FilmFare Awards क्या है? Filmfare Awards 2020 Winners List

FilmFare Awards In Hindi – क्या आप फिल्मों के शौकीन हैं? अगर आपका जवाब हां में है तो यह हो ही नहीं सकता कि आपने फिल्मफेयर (FilmFare Awards) अवार्ड के बारे में न सुना हो। दोस्तों, इन अवार्ड की प्रतिष्ठा इस कदर है कि फिल्मफेयर अवार्ड को यूनाइटेड स्टेट्स यानी यूएस के एकेडमी अवॉर्ड्स (Academy awards)  के बराबर का दर्जा प्राप्त है। इन अवार्ड समारोह का प्रसारण होता है तो दर्शक टीवी के आगे से इन अवॉर्ड्स के दौरान उठना भी पसंद नहीं करते। वह अपने परिजनों के साथ बैठकर टीवी के जरिए इन समारोहों का आनंद उठाते हैं। कई लोग, जो घर पर नहीं होते वह इंटरनेट के जरिए अपने मोबाइल फोन पर इन समारोहों का लुत्फ उठाते हैं।

लेकिन क्या आप जानते हैं कि इन फिल्म फेयर अवॉर्ड्स की शुरुआत कब से हुई? आज यह पुरस्कार कितनी कैटेगरी में दिया जाता है? और अगर इस साल यानी 2020 की बात करें तो किस किस कलाकार को किस किस कैटेगरी में यह अवार्ड प्रदान किया गया है? अगर आप नहीं भी जानते तो भी कोई बात नहीं। आज हम आपको इस पोस्ट के जरिए इन्हीं सब बिंदुओं पर जानकारी देंगे। आइए शुरू करते हैं-

पहला FilmFare Awards कब दिया गया?

मित्रों, यह पुरस्कार टाइम्स ग्रुप की ओर से दिया जाता है। हिंदी भाषा फिल्म इंडस्ट्री में artistic और technical excellence का सम्मान करने के उद्देश्य से इन्हें प्रारंभ किया गया। नेशनल फिल्म अवॉर्ड की तर्ज़ पर FilmFare Awards पहली बार 21 मार्च, 1954 को दिया गया। उस वक्त इनका नाम एडिटर टाइम्स ग्रुप क्लेयर मैन्डोन्का के नाम पर क्लेयर अवार्ड था। पहली बार यह अवार्ड की और पांच कैटेगरी में प्रदान किया गया था। इन कैटेगरी में शामिल था- बेस्ट फिल्म, बेस्ट एक्टर, बेस्ट एक्ट्रेस, बेस्ट डायरेक्टर, और बेस्ट म्यूजिक डायरेक्टर अवार्ड।

पहली बार फिल्म फेयर अवार्ड ‘दो बीघा जमीन’ फिल्म को मिला था। ‘दाग’ फिल्म के लिए दिलीप कुमार को बेस्ट एक्टर चुना गया था। मीना कुमारी को फिल्म ‘बैजू बावरा’ के लिए बेस्ट एक्ट्रेस चुना गया था। नौशाद अली को बैजू बावरा के लिए बेस्ट म्यूजिक डायरेक्टर का फिल्मफेयर अवार्ड दिया गया था। तब हालीवुड के मशहूर एक्टर ग्रेगरी पैक को भी आमंत्रित किया गया था।

कोलंबो में उड़ान में देरी की वजह से वह मुंबई थियेटर में आयोजित समारोह में नहीं पहुंच सके। वह इसके बाद पहुंचे थे। और जिमखाना यानी वेलिंगटन क्लब में हुए भोज में शामिल हुए। फिल्मी दुनिया में यह अवार्ड बहुत प्रतिष्ठित माने जाते रहे हैं। हालांकि सन् 2000 के आस पास इनकी व्यूअरशिप में गिरावट दर्ज की गई।

1956 में शुरू किया गया ड्यूअल वोटिंग सिस्टम –

फिल्म फेयर अवॉर्ड्स के लिए 1956 में ड्यूअल वोटिंग सिस्टम लागू किया गया। पहले नेशनल अवॉर्ड की तरह यह अवार्ड केवल एक्सपर्ट पैनल की सिफारिश पर दिया जाता था। 1956 से इसमें पब्लिक वोट को भी शामिल कर लिया गया। और साथियों, आप जानते हैं कि अभी तक यही सिस्टम लागू है। समारोह से कुछ दिन पहले फिल्म और कलाकारों के नामिनेशन के आधार पर पब्लिक से वोट करने को कहा जाता है उनसे वोट के जरिए विजेताओं को लेकर उनकी राय मांगी जाती है। इसके लिए उन्हें मोबाइल फोन या ईमेल के जरिए रायशुमारी करनी होती है।

और दोस्तों, जैसा कि हम बता चुके हैं, आखिर में एक्सपर्ट कमेटी के साथ ही इन पब्लिक वोट के आधार पर फिल्म फेयर अवॉर्ड्स के विजेताओं के नाम घोषित कर दिए जाते हैं। इसके बाद समारोह का आयोजन होता है और रिकॉर्ड वर्जन का प्रसारण टीवी पर कर दिया जाता है।

कब फिल्म फेयर पुरस्कार समारोह नहीं हुआ?

दोस्तों, आपको बता दें कि सन् 1954 से लेकर 2020 तक के सफर में ऐसा दो बार हुआ जब यह समारोह नहीं हो सका। 1985 के पुरस्कारों को 1986 में दिया जाना था, लेकिन इसी साल महाराष्ट्र सरकार की फिल्म इंडस्ट्री से कुछ मुद्दों पर तन गई। इंडस्ट्री वालों ने हड़ताल कर दी। दिसंबर, 1986 में प्रोग्राम शेड्यूल किया गया, लेकिन यह तब भी नहीं हो सका। सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए इसे निरस्त कर दिया गया। जनवरी, 1987 में यह समारोह हो सका।

फिल्म फेयर पुरस्कार किन किन भाषाओ में दिया जाता है?

अब फिल्म फेयर पुरस्कार हिंदी की फिल्मों के लिए ही नहीं दिए जाते, बल्कि अन्य भाषाओं के लिए भी दिए जा रहे हैं। ये वह भाषाएं हैं, जिनमें हमारे देश भारत में बड़े पैमाने पर फिल्में बनती हैं और फिल्मों पर आधारित कारोबार होता है। साउथ इंडिया, मराठी, पंजाबी और ईस्ट फिल्म फेयर अवॉर्ड्स।

2020 में पहली बार मुंबई से बाहर असम में हुआ समारोह

इस साल यानी 2020 में 65वें फिल्म फेयर अवॉर्ड्स दिए गए। इसके लिए असम की राजधानी गुवाहाटी में समारोह आयोजित किया गया। 66 साल के इन पुरस्कारों के सफर में यह पहली बार था कि कोई अवार्ड सेरेमनी मुंबई से बाहर आयोजित की गई थी। इस बार इस समारोह को मशहूर निर्माता-निर्देशक करण जौहर ने होस्ट किया।

FilmFare Awards क्या है? Filmfare Awards 2020 Winners List

Filmfare Awards 2020 Winners List 2020

दोस्तों, जैसा कि हम आपको बता चुके हैं कि इस बार 65th amazon filmfare award असम में गुवाहाटी के इंदिरा गांधी एथलेटिक स्टेडियम में दिए गए हैं। इस बार जिन फिल्मों को और कलाकारों को यह अवार्ड मिले हैं, उनका ब्यौरा इस प्रकार से है-

  • Best film award गली ब्वॉय
  • Critics best film award आर्टिकल 15
  • Best actor in leading role (male) रणवीर सिंह (गली ब्वॉय)
  • Critics Best actor in leading role (male) आयुष्मान खुराना (आर्टिकल 15)
  • Best actor in leading role (female) आलिया भट्ट (गली ब्वॉय)
  • Critics Best actor in leading role (female) भूमि पेडणेकर (सांड की आंख)
  • Best director जोया अख्तर (गली ब्वॉय)
  • Best actor in a supporting role (male) सिद्धांत चतुर्वेदी (गली ब्वॉय)
  • Best actor in a supporting role (female) अमृता सुभाष
  • Best music album अंकुर तिवारी और जोया अख्तर (गली ब्वॉय)
  • Best lyrics डिवाइन एंड अंकुर तिवारी (गली ब्वॉय)
  • Best playback singer (male) अरिजीत सिंह (कलंक)
  • Best playback singer (female) शिल्पा राव (वार)
  • Best debut director आदित्य धर (उड़ी)
  • Best debut actor (male) अभिमन्यु दासानी (मर्द को दर्द नहीं होता)
  • Best debut actress अनन्या पांडे (स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2)
  • Best background score (गली ब्वॉय)
  • Best choreography रेमो डिसूजा (कलंक)
  • Best sound design विश्वजीत दीपक चटर्जी, निहार रंजन (उड़ी)
  • Best VFX शैरी भरदा, विशाल आनंद (वार)
  • Best dialogue विजय मौर्या (गली ब्वॉय)
  • Best screenplay रीमा कागती और जोया अख्तर (गली ब्वॉय)
  • Best original story अनुभव सिन्हा, गौरव सोलंकी (आर्टिकल 15)
  • People choice award for best short film रोहित बाबू कांबले (देशी)
  • Best short film in fiction शाजिया इकबाल (बेबाक)
  • Best short film in non fiction अनंत महादेवन (विलेज ऑफ लेजर गॉड)
  • Best actor in short film (female) सारा हाशमी (बेबाक)
  • Best actor in short film (male) राजेश शर्मा (टिंडे)

पुरस्कार समारोह के अलावा दिए गए स्पेशल अवार्ड –

पुरस्कार समारोह के दौरान इसके अलावा स्पेशल अवार्ड भी दिए गए। यह इस प्रकार से हैं-

  • 30 साल से बॉलीवुड फैशन में योगदान के लिए-मनीष मल्होत्रा
  • लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड-रमेश सिप्पी
  • एक्सीलेंस इन सिनेमा-गोविंदा
  • आरडी बर्मन अवॉर्ड फॉर अपकमिंग म्यूजिक टैलेंट- शाश्वत सचदेव (उड़ी-द सर्जिकल स्ट्राइक )

पहले सीधा प्रसारण होता था, फिर रिकार्डिंग दिखाई जाने लगी

साथियों, आपको बता दें कि 1990 के दशक में फिल्मफेयर अवार्ड समारोह का टीवी पर सीधा प्रसारण होता था। इसके बाद अपरिहार्य कारणों की वजह से इस पर रोक लग गई। यह बंद हो गया। आपको यह भी बता दें कि सन् 2000 से लेकर तीन साल पहले यानी 2017 तक सोनी एंटरटेनमेंट चैनल पर इसके रिकॉर्डेड एपिसोड दिखाए गए। इन्हें देखने के लिए लोगों में बड़ा उत्साह देखने को मिलता था। दो साल पहले यानी सन् 2018 के बाद से टीवी के कलर्स चैनल पर इसका रिकॉर्डेड वर्जन दिखाया जा रहा है।

Filmfare Awards 2017 में शामिल की गई शार्ट फिल्म कैटेगरी

महज करीब तीन साल पहले यानी 2017 में फिल्म फेयर अवॉर्ड्स की कैटेगरी में शॉर्ट फिल्म्स को भी शामिल किया गया। विद्या बालन और गौरी शिंदे को एक्सपर्ट कमेटी में रखा गया।

Filmfare Awards में कितने दिए जा रहे अवार्ड

फिल्म फेयर के तहत अब जो अवार्ड दिए जा रहे हैं। अब इनकी जानकारी हम आपको मुहैया करा रहे हैं। दोस्तों, इसके तहत 13 मेरिट अवार्ड, तीन क्रिटिक अवार्ड, 12 टेक्निकल अवार्ड, शार्ट फिल्म के पांच अवार्ड जबकि चार स्पेशल अवार्ड दिए जा रहे हैं।

Filmfare Awards में बंद किए गए अवार्ड

दोस्तों, फिल्म फेयर के कुछ पुरस्कार ऐसे भी रहे, जो कुछ साल दिए गए और बाद में जिन्हें बंद कर दिया गया। यह अवार्ड थे-बेस्ट सीन ऑफ द ईयर अवार्ड, पावर अवार्ड और बेस्ट डॉक्युमेंट्री अवार्ड। बेस्ट सीन ऑफ द ईयर अवार्ड 1998 से लेकर 2012 तक दिया गया। पावर अवार्ड 2003 से लेकर 2007 तक यानी कुल 4 साल दिया गया। बेस्ट डॉक्यूमेंट्री अवार्ड 1967 से लेकर 1997 तक प्रदान किया गया।

गली ब्वॉय को सबसे ज्यादा अवार्ड –

साथियों, अभी तक जिन फिल्मों को फिल्म फेयर मिला है, उनमें पुरस्कार संख्या की दृष्टि से ‘गली ब्वॉय’ सबसे ऊपर है। उसे इस साल फिल्म फेयर के 13 अवार्ड मिले हैं। अगर नामिनेशन की बात करें तो आज तक सबसे ज्यादा 19 नामिनेशन रंग दे बसंती के नाम हैं। किसी भी पुरुष को सबसे ज्यादा फिल्म फेयर पुरस्कार की बात करें तो लेखक-निर्देशक गुलजार 21 फिल्म फेयर अवॉर्ड्स के साथ सबसे ऊपर हैं। बात महिला की करें तो रिकॉर्ड मशहूर गायिका आशा भोसले के नाम है। उन्होंने सबसे ज्यादा 9 बार यह अवार्ड जीता है। म्यूजिक डायरेक्टर के रूप में एआर रहमान ने सबसे ज्यादा 10 बार यह पुरस्कार जीता है।

लिरिक्स की बात करें तो 9 फिल्म फेयर पुरस्कार के साथ गुलजार सबसे ऊपर है। गायकी की बात करें तो विख्यात गायक किशोर कुमार ने सबसे ज्यादा 8 बार यह पुरस्कार जीता है। बेस्ट कोरियोग्राफी के लिए सरोज खान को सबसे ज्यादा 8 बार अवार्ड दिया गया है। बेस्ट डायरेक्टर के लिए सबसे ज्यादा 7 बार यह पुरस्कार बिमल रॉय को मिला है। बेस्ट एक्टर के नाम पर गौर करें तो दिलीप कुमार और शाहरुख खान ने सबसे ज्यादा 8 बार यह अवार्ड जीता है।

बेस्ट एक्टर का क्रिटिक अवार्ड सबसे ज्यादा तीन बार अमिताभ बच्चन और मनोज वाजपेई को मिला है। बेस्ट एक्ट्रेस अवॉर्ड सबसे ज्यादा 4 बार मशहूर अदाकारा नूतन और काजोल को मिला है, जबकि बेस्ट एक्ट्रेस क्रिटिक अवार्ड सबसे ज्यादा चार बार फिल्म अभिनेत्री तब्बू ने जीता है।

आकर्षण का केंद्र होता है रेड कारपेट –

दोस्तों फिल्म फेयर पुरस्कारों के दौरान रेड कारपेट भी बिछाया जाता है, जो कि दर्शकों के लिए एक बड़े आकर्षण का केंद्र रहता है। दरअसल, इन पुरस्कार समारोह में शिरकत करने के लिए बड़े-बड़े फिल्म स्टार, डायरेक्टर और प्रोड्यूसर पहुंचते हैं। कई जानी-मानी हस्तियां शिरकत करती हैं। इन तमाम सेलिब्रिटीज का एक छोटा सा इंटरव्यू होता है। उनसे अक्सर अवार्ड विजेताओं के नाम का अनुमान लगाने को कहा जाता है। वह अपनी ओर से अनुमान लगाते हैं कि समारोह के दौरान कौन कौन विजेता बन सकता है। वह अपनी ओर से इसका कारण भी बताते हैं।

इन अवॉर्ड्स सेरेमनी का आकर्षण इतना है कि तमाम फिल्म स्टार इनमें हिस्सेदारी करने के लिए स्पेशल ड्रेसेज डिजाइन करवाते हैं। इन समारोह पर मीडिया की भी खास नजर रहती है। पेज 3 रिपोर्टर्स को समारोह की खास कवरेज के लिए लगाया जाता है। तमाम पब्लिकेशन हाउस स्पेशल एडिशन इन फिल्म फेयर अवॉर्ड्स समारोह की कवरेज के लिए निकालते हैं। स्पेशल कॉरस्पॉडेंट को समारोह की कवरेज के लिए लगाया जाता है।

कई विवाद भी जुड़े हैं इस अवार्ड के साथ

साथियों, आपको यह भी बता दें कि फिल्म फेयर अवार्ड के साथ कई बार विवाद भी जुड़े हैं। एक बार फिल्म स्टार शाहरुख खान ने पुरस्कार के लिए ब्रीफकेस भरकर रुपए लाने की बात कहकर सनसनी फैला दी थी। इसी तरह गुजरे जमाने के रोमांटिक हीरो और अब चरित्र अभिनेता ऋषि कपूर समेत और कई कलाकार भी अवार्ड के संबंध में अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चा में रह चुके हैं।

अंतिम शब्द…

मित्रों, यह थी फिल्म फेयर अवार्ड के बारे में सारी जानकारी। हमें उम्मीद है कि आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी। अगर फिल्म फेयर अवार्ड के बारे में आप कुछ और जानना चाहते हैं तो नीचे दिए गए comment box में अपना सवाल लिखकर हमें भेज सकते हैं। अगर आप किसी अन्य विषय के बारे में भी जानने के इच्छुक है तो उसके लिए भी आप नीचे दिए comment box में comment करके संबंधित विषय हम तक भेज सकते हैं।

हमारी पूरी कोशिश रहेगी कि हम आपके सुझाए विषय के बारे में आपको पूरी जानकारी दे सकें। इसके अलावा अगर आपका कोई सुझाव है और आप उसे हम तक पहुंचाना चाहते हैं तो उसके लिए भी आप comment box में comment कर सकते हैं। ।। धन्यवाद।।

Spread the love

Leave a Comment