जनरल इंश्योरेंस एजेंट कैसे बने? सैलरी, योग्यता, फायदे, प्रक्रिया, आवश्यक डॉक्यूमेंट | General Insurance Agent Kaise Bane?

|| General insurance agent kaise bane, जनरल इन्शुरन्स एजेंट कमीशन, स्टार हेल्थ इन्शुरन्स एजेंट कैसे बने, बीमा एजेंट के अधिकार, वाहन बीमा एजेंट, एलआईसी एजेंट कैसे बने, नेशनल इन्शुरन्स एजेंट अप्लाई ऑनलाइन, बीमा एजेंट परीक्षा ||

क्या आप जनरल इंश्योरेंस एजेंट बन कर पैसे कमाने का सोच रहे हैं? यदि ऐसा हैं तो आप बिल्कुल सही जगह पर आये हैं। आज के इस लेख में हम आपको जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनने के ऊपर ही सब जानकारी देने (General insurance agent kaise ban sakte hai) वाले हैं। इसे पढ़कर आप जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनने के ऊपर शुरू से लेकर अंत तक सब जानकारी जान पाएंगे।

साथ ही आपको यह भी जानने को मिलेगा कि जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनकर आप कितने फायदे में रह सकते हैं। वह इसलिए क्योंकि आजकल हर कोई अपना बीमा करवाना चाहता हैं और इसके लिए उसे (How to become agent for General insurance in Hindi) किसी जनरल इंश्योरेंस एजेंट की आवश्यकता पड़ती हैं। तो यदि आप भी जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनकर अपना काम करेंगे तो अवश्य ही लोगों की भी सहायता हो जाएगी और आप भी अच्छा खासा कमीशन कमा लेंगे।

जनरल इंश्योरेंस एजेंट कैसे बने (General insurance agent kaise bane)

अब यदि आप जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनना चाहते हैं तो उससे पहले आपको यह जानना होगा कि जनरल इंश्योरेंस एजेंट आखिरकार कहते किसे हैं क्योंकि आज तक आपने अलग अलग कंपनियों के इंश्योरेंस एजेंट तो सुने होंगे लेकिन यह जनरल इंश्योरेंस एजेंट क्या होता हैं, इसके बारे में बहुत कम ही सुना होगा।

तो आज सबसे पहले वह जाने। उसके बाद आपको जनरल इंश्योरेंस एजेंट के कार्य के बारे में भी बताया जाएगा कि आप जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनकर क्या क्या काम कर सकते हैं। इसके बाद आपको यह भी जानने को मिलेगा कि एक जनरल इंश्योरेंस एजेंट कैसे बना जा सकता हैं और उसके बनने के बाद आपको क्या क्या लाभ होगा। आइए एक एक करके इन सभी जानकारी को ले।

जनरल इंश्योरेंस एजेंट कैसे बने? सैलरी, योग्यता, फायदे, प्रक्रिया, आवश्यक डॉक्यूमेंट | General Insurance Agent Kaise Bane?

जनरल इंश्योरेंस एजेंट क्या होता है (General insurance agent kya hota hai)

तो सबसे पहले बात की जाए कि यह जनरल इंश्योरेंस एजेंट होता क्या है या फिर जनरल इंश्योरेंस एजेंट किसे कहा जाता हैं। तो आज हम आपको बता दे कि जनरल इंश्योरेंस एजेंट उस व्यक्ति को कहा जाता हैं जो किसी भी कंपनी का इंश्योरेंस करवाने की क्षमता रखता हैं। एक तरह से हमारे कहने का आशय यह हुआ कि LIC वाला एजेंट तो केवल LIC का ही बीमा करवा पाएगा और SBI वाला SBI का बीमा करवा पाएगा जबकि जनरल इंश्योरेंस एजेंट किसी भी कंपनी का बीमा करवा सकता हैं।

तो हम जनरल इंश्योरेंस एजेंट उस व्यक्ति को कह सकते हैं जो सभी तरह के बीमा करवाने की क्षमता रखता हो। तो अब सुनकर ही आप अनुमान लगा सकते हैं कि एक जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनकर आप कितना लाभ कमा सकते हैं या फिर इसकी महत्ता अन्य एजेंट से कितनी ज्यादा होती होगी।

जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनने के लिए योग्यता (General insurance agent ki yogyta)

अब यदि आप जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनना चाहते हैं तो आपके अंदर कुछ योग्यताओं का होना आवश्यक हैं। बिना इसके आप जनरल इंश्योरेंस एजेंट नही बन सकते हैं। तो एक जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनने के लिए आपके अंदर किन किन गुणों या योग्यता का होना आवश्यक हैं, आइए उनके बारे में जान लेते हैं।

  • सबसे पहले तो आपका कम से कम दसवीं पास होना आवश्यक हैं। यदि आप दसवीं कक्षा भी पास नही कर सकते हैं तो आप किसी भी स्थिति में जनरल इंश्योरेंस एजेंट नही बन सकते हैं।
  • अब इसके बाद यदि आप अपनी बारहवीं कक्षा को भी पास कर लेते हैं तो यह बहुत ही अच्छी बात होगी। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि कुछ कंपनियां दसवीं पास लोगों को अपनी कंपनी का इंश्योरेंस एजेंट बनाने की अनुमति नही देती हैं। इसलिए आप कम से कम दसवीं कक्षा को तो पास कर ही ले।
  • अब यदि आप अपनी ग्रेजुएशन भी कर लेते हैं तो यह सोने पर सुहागा वाली स्थिति होगी। कहने का मतलब यह हुआ कि यदि आप चाहते हैं कि आप जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनकर जल्द से जल्द तरक्की करे तो आप अपनी स्नातक भी साथ के साथ करते रहे। इसके लिए यह निर्भर नही करता हैं कि आप अपनी स्नातक किस विषय में कर रहे हैं, बस आपके पास किसी भी क्षेत्र में डिग्री होनी चाहिए।
  • जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनने के लिए यदि आपको दो से ज्यादा भाषाओँ का ज्ञान हैं तो यह तो और भी बढ़िया बात होगी। यह दो भाषाएँ जो आवश्यक कही जाएँगी वह हैं हिंदी व अंग्रेजी। ऐसा इसलिए क्योंकि आपको तरह तरह के लोगों के साथ डील करनी होगी, ऐसे में आपको इन दोनों भाषाओँ का ज्ञान होना आवश्यक हैं।
  • इसी के साथ यदि आपके राज्य में कोई अन्य भाषा भी बोली जाती हैं जो आपके राज्य की भाषा हैं तो आपको उस भाषा का भी अच्छे से ज्ञान होना चाहिए। यदि आपको हिंदी या राजकीय भाषा का सही से ज्ञान नही होगा तो फिर कैसे ही आप लोगों को अपनी बात समझा पाएंगे।
  • अब जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनने जा रहे हैं तो एक बात जो और भी जरुरी हैं वह हैं आपके संपर्क। यदि आपके संपर्क कम हैं तो फिर आप लोगों से कैसे ही संपर्क कर पाएंगे। इसलिए जितने ज्यादा हो सके उतने अपने संपर्कों को बढ़ाने का काम करेंगे तो बेहतर रहेगा।
  • जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनने के लिए आपका मिलनसार होना भी आवश्यक हैं। कोई भी व्यक्ति किसी भी ऐसे व्यक्ति से अपना बीमा करवाना पसंद नही करेगा जो सही से बात ना करता हो। इसलिए आप लोगों से मिलते रहे और जब भी मिले तो हंस कर ही मिले।
  • आपको अपनी बात भी सही तरीके से रखनी आनी चाहिए। कहने का मतलब यह हुआ कि आप जब लोगों को बीमा करवाने के लिए कह रहे होंगे तब आप उन्हें सब योजना के बारे में अच्छे से समझा पाएंगे तभी तो वे आपसे बीमा करवाने को राजी होंगे अन्यथा वे किसी अन्य व्यक्ति से बीमा करवा लेंगे जो उन्हें उस बीमा के बारे में अच्छे से समझा सके।
  • जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनने के लिए आपको एक साथ कई लोगों को मैनेज करना भी आना चाहिए। कहने का मतलब यह हुआ कि इस क्षेत्र में आपके अलग अलग क्लाइंट बनेंगे और आपको सभी को अलग अलग तरह से डील करना होगा। तो आप यदि किसी को सही से डील नही कर पाते हैं तो आपका ही नाम ख़राब होगा।
  • जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनने के लिए जो एक चीज़ और आपके अंदर होनी चाहिए वह हैं आपका संयम या शांत स्वभाव। कहने का अर्थ यह हुआ कि यह आवश्यक नही कि जिस भी व्यक्ति को बीमा के बारे में समझा रहे हैं वह आपसे बीमा करवा ही ले। क्या पता वह आपसे बीमा ना करवा  कर किसी और से बीमा करवा ले। ऐसे में आपको अपने व्यवहार में संयम का परिचय देना होगा।

जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनने के लिए क्या करे (General insurance agent kaise bane in Hindi)

अब यदि आप जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनना चाहते हैं तो उसके लिए आपको कुछ चीज़ों का ध्यान रखना होगा। इसमें सबसे पहली बात तो यह हैं कि आपको केवल किसी एक कंपनी के लिए जनरल इंश्योरेंस एजेंट नही बनना हैं। आप जितनी भी बीमा कंपनियां हैं उनके लिए जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनने का काम करेंगे तभी तो आपको जनरल इंश्योरेंस एजेंट कहा जाएगा अर्थात सभी तरह का बीमा करवाने वाला व्यक्ति।

तो इसके लिए सबसे पहले तो आपको उन कंपनियों की सूची निकालनी होगी जो लोगों का बीमा करवाती हैं। जब आप यह सूची निकाल ले तो उनके बारे में रिसर्च करे। कहने का अर्थ यह हुआ कि आपके क्षेत्र में जो जो कंपनियां इंश्योरेंस की सुविधा देती हैं, फिर चाहे वह छोटी कंपनी हो या बड़ी, सरकारी कंपनी हो या निजी या किसी व्यक्ति के द्वारा या किसी संस्था के द्वारा या किसी अन्य चीज़ के द्वारा, आपको उन सभी चीजों की सूची निकलवा लेनी हैं जो आपके यहाँ बीमा करवाने का काम करती हैं।

अब जब आप यह सूची निकाल लेंगे तब आपको इन सभी के बारे में कुछ ना कुछ पता करना हैं। कहने का मतलब यह हुआ कि उन कंपनियों के द्वारा बीमा कैसे करवाया जाता हैं, उनकी क्या नीतियाँ हैं, बीमा की किश्त क्या हैं, उसके लिए वे क्या क्या फायदे देती हैं इत्यादि। आपको यह सब याद ना रहे तो आप यह कहीं लिखकर भी रख सकते हैं। इससे आपको फायदा ही होगा। आप अपने लिए एक डायरी बना ले और उस पर सब कुछ लिख कर रखे।

अब आपको सब जानकारी याद हो गयी हैं तो आपने जिन जिन कंपनियों के नाम नोट किये थे उनके पते भी निकाल लीजिए। अब हर दिन का एक schedule बनाए और उन कंपनियों के मैनेजर के साथ मीटिंग फिक्स करे। आपको एक एक करके उन सभी कंपनियों के संबंधित अधिकारी के साथ मिलना हैं और अपने बारे में बात करनी हैं। आपको इस बात का ध्यान रखना हैं कि आप उनसे नौकरी मांगने नही जा रहे हैं बल्कि उनका काम बढ़ाने के लिए जा रहे हैं।

इसके लिए वे आपको काम पर नही रख रहे हैं बल्कि आप तो उनके लिए ग्राहक लेकर आएंगे और बदले में आपको उसका कमीशन देंगे। इसलिए आप अपने कमीशन की भी बात पहले से ही करके रख लेंगे तो बेहतर रहेगा। तो इस तरह से आपकी अपने क्षेत्र में सभी तरह की बीमा कंपनियों से बात हो जाएगी और आप आसानी से जनरल इंश्योरेंस एजेंट का काम शुरू कर सकते हैं।

जनरल इंश्योरेंस एजेंट के काम (General insurance agent work)

अब जब आप जनरल इंश्योरेंस एजेंट बन चुके हैं तो आपको यह भी जानना होगा कि यह बनकर आपका काम क्या क्या होगा या फिर जनरल इंश्योरेंस एजेंट के रूप में आपको दैनिक रूप से क्या क्या काम करने होंगे। तो आपको भी एक तरह से वही काम करना हैं जो बाकि बीमा अधिकारी करते हैं। यह आप अपने समय के अनुसार कभी भी और किसी की साथ भी कर सकते हैं। तो जनरल इंश्योरेंस एजेंट के रूप में आपके काम इस प्रकार हैं:

download app
  • सबसे पहले तो आपको लोगों के साथ मेलजोल बढ़ाना होगा और अपने संपर्क में बढ़ोत्तरी करनी होगी। आपको यह देखना होगा कि जिस व्यक्ति का बीमा हो चुका हैं और अगर हो चुका हैं तो उसका क्या बीमा हो चुका हैं, यदि उसने कोई नयी चीज़ खरीदी हैं या फिर उसके घर में किसी बच्चे का जन्म हुआ हैं या अन्य चीज़।
  • एक तरह से आपको अपने संपर्कों के बारे में सब जानकारी जुटानी होगी। इससे आपको पता चल जाएगा कि किस व्यक्ति को कब और कैसे किस बीमा की आवश्यकता हैं। यदि आप सही समय पर सही हाथ मार लेंगे तो लाभ में रहेंगे।
  • अब आपको लोगों से मीटिंग फिक्स करके या उनका खाली समय लेकर उनसे बात करनी होगी और उन्हें बीमा की योजना के बारे में बताना होगा। एक तरह से आप अपने सम्परोकों को उनके द्वारा लिया जा सकने वाले बीमा के बारे में संपूर्ण जानकारी देंगे।
  • आप उन्हें जिस भी कंपनी का बीमा देना चाहते हैं या आपका जिसमे ज्यादा कमीशन बनता हैं या फिर उनके लिए जो बीमा सबसे ज्यादा सही रहेगा, यह बताना होगा। यदि वे बीमा करवाने को राजी नही हैं तो आप उन्हें अन्य बीमा कंपनी की कोई योजना बता सकते हैं।
  • एक तरह से आपका काम उस व्यक्ति का बीमा करवाना होगा। फिर चाहे वह किसी भी कंपनी का कैसा भी बीमा करवाए। तो यदि वह व्यक्ति नही भी मान रहा हैं तो आप उसे किसी अन्य कंपनी की की अन्य बीमा योजना के बारे में बताये।
  • अब जब वह व्यक्ति बीमा के लिए राजी हो जाएगा तब आपको उससे सभी तरह के डॉक्यूमेंट भरवाने होंगे और उससे भी उसके प्रमाण पत्र लेने होंगे। एक तरह से उस बीमा को करवाने के लिए जो भी जरुरी कागजात चाहिए वह उनसे ले ले और जहाँ जहाँ उनके हस्ताक्षर चाहिए, वह भी करवा ले।
  • अब आपको वह बीमा के कागजात उस संबंधित बीमा कंपनी में जमा करवाने होंगे और उसका बीमा पास करवाना होगा। उस बीमा कंपनी के द्वारा उन कागजात को देखकर उस व्यक्ति का बीमा करवा दिया जाएगा।
  • अब बदले में वह बीमा कंपनी आपको आपका कमीशन दे देगी। अब आपको समय समय पर उस व्यक्ति को यह बताते रहना होगा कि उसकी बीमा किश्त भरनी पेंडिंग हैं। इसी तरह आपको अन्य व्यक्तियों का भी बीमा करवाना होगा।

जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनने के फायदे (General insurance agent banne ke fayde)

अब तक आपने जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनने के बारे में सब बाते जान ली हैं लेकिन आपने यह नही जाना कि आप जनरल इंश्योरेंस एजेंट बन जाते हैं तो उससे आपको क्या क्या फायदे मिल सकते हैं। अब हम उसी के बारे में चर्चा करने वाले हैं ताकि किसी भी तरह की कोई भी जानकारी अधूरी ना रह जाए। तो आइये जाने यदि आप जनरल इंश्योरेंस एजेंट बन जाते हैं तो आपको क्या क्या फायदे हो सकते हैं:

  • अब इससे आपका सबसे बड़ा फायदा तो यही होगा कि आप किसी एक ही कंपनी का बीमा करवाने के लिए बाध्य नही होंगे। बहुत से लोग ऐसे होते हैं जिन्हें एक ही कंपनी का बीमा करवाना पसंद नही होता हैं। तो ऐसे में आप उन्हें किसी अन्य कंपनी की बीमा योजना के बारे में बता सकते हैं।
  • इसके साथ ही आप एक ही व्यक्ति का कई तरह का बीमा करवा सकते हैं। आपके पास सभी तरह की कंपनियों का बीमा करवाने के विकल्प होंगे तो अब यह आप पर निर्भर करेगा कि आप किस कंपनी का बीमा करवाना चाहते हैं और किस कंपनी का नही।
  • अगला फायदा यह हैं कि आप केवल एक तरह का ही बीमा करवाने के लिए बाध्य नही होंगे। कहने का अर्थ यह हुआ कि कुछ लोग केवल जीवन बीमा करते हैं तो कुछ वाहन बीमा तो कुछ किसी और चीज़ का बीमा लेकिन आप किसी भी तरह के बीमा करवाने के लिए पूरी तरह से स्वतंत्र होंगे। ऐसे में आपका बहुत ही लाभ होगा।
  • किसी भी कंपनी की ओर से आपके ऊपर बीमा करवाने का दबाव भी नही होगा। एक जनरल इंश्योरेंस एजेंट के रूप में आप चाहे उस कंपनी का बीमा करवाए या नही यह आप पर ही निर्भर करता हैं। इसलिए आपके ऊपर किसी एक कंपनी का दबाव नही होगा।
  • इसी के साथ आपको एक और बड़ा लाभ मिलेगा कमीशन में। अब चूँकि सभी बीमा कंपनियों को पता हैं कि आप जनरल इंश्योरेंस एजेंट हैं तो आप सभी तरह की कंपनियों का बीमा करवा सकते हैं। तो ऐसे में आप उस कंपनी के बीमा योजना को ही महत्ता देंगे जिनसे आपको ज्यादा कमीशन मिलेगा। ऐसे में सभी बीमा कंपनियां आपको बढ़ा चढ़कर ही कमीशन देंगी ताकि आपका उनका ही बीमा करवाए।
  • अब आप अपना कुछ और काम करे या बीमा वाला काम या फ्री रहे। आपको कोई नही टोकने वाला है। कहने का मतलब यह हुआ कि आपके ऊपर केवल बीमा करवाने का ही उत्तरदायित्व नही होगा। आप जो काम अभी करते हैं उसे भी कर सकते हैं और साथ के साथ बीमा करवाने वाला काम भी कर सकते हैं। एक तरह से आप अपने पार्ट टाइम में बीमा करवाने का काम कर सकते हैं।
  • अब आप जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनकर अपने फ्री समय में या अपनी मर्जी के अनुसार बीमा करवाने का काम कर सकते हैं। इसके लिए समय की किसी तरह की बाध्यता नही होगी। तो आपको जैसा ठीक लगे वैसे आप काम कीजिए।
  • इसमें एक और फायदा यह हैं कि आपको अपनी ओर से कुछ भी निवेश करने की आवश्यकता नही होगी। कहने का मतलब यह हुआ कि आपको कुछ भी पैसा नही लगाना हैं बस पैसा कमाना ही कमाना हैं। तो हुई ना यह एक बहुत ही अच्छी बात।
  • आप अपनी आर्थिक स्थिति को बेहतर कर सकते हैं क्योंकि किसी का बीमा करवाने में आपको कोई ज्यादा समय नही लगेगा। ऐसे में आप अपना अभी के काम के साथ साथ बीमा का काम भी करते हुए अपनी आर्थिक स्थिति को बेहतर बना सकते हैं।

जनरल इंश्योरेंस एजेंट कैसे बने – Related FAQs

प्रश्न: जनरल इंश्योरेंस के एजेंट कैसे बने?

उत्तर: जनरल इंश्योरेंस के एजेंट बनने के लिए आपको सभी तरह की बीमा कंपनियों के बारे में रिसर्च करनी होगी और फिर उनके लिए आवेदन करना होगा।

प्रश्न: बीमा एजेंट कौन बन सकता है?

उत्तर: बीमा एजेंट कोई भी व्यक्ति बन सकता हैं बस उसके पास बारहवीं तक की शिक्षा हो।

प्रश्न: मैं भारत में बीमा एजेंट कैसे बन सकता हूं?

उत्तर: आप भारत में बीमा एजेंट बनने के लिए सभी तरह की बीमा कंपनियों का डाटा जुटाए और उनके कार्यालय में जाकर आवेदन करें।

प्रश्न: बीमा सलाहकार बनने के लिए न्यूनतम योग्यता क्या है?

उत्तर: बीमा सलाहकार बनने के लिए न्यूनतम योग्यता बारहवीं पास होना आवश्यक है।

तो आज आपने जान लिया कि जनरल इंश्योरेंस एजेंट कौन होता है, वह कैसे काम करता है, किस तरह से काम करता है, यदि आप जनरल इंश्योरेंस एजेंट बनना चाहते हैं तो आपको क्या कुछ करना पड़ेगा, उससे आपको क्या क्या फायदे हो सकते हैं और आप कैसे अपना काम कर सकते हैं इत्यादि।

शेफाली बंसल
शेफाली बंसल
इनको लिखने में काफी रूचि है। इन्होने महिलाओं की सोशल मीडिया ऐप व वेबसाइट आधारित कंपनी शिरोस में कार्य किया। अभी वह स्वतंत्र रूप में लेखन कार्य कर रहीं हैं। इनके लेख कई दैनिक अख़बार और पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुके हैं।
WordPress List - Subscription Form
Never miss an update!
Be the first to receive the latest blog post directly to your inbox. 🙂

Comment (1)

Leave a Comment