गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड क्या है? गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड्स क्यों दिए जाते हैं?

Golden Globe Awards In Hindi – फिल्मों के दीवानों की रुचि फिल्म देखने में ही नहीं, बल्कि इससे जुड़े पुरस्कारों में भी बहुत होती है। उन्हें यह जानने में भी बहुत दिलचस्पी होती है कि किस फिल्म को सबसे बेहतरीन अवार्ड दिया गया? किस कलाकार की अदाकारी को सबसे बड़े सम्मान से नवाजा गया? ऐसा ही एक अवार्ड गोल्डन ग्लोब अवार्ड भी है। इस अवार्ड पर फिल्मों के हर शौकीन की नजर रहती है। गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड हर साल पहले महीने में दिए जाते हैं, जबकि घोषणा इससे पूर्व हो जाती है। लोकप्रिय होने की वजह से इन अवार्ड समारोह को बड़े पैमाने पर देखा जाता है।

Golden Globe Awards क्यों दिया जाता है? इस अवार्ड का इतिहास क्या है? पहली बार यह अवार्ड कब दिया गया था? और इस साल 2020 में यह अवार्ड किस फिल्म और कलाकारों को दिए गए हैं? इन तमाम सवालों के जवाब आपको इस post के जरिए देने की कोशिश रहेगी। आइए शुरू करते हैं –

गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड क्या है?

Golden Globe Awards आस्कर पुरस्कार के बाद फिल्म और मनोरंजन जगत से जुड़े सबसे बड़े अवार्ड माने जाते हैं। Golden Globe Awards हार्वर्ड फारेन प्रेस एसोसिएशन (एचएफपीए) की ओर से दिया जाता है। इसका उद्देश्य मनोरंजन जगत में उत्कृष्ट कार्य करने वालों का सम्मान करना है। इसमें एक्टर, एक्ट्रेस, डायरेक्टर, कामेडी कलाकार आदि तमाम फिल्म और टीवी से जुड़े कलाकारों को सम्मानित किया जाता है। इसमें ट्राफी दी जाती है। समारोह में फिल्मों और अन्य क्षेत्रों से जुड़ी बड़ी हस्तियां भी शुमार होती हैं। चकाचौंध के बीच समारोह का आयोजन होता है, जो टाक आफ द टाउन बनता है।

गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड विजेता कैसे चुना जाता है?

मित्रों, हर साल जनवरी महीने में पुरस्कार समारोह का आयोजन किया जाता है। और विजेताओं के चयन की प्रक्रिया वोटिंग पर आधारित है। अमेरिकी और विदेशी पत्रकारों के इससे संबद्ध 93 सदस्यों का एक समूह इन अवॉर्ड्स के लिए वोटिंग करता है। आपको यह भी बता दें कि इन पुरस्कारों के लिए पुरस्कार पात्रता अवधि एक दिसंबर से 31 दिसंबर तक रखी गई है। यानी कि इस अवधि के दौरान रिलीज फिल्मों को ही पुरस्कार के योग्य माना जाता है। जनवरी माह के पहले सप्ताह में इन अवॉर्ड्स समारोह का आयोजन किया जाता है।

किस किस ने जीता 2020 का गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड?

दोस्तों, आपको बता दें कि इस बार 77वें गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड दिए गए हैं। पुरस्कार समारोह जनवरी के महीने में लास एंजिलिस के बेवर्ली हिल्स पर बेवर्ली हिल्टन होटल में आयोजित किया गया । इस साल यानी 2020 के इस अवार्ड समारोह का पूरे यूनाइटेड स्टेट्स यानी यूएस में एनबीसी चैनल के जरिए प्रसारण किया गया। और अगर अपने देश भारत की बात करें तो यहां इस समारोह का प्रसारण कामेडी सेंट्रल इंडिया, वीएच1 और कलर्स इन्फिनिटी पर हुआ।

दोस्तों, आपको यह भी बता दें कि इस समारोह को रिकी गेरवेस ने होस्ट किया। उन्होंने ऐसा रिकार्ड पांचवी बार किया। हालांकि रिकी ने यह भी साफ कर दिया कि वे ऐसा आखिरी बार कर रहे हैं। साथियों, इस समारोह में जिन फिल्मों और कलाकारों ने अलग अलग वर्ग में गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड जीता, उन सभी का ब्योरा इस प्रकार से है-

  • Best film (drama) 1917
  • Best actor (drama) जाकिन फोनिक्स (जोकर)
  • Best actress (drama) रेनी जेल्वेगर (जूडी)
  • Best film (musical comedy) वंस अपान ए टाइम इन हालीवुड
  • Best actor (musical comedy) टेगान एगर्टन (राकेटमैन)
  • Best actress (musical comedy) आक्वाफिना (द फेयरवेल)
  • Best supporting actor ब्रेड पिट (वंस अपान ए टाइम इन हालीवुड)
  • Best score (film) जोकर
  • Best (limited series/tv film) चेर्नोबिल
  • Best actor (limited series/tv film) रसेल क्रो (द लाउडेस्ट वायस)
  • Best actress (limited series/tv film) मिशेल विलियम्स (फास)
  • Best director (film) सैम मेंडेस (1917)
  • Best actress (tv series/drama) ओलिविया कोलमैन (द क्राउन)
  • Best actor (tv series/musical comedy) रैमी यूसुफ (रैमी)
  • Best actor (tv series) ब्रायन काक्स (सक्सेशन)

पहली बार किसी कामिक बुक मूवी को दो पुरस्कार –

दोस्तों, गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड्स में कामिक बुक मूवी जोकर ने दो पुरस्कार अपनी झोली में डाले। ऐसा पहली बार हुआ कि किसी कामिक बुक मूवी को दो अवार्ड मिले हों। टीवी सीरीज रामी के लिए रामी यूसुफ ने अवार्ड जीता, वहीं दक्षिण कोरिया की पैरासाइट को विदेशी भाषा की बेस्ट फिल्म चुना गया। फिल्म चुने जाने की शर्त यही है कि उसकी समयावधि न्यूनतम 70 मिनट की हो।

दोस्तों, रॉकेट मैन फिल्म के गाने आई एम गोना लव मी को बेस्ट ओरिजिनल गाने का अवार्ड मिला, वहीं फ्रोजन 2 और लायन किंग को पछाड़कर मिसिंग लिंक बेस्ट मोशन एनिमेशन मूवी के अवार्ड से नवाजी गई। बेस्ट स्क्रीनप्ले का पुरस्कार डायरेक्टर क्वेंटिन टेरेंटिनो को दिया गया। और दोस्तों, जैसा कि हम पहले बता चुके हैं, उन्हें यह अवार्ड वंस अपान ए टाइम इन हालीवुड के लिए प्रदान किया गया।

किस फिल्म ने सबसे ज्यादा अवॉर्ड जीता?

2020 के गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड समारोह में सबसे ज्यादा छह नामांकन फिल्म मैरिज स्टोरी के थे, जबकि वंस अपान ए टाइम इन हालीवुड फिल्म ने सबसे ज्यादा तीन पुरस्कार अपनी झोली में डालने में कामयाबी हासिल की।

गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड क्या है? गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड्स क्यों दिए जाते हैं?

इन्हें 60 साल के काम के बाद पुरस्कार –

साथियों, अब हम आपको उस कलाकार के बारे में जानकारी देंगे जिसको मनोरंजन जगत में 60 साल काम करने के बाद गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड मिल सका। यह कलाकार हैं ब्रायन कॉक्स जिन्हें टीवी सीरीज सक्सेशन के लिए पहली बार गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड मिला है। दोस्तों, हैरत की बात यह कि उन्हें खुद को इस बात का यकीन नहीं था। और उन्होंने इस बात को कहा भी। उनका कहना था कि उन्हें काम करते हुए 60 साल हो जाएंगे और अभी तक उन्हें यह पुरस्कार नहीं मिला था। अब मिल गया है तो वह जीतने के लिए उन सभी बाकी लोगों से माफी चाहते हैं, जो उनकी वजह से इस बार इनाम के हकदार नहीं बन सके।

18 साल से किसी भारतीय फिल्म का नामांकन नहीं

साथियों, इस बार के गोल्डन ग्लोब अवार्ड जनवरी में दिए जा चुके हैं। लेकिन इसमें एक भी भारतीय फिल्म शामिल नहीं थी और आप यह भी जान लीजिए कि बीते 18 साल से किसी भी भारतीय फिल्म का नामांकन तक इस अवार्ड के लिए नहीं हुआ है। ओटीटी प्लेटफार्म पर नेटफ्लिक्स को सबसे ज्यादा 34 नामांकन हासिल हुए। इसमें टीवी सीरीज के 17 नामिनेशन थे। उसकी पांच में से तीन फिल्में आइरिश मैन, मैरिज स्टोरी और टू द पोप्स नेटफ्लिक्स स्टूडियो की थीं। एचबीओ स्टूडियो को 15 नॉमिनेशन हासिल हुए।

रेड कारपेट पर बिखरा सितारों का जलवा

दोस्तों, गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड समारोह के दौरान फिल्मी सितारों और फिल्म उद्योग से जुड़ी हस्तियों ने रेड कारपेट पर जलवा बिखेरा। इनमें मशहूर अदाकारा प्रियंका चोपड़ा पिंक गाउन में जलवा अफरोज हुईं। उनके साथ उनके पति निक जोनस भी थे। इन सितारों के साथ ही फिबी वालर- ब्रिज, मार्गो रॉबी, स्कारलेट जोहानसन, एल्टन जॉन, डायरेक्टर क्वेंटिन टेरेंटीनो संग कई अन्य बड़े सितारे रेड कारपेट पर शामिल हुए। इससे जुड़ी परंपरा निभाई।

पहला गोल्डन ग्लोब अवार्ड कब दिया गया?

आज से 76 साल पहले सन् 1944 में पहली बार गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड दिए गए। इस साल हुए समारोह में 1943 के पुरस्कार विजेताओं को सम्मानित किया गया।

कौन कौन से अवार्ड्स बंद कर दिए गए?

दोस्तों हम अब आपको गोल्डन ग्लोब अवार्ड के तहत उन पुरस्कारों की जानकारी देंगे, जो कि पहले दिए जाते थे और कई साल तक दिए गए, लेकिन बाद के सालों में किसी न किसी वजह से उन्हें बंद कर दिया गया। यह अवार्ड इस प्रकार से हैं-

  • Best documentary film. यह अवार्ड 1972 से लेकर 1976 तक दिए गए।
  • Best English language foreign film. इस अवार्ड को 1957 से लेकर 1973 तक यानी 15 साल तक प्रदान किया गया।
  • New star of the year (actor). इस अवार्ड को 1948 से लेकर सन् 1983 तक कुल 35 साल तक दिया गया
  • Henrietta award (world film favorite female) को 1950 से लेकर 1979 तक चलाया गया और बाद में बंद कर दिया गया।
  • Henrietta award (world film favorite female) भी 1950 से लेकर 1979 तक दिया गया।
  • Best film promoting international understanding अवार्ड 1945 से लेकर 1963 तक कुल 18 साल तक दिया गया।
  • Golden globe award for best cinematography पहले 1948 से लेकर 1953 तक दिया गया। इसके बाद दो साल बाद इसे 1955 और 8 साल बाद 1963 में भी दिया गया। लेकिन इसके बाद इस पुरस्कार को स्थायी रूप से बंद कर दिया गया।

अब तक केवल दो ही भारतीय फिल्मों को अवार्ड

साथियों, आपको जानकर आश्चर्य होगा कि अभी तक केवल दो ही भारतीय फिल्में हैं, जिन्हें गोल्डन ग्लोब अवार्ड मिल सका है। इनमें पहली थी 1959 में आई निर्माता, निर्देशक वी शांताराम की फिल्म दो आंखें बारह हाथ। इस फिल्म को सैम्युअल गोल्डमाइन इंटरनेशनल अवार्ड मिला था। इसके ठीक 24 साल बाद और आज से 37 साल पहले सन् 1983 में रिचर्ड एटनबरो की फिल्म गांधी को विदेशी भाषा की श्रेणी में बेस्ट मोशन फिल्म का अवार्ड दिया गया था।

इनके अलावा केवल तीन ही फिल्मों को अभी तक भारत से इस अवार्ड के लिए नॉमिनेशन हासिल हुआ है। इनमें मशहूर निर्माता-निर्देशक सत्यजीत रे की द वर्ड ऑफ अप्पू, जो 1961 में आई थी वह फिल्म शामिल है। महिला निर्माता, निर्देशक मीरा नायर की आज से 39 साल पहले 1981 में आई सलाम बॉम्बे फिल्म फॉरेन लैंग्वेज कैटेगरी में शामिल की गई थी। इसके अलावा मीरा नायर की ही फिल्म मानसून वेडिंग को 2002 में इस पुरस्कार के लिए नॉमिनेट किया गया।

पहली बार परोसा शाकाहारी भोजन, कांच की बोतल में पानी

गोल्डन ग्लोब अवार्ड के 2020 के समारोह के साथ पहली बार दो खासियत भी जुड़ी। समारोह में पहली बार केवल शाकाहारी खाना परोसा गया। मेन्यू भी केवल सब्जियों का ही रखा गया। खुद हार्वर्ड फारेन प्रेस एसोसिएशन यानी एचएफपीए की अध्यक्ष लोरेंजो शौर्य ने बताया कि ऐसा पर्यावरण के प्रति जागरूकता को देखते हुए किया गया है। पेय पदार्थ परोसने के लिए प्लास्टिक की बोतलों की जगह कांच की बोतल का इस्तेमाल किया जा रहा है।

तो दोस्तो, यह थी गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड क्या है? गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड्स क्यों दिए जाते हैं? से जुड़ी सारी जानकारी। इस post के जरिए हमने आपको गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड्स इस बार किस किसको मिले हैं? गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड्स की हिस्ट्री क्या है? आदि बिंदुओं पर आधारित सारी जानकारी देने की कोशिश की है। उम्मीद है कि यह post आपको पसंद आई होगी। अगर गोल्डन ग्लोब अवार्ड से जुड़ा कोई अन्य ब्योरा आप जानना चाहते हैं तो उसके लिए नीचे दिए गए comment box में comment करके हम तक भेज सकते हैं।

अगर कोई सुझाव आपके मन में है तो उसे भी आप हमसे साझा कर सकते हैं। इसके लिए आपको नीचे दिए गए comment box में comment करना होगा। हमको आपकी प्रतिक्रिया का इंतजार रहेगा। आपके सुझाव पर अमल करने की भी हम पूरी पूरी कोशिश करेंगे। ।।धन्यवाद।।

Spread the love

Leave a Comment