास हेलमेट पहन कर पहुंचे हो लेकिन आपका चालान काट लिया जाएगा। 

इसलिए आगे से इस भ्रम में ना रहे कि आप पुलिस को देखकर ही हेलमेट पहनेंगे। हेलमेट को पहनना अपना उत्तरदायित्व समझे और इसे हमेशा लगा कर रखे। ऐसा करेंगे तो आप सुरक्षित रहेंगे।

हेलमेट का चालान कैसे भरे (Helmet challan kaise bhare)

अब किसी कारणवश आपका हेलमेट का चालान कट भी गया हैं तो आपको यह भरना भी होगा। इसको भरने के दो तरीके हैं। एक तो आप अपने यहाँ के ट्रैफिक पुलिस थाने में जाकर चालान को भर सकते हैं या फिर इसे ऑनलाइन भी भरा जा सकता हैं। आइए दोनों तार्किकों के बारे में जाने।

#1. थाने में जाकर हेलमेट का चालान भरना (Offline challan kaise bhare)

यदि आप अपने शहर के ट्रैफिक पुलिस थाने में जाकर हेलमेट का चालान भरना चाहते हैं तो सबसे पहले कुछ जरुरी बाते ध्यान में रखें। इसके लिए आप पुलिस स्टेशन जाने से पहले हेलमेट के चालान की जो कॉपी आपको मिली हैं, उसकी एक फोटोकॉपी अवश्य करवा (Bike challan kaise bhare) ले।

इसके साथ ही आपका जो ड्राइविंग लाइसेंस हैं उसकी भी एक फोटोकॉपी करवा ले। इसके बाद आपको ट्रैफिक पुलिस के थाने जाना होगा और वह हेलमेट के चालान वाली कॉपी दिखानी होगी। इसके बाद पुलिस के अधिकारी पूरी कार्यवाही कर आपसे एक हज़ार रुपए मांगेंगे और साथ ही आपका ड्राइविंग लाइसेंस भी।

यदि आप इन दोनों में कोई भी चीज़ देने में आनाकानी करते हैं तो आपके ऊपर दंडात्मक कार्यवाही की जा सकती हैं। मोटर वाहन अधिनियम के अनुसार इसके लिए आपको 3 माह का कारावास भी हो सकता हैं। इसलिए इन दोनों चीज़ों के मांगे जाने पर तुरंत उन्हें यह उपलब्ध करवा दे।

इसके बाद आवश्यक कार्यवाही कर आपको एक स्लिप दे दी जाएगी। उसमे यह लिखा होगा कि आपका चालान किस कारण कटा हैं, आपने उसके लिए आवश्यक राशि चुका दी हैं और आपका लाइसेंस 3 माह के लिए जब्त किया जाता हैं। इसके साथ ही अब आपका लाइसेंस 3 माह बाद कहां से मिलेगा और कैसे मिलेगा, इसके बारे में भी लिखा होगा।

अब आपको 3 माह तक प्रतीक्षा करनी होगी और जब 3 माह हो जाए तो आपको संबंधित चौकी में जाकर अपना लाइसेंस वापस लेने के लिए कहना होगा। इसके लिए आपको मिली चालान की कॉपी को उन्हें दिखाना होगा। तत्पश्चात वहां के अधिकारी इसे अपने रजिस्टर में चेक करेंगे और आपका एक टेस्ट लेंगे।

टेस्ट में सफल होने के पश्चात आपको आपका लाइसेंस वापस दे दिया जाएगा। अब आप इसे लेकर अपने घर आ सकते हैं। तो कुछ इस तरह से आप ऑफलाइन कटे हेलमेट के चालान को भर सकते हैं।

#2. हेलमेट का ई चालान कैसे भरें (Helmet E Challan kaise bhare) 

अब बात करते है कि आप अपने हेलमेट का ई चालान कैसे ऑनलाइन भर सकते हैं। दरअसल इसके लिए सब सुविधा भारत सरकार की ओर से ऑनलाइन ही दी गयी हैं। इसके लिए आप अपने घर बैठे ही चालान की सब राशि भर सकते हैं। आइए चरण दर चरण इसके (Online challan kaise bhare) बारे में जाने।

  • सबसे पहले तो आपको मोटर वहां का ई चालान भरने वाली वेबसाइट पर जाना होगा जिसका लिंक https://echallan.parivahan.gov.in/ है।
  • यहाँ पर आपको कई विकल्प दिखाई देंगे जिसमें शुरू में ही लिखा होगा चेक ऑनलाइन स्टेटस (Check Online Status) जिस पर आपको क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस पर क्लिक करेंगे तो आपके सामने एक लिस्ट खुल जाएगी जिसमें आपको आखिरी विकल्प पर क्लिक करना होगा जिस पर लिखा होगा चेक चालान स्टेटस (Check Challan Status).
  • जैसे ही आप इस पर क्लिक करेंगे तो आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा जहाँ पर आपसे आपके चालान की जानकारी मांगी जाएगी।
image 11
  • इसमें आप तीन तरीको से अपने चालान का स्टेटस चेक कर सकते हैं जो हैं चालान नंबर, व्हीकल नंबर या ड्राइविंग लाइसेंस नंबर।
  • आप इन तीनों में से कोई भी एक विकल्प का चुनाव करें और नंबर डाल दीजिए। उसके बाद नीचे दिए Captcha को भरकर Get Details पर क्लिक करेंगे तो आपको अपने चालान से संबंधित सब जानकारी मिल जाएगी।
image 12
  • इसमें आपको अब एक विकल्प दिखाई देगा जिस पर लिखा होगा Pay Now अर्थात अपने चालान की राशि को अभी पे कर दीजिए।
image 13
  • आप इस पर क्लिक करेंगे तो आपके सामने चालान की राशि का भुगतान करने के कई तरीके होंगे जैसे कि फोन पे, गूगल पे, पेटीएम, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, मेट बैंकिंग, यूपीआई इत्यदि।
  • आप इनमे से किसी का भी चुनाव करें और चालान की राशि भर दीजिए।
  • जैसे ही आप इसे पे कर देंगे उसी समय आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर व ईमेल आईडी पर एक स्लिप आ जाएगी जिस पर लिखा होगा कि आपके द्वारा उस चालान को भर दिया गया हैं।

आप चाहे तो फिर से ऐसे ही जाकर अपने चालान का स्टेटस चेक कर सकते हैं। आप जब वापस इसी प्रक्रिया के तहत जाएंगे तो वहां आपको अपना चालान भरा हुआ (Chalan kaise check karen) मिलेगा। इस तरह से आप पक्का कर सकते हैं कि आपका हेलमेट का चालान भरा जा चुका हैं। अब आप निश्चिंत हो सकते हैं।

हेलमेट का चालान कितना है – Related FAQs

प्रश्न: राजस्थान में हेलमेट का चालान कितने का है?

उत्तर: राजस्थान में हेलमेट का चालान 1000 रुपए का है व इसके अलावा 3 माह के लिए लाइसेंस भी जब्त किया जाता है।

प्रश्न: बाइक का चालान कितने का है?

उत्तर: बिका का चालान बहुत तरह का है जिसमें हेलमेट ना पहनने के एक हज़ार, बिना पंजीकरण के 5 हज़ार तो बिना बीमा के 2 हज़ार का चालान है।

प्रश्न: 1 दिन में कितनी बार चालान हो सकता है?

उत्तर: एक दिन में एक वाहन का केवल एक बार ही चालान काटा जा सकता है

प्रश्न: कैसे पता करें चालान कटा है या नहीं?

उत्तर: इसका पता करने के लिए आप मोटर वाहन अधिनियम की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर वाहन नंबर डालकर चेक कर सकते हैं।

प्रश्न: क्या पुलिस चालान काट सकती है?

उत्तर: सामान्य पुलिस चालान नही काट सकती है और इसके लिए केवल ट्रैफिक पुलिस ही उत्तरदायी है। यदि सामान्य पुलिस चालान काटती है तो यह न्यायालय के नियमों का उल्लंघन है।

प्रश्न: चालान जमा न करने पर क्या होता है?

उत्तर: चालान जमा नही करने पर आपके ऊपर भारतीय मोटर वहां अधिनियम के अंतर्गत कार्यवाही हो सकती हैं जिसमें आपको 3 माह से लेकर कई वर्ष का कारावास हो सकता हैं।

प्रश्न: गाड़ी का चालान ऑनलाइन कैसे चेक करें?

उत्तर: किसी भी गाड़ी का चालान ऑनलाइन भरने के लिए आपको ई चालान की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन भुगतान करना होगा।

तो आज आपने जाना कि भारत सरकार के द्वारा बनाए गए नए मोटर वाहन अधिनियम के अनुसार हेलमेट का चालान कितना हो सकता हैं, साथ ही हेलमेट ना पहनने (Bina helmet ka chalan kitna hai) पर आपको क्या क्या नुकसान हो सकते हैं और उसके साथ ही हेलमेट का चालान किन किन तरीकों से कट सकता हैं। तो अब आगे से इन सब बातों का ध्यान रखें और दोपहिया वाहन चलते समय पूरी सावधानी बरते।

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment

एक देश एक राशन कार्ड योजना नानाजी देशमुख कृषि संजीवनी योजना यूपी जनसंख्या कानून क्या है? मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना झारखण्ड कम्युनिकेशन स्किल इम्प्रूव करने के 8 तरीके