हरियाणा ई-खरीद ऑनलाइन पोर्टल किसान पंजीकरण कैसे करें? E-Kharid Farmer Registration

देश में किसानों की आर्थिक स्थिति बहुत बेहतर नहीं है, लेकिन वेस्ट यूपी और हरियाणा जैसे राज्यों में हालात थोड़े अलग हैं। इन जगहों में किसानों का एक वर्ग बहुत हद तक संपन्न कहा जा सकता है। लेकिन उनके साथ अन्य किसान के सामने भी दिक्कत यह है कि उन्हें अपनी मेहनत से पैदा की गई फसल की बिक्री के लिए बिचौलियों को कमीशन देना पड़ता है, जिससे उनकी आमदनी कम रह जाती है। इसके अलावा वह अपनी फसल को सीधे नहीं बेच पाते। उनकी इन दिक्कतों का समाधान करने के लिए हरियाणा सरकार ने एक ई-खरीद ऑनलाइन पोर्टल शुरू किया है।

इस पोर्टल पर वह अपनी फसल को दर्ज करा सकते हैं। दोस्तों, इस पोर्टल को क्यों लांच किया गया है? इसके किसानों के लिए क्या फायदे है? और इसमें कैसे रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं? आज इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको इसी बारे में जानकारी देंगे। आइए, शुरू करते हैं

हरियाणा ई-खरीद ऑनलाइन पोर्टल क्या है? What is Haryana e-procurement online portal?

ई-खरीद ऑनलाइन पोर्टल को हरियाणा की सरकार की ओर से शुरू किया गया है। ई-खरीद ऑनलाइन पोर्टल पर किसानों का registration आरंभ हो चुका है। हरियाणा के जो किसान अपंनी फसल की सीधी बिक्री करना चाहते है तो वह ई-खरीद ऑनलाइन पोर्टल पर registration करा सकते हैं। आपको बता दें कि हरियाणा की सरकार ने किसानों को उनकी फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) देने के लिए राज्य कृषि विपणन बोर्ड (SAMB) को जिम्मेदारी सौंपी है। इस को ई-खरीद ऑनलाइन पोर्टल को हरियाणा राज्य सरकार ने किसानो के हित को देखते हुए शुरू किया है। संभावना है कि राज्य के किसान बड़े पैमाने पर हरियाणा राज्य सरकार की इस पहल से लाभ उठा सकेंगे।

हरियाणा ई-खरीद ऑनलाइन पोर्टल किसान पंजीकरण कैसे करें? E-Kharid Farmer Registration

आपको बता दें कि हरियाणा में छोटी और बड़ी सभी तरह की जोत के किसान हैं और online registration से जुड़ी यह योजना सभी प्रकार से किसान के लिए लाभकारी है। Lockdown के इस दौर में online portal पर रजिस्ट्रेशन के जरिए अपनी फसल की बिक्री को सही कीमत सुनिश्चित करना निश्चित रूप से इस योजना को फायदेमंद बनाता है।

किसानों को Portal पर देना होगा फसल का ब्योरा

हरियाणा राज्य के किसानों को अपनी फसल का ब्योरा ई-खरीद ऑनलाइन पोर्टल पर दर्ज करना होगा। उसे बुवाई के समय ही अपनी फसल की सारी जानकारी portal पर upload करनी होगी। ध्यान रखना होगा कि यह जानकारी पूरी तरह से सही हो। फसल का ब्योरा दर्ज करने के बाद किसान अपनी फसल को अपनी मर्जी से सही मूल्य पर बेच सकेंगे।

इससे किसानों की आय में भी बढ़ोतरी हो सकेगी ऐसा माना जा रहा है। ई-खरीद ऑनलाइन पोर्टल पर registration के बाद वह खेतों,किसानी से जुड़ी के सुविधाएं और सहायता भी हासिल कर सकेंगे। इसमें यंत्र खरीद, बीज खरीद, उत्पाद की गुणवत्ता और विपणन जैसी तमाम सुविधाएं और सहायता शामिल हैं, जो किसान के लिए बेहद फायदेमंद साबित होंगी।

ई-खरीद ऑनलाइन पोर्टल के लाभ – Benefits of e-procurement online portal

अब हम आपको बताएंगे कि ई-खरीद ऑनलाइन पोर्टल के लाभ क्या क्या हैं। जैसा कि हम आपको ऊपर बता चुके हैं, इसका सबसे बड़ा फायदा तो यही है कि राज्य के किसान सीधे अपने फसल की बिक्री कर बिचोलियो से बच सकते है। दूसरा जो लाभ है वो यह कि ई-खरीद ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से किसानों की आय में भी इजाफा होगा, क्योंकि वह अपनी फसल को अच्छी कीमत पर बेच सकेंगे।

इसके अतिरिक्त उन्हें कृषि उत्पादों पर अधिक लाभ प्राप्त करने में सहायता मिलेगी। और उनकी फसल का सारा ब्योरा एक click पर उनके सामने होगा, यह तो एक बड़ा लाभ है ही। जैसा कि हम आपको पहले ही बता चुके हैं कि ई-खरीद ऑनलाइन पोर्टल पर किसानों के registration की process शुरू हो चुकी है।

किसानों ने अपना registration कराना शुरू कर दिया है। हरियाणा सरकार बहुत जोर शोर से इस सुविधा का प्रचार प्रसार भी कर रही है, ताकि अधिक से अधिक लोगों तक इसकी जानकारी पहुंचा सके और अधिक से अधिक किसान इस सुविधा का लाभ उठा सकें।

हरियाणा राज्य के सभी किसान इस योजना में शामिल –

आपको बता दें कि ई-खरीद ऑनलाइन पोर्टल का लाभ हरियाणा राज्य के सभी किसान उठा सकते है। हरियाणा राज्य के सभी किसानों को इस योजना में शामिल किया गया है। इससे जाहिर है कि यहां के सभी किसान इस पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करने और अपनी फसल का अच्छा दाम ले सकने के लिए सक्षम होंगे। उन्हें कम या गैर वाजिब दामों पर अपनी फसल बेचने के लिए मजबूर नहीं होना पड़ेगा। कहना न होगा कि हरियाणा के लाखों किसान राज्य सरकार की इस पहल से लाभान्वित होंगे।

लगे हाथ आपको यह भी बताते चले कि कृषि यानी खेती ही हरियाणा के ज्यादातर लोगों की आय का जरिया है। इस सुविधा से लोग घर बैठे ही अपना E-Kharid online portal पर अपना registration कर सकेंगे और अपनी फसल का ब्योरा दर्ज कर सकेंगे। आय बढ़ने से उनके जीवन स्तर में भी निश्चित रूप से सुधार आएगा।

ई-खरिद पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन की शर्तें और दस्तावेज – Registration terms and documents on e-purchase portal

  • ई-खरीद ऑनलाइन पोर्टल पर registration के सबसे पहली शर्त यह है कि आवेदक को हरियाणा का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • दूसरी बाध्यता यह है कि केवल किसान ही इस online portal पर registration करा सकते है।
  • आवेदक के पास उसका 12 अंको का आधार कार्ड हो
  • आवेदक का 10 digit का मोबाइल नंबर।
  • किसान का पहचान पत्र जैसे-
  • ड्राइविंग लाइसेंस
    Voter Id आदि
  • आवेदक की बैंक अकाउंट पासबुक
  • आवेदक की पासपोर्ट साइज फोटो
  • इसके साथ ही भूमि का क्षेत्रफल, श्रेणी सम्बन्धी जानकारी आवेदक को होनी चाहिए।

Portal पर सही सही जानकारी भरनी जरूरी

इस आनलाइन पोर्टल पर आपको अपनी फसल और अपने आप से जुड़ी सारी सही सही जानकारी देनी होगी। मसलन, आपको अपने भूमि का क्षेत्रफल सही से बताना होगा। मोबाइल नंबर भी सही लिखना होगा आधार कार्ड भी सही लिखना होगा। मोबाइल नंबर सही होना इसलिए जरूरी है, क्योंकि आपके खाते से जुड़े जितने भी ट्रांजैक्शन हैं, उससे जुड़े सभी संदेश आपके मोबाइल फोन पर ही आएंगे।

आवेदन करते वक्त form को submit करने से पहले आप फॉर्म में भरी गई सारी जानकारी को एक बार अच्छी तरह से जांच लें। यदि form में कोई करेक्शन की जरूरत हो तो उसे भी लगे हाथ सुधार लें। साथियों, कोशिश इस बात की ही अधिक से अधिक करे कि गलत जानकारी ना भरी जाए।

आवेदन भरते समय विशेष रूप से इन बातों का ध्यान रखें-

दोस्तों, आवेदन की प्रक्रिया बताने से पहले हम आपको यह बता दें कि आप को आवेदन भरते हुए किन-किन चीजों का विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि जरा सी भी गलती आपकी सारी मेहनत पर पानी फेर सकती है। मोबाइल नंबर, आधार कार्ड नंबर, जमीन का क्षेत्रफल और श्रेणी जैसी जानकारी देने में खास तौर पर सावधानी आपको बरतनी होगी। तो दोस्तों, जिन बातों को आपको ध्यान में रखना है, वह इस प्रकार से हैं –

  • form में आप अपनी जन्म तिथि वही भरें, जो आपके पहचान प्रमाण पत्र में है।
  • submit बटन पर click करने पर बीजारोपण विवरण फॉर्म खुल जाएगा।
  • बीजारोपण details को भरने के लिए आपको:योजना का नाम, फसल का साल, वस्तु, क्षेत्रफल एकड़ में, किला नंबर दर्ज करना होगा। साथियों, आपको बता दें कि किला नंबर उस जमीन की जानकारी है, जहां खेती की गयी है। जैसे कि यह मालिक की है, पट्टेदार की है, किसान की है या संयुक्त जमीन है।
  • किसान को आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, वोटर आईडी कार्ड में से किसी भी एक दस्तावेज की स्कैन की गई कॉपी या फोटोकॉपी जमा करनी होगी।
  • बैंक details के लिए, किसान के पास bank passbook का पहला page होना चाहिए।
  • इसके अलावा किसानों को अपना सही bank account number, account holder का नाम, bank का IFSC कोड दर्ज करना होगा।
  • इसके साथ ही अन्य आवश्यक दस्तावेजों को upload करना होगा।

E-Kharid ऑनलाइन पोर्टल पर पंजीकरण कैसे करें? How to register online on E-Kharid portal?

अब हम अपने किसान भाइयों को बताएंगे कि वह E-Kharid online portal पर अपना registration किस प्रकार से करा सकते हैं। साथियों, यह एक बेहद ही आसान सी प्रक्रिया है। इसके लिए आपको कुछ step follow करने पड़ेंगे। यह steps क्या क्या हैं? यह हम आपको बताएंगे। आइए शुरू करते हैं-

  • सबसे पहले आवेदक को हरियाणा E-Kharid की official website https://ekharid.in/ पर जाना होगा। आप यहाँ क्लीक करके डायरेक्ट भी जा सकतें हैं।
  • website के link पर click करने के बाद आपके समाने website का home page खुल जाएगा।

हरियाणा ई-खरीद ऑनलाइन पोर्टल किसान पंजीकरण कैसे करें? E-Kharid Farmer Registration

  • इसके बाद किसान online E-Kharid registration form उनके सामने screen पर खुल जाएगा।
  • इसके पश्चात आपको इस registry form में पूछी गई सारी जानकारी जैसे आपका नाम, आपका पता, आपके गांव/तहसील का नाम, आपका आधार कार्ड नंबर, आपका मोबाइल फोन नंबर आदि भरना होगा।
  • यह सारी जानकारी सही सही भरने के बाद आपको submit के option पर click करना होगा।

आवेदन के लिए ले सकते हैं common service center की मदद

यदि आपके पास आपका सिस्टम या फिर स्मार्टफोन नहीं है तो आप आवेदन करने के लिए जन सेवा केंद्र यानी कॉमन सर्विस सेंटर (CMS) की भी सहायता ले सकते हैं। हरियाणा की सरकार ने पूरे राज्य में एक निश्चित आबादी पर जनसेवा केंद्रों की स्थापना की है। और केंद्र के संचालक विभिन्न योजनाओं के लिए आवेदन फार्म को भरने व अन्य कार्य में लोगों की मदद करते हैं।

खासतौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में इस प्रकार के जन सेवा केंद्र लोगों के लिए बेहद कारगर और सुविधाजनक साबित हो रहे हैं। इसके लिए उन्हें बेहद मामूली सा शुल्क चुकाना पड़ता है। लेकिन दोस्तों, इन केंद्रों पर उपलब्ध होने वाली सुविधाओं पर नजर डालेंगे तो यह शुल्क ऊंट के मुंह में जीरे के समान प्रतीत होगा।

आवेदन की स्थिति कैसे देखें? How to check application status?

आपको बता दें कि यदि किसान चाहें तो E-Kharid online portal पर अपने आवेदन की स्थिति भी जांच सकते हैं। इसके लिए उन्हें अपने account में login करना होगा और Know your application status के option पर click करना होगा। यह तो हम आपको पहले ही बता चुके हैं कि एक बार registration होने के बाद किसान आवेदक को किस प्रकार से सुविधाएं हासिल हो सकती हैं।

तो साथियों, यह थी हरियाणा में E-Kharid online portal पर register कराने से जुड़ी सारी जानकारी। साथियों, उम्मीद है कि यह पोस्ट आपको पसंद आई होगी यदि आप इसी तरह की अन्य पोस्ट पढ़ना चाहते हैं और जनहित से जुड़ी विभिन्न सरकारी योजनाओं के बारे में हमसे जानकारी चाहते हैं तो उसके लिए हमें post के नीचे दिए गए comment box में comment कर सकते हैं। हमें आपके reactions और suggestions का हमेशा की तरह इंतजार है।।।धन्यवाद।।

Spread the love

2 thoughts on “हरियाणा ई-खरीद ऑनलाइन पोर्टल किसान पंजीकरण कैसे करें? E-Kharid Farmer Registration”

Leave a Comment