जीएसटी सुविधा केंद्र कैसे खोले? GST Suvidha Kendra Apply Online Process

|| GST suvidha kendra kaise khole, जीएसटी सुविधा केंद्र कैसे खोले? gstsuvidhakendra.org How to Open GST Seva Kendra Franchise GST Suvidha Kendra apply online process, GST Suvidha Kendra 2023 Application Form, GST Suvidha Kendra In Hindi, जीएसटी सुविधा केंद्र पंजीकरण ||

यदि आप व्यापारी हैं या फिर आपके घर में कोई व्यापारी हैं तो आप तो अवश्य ही जीएसटी के बारे में जानते होंगे। दरअसल भारत सरकार के द्वारा आज से कुछ वर्षों पहले (GST suvidha kendra kya hota hai) व्यापारियों, वस्तुओं, इत्यादि पर लगने वाले कई तरह के टैक्स को मिलाकर उन सभी को एक रूप दे दिया गया (GST suvidha centre kaise khole) था। उसके बाद से हर व्यापारी को कई तरह के टैक्स देने की बजाए जीएसटी ही भरना होता हैं।

ऐसे में आम नागरिकों को इसे समझने में समस्या होने लगी थी। उन्हें नयी टैक्स प्रणाली को समझाने के उद्देश्य से भारत सरकार के द्वारा कई तरह के जीएसटी केंद्र खोलने की सुविधा (GST suvidha kendra kholne ke liye kya kare) प्रदान की गयी।

यह जीएसटी केंद्र खोलने की सुविधा कोई भी भारतीय उठा सकता हैं लेकिन उसके लिए उसे कुछ मापदंडों का पालन करना (How to open gst suvidha kendra in Hindi) होगा।

ऐसे में यदि आप भी जीएसटी सुविधा केंद्र खोलने का सोच रहे हैं (GST suvidha kendra kaise le) और इसके बारे में विस्तार से जानना चाहते हैं तो आज हम आपके साथ जीएसटी सुविधा केंद्र कैसे खोले व इसके लिए क्या क्या करें, इत्यादि के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे। आइए जाने जीएसटी सुविधा केंद्र खोलने के ऊपर संपूर्ण जानकारी।

Contents show

जीएसटी सुविधा केंद्र कैसे खोले? (GST suvidha kendra kaise khole)

जीएसटी सुविधा केंद्र खोलने से पहले आपका यह जानना आवश्यक हैं कि आखिरकार एक जीएसटी सुविधा केंद्र होता क्या हैं या फिर जीएसटी सुविधा केंद्र पर क्या क्या काम होता है।

यदि एक बार आप जीएसटी सुविधा केंद्र के बारे में सही से जान गए तो फिर आपको इसे खोलने और चलाने में किसी तरह की परेशानी नही होगी। आइए जानते हैं जीएसटी सुविधा केंद्र क्या होता हैं।

जीएसटी सुविधा केंद्र कैसे खोले? (GST suvidha kendra kaise khole)

जीएसटी सुविधा केंद्र क्या है? (GST suvidha kendra kya hai in Hindi)

जीएसटी सुविधा केंद्र भारत सरकार के द्वारा भारत के आम नागरिकों को अपना एक सेंटर या केंद्र खोलने का लाइसेंस देना होता हैं। उस केंद्र के द्वारा वह व्यक्ति भारत के अन्य नागरिकों व व्यापारियों को जीएसटी भरने तथा अन्य सरकारी काम करवाने में सहायता करता (GST suvidha kendra kya h) हैं। इसके बदले में वह उनसे एक निर्धारित फीस लेता हैं। अब उस फीस में से उअका कमीशन भारत सरकार उसे दे देती हैं।

इस तरह एक जीएसटी सुविधा केंद्र में भारत का आम नागरिक भारत के अन्य आम नागेइकों को केंद्र सरकार का काम करवाने के बदले उससे कुछ फीस लेता हैं और उस फीस में से उसका कमीशन पहले से ही बंधा हुआ होता हैं।

जीएसटी सुविधा केंद्र की सुविधाएँ क्या क्या हैं? (GST suvidha kendra services list)

अब आपके मन में यह जिज्ञासा होगी कि आखिरकार जीएसटी सुविधा केंद्र पर क्या क्या काम होता हैं। यदि आप सोच रहे हैं कि यहाँ पर केवल जीएसटी के लिए आवेदन करना या जीएसटी को भरना जैसी सुविधाएँ ही मिलती हैं तो आप गलत हैं।

दरअसल एक जीएसटी सुविधा केंद्र में भारत सरकार के द्वारा 300 तरह की भिन्न भिन्न सुविधाएँ या सर्विस दी जाती हैं। इनमे से कुछ प्रमुख सर्विस के नाम इस प्रकार हैं:

  • लोगों का जीएसटी के लिए पंजीकरण करवाना।
  • व्यापारियों को जीएसटी भरने में सहायता करना।
  • इनकम तक भरना या आयकर देना।
  • डिजिटल सिग्नेचर करवाना।
  • एमसीए के तहत कंपनी फार्मेशन की सर्विस देना।
  • एकाउंटिंग की सर्विस देना जैसे कि मासिक, वत्र्शिक इत्यादि के तौर पर।
  • ऋण यालोँ उपलब्ध करवाना जैसे कि पर्सनल, बिज़नेस, घर, MSME लोन इत्यादि।
  • बीमा करवाना जैसे कि वाहन, स्वास्थ्य, यात्रा, कॉर्पोरेट, दुर्घटना, जीवन बीमा इत्यादि।
  • यात्रा की टिकट बुक करवाना इत्यादि जैसे कि हवाई जगह की टिकट, हॉलिडे पैकेज या होटल की बुकिंग इत्यादि।
  • माइक्रो एटीएम की सर्विस देना जैसे कि क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड से सेल, UPI से सेल, डोमेस्टिक मनी ट्रान्सफर, माइक्रो एटीएम इत्यादि।
  • रिचार्ज करवाना जैसे कि प्रीपेड, DTH या डाटा कार्ड रिचार्ज इत्यादि।
  • बिल का भुगतान करना जैसे कि बिजली, पानी, गैस, लैंडलाइन, मोबाइल, इंटरनेट, डाटा कार्ड, केबल टीवी इत्यादि।
  • वेबसाइट या ग्राफ़िक्स के डिजाईन संबंधी सुविधाएँ देना जैसे कि लोगों डिजाईन को मान्यता, पम्फलेट, SSL, Brochure, सोशल मीडिया पेज का बनाना इत्यादि।

इस तरह आपने जाना कि एक जीएसटी केंद्र पर केवल जीएसटी से संबंधित कार्य ही नही होता बल्कि इसमें आप आमजन के जीवन में प्रतिदिन की कई जरूरतों को पूरा करने में उनका सहयोग कर सकते हैं।

जीएसटी सुविधा केंद्र खोलने के लिए क्या करें? (How to open gst suvidha kendra in Hindi)

यदि अब आप अपना खुद का जीएसटी सुविधा केंद्र खोलना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको कुछ चीज़ों का पालन करना होगा। कहने का तात्पर्य यह हुआ कि जीएसटी सुविधा केंद्र खोलने के लिए आपको पूर्व निर्धारित कुछ चीज़ों का आवश्यक रूप से पालन करना होगा।

आपको जानकर आश्चर्य होगा कि पहले इसके लिए कुछ कठोर मापदंड थे लेकिन आज के समय में भारत सरकार के द्वारा जीएसटी सुविधा केंद्र खोलने के लिए जो सुविधाएँ दी हैं वह शायद ही किसी और चीज़ में दी हो। ऐसा इसलिए क्योंकि पहले जीएसटी सुविधा केंद्र खोलने के लिए बारहवीं पास होना या एकाउंट्स की जानकारी होना आवश्यक था लेकिन आज के समय में यह सब सरकार के द्वारा सिखाया जाएगा।

इसलिए आपका जीएसटी सुविधा केंद्र खोलने के लिए भारत का नागरिक होना आवश्यक हैं और इसके अलावा कुछ नही। फिर चाहे आप कितना ही पढ़े हो, या कुछ भी करते हो या आपके पास ऑफिस या केंद्र खोलने के लिए जगह हो या नही हो, आप इसे फुल टाइम करना चाहते हो या पार्ट टाइम, इत्यादि यह सब आप पर निर्भर करता हैं।

इसके लिउए जब भी आप आवेदन करेंगे तो सबसे पहले भारत सरकार के द्वारा यह चेक किया जाएगा कि कहीं आपके क्षेत्र में पहले से ही कोई जीएसटी सेवा केंद्र काम कर रहा हैं या नही। यदि वहां पहले से ही कोई जीएसटी सुविधा केंद्र हैं तो फिर आपको मना कर दिया जाएगा अन्यथा आपको आसानी से लाइसेंस मिल जाएगा।

जीएसटी सुविधा केंद्र खोलने के लिए आवेदन कैसे करें? (GST suvidha kendra apply online)

अब बात करते हैं जीएसटी सुविधा केंद्र को खोलने के लिए आवेदन प्रक्रिया के बारे में।

  • इसके लिए सबसे पहले आपको सबसे पहले जिस कंपनी से जीएसटी सुविधा केंद्र फ्रंचाईजी लेना चाहतें हैं उस कम्पनी के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ।
  • ऑफिसियल वेबसाइट पर पहुँच कर आपको अप्लाई बटन पर क्लीक करना होगा। यहाँ पर आपसे कुछ निम्नलिखित जानकारी मांगी जाएगी जिसे आपको भरना होगा।
जीएसटी सुविधा केंद्र कैसे खोले? (GST suvidha kendra kaise khole)
  1. Name: अपना नाम लिखें
  2. Email: अपनी ईमेल आईडी लिखें
  3. Purpose: आपका चुनना होगा कि आप एक नया बिज़नेस देख रहे हैं या नौकरी
  4. Age: अपनी उम्र भरें
  5. Your preferred language: यहाँ पर आपको हिंदी, अंग्रेजी, बंगाली, मलयालम व तमिल पांच ही विकल्प दिखाई देंगे जिनमें से एक आपको चुनना होगा।
  • इसके बाद जैसे ही आप Next बटन पर क्लिक करेंगे तो आपको अपना मोबाइल नंबर भरने को कहा जाएगा। जैसे ही आप अपना मोबाइल नंबर इसमें डालेंगे तो आपके मोबाइल पर एक ओटीपी आएगा जो आपने अभी इसमें डालाना है।
  • अब अपने मोबाइल नंबर पर आये ओटीपी को नीचे दिए गए खाली बॉक्स में भरें और आगे बढ़ें।
जीएसटी सुविधा केंद्र कैसे खोले? (GST suvidha kendra kaise khole)
  • कोड को भरते ही आप अगले पेग पर चले जाएंगे जहाँ पर आपसे एप्लीकेशन फीस के रूप में 99 रुपए मांगे जाएंगे। ध्यान रहे यदि आप जीएसटी सुविधा केंद्र के लिए आवेदन कर रहे हैं तो आपको एप्लीकेशन फीस के रूप में 99 रुपए की शुल्क राशि चुकानी होगी।
  • इस शुल्क को आप किसी भी ऑनलाइन माध्यम से चुका सकते हैं। सबसे पहले तो आपको Pay Rs 99 वाले बटन पर क्लिक कर आगे बढ़ना होगा और फिर आपसे पूछा जाएगा कि आप किस माध्यम से इन रुपयों का भुगतान करना चाहते हैं। जैसे कि फोन पे, गूगल पे, पेटीएम, अमेज़न पे, डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेटबैंकिंग, वॉलेट इत्यादि।
  • 99 रुपए का शुल्क चुकाते ही आप जीएसटी सुविधा केंद्र के लिए सफलतापूर्वक पंजीकरण कर देंगे।

इसके बाद केंद्र सरकार के ही किसी अधिकारी के द्वारा आपसे मोबाइल पर संपर्क किया जाएगा और आपसे आगे की बातचीत की जाएगी। वह आपसे डिटेल में पूरी बातचीत करेंगे और उसके अआधर पर ही आपको जीएसटी सुविधा केंद्र खोलने का लाइसेंस दिया जाएगा।

जीएसटी सुविधा केंद्र लाइसेंस फीस (GST suvidha kendra license fees)

यदि आप जीएसटी सुविधा केंद्र की लाइसेंस फीस जानना चाहते हैं तो यह दो तरह की होती हैं। एक होती हैं बेसिस तो दूसरी प्रो। इसमें बेसिस की लाइसेंस फीस कम होती हैं तो प्रो की अधिक। साथ ही दोनों के तहत मिलने वाली सुविधाएँ भी अलग अलग होती हैं। आइए दोनों के बारे में जाने।

जीएसटी सुविधा केंद्र – बेसिस लाइसेंस

इसके तहत आपको केवल एक वर्ष के लिए ही लाइसेंस दिया जाएगा। यह लाइसेंस आपको सॉफ्ट कॉपी के रूप में प्रदान किया जाएगा। इसके लिए आपको दास हज़ार रुपए चुकाने होंगे जिस पर जीएसटी अलग से लगेगा। इसके तहत आप जीएसटी सुविधा केंद्र पर मिलने वाली सभी प्रकार की सुविधाएँ दे पाएंगे।

जीएसटी सुविधा केंद्र – प्रो लाइसेंस

इस लाइसेंस के तहत आपको 25 वर्ष के लिए लाइसेंस दिया जाएगा। इसके लिए आपको लाइसेंस के तौर पर 25 हज़ार की फीस चुकानी होगी व उस पर जीएसटी अलग से लगेगा। साथ ही आपको 100 रुपए के 150 कूपन दिए जाएंगे जिनका लाभ आप उठा सकते हैं। यह लाइसेंस आपको हार्ड कॉपी के रूप में मिलेगा और आप सभी तरह की जीएसटी सुविधा केंद्र वाली सुविधाएँ दे पाएंगे।

हालाँकि यदि आप जीएसटी सुविधा केंद्र खोलने के पश्चात 3 वर्ष के ;लिए 15 लाख से ज्यादा का बिज़नेस करते हैं अर्थात एक वर्ष में 5 लाख का बिज़नेस तो सरकार के द्वारा आपकी लाइसेंस फीस वापस कर दी जाएगी।

जीएसटी सुविधा केंद्र फ्रेंचाइजी लागत (GST suvidha kendra cost)

वैसे यह आवश्यक नही कि आप जीएसटी सुविधा केंद्र के लिए कोई दुकान या ऑफिस खोले। यह आप अपने घर के के ही किसी खाली कमरे में या कोई अन्य जगह पर खोल सकते हैं। किंतु यदि आप चाहते हैं कि यह केंद्र लोगों की नज़र में आये और आपको ज्यादा से ज्यादा काम मिले तो अवश्य ही आपको निवेश करना पड़ेगा।

इसके लिए आपको एक जगह का चुनाव करना होगा। साथ ही लैपटॉप या कंप्यूटर लेना होगा ताकि उस पर आप काम कर सके। इसके अलावा एक स्थायी इंटरनेट कनेक्शन जिसकी स्पीड फ़ास्ट हो, एक स्कैनर, कार्ड स्वाइप मशीन इत्यादि की आवश्यकता पड़ेगी। यदि आप पहले से ही किसी जगह पर यह सब काम करेंगे तो आपको खर्चा 50 हज़ार से एक लाख के बीच होगा।

साथ ही यदि आप किराये की जगह पर या नयी जगह पर यह ऑफिस खोलना चाहते हैं तो यह खर्चा कुछ बढ़ जाएगा। मुख्य रूप से आपके पास एक कंप्यूटर या लैपटॉप, इंटरनेट कनेक्शन होना चाहिए क्योंकि सब काम ऑनलाइन होगा। इसलिए आप चाहे तो यह काम घर बैठे भी कर सकते हैं लेकिन इसके लिए आपके कनेक्शन सही होने चाहिए।

जीएसटी सुविधा केंद्र कैसे काम करता है? (How GST suvidha kendra work)

जीएसटी सुविधा केंद्र का काम या प्रोसेस बहुत ही आसान हैं। एक बार आपको इसका लाइसेंस मिल गया तो आप आसानी से इसे शुरू कर सकते हैं और अपना काम चला सकते हैं। कहने का तात्पर्य यह हुआ कि आपको चाहे कुछ भी ना आता हो लेकिन एक बार आपने जीएसटी सुविधा केंद्र के लिए अप्लाई कर दिया तो उसके बाद लाइसेंस मिलते ही सब उत्तरदायित्व सरकार का हो जाएगा।

इसमें सरकार के द्वारा शुरूआती रूप में आपको पूरी ट्रेनिंग दी जाएगी। इसमें आपको विभीन्न विडियो के माध्यम से ट्रेनिंग दी जाएगी। यह विडियो भी अंग्रेजी व हिंदी दोनों में उपलब्ध होगी। ट्रेनिंग समाप्त होने पर आपको एक सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा। यह ट्रेनिंग लाइव व ऑफलाइन दोनों रूप से होगी।

इसके साथ ही यदि आपको किसी तरह की कोई समस्या होती हैं या आपको सहायता चाहिए तो आपको चैट, फोन, ईमेल, टिकट इत्यादि कई माध्यमों से सहायता चैनल दिए जाएंगे। एक तरह से लाइसेंस मिलने के पच्चात आप सरकार द्वारा दी जा रही ट्रेनिंग ले और उनसे सब सीखें।

इसके बाद आपको अपने आसपास के क्षेत्र व लोगों से खुद काम पकड़ना होगा। जैसे कि किसी को जीएसटी के लिए आवेदन करना हो या जीएसटी भरना हो या लोगों को मान्यता दिलवानी हो या वेबसाइट रजिस्टर करवानी हो या ऊपर बताये गए किसी काम को करवाना हो इत्यादि। आपका बस एक यही मुख्य काम होगा और उसके बाद का सब काम आपको सरकार के द्वारा सिखा दिए जाएगा।

इसके बाद आपके पास जो कोई भी ग्राहक काम करवाने के लिए आता हैं तो आपको एक पूर्व निर्धारित मापदंड के तहत उसका काम करके देना होगा। उस काम में लगने वाला शुल्क भी वही दिया होगा। कहने का तात्पर्य यह हुआ कि जब भी आप किसी का काम करेंगे तो आपको वहां लगने वाला शुल्क भी दिया होगा जिसे आप उससे ऑनलाइन या कैश के रूप में के सकते हैं।

इसके बाद जैसे ही वह काम हो जाएगा तो सरकार आपको उस काम में लगे शुल्क में से अपने पैसे काटकर आपको आपका कमीशन दे देगी। इस तरह से जितना आप काम करेंगे उतनी ही कमाई भी करेंगे। और कुछ इसी तरह से एक जीएसटी सुविधा केंद्र काम करता हैं।

जीएसटी सुविधा केंद्र से कमाई (GST suvidha kendra se paise kaise kamaye)

जैसा कि ऊपर हम ने जाना कि आप जीएसटी केंद्र पर किस किस तरह के काम कर सकते हैं या किस प्रकार की सुविधाएँ लोगों को प्रदान कर सकते हैं। अब यह आप पर निर्भर करता हैं कि आप कितनी तेजी से अपने ग्राहक बनाते हैं।

इसके अलावा जीएसटी सुविधा केंद्र पर हर महीने कमाई का आंकड़ा बढ़ता ही जाएगा। ऐसा इसलिए क्योंकि आपसे नए नए ग्राहक तो जुड़ेंगे ही बल्कि पुराने ग्राहक भी अपने काम को लेकर आपके पास आएंगे।

उदाहरण के तौर पर आपके जीएसटी केंद्र पर शुरूआती तौर पर जीएसटी के लिए पंजीकरण करवाने 10 लोग आये और फिर अगले माह 20 लोग। अब ये 10 या 20 लोग केवल जीएसटी पंजीकरण ही नही करवाएंगे बल्कि इन्हें हर माह अपना जीएसटी भरना भी होगा। तो इस तरह से आपके पास 2 महीने के अंत में 30 ग्राहक पक्के हो गए और फिर तीसरे माह नए ग्राहक जुड़ेंगे वो अलग।

एक तरह से यह संपूर्ण रूप से आप पर निर्भर करता हैं कि आप कितनी जल्दी अपने साथ ग्राहकों को जोड़ सकते हैं, उनका काम किस तरह से करके देते हैं, उनका साथ किस तरह का व्यवहार करते हैं व उक्त काम के लिए सरकार से मिलने वाला कमीशन कितना हैं इत्यादि।

जीएसटी सुविधा केंद्र खोलने के फायदे (GST suvidha kendra ke fayde)

अब अंतिम और सबसे महत्वपूर्ण बात जो आप भी जानना चाहते होंगे। वह यह कि आखिरकार एक जीएसटी सुविधा केंद्र से मिलने वाले लाभ क्या हैं या फिर आप एक जीएसटी सुविधा केंद्र खोलकर किस तरह से फायदे में रहेंगे। तो आपकी जानकारी के लिए बता दे कि यह आपके लिए चारों ओर से लाभदायक ही रहने वाला हैं।

ऐसा इसलिए क्योंकि अभी भारत सरकार के द्वारा जीएसटी सुविधा केंद्र खोलने वालों के लिए कई तरह की सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही हैं। इन सुविधाओं में जीएसटी सुविधा केंद्र का लाइसेंस प्रदान करने से लेकर उसके बाद की सब ट्रेनिंग, सपोर्ट इत्यादि देना व काम करवाने में सहायता करना। कहने का तात्पर्य यह हुआ कि यदि आपको इस क्षेत्र में कुछ भी ना आता हो तो भी सरकार के द्वारा आपको सबकुछ शुरू से सिखाया जाएगा।

इसके अलावा आगे चलकर आपको कोई समस्या आती हैं या आपको किसी तरह की सहायता की आवश्यकता होती हैं तो आपको एक सरकारी अधिकारी का नंबर दिया जाएगा। इस नंबर पर आप कभी भी working hours में कॉल या मैसेज करके सहायता मांग सकते हैं। वह अधिकारी आपको संबंधित समस्या के लिए मार्गदर्शन कर देगा।

इसी के साथ आप जो भी काम करेंगे उसमे आपका कमीशन भी बहुत रहेगा। यह कमीशन कम से कम 50 प्रतिशत से ज्यादा होगा। कहने का तात्पर्य यह हुआ कि यदि आपने किसी का 500 रुपए का काम करके दिया तो उसमे से 250 रुपए तो आपके पक्के ही हैं और इसके अलावा भी बने तो वह अलग। इस तरह से एक जीएसटी सुविधा केंद्र खोलकर आप पूर्ण रूप से फायदे में ही रहेंगे।

जीएसटी सुविधा केंद्र कैसे खोलें – Related FAQs

प्रश्न: जीएसटी सुविधा केंद्र क्या होता है?

उत्तर: जीएसटी सुविधा केंद्र पर जीएसटी भरना, पंजीकरण करवाना, बिल, रिचार्ज इत्यादि करने का काम होता है।

प्रश्न: मैं जीएसटी सुविधा केंद्र के लिए पंजीकरण कैसे करूं?

उत्तर: जीएसटी सुविधा केंद्र के लिए पंजीकरण करने के लिए आपको जीएसटी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

प्रश्न: क्या जीएसटी सुविधा केंद्र लाभदायक व्यवसाय है?

उत्तर: जीएसटी सुविधा केंद्र व्यवहार से आप हर माह 1 लाख तक का लाभ कमा सकते हैं और वह भी बिना अधिक निवेश के।

प्रश्न: जीएसटी सुविधा केंद्र हेल्पलाइन नंबर क्या है?

उत्तर: जीएसटी सुविधा केंद्र हेल्पलाइन नंबर 1-800-108-8888 है।

प्रश्न: GST सुविधा केंद्र कौन खोल सकता है और क्या आवश्यक है?

उत्तर: GST सुविधा केंद्र भारत का कोई भी नागरिक खोल सकता हैं और इसके लिए एक लैपटॉप या कंप्यूटर व इंटरनेट कनेक्शन आवश्यक है।

प्रश्न: जन सेवा केंद्र खोलने में कितना खर्च आता है?

उत्तर: जन सुविधा केंद्र खोलने की पंजीकरण फीस 10 हज़ार से लेकर 25 हज़ार होती है व बाकि का सब खर्चा आपकी जगह, कंप्यूटर व इंटरनेट पर निर्भर करता है।

Leave a Comment

सवर्ण 10% आरक्षण लाभ कैसे मिलेगा ? मोबाइल से Slow Motion Video कैसे बनाए? दिल्ली रोजगार बाजार पोर्टल ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन आत्मनिर्भर कृषक समन्वित विकास योजना 2023 मुख्यमंत्री बालक बालिका प्रोत्साहन योजना 2023 ऑनलाइन आवेदन