पोल्ट्री फार्म लोन-2022: मुर्गी पालन के लिए लोन कैसे मिलेगा? लोन योजनाएं व ब्याज दरें

|| पोल्ट्री फार्म लोन-2022ः मुर्गी पालन के लिए लोन कैसे मिलेगा? लोन योजनाएं व ब्याज दरें (poultry farm loan-2022: how one can get poultry loan? Loan schemes and interest rates, पोल्ट्री फार्म लोन सब्सिडी 2021 UP, पोल्ट्री फार्म लोन सब्सिडी 2022, पोल्ट्री फार्म लोन ऑनलाइन, पोल्ट्री फार्म लोन नाबार्ड ||

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने स्व-रोजगार को बढ़ावा देने के लिए युवाओं के लिए बहुत सी योजनाएं चलाई हैं। इनके अंतर्गत युवाओं को सब्सिडी पर लोन उपलब्ध कराया जा रहा है, ताकि वे अपने पैरों पर खडे हो सकें। साथ ही दूसरों को भी रोजगार दे सकें। सरकार की पोल्ट्री फार्म यानी मुर्गी पालन योजना एक ऐसी ही योजना है।

आज हम आपको इसी योजना के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे कि इस योजना के अंतर्गत कितनी राशि का लोन मिल सकता है? यह लोन कौन कौन से बैंक दे रहे हैं? इस लोन को लेने के लिए आवश्यक पात्रता क्या है? इसके लिए आवश्यक दस्तावेज क्या क्या हैं? आदि। आइए, शुरू करते हैं-

पोल्ट्री फार्म लोन क्या है? (what is poultry farm loan?)

दोस्तों, आपको बता दें कि पोल्ट्री फार्म लोन (poultry farm) मुर्गी पालन के लिए दिया जाता है। यह एक प्रकार का बिजनेस एवं वर्किंग कैपिटल लोन (business and working capital loan) है। यह देश भर में शहरी (urban), ग्रामीण (rural) क्षेत्रों के लोगों के साथ ही एमएसएमई एवं बिजनेस मालिकों को दिया जाता है।

पोल्ट्री फार्म लोन-2022: मुर्गी पालन के लिए लोन कैसे मिलेगा? लोन योजनाएं व ब्याज दरें

बैंक मुर्गी पालन से जुड़े किन कार्यों के लिए लोन देता है? (For what banks give loan related to poultry?)

दोस्तों, आपको जानकारी दे दें कि बैंक मुर्गी फार्म की स्थापना, चूजों की खरीद, उनकी देखभाल चारा एवं दवाओं, उपकरणों एवं फीड मिक्स प्लांट की खरीद के साथ ही पोल्ट्री शेड की स्थापना आदि के लिए लोन प्रदान करते हैं। ज्यादातर बैंक इस लोन को एग्रीकल्चर टर्म लोन (agriculture term loan) की कैटेगरी (category) में रखते हैं।

आपको बता दें कि प्रत्येक बैंक की मुर्गी पालन योजना के तहत लोन के लिए राशि, ब्याज दर, चुकौती अवधि आदि अलग अलग हो सकती है। इसके साथ ही भूमि बंधक/गिरवी रखने संबंधी बाध्यताएं भी प्रत्येक बैंक ने अपने अनुसार निर्धारित की हैं। दस्तावेजों को लेकर भी विभिन्न बैंकों में विभिन्न शर्तें हो सकती हैं।

आपको बता दें दोस्तों कि अधिकांश बैंकों ने मुर्गी पालन के लिए दिए जाने वाले लोन को सुरक्षित लोन (secured loan) की श्रेणी में रखा है। ऐसे में लोन लेने वाले को लैटरल सिक्योरिटी /गिरवी ली जाती है।

विभिन्न बैंकों द्वारा प्रदान की जाने वाली लोन राशि एवं ब्याज दरें क्या क्या हैं? (What is the loan amount and interest rates of different banks?)

अब हम आपको अलग अलग बैंकों द्वारा मुर्गी पालन के लिए प्रदान की जाने वाली लोन राशि (loan amount) एवं संबंधित ब्याज दरों (interest rates) की जानकारी देंगे।

आपको बता दें कि अधिकांश बैंकों में इस लोन की ब्याज दर 10 प्रतिशत से अधिक ही है। इस योजना के तहत बैंक लोन के संबंध में अन्य जानकारी जो कि इस प्रकार से है-

एसबीआई ब्रायलर प्लस लोन (SBI broiler plus loan)

एसबीआई ब्रायलर प्लस योजना (SBI broiler plus loan) के तहत बैंक किसानों के लिए फीड रूम बनवाने, उपकरण खरीदने आदि के लिए लोन देता है। लोन लागत का 75 प्रतिशत तक दिया जाता है। पक्षियों की न्यूनतम संख्या 5000 के लिए 3 लाख तक का लोन बैंक देता है। बैंक से अधिकतम नौ लाख रूपये तक लोन लिया जा सकता है।

यह बैंक सिर्फ उन्हीं को लोन देता है, जिनके पास पोल्ट्री शेड (poultry shed) बनवाने के लिए जमीन है, साथ ही पोल्ट्री फार्मिंग (poultry farming) की ट्रेनिंग (training) हो अथवा पर्याप्त अनुभव हो, वे इस लोन के हकदार हैं। शर्त यह है कि उसकी जमीन अन्य पोल्ट्री फार्म से 500 मीटर की दूरी पर हो साथ ही यहां पानी की अच्छी व्यवस्था हो।

बैंक को लैटरल सिक्योरिटी/गिरवी पर ही लोन देता है। लोन की चुकौती अवधि (repayment period) पांच वर्ष की है। छह माह का ग्रेस पीरियड (grace period) भी दिया जाता है।

प्रधानमंत्री मुद्रा लोन (PM mudra loan)

प्रधानमंत्री मुद्रा लोन (PM mudra loan) के लिए एलाइड एग्री लोन (allied agri loan) के रूप में अधिकतम 10 लाख रूपये तक का लोन मुर्गी पालन के लिए लिया जा सकता है। अब बात करते हैं चुकौती अवधि की। यह लोन तीन साल से लेकर पांच साल तक के लिए लिया जा सकता है। इस लोन में को लैटरल सिक्योरिटी की आवश्यकता नहीं है।

बैंक की ओर से प्रोसेसिंग शुल्क (processing fee) भी 50 हजार रूपये तक के लोन के लिए नहीं देना है। 50 हजार रूपये से लेकर पांच लाख रूपये तक 0.50 प्रतिशत तक प्रोसेसिंग फीस ली जाएगी। इस पर ब्याज दर (interest rate) 10.75 प्रतिशत रहेगी।

फेडरल बैंक पोल्ट्री लोन (federal bank poultry loan)

यह फेडरल बैंक (federal bank) लाभार्थी को उसकी आवश्यकतानुसार चूजों की सार संभाल, चारा खरीदने, दवाओं खरीदने, वेटरनरी खर्चों, श्रम लागत, बिजली लागत आदि के खर्चों से निपटने के लिए लोन देता है। इसे एग्रीकल्चर मीडियम टर्म लोन (agriculture medium term loan) की श्रेणी में रखा गया है।

यह किसी भी व्यक्ति (individual), साझेदारी फर्म (partnership firm), कंपनी (company) एवं को आपरेटिव सोसायटी (co-operative society) द्वारा लिया जा सकता है।

500 पक्षी प्रति फ्लोक साइज (flock size) से बैंक न्यूनतम डेढ़ लाख रूपये तक का लोन प्रदान करता है। इसकी चुकौती अवधि अधिकतम 7 वर्ष है। बैंक 10-20 प्रतिशन मार्जिन (margin) के साथ यह लोन जमीन गिरवी (mortgage) रखवाकर देता है।

केनरा बैंक पोल्ट्री फार्म लोन (Canara Bank poultry farm loan)

केनरा बैंक (Canara Bank) लाभार्थी के व्यवसाय की आवश्यकताओं के अनुसार लोन देता है। बैंक मुर्गी फार्म की स्थापना, चूजों की खरीद, चारा एवं दवाओं (feed and medicines), उपकरणों (instruments) एवं फीड मिक्स प्लांट (feed mixed plant) की खरीद के साथ ही पोल्ट्री शेड (poultry shed) की स्थापना के लिए लोन प्रदान करता है।

बैंक को लैटरल सिक्योरिटी की मांग करता है। इसे अधिकतम 9 वर्ष की अवधि में चुकाना होता है। बैंक का मार्जिन एक लाख रूपये तक के लोन पर कुछ नहीं होता, जबकि एक लाख रूपये से अधिक के लोन पर यह 15 से लेकर 25 फीसदी तक होता है।

जहां तक गारंटी अथवा सिक्योरिटी (guarantee/security) की बात है, एक लाख रूपये से अधिक के लोन पर बैंक सिक्योरिटी (bank security) लेता है। वह जमीन गिरवी रखवा सकता है।

पीएनबी पोल्ट्री लोन (PNB poultry loan)

पंजाब नेशनल बैंक (PNB) यह लोन लाभार्थी की आवश्यकता अनुसार शेड निर्माण, उपकरणों की खरीद के साथ ही चूजों के भोजन, दवा आदि के लिए प्रदान किया जाता। इसे एग्रीकल्चर शार्ट, मिड एवं लांग टर्म लोन (agriculture short/mid and long term) के अंतर्गत रखा गया है।

इसे बेरोजगार, कृषि श्रमिक, छोटे किसान, भूमिहीन व्यक्ति ले सकते हैं। शार्ट टर्म लोन का भुगतान 8 से लेकर 12 महीने यानी साल भर के भीतर करना होगा, जबकि लांग टर्म लोन अधिकतम 7 वर्ष तक की अवधि के लिए लिया जा सकता है। आपको बता दें कि पीएनबी से लोन लेने के लिए पोल्ट्री फार्म का न्यूनतम साइज 500 पक्षियों का होना चाहिए।

इस लोन को कोई भी व्यक्ति, लघु किसान, खेतिहर मजदूर, भूमिहीन मजदूर अथवा अन्य किसी अल्प रोजगार में लगे व्यक्ति ले सकते हैं।

बैंक आफ इंडिया पोल्ट्री लोन (Bank of India poultry loan)

इस बैंक से 200 से 500 चूजों की छोटी पोल्ट्री यूनिट (poultry unit) की स्थापना के लिए लोन लिया जा सकता है। कोई भी किसान, कृषि श्रमिक, पार्टनरशिप फर्म अथवा सहकारी समिति यहां से लोन ले सकती है।

बैंक की ओर से दी जाने वाली लोन राशि पोल्ट्री यूनिट के आकार एवं प्रकार पर निर्भर करती है। जहां तक सिक्योरिटी (security) की बात तो एक लाख रूपये से अधिक के लोन पर इसे आवश्यक किया गया है।

बैंक आफ बड़ौदा पोल्ट्री लोन (Bank of baroda poultry loan)

इस लोन को कृषि एवं संबंधित गतिविधियों में लगे लोग, खेतिहर मजदूर एवं छोटे तथा सीमांत किसान ले सकते हैं। बैंक पोल्ट्री यूनिट की स्थापना के लिए लोन देता है।

आपको बता दें कि टर्म लोन का भुगतान तीन से सात वर्ष में करना होगा, जबकि कैश क्रेडिट (cash credit) के लिए 12 महीने की अवधि निर्धारित की गई है।

(नोटः बैंक किसी भी वक्त लोन राशि एवं संबंधित ब्याज दरों में परिवर्तन कर सकते हैं।)

मुर्गी पालन लोन के लिए क्या पात्रता है? (What is the eligibility for availing poultry loan?)

दोस्तों, आइए अब आपको जानकारी देते हैं कि मुर्गी पालन लोन के लिए पात्रता क्या है? यानी यह लोन किन किन लोगों को मिल सकता है? इसकी जानकारी इस प्रकार से है-

  • आवेदक उत्तर प्रदेश (up) का निवासी हो।
  • आवेदक के पास एक से लेकर तीन एकड़़ तक जमीन (land) हो।
  • आवेदक के पास बैंक में बचत खाता (savings account) हो
  • आवेदक का आधार कार्ड (aadhar card)।
  • जमीन के मालिकाना हक का प्रूफ।

मुर्गी पालन लोन लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज कौन कौन से हैं? (What are the necessary documents to avail poultry loan?)

दोस्तों, प्रत्येक सरकारी योजना (government scheme) की भांति मुर्गी पालन योजना के अंतर्गत लोन लेने के लिए भी आपको कुछ आवश्यक दस्तावेज (necessary documents) मुहैया कराने होंगे, जो कि इस प्रकार से हैं-

  • आवेदक की पहचान का प्रूफ- आधार कार्ड/वोटर आईडी/पैन कार्ड/ड्राइविंग लाइसेंस/पासपोर्ट में से कोई एक दस्तावेज।
  • आवेदक का एड्रेस प्रूफ- आवेदक का बिजली/पानी का बिल, टेलीफोन बिल, लीज एग्रीमेंट, राशन कार्ड अथवा कोई अन्य दस्तावेज।
  • जमीन के मालिकाना हक का प्रूफ।
  • आवेदक की जन्म तिथि।
  • आवेदक के बैंक खाते का ब्योरा।
  • आवेदक के पिछले छह माह का बैंक स्टेटमेंट।
  • मुर्गी पालन के प्रोजेक्ट की डिटेल्ड रिपोर्ट।
  • आवेदक का लोन गारंटर।
  • आवेदक के पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ।
  • बैंक द्वारा मांगा गया कोई अन्य दस्तावेज।

मुर्गी पालन के लिए जमीन कैसे चिन्हित करें? (How to identify land for poultry loan?)

मुर्गी पालन के लिए यदि आप लोन लेने जा रहे हैं तो जिस जमीन पर आप मुर्गी फार्म खोलना चाहते हैं, उसमें यह खासियत अवश्य देख लें-

  • मुर्गी फार्म का स्थान ऊंचाई वाला हो। फार्म की सतह जमीन से 10 इंच फंची हो ताकि सांप या चूहे का बिल न बन सके।
  • जिस जगह मुर्गी फार्म खोला जाए वहां ज्यादा धूप, ज्यादा ठंड या ज्यादा बारिश से दिक्कत न हो। साथ ही पानी की अच्छी व्यवस्था हो।
  • मुर्गी फार्म हवादार हो एवं उसकी दीवारें मजबूत हों, ताकि आंधी-तूफान से कोई समस्या न हो।
  • जिस स्थान पर मुर्गी फार्म खोला जाए उसके 500 मीटर यानी आधा किलोमीटर की दूरी में कोई अन्य मुर्गी फार्म न हो।

मुर्गी पालन के लिए कौन कौन से बैंक लोन देते हैं? (Which banks give loan for poultry?)

दोस्तों, आइए अब आपको जानकारी दे दें कि मुर्गी पालन के लिए कौन कौन से बैंक लोन देते हैं। इनका ब्योरा इस प्रकार से है-

  • स्टेट बैंक आफ इंडिया (state bank of india)।
  • पंजाब नेशनल बैंक (punjab national bank)।
  • एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank)।
  • आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank)।
  • आईडीबीआई बैंक (IDBI Bank)।
  • फेडरल बैंक (federal bank)।
  • बैंक आफ इंडिया (Bank of India)।
  • एक्सिस बैंक (Axis Bank) आदि।

मुर्गी पालन योजना के संबंध में कोई सहायता चाहिए तो कहां काल करें? (In case you need any help where to call?)

मुर्गी पालन योजना के संबंध में कोई भी जानकारी आप सरकार के एनिमल हजबैंड्री डिपार्टमेंट (animal husbandry department) की ओर से जारी किए गए टोल फ्री नंबर (toll free number) 18001805141 पर भी प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा आप चाहें तो विभाग के कार्यालय के नंबर 0522-2740482, 0522-2740238, 0522-2741991, 0522-2741992 पर भी संपर्क (contact) करके इस योजना के संबंध में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

मुर्गी पालन योजना के अंतर्गत कितनी राशि तक का लोन मिलता है?

मुर्गी पालन योजना के तहत अलग अलग बैंकों के लिहाज से अलग अलग राशि का लोन मिलता है।

मुर्गी पालन योजना के बारे में जानकारी के लिए कौन से हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क किया जा सकता है?

मुर्गी पालन योजना के संबंध में जानकारी के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के एनिमल हजबैंड्री डिपार्टमेंट की ओर से जारी किए गए टोल फ्री नंबर 18001805141 पर संपर्क किया जा सकता है।

अधिकांश बैंकों ने मुर्गी फार्म के लिए न्यूनतम पक्षियों की संख्या कितनी निर्धारित की है?

अधिकांश बैंकों ने मुर्गी फार्म के लिए न्यूनतम पक्षियों की संख्या 500 निर्धारित की है।

क्या मुर्गी पालन योजना का लाभ उठाने के लिए उत्तर प्रदेश का निवासी होना आवश्यक है?

जी हां, मुर्गी पालन योजना का लाभ उठाने के लिए उत्तर प्रदेश का निवासी होना अनिवार्य है।

क्या किसी अन्य मुर्गी फार्म के समीप नया मुर्गी फार्म खोला जा सकता है?

मुर्गी पालन योजना के तहत अधिकांश बैंकों की शर्त यह है कि नए मुर्गी फार्म से 500 मीटर की दूरी तक कोई दूसरा मुर्गी फार्म नहीं होना चाहिए।

दोस्तों, यहां हमने आपको पोल्ट्री फार्म लोन-2022ः मुर्गी पालन के लिए लोन कैसे मिलेगा? लोन योजनाएं व ब्याज दरें? विषय पर महत्वपूर्ण जानकारी मुहैया कराई। यदि आप भी स्वरोजगार (self employment) करना चाहते हैं एवं मुर्गी पालन को अपनी आय का जरिया बनाना चाहते हैं तो यह पोस्ट आपके लिए निश्चित रूप से उपयोगी साबित होगी। यदि इस योजना के संबंध में आपका कोई अन्य सवाल है तो उसे आप हमसे नीचे दिए गए कमेंट बाॅक्स (comment box) में कमेंट करके पूछ सकते हैं। ।।धन्यवाद।।

——————————–

Contents show
Spread the love:

2 thoughts on “पोल्ट्री फार्म लोन-2022: मुर्गी पालन के लिए लोन कैसे मिलेगा? लोन योजनाएं व ब्याज दरें”

Leave a Comment

इनकम टैक्स चोरी की शिकायत कैसे करें? जीएसटी सुविधा केंद्र कैसे खोले? उत्तर प्रदेश सोलर पंप योजना मेडिकल स्टोर कैसे खोले? बिहार हर घर बिजली योजना 2022 ऑनलाइन आवेदन