हेल्थ और फिटनेस सेंटर कैसे शुरू करें? | Gym business plan in Hindi

Gym business plan in Hindi : आज के समय में लोग अपने स्वास्थ्य को लेकर बहुत ही जागरूक हो गए हैं। अब लोगों का काम ही कुछ ऐसा हो गया है कि उन्हें दिनभर टेबल कुर्सी पर बैठे बैठे ही सारा काम करना होता है। ऐसे में उन्हें अपनी हेल्थ की बहुत चिंता सताती है। इसी कारण उनके द्वारा हेल्थ और फिटनेस सेंटर पर जाया जाता है ताकि वहां जाकर वे अपना वर्क आउट कर सकें और स्वास्थ्य को ठीक रख सकें। यही कारण है कि आपको भी अपने आसपास कई तरह के हेल्थ और फिटनेस सेंटर खुले हुए दिख (How to start a gym in India in Hindi) जाएंगे।

पहले के समय में इनकी संख्या कम थी लेकिन आज तो लगभग हर मोहल्ले में इनकी एक या दो संख्या हो चुकी है। हेल्थ और फिटनेस सेंटर को शोर्ट फॉर्म में जिम भी कहा जा सकता है। हालाँकि सामान्य भाषा में इसे जिम कहा जाता है लेकिन असलियत में इसका नाम हेल्थ और फिटनेस सेंटर ही होता है। अब लोग यहाँ केवल वर्क आउट करने या अपनी हेल्थ बनाने के लिए ही नहीं जाते हैं बल्कि यहाँ आने वाले अधिकांश लोग तो अपनी बॉडी बनाने के लिए आते हैं ताकि वे दूसरों के बीच आकर्षण का केंद्र बन (How to start a gym business in Hindi) सकें।

ऐसे में आज के इस लेख के माध्यम से हम आपके साथ इसी हेल्थ और फिटनेस सेंटर के बारे में बात करने जा रहे हैं। आज के इस लेख को पढ़कर आपको यह जानने में मदद मिलेगी कि किस तरह से आप भी अपना खुद का हेल्थ और फिटनेस सेंटर खोल सकते हैं और उसके जरिये बहुत सारा पैसा कमा सकते हैं। हालाँकि इसके लिए आपको यह लेख पूरा और बहुत ही ध्यान से पढ़ने की जरुरत (Gym business ideas in Hindi) है।

Contents show

हेल्थ और फिटनेस सेंटर कैसे शुरू करें? (Gym business plan in Hindi)

हेल्थ और फिटनेस सेंटर या जिम को खोलना कोई मुश्किल काम तो नहीं है लेकिन यह इतना सरल भी नहीं है। एक तरह से आपके शहर में भी कई सारे हेल्थ और फिटनेस सेंटर होंगे लेकिन आप यदि अच्छे से देखेंगे तो पाएंगे कि उनमें से कुछ में तो बहुत ज्यादा भीड़ रहती है जबकि कुछ खाली खाली से रहते हैं। अब ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जो लोग इनको खोल रहे हैं, उन्होंने इस पर कितनी मेहनत और रिसर्च की (Gym marketing strategies in Hindi) है।

Gym business plan in Hindi

इसलिए यदि आपको भी एक सफल और कारगर हेल्थ और फिटनेस सेंटर खोलना है तो उसके लिए आपको पहले से ही पूरी तैयारी करके रखनी होगी। ऐसे में हेल्थ और फिटनेस सेंटर खोलने से संबंधित हरेक महत्वपूर्ण और बारीक जानकारी अब हम आपके सामने रखने जा रहे हैं जो आपके बहुत काम आने वाली (The business of fitness in Hindi) है।

अपने शहर की स्थिति का आंकलन करें

यदि आपको हेल्थ और फिटनेस सेंटर खोलना है तो उसके लिए आपके शहर में किस तरह की व्यवस्था है, वहां के लोग किस तरह के हैं, उनकी स्वास्थ्य को लेकर किस तरह की रूचि है, वे अपनी फिटनेस को लेकर कितने जागरूक हैं, इत्यादि बातों का अध्ययन करने की जरूरत है। एक तरह से आपको अपने शहर के मिजाज को समझने की जरूरत (How to start and grow a profitable gym in Hindi) होगी।

यदि आपको अपने शहर या जहां भी आप हेल्थ और फिटनेस सेंटर खोलने का सोच रहे हैं, उसकी अच्छे से समझ है तो यह आपको अपना बिज़नेस शुरू करने में बहुत ही सहायता करने वाला है। इसलिए पहले ही इसका अच्छे से आंकलन कर लेंगे तो बेहतर रहेगा।

प्रतिस्पर्धी हेल्थ और फिटनेस सेंटर को जांचे

शहर की स्थिति को जांचने के बाद जो अगली बारी आती है, वह है आपके शहर में पहले से खुले हुए हेल्थ और फिटनेस सेंटर और उनके यहां मिल रही सुविधाएं। अब आपके शहर में पहले से ही कई तरह के हेल्थ और फिटनेस सेंटर खुले हुए होंगे जहां हज़ारों की संख्या में लोग जाते होंगे और व्यायाम करते होंगे। ऐसे में आपको उनके स्ट्रक्चर और कार्य प्रणाली को समझने की जरूरत (Gym or fitness centre business in Hindi) है।

इसके लिए आप वहां ग्राहक बनकर जा सकते हैं, जो वहां पहले से ग्राहक हैं, उनके साथ बातचीत कर सकते हैं। आप देखें कि वहां किस तरह से काम हो रहा है, लोगों को कितने में क्या कुछ मिल रहा है, वे कितना टाइम वहां लगाते हैं और वहां की डिजाइनिंग कैसी है तथा किस स्तर की ट्रेनिंग दी जा रही है।

अपनी कार्य योजना बनाएं

अब जब आपने अपने शहर के लोगों और अन्य हेल्थ और फिटनेस सेंटर का आंकलन कर लिया है तो बारी आती है अपने हेल्थ और फिटनेस सेंटर के लिए कार्य योजना को बनाये जाने की। इसके लिए आपको बहुत मेहनत करने की जरूरत होगी क्योंकि यही आपके हेल्थ और फिटनेस सेंटर को शुरू करने का मुख्य आधार होगा। एक तरह से आप जो जिम खोलने का सपना देख रहे हैं वो यहां की गई मेहनत से ही साकार (Gym ka business kaise start kare) होगा।

इसलिए आप अपना हेल्थ और फिटनेस सेंटर क्यों खोलना चाह रहे हैं, उसका लक्ष्य क्या है, आप ग्राहकों को क्या सुविधा देंगे, उसके लिए पैसा कहां से आएगा, लोगों की भर्ती कैसे होगी, फीस कितनी होगी, लोगों के लिए टाइमिंग क्या होगी, इत्यादि सभी बातों को आपको अभी से ही सोच लेना चाहिए ताकि आगे चलकर कोई दिक्कत ना हो।

बिज़नेस मॉडल बनाएं

अब आपको एक प्रॉपर बिज़नेस मॉडल को बनाने की जरूरत है जो कार्य योजना के बाद बनता है। कहने का अर्थ यह हुआ कि एक बिज़नेस मॉडल वह मॉडल होता है जहां पर पूरे बिज़नेस की सभी तरह की जानकारी दी गयी होती है। इसे आप अच्छे से बनाएंगे तो आगे आने वाली चुनौतियों से पहले ही संभल (Gym ka business kaise kare) जाएंगे।

एक तरह से आप इसी जगह यह देख व समझ पाएंगे कि आगे किन किन चीज़ों पर काम करना होगा और उसके लिए किस किस तरह के विकल्प हो सकते हैं। इसलिए आपके लिए यह बिज़नेस मॉडल आपकी नई जिम खोलने में अहम भूमिका निभाएगा।

जगह का चुनाव करें

अब जब आप यह सब कर चुके हैं तो बारी आती है हेल्थ और फिटनेस सेंटर को खोलने के लिए एक सही जगह का चुनाव किये जाने की। हालांकि इसके लिए आपको ज्यादा परेशान होने की जरूरत नही है क्योंकि जिम खोलने के लिए जगह की बाध्यता की कोई दिक्कत नही होती है। कहने का अर्थ यह हुआ कि बाकी बिज़नेस की तरह ही इसमें भी जगह को आसानी से लिया जा सकता (How does gym business work in Hindi) है।

बस जगह का बड़ा होना जरूरी है क्योंकि हेल्थ और फिटनेस सेंटर में कई तरह की गतिविधियां होती है। साथ ही इसमें कई तरह की मशीनों को रखा जाता है और वो भी एक जैसी कई मशीन को रखा जाता है ताकि कई लोग एक साथ जिम कर सकें। इसलिए हेल्थ और फिटनेस सेंटर खोलने जा रहे हैं तो उसके लिए कम से कम एक हज़ार वर्ग फुट की जगह का होना जरूरी होता है। हालांकि आप एक से दो मंजिल की भी जिम खोल सकते हैं।

आवश्यक लाइसेंस लें

अब बारी आती है हेल्थ व फिटनेस सेंटर को खोलने के लिए आवश्यक सभी लाइसेंस को लिए जाने की। तो इसके लिए आपको कई तरह के लाइसेंस की आवश्यकता पड़ती है जो आपको अलग-अलग विभागों से लेने होते हैं। सबसे पहले तो आपको उस जमीन का पंजीकरण करवाना होगा जहां पर आप हेल्थ और फिटनेस सेंटर खोलने जा रहे हैं।

इसके साथ ही आपको सुरक्षा मापदंडों का पालन करते हुए उसके लिए जरूरी सभी लाइसेंस को लेना होगा। इसके बाद आपको अपने यहां की स्थानीय निकाय से noc लेनी होगी। इसी के साथ ही कुछ और जगह से भी noc सर्टिफिकेट लेने पड़ सकते हैं। इसलिए इन सभी को लेने के बाद ही हेल्थ और फिटनेस सेंटर को खोलने का विचार करें।

सभी जरुरी मशीन को खरीदें

अब जब आप ऊपर बताई गई सभी तरह की प्रक्रिया को पूरा कर चुके हैं तो उसके बाद बारी आती है हेल्थ और फिटनेस सेंटर के लिए जरूरी सभी तरह की मशीन को खरीदे जाने की। आपके यहाँ से जो भी कमाई होगी या जो भी ग्राहक बनेंगे, वे मुख्य तौर पर इसी मशीन का ही उपयोग करेंगे। यही किसी भी हेल्थ और फिटनेस सेंटर का मुख्य आधार होती (Health and fitness centre business in Hindi) है।

अब यह मशीन भी आधुनिक होनी चाहिए और इसमें सुरक्षा के सभी उपकरण लगे हुए होने चाहिए। एक तरह से कहा जाए तो यह बाकियों के यहां उपलब्ध मशीन से बेहतर होगी तो अवश्य ही लोग आपके यहाँ आना पसंद करेंगे। इसके लिए आपको पूरी रिसर्च करनी होगी और देखना होगा कि आप कहाँ कहाँ से इन मशीन की खरीदारी कर सकते हैं।

हेल्थ और फिटनेस सेंटर का डिजाईन करें

अब बारी आती है हेल्थ और फिटनेस सेंटर को डिज़ाइन किये जाने की। तो इसके लिए भी आपको पहले से ही काम करना होगा। आज के समय में लोग गुणवत्ता से ज्यादा उसकी लुक और डिजाइनिंग पर ध्यान देते हैं। इसलिए आपकी जिम कैसी दिखती है, वहां पर किस तरह की डिजाइनिंग की हुई है, यही लोगों के बीच आकर्षण का केंद्र (Health and fitness centre business plan in Hindi) होगा।

इसके लिए आपको किसी आर्किटेक्चर या ऐसी ही फील्ड में किसी विशेषज्ञ की सलाह लेनी होगी। साथ ही आप ऑनलाइन भी रिसर्च कर सकते हैं और देख सकते हैं कि लोगों ने अपनी जिम को किस तरह से डिजाइन किया हुआ है। यदि आप अपनी जिम को आकर्षक बनाएंगे तो अवश्य ही ज्यादा से ज्यादा लोग आप के हेल्थ एंड फिटनेस सेंटर से जुड़ेंगे।

ट्रेनर व अन्य स्टाफ को रखें

अब बारी आती है जिम में ट्रेनर व अन्य स्टाफ को रखे जाने के बारे में। तो किसी भी जिम को चलाने के लिए मशीन की जितनी ज्यादा आवश्यकता होती है उतनी ही ज्यादा जरूरत प्रोफेशनल ट्रेनर की होती है। यदि आप किसी ऐसे वैसे व्यक्ति को ही अपने हेल्थ एंड फिटनेस सेंटर में ट्रेनर के तौर पर नियुक्त कर लेते हैं तो इससे आपको और आपकी जिम दोनों को ही घाटा होगा।

आज के समय में आपको कई ऐसे लोग मिल जाएंगे जिन्होंने हेल्थ एंड फिटनेस में अच्छा कोर्स किया हुआ है और उनके पास अनुभव भी अच्छा है। इसलिए आप अपने हेल्थ एंड फिटनेस सेंटर में ट्रेनर को नियुक्त करने से पहले उसकी पढ़ाई, पास्ट रिकॉर्ड और लोगों से कनेक्ट करने का उसका जरिया इत्यादि की अच्छे से जांच परख कर लें। इसके बाद ही उसे अपने यहां काम पर (Health and fitness centre kaise khole) रखें।

सुरक्षा का भी ध्यान रखें 

अब जब लोग आपके हेल्थ एंड फिटनेस सेंटर में आएंगे तो वह वहां पर भारी से भारी मशीन का इस्तेमाल करेंगे। कुछ लोग बहुत जोश से भरे होते हैं और वह शुरुआती तौर पर ही भारी भरकम वेट को उठाने लग जाते हैं जिससे उनके शरीर में किसी तरह की चोट आ सकती है। इसी के साथ ही किसी और तरह की भी अनहोनी हो सकती है जैसे कि किसी की कमर में लचक आ जाना या किसी भारी सामान का किसी के पैर या हाथ पर गिर जाना।

ऐसे में आपको अपने हेल्थ एंड फिटनेस सेंटर में सभी तरह के सुरक्षा उपकरणों को रखना चाहिए। इसके लिए आप फर्स्ट एड बॉक्स के साथ-साथ एक दो ऐसे व्यक्तियों को भी रखें जिन्हें लोगों का प्राथमिक उपचार करने की जानकारी हो। यह आपके हेल्थ एंड फिटनेस सेंटर को आगे बढ़ाने और लोगों के बीच उसकी अच्छी राय बनाने में बहुत मदद करेगा।

टाइमिंग और फीस को फिक्स करें

इसके बाद बारी आती है अपने हेल्थ और फिटनेस सेंटर की टाइमिंग और फीस को निर्धारित किए जाने की। इसके लिए आप के लिए वह जानकारी काम आएगी जब आपने अपने शहर के लोगों की स्थिति और अपने शहर में उपलब्ध अन्य हेल्थ एंड फिटनेस सेंटर का आंकलन किया होगा। यह आपको अपने हेल्थ एंड फिटनेस सेंटर में कितनी फीस रखी जानी चाहिए और उसकी टाइमिंग किस तरह से होनी चाहिए इसको निर्धारित करने में बहुत मदद करेगा।

अलग-अलग शहरों में अलग-अलग हेल्थ एंड फिटनेस सेंटर के उनकी स्थिति और उनके यहां उपलब्ध उपकरण और ट्रेनर के हिसाब से अलग-अलग दाम होते हैं। इसलिए आप भी अपने हेल्थ एंड फिटनेस सेंटर का एक सही और उचित दाम व टाइमिंग निर्धारित करें। इस बात का ध्यान रखें कि यह आपके प्रतिस्पर्धी हेल्थ एंड फिटनेस सेंटर की तुलना में ना ही बहुत ज्यादा हो और ना ही बहुत ज्यादा कम।

ग्राहकों की जरुरत का ध्यान रखें 

यह बात केवल हेल्थ एंड फिटनेस सेंटर के ऊपर ही लागू नहीं होती है बल्कि दुनिया में काम कर रहे हर एक बिजनेस के ऊपर लागू होती है। जो भी व्यक्ति जिस भी क्षेत्र में बिजनेस कर रहा है यदि वह अपने क्षेत्र से संबंधित ग्राहकों की जरूरत और उनकी आवश्यकताओं पर ध्यान केंद्रित नहीं करता है तो वह बिजनेस ज्यादा समय तक नहीं चल पाता है या फिर ज्यादा लोगों तक नहीं पहुंच पाता है।

इसलिए यदि आपको अपने हेल्थ एंड फिटनेस सेंटर की पहुंच ज्यादा से ज्यादा लोगों तक बढ़ानी है और अपने साथ ज्यादा से ज्यादा ग्राहकों को जोड़ना है तो उसके लिए आपको अपने यहां आने वाले ग्राहकों के साथ अच्छा संबंध बनाना होगा। आपको समय-समय पर उनसे उनका फीडबैक लेते रहना होगा और समय के साथ आधुनिक और मॉडर्न बनना होगा।

मार्केटिंग और प्रोमोशन करें

अब करते हैं सबसे अंतिम और जरूरी बात जो है अपने हेल्थ एंड फिटनेस सेंटर को आगे बढ़ाने और ज्यादा लोगों तक अपनी पहुंच बढ़ाने की। अपने हेल्थ और फिटनेस सेंटर का सही तरीके से मार्केटिंग और प्रमोशन किया जाना बहुत जरूरी होता है। आज के समय में कोई भी काम कितना भी अच्छा क्यों ना हो लेकिन यदि उसकी सही तरीके से मार्केटिंग व पब्लिसिटी नहीं की जाती है तो बहुत से लोग जो उस चीज में इच्छुक भी होते हैं लेकिन उसके बारे में ना जान पाने के कारण वे उससे जुड़ नहीं पाते हैं।

इसलिए यदि आपको जल्दी से जल्दी सफल होना है और अपने हेल्थ एंड फिटनेस सेंटर को आगे तक लेकर जाना है तो सोशल मीडिया सहित अन्य जो भी मार्केटिंग और प्रमोशन के विकल्प हैं उनका इस्तेमाल करें। इसके लिए आप पंपलेट सहित अपने शहर में पोस्टर छपवा सकते हैं, लोगों के बीच उन्हें बांट सकते हैं और अपने आने वाले ग्राहकों से माउथ पब्लिसिटी भी करवा सकते हैं।

download app

हेल्थ और फिटनेस सेंटर कैसे शुरू करें – Related FAQs

प्रश्न: जिम खोलने के लिए कितनी पूंजी चाहिए?

उत्तर: आपको अपना खुद का जिम खोलने के लिए लगभग 15 लाख रुपये तो चाहिए ही चाहिए। अब यह आप पर निर्भर करता है कि आप किस स्तर का और कितना बड़ा जिम खोलना चाहते हैं।

प्रश्न: जिम खोलने में कितना खर्च आता है?

उत्तर: जिम खोलने में आने वाला अनुमानित खर्च 15 लाख से तो ऊपर ही होता है। हालाँकि कुछ लोग तो इसमें करोड़ो रुपये का भी निवेश कर देते हैं जो जिम के आकार और अन्य चीज़ों पर निर्भर करता है।

प्रश्न: क्या फिटनेस बिजनेस शुरू करना मुश्किल है?

उत्तर: फिटनेस बिज़नेस को शुरू करना इतना मुश्किल नहीं होता है बस इसके लिए सही लोकेशन, उच्च गुणवत्ता की मशीन और अच्छे से मार्केटिंग किये जाने की जरुरत होती है।

प्रश्न: मैं फिटनेस में काम करना कैसे शुरू करूं?

उत्तर: यदि आपको अपनी फिटनेस पर काम करना है तो इसके लिए आप आज से ही दौड़ लगाना, योग और प्राणायाम करना और सूर्य नमस्कार करना शुरू कर दें।

तो इस तरह से इस लेख के माध्यम से आपने जाना कि हेल्थ और फिटनेस सेंटर कैसे शुरू कर सकते हैं। हमने आपको हेल्थ और फिटनेस सेंटर खोलने से संबंधित पूरी जानकारी इस लेख में दी है। आप हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख पढ़ कर और सब बातें अपना कर जल्द ही एक सफल हेल्थ और फिटनेस सेंटर खोल पाओगे। आशा है कि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी समझ आई होगी। फिर भी यदि कोई शंका आपके मन में शेष है तो आप हम से नीचे कॉमेंट करके पूछ सकते हैं।

लविश बंसल
लविश बंसल
लविश बंसल वर्ष 2010 में लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में प्रवेश लिया और वहां से वर्ष 2014 में बीटेक की डिग्री ली। शुरुआत से ही इन्हें वाद विवाद प्रतियोगिता में भाग लेना या इससे संबंधित क्षेत्रों में भाग लेना अच्छा लगता था। इसलिए ये काफी समय से लेखन कार्य कर रहें हैं। इनके लेख की विशेषता में लेख की योजना बनाना, ग्राफ़िक्स का कंटेंट देखना, विडियो की स्क्रिप्ट लिखना, तरह तरह के विषयों पर लेख लिखना, सोशल मीडिया कंटेंट लिखना इत्यादि शामिल है।
WordPress List - Subscription Form
Never miss an update!
Be the first to receive the latest blog post directly to your inbox. 🙂

Leave a Comment