डिजिटल सेविंग्स एकाउंट क्या होता है? डिजिटल सेविंग्स एकाउंट कैसे खोलें करें?

|| डिजिटल सेविंग्स एकाउंट क्या होता है? (What is digital savings account?, बैंक अकाउंट कैसे खोलें, ऑनलाइन सेविंग अकाउंट ओपनिंग, सेविंग अकाउंट मैक्सिमम बैलेंस, इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक अकाउंट नंबर ||

इन दिनों आनलाइन का जमाना है। लगभग सभी सुविधाएं इन दिनों घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से एक क्लिक पर उपलब्ध हैं। इस सुविधा ने जहां लोगों का समय बचाया है, वहीं उन्हें स्मार्ट वर्क की आदत भी डाली है। यहां तक कि अब लोगों को सेविंग एकाउंट खोलने के लिए भी बैंक की भाग दौड़ करने की आवश्यकता नहीं।

वे आराम से डिजिटल सेविंग एकाउंट (digital savings account) घर बैठे खोल सकते हैं। अनेक बैंक इस खाते का लाभ दे रहे हैं। आज इस पोस्ट में हम आपको डिजिटल सेविंग एकाउंट के संबंध में ही विस्तार से जानकारी देंगे। आइए, शुरू करते हैं-

सेविंग्स एकाउंट क्या होता है? (what is savings account)

दोस्तों, डिजिटल सेविंग एकाउंट के बारे में जानने से पूर्व यह जानना आवश्यक है कि सेविंग्स एकाउंट क्या होता है (what is savings account)। आपको बता दें कि कोई भी व्यक्ति इस खाते में अपनी बचत का पैसा रखता है। एक और बात यदि कोई व्यक्ति बैंक में खाता खुलवाना चाहता है तो सबसे पहले उसका सेविंग्स एकाउंट (savings account) ही खोला जाता है।

बहुत सारे बैंक जीरो बैलेंस बचत खाता (zero balance savings account) भी खोलते हैं। यानी कि इस खाते में उन्हें कोई मिनिमम बैलेंस (minimum balance) रखने की बाध्यता नहीं होती।

डिजिटल सेविंग्स एकाउंट क्या होता है? डिजिटल सेविंग्स एकाउंट कैसे खोलें करें?

सेविंग्स एकाउंट कितने प्रकार के होते हैं? (Savings accounts are of how many types?)

मित्रों, अब लगे हाथों जान लेते जान लेते हैं कि सेविंग्स एकाउंट कितने प्रकार के होते हैं। दोस्तों, सेविंग्स एकाउंट सामान्य रूप से 6 प्रकार के होते हैं। इनका ब्योरा इस प्रकार से है-

1. जीरो बैलेंस सेविंग एकाउंट (zero balance savings account)

इस खाते में मिनिमम बैलेंस मेंटेन करने की कोई शर्त नहीं होती। लेकिन इसमें पैसा निकालने की एक लिमिट (limit) होती है। प्रधानमंत्री जनधन योजना (PMJDY) के अंतर्गत देशवासियों के लिए खोले गए खाते जीरो बैलेंस सेविंग एकाउंट ही है।

2. रेगुलर सेविंग्स एकाउंट (regular savings account)

इस खाते में किसी तय राशि का रेगुलर डिपाॅजिट (regular deposit) नहीं होता। यहां मिनिमम बैलेंस रखने की भी शर्त होती है।

3. सैलरी सेविंग्स एकाउंट (salary savings account)

यह एकाउंट विभिन्न कंपनियों की ओर से अपने कर्मचारियों के लिए खुलवाया जाता है। इस खाते में उनकी सैलरी आती है। ये खाते अधिकांश जीरो बैलेंस पर खुलवाए जाते हैं। किंतु यदि इस खाते में तीन माह तक सैलरी नहीं आती तो ये रेगुलर सेविंग एकाउंट में बदल जाता है।

4. सीनियर सिटीजंस सेविंग्स एकाउंट (senior citizens savings account)

इसमें सीनियर सिटीजंस (senior citizens) यानी वरिष्ठ नागरिक अपनी बचत का पैसा रखते हैं। यह होता रेगुलर सेविंग्स एकाउंट की ही तरह है, लेकिन इस पर सामान्य के मुकाबले कुछ अधिक ब्याज मिलता है।

5. वूमेन सेविंग्स एकाउंट (women savings account)

यह एकाउंट विशेष रूप से महिलाओं को ध्यान में रखते हुए डिजाइन किए गए हैं। इन खातों के माध्यम से महिलाओं को कम ब्याज पर लोन, फ्री चार्ज डीमैट एकाउंट आदि खोलने की सुविधा प्रदान की जाती है।

6. माइनर्स सेविंग्स एकाउंट (minors savings account)

जैसा कि नाम से पता चलता है, यह एकाउंट बच्चों के लिए होता है। इस एकाउंट में मिनिमम बैलेंस की कोई आवश्यकता नहीं होती। इसे बच्चे के माता-पिता (parents) अथवा उनके कानूनी गार्जियन (legal guardian) संचालित करते हैं।

10 वर्ष का होने पर बच्चा खुद अपना एकाउंट आपरेट (account operate) कर सकता है। उसके 18 वर्ष का होने पर ये रेगुलर सेविंग्स एकाउंट में बदल जाता है।

डिजिटल सेविंग्स एकाउंट क्या होता है? (What is digital savings account?)

मित्रों, आइए अब आपको बताते हैं कि यह डिजिटल सेविंग्स एकाउंट (digital savings account) क्या होता है। दोस्तों, जैसा कि नाम से स्पष्ट है, यह डिजिटल खाता (digital account) है। इसे पेपर लेस (paperless) तरीके से यानी कागजों के बगैर खोला जा सकता है। इसके लिए आनलाइन अप्लाई (online apply) किया जाता है। यह एकाउंट मिनटों में खोला जा सकता है।

इस एकाउंट के जरिए आप बहुत सी बैंकिंग सुविधाओं (banking facilities) का लाभ उठा सकते हैं। खास तौर पर कोरोना जैसी महामारी को देखते हुए लोगों ने बड़ी संख्या में डिजिटल सेविंग्स एकाउंट खुलवाने की ओर रूख किया है।

डिजिटल सेविंग्स एकाउंट के लाभ (benefits of digital savings account)

लोग इन दिनों डिजिटल सेविंग्स एकाउंट बड़े पैमाने पर खुलवा रहे हैं। अब आपको इन डिजिटल सेविंग्स एकाउंट के लाभ बताते हैं, जो कि इस प्रकार से हैं-

  • घर बैठे बैंक एकाउंट खोलने की सुविधा।
  • मिनटों में खाता खुल जाता है।
  • बैकिंग सुविधाएं केवल एक क्लिक पर उपलब्ध।
  • फ्री डिजिटल ट्रांजेक्शंस (free digital transformation) की सुविधा।
  • 24×7 बैंकिंग असिस्टेंस (banking assistance)।
  • बैंक नहीं जाना पड़ता, लिहाजा समय की बचत।
  • कोविड महामारी जैसे टाइम में बीमारी से बचाव।
  • वर्चुअल डेबिट कार्ड (virtual debit card) से आनलाइन शापिंग की सुविधा।

डिजिटल सेविंग्स बैंक एकाउंट खोलने के लिए आवश्यक शर्त/पात्रता (eligibility to open a digital savings account)

मित्रों, सेविंग्स एकाउंट खोले जाने की तरह ही डिजिटल सेविंग्स एकाउंट खोलने के लिए बैंकों की ओर से कई प्रकार की शर्तें एवं पात्रता निर्धारित की गई है। इन शर्तों को पूरा करने के बाद ही आप खाता खुलवा सकेंगे। यह पात्रता इस प्रकार से है-

  • आवेदक भारत का नागरिक हो।
  • आवेदक की आयु 18 वर्ष से कम न हो।
  • आवेदक के पास उसका वैध आधार कार्ड हो।
  • आवेदक के पास पैन कार्ड हो।
  • आवेदक के पास एक वैध मोबाइल नंबर एवं ईमेल एकाउंट हो।
  • आवेदक का इन्कम प्रूफ (optional)।
  • वीडियो केवाईसी (video KYC) के लिए स्मार्ट फोन/कैमरा एवं माइक्रोफोन युक्त टैबलेट/डेस्कटाॅप।
  • बेहतर इंटरनेट कनेक्टिविटी (internet connectivity)।
  • एक सफेद कागज एवं ब्लू/ब्लैक पेन।

डिजिटल सेविंग्स एकाउंट खोलने की क्या प्रक्रिया है? (what is the process to open a digital savings account?)

दोस्तों, अब आपको बताते हैं कि डिजिटल सेविंग्स एकाउंट खोलने की क्या प्रक्रिया है-

  • आपको पहले संबंधित खाते की वेबसाइट (website) अथवा एप (app) पर जाना होगा।
  • यहां होम पेज पर आनलाइन सेविंग एकाउंट ओपनिंग (online savings account opening) के आप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद खुलने वाले फार्म में पूछी गई सारी डिटेल्स (details) भरनी होंगी।
  • इसके बाद सबमिट (submit) के आप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • वीडियो ईकेवाईसी कराने के बाद आपका खाता खोल दिया जाएगा।

पीएनबी के उदाहरण से डिजिटल एकाउंट ओपनिंग प्रोसेस समझें (know the process of digital account opening through the example of PNB)

यदि आप पंजाब नेशनल बैंक में खाता खोलना चाहते हैं तो आपको यह steps follow करने होंगे-

  • सबसे पहले पंजाब नेशनल बैंक की पीएनबी नेट की वेबसाइट https://pnbnet.org.in/OOSA/ पर जाएं।
  • अब होम पेज पर आपको click here to open the online savings account without e-sign facility पर क्लिक करना है।
पीएनबी के उदाहरण से डिजिटल एकाउंट ओपनिंग प्रोसेस समझें (know the process of digital account opening through the example of PNB)
  • अब आपके सामने आनलाइन सेविंग एकाउंट ओपनिंग फार्म (savings account opening form) खुल जाएगा।
  • इस फार्म में आपको यह जानकारी भरनी होगी-
  • ड्राप डाउन मेनू से अपना राज्य, शहर एवं ब्रांच।
  • इसके पश्चात आपको डोमेस्टिक/एनआरआई (domestic/NRI) में से अपना एकाउंट टाइप (account type) चुनना होगा।
  • अब आपको customer name वाले बाक्स में अपना नाम दर्ज करना होगा।
  • इसके पश्चात नीचे दिए दो बाक्स में अपना मोबाइल नंबर (mobile number) एवं ईमेल आईडी (email id) दर्ज करनी होगी।
पीएनबी के उदाहरण से डिजिटल एकाउंट ओपनिंग प्रोसेस समझें (know the process of digital account opening through the example of PNB)
  • अब आपको नीचे की तरफ दो बाक्स टिक (tick) करने होंगे। इनमें से एक में आपसे आपका आधार डाटा (aadhar card data) इस्तेमाल करने की सहमति मांगी गई होगी। दूसरे में आपको इस बात की घोषणा करनी होगी कि आप भारत सरकार द्वारा सहायतित एवं कल्याणकारी योजनाओं का लाभ अपने खाते में सीधे लेने के इच्छुक हैं।
  • इसके पश्चात आपको कैप्चा बाक्स (captcha box) में सिक्योरिटी की (security key) भरनी होगी।
  • अब सबमिट (submit) के आप्शन पर क्लिक कर दें।
  • इतना करने के पश्चात आपका टीसीआरएन (TCRN) यानी टेंपोरेरी कस्टमर रिफरेंस नंबर (temporary customer reference number) जेनरेट (generate) हो जाएगा। इसे आपके द्वारा दर्ज मोबाइल नंबर एवं ईमेल आईडी पर भेज दिया जाएगा।
  • अगले पेज (next page) पर आपको यह टीसीआरएन (TCRN) दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद नीचे दिख रहे कैप्चा बाक्स (captcha box) में कैप्चा की डालकर सबमिट (submit) के आप्शन पर क्लिक (click) करना होगा।
  • अब आपके सामने एक फाॅर्म (form )खुल जाएगा, जिसमें आपको अपनी personal details भरनी होंगी।
  • सबसे पहले ड्राॅप डाउन मेन्यू से अपना type of account सेलेक्ट करें। यहां आपको savings account सेलेक्ट करना होगा।
  • अब आपसे customer type पूछा जाएगा। आपके सामने पब्लिक, स्टाफ, सीनियर सिटीजन एवं अदर आप्शन होंगे। आप जिस कैटेगरी में आते हैं उसे सेलेक्ट करें।
  • इसके बाद आपको बताना होगा कि क्या आप वर्तमान ग्राहक हैं? आपको यहां ‘no’ के आप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको नीचे दिए गए बाक्स में यह जानकारी भरनी होगी-
  • आधार कार्ड के अनुसार आवेदक का नाम।
  • आवेदक के पिता/अभिभावक का नाम।
  • आवेदक की जन्म तिथि।
  • आवेदक का लिंग।
  • आवेदक की माता का नाम।
  • आवेदक की वैवाहिक स्थिति (सिंगल/मैरिड)
  • आवेदक का धर्म
  • आवेदक की कैटेगरी (एससी/एसटी/ओबीसी)
  • आवेदक का व्यवसाय (business)
  • आवेदक की वार्षिक आय (60 हजार से कम/60 हजार-1 लाख/1 लाख-5 लाख/5 लाख- 15 लाख/15 लाख से अधिक)
  • आवेदक टोटल टर्नओवर (turnover)
  • आवेदक का पैन कार्ड नंबर (PAN)
  • आवेदक का यूआईडी नंबर (UID number)
  • आवेदक की राष्ट्रीयता (nationality)
  • आवेदक का रेजीडेंशियल स्टेटस (residential status)
  • मोड आफ आपरेशन (self)
  • इसके बाद आपको अपने कारेस्पांडेंस correspondence के साथ ही अपना स्थाई पता, मोबाइल नंबर एवं ईमेल आईडी दिए बाक्स में भरनी होगी।
  • इसके बाद आपको अपनी आईडेंटिफिकेशन डिटेल्स (identification details) देनी होंगी। इसमें आपको अपने आधार कार्ड की डिटेल्स एवं आईडी प्रूफ एक्सपायरी डेट डालनी होगी।
  • इसके बाद ड्राप डाउन मेन्यू से एड्रेस प्रूफ (address proof) चुनना होगा। इसमें आपका ड्राइविंग लाइसेंस/वोटर आईडी/ पासपोर्ट/आधार कार्ड आदि में कोई भी एक दस्तावेज काम आ जाएगा।
  • आपको एड्रेस प्रूफ एक्सपायरी डेट भरकर save and proceed के आप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात अपने आईडी प्रूफ एवं एड्रेस प्रूफ को वीडियो केवाईसी के जरिए अपना ईकेवाईसी वेरिफिकेशन कराना होगा। अब आपका खाता खुल जाएगा। आप आसानी से अपना खाता संचालन कर सकेंगे।

नोट- दोस्तों, डिजिटल सेविंग्स एकाउंट के साथ डेबिट कार्ड (debit card), चेकबुक (cheque book), पासबुक (passbook) आदि की सुविध मुहैया है। आपको एक खास बात बता दें कि जिन लोगों का पंजाब नेशनल बैंक (punjab national bank) में पहले से ही एकाउंट/कस्टमर आईडी (account/customer ID) है वे डिजिटल सेविंग्स एकाउंट खोलने के लिए अप्लाई नहीं कर सकते।

डिजिटल सेविंग्स एकाउंट को कभी भी सेविंग एकाउंट में बदला जा सकता है (digital savings account can be changed in savings account)

साथियों, एक बार स्पष्ट कर दें कि डिजिटल सेविंग्स एकाउंट (digital savings account) को कभी भी जनरल सेविंग्स एकाउंट (general savings account) में तब्दील किया जा सकता है, एवं उस खाते में दी जा रही सुविधाओं का लाभ उठाया जा सकता है।

इसके साथ ही डिजिटल बचत एकाउंट (digital savings account) एक व्यक्ति का एक ही खुलता है। लेकिन सामान्य खाते में बदले जाने के पश्चात इसे ज्वाइंट एकाउंट (joint account) में तब्दील किया जा सकता है।

डिजिटल सेविंग्स एकाउंट खोलते समय किन बातों का ध्यान रखें (which things to be keep in mind while opening a digital savings account)

दोस्तों, अब आपको उन बातों के बारे में बताएंगे, जिनको आपको डिजिटल सेविंग्स एकाउंट खोलते हुए ध्यान में रखना है। इससे आपको फायदा होगा। कुछ ध्यान रखने योग्य बातें इस प्रकार से हैं-

-जो बैंक अधिक सुविधा दे, उसी बैंक को चुनें

दोस्तों, आपको बता दें कि बहुत से बैंक अपने ग्राहकों को 24×7 कस्टमर केयर (customer care), विभिन्न ट्रांजेक्शंस पर लिमिट (limit on transaction) निर्धारित करने के आप्शन, डेबिट कार्ड (debit card) को लाॅक एवं अनलाॅक (lock and unlock) करने आदि की सुविधा दें।

आप विभिन्न बैंकों में दी जा रही सुविधाओं की तुलना करें, इसके पश्चात जो बैंक अधिक सुविधा दे, उसी में अपना डिजिटल बचत खाता खोलने को प्राथमिकता दें।

-पहले चेक कर लें कि किस बैंक में ब्याज दर सबसे ज्यादा है

अधिकांश लोगों का डिजिटल सेविंग्स एकाउंट खोलने के पीछे कारण खाते में जमा राशि पर मिलने वाला ब्याज होता है। वे ब्याज के जरिए अपनी कमाई को अधिक से अधिक करना चाहते हैं।

ऐसे में खाता खोलने से पहले विभिन्न बैंकों में डिजिटल सेविंग्स एकाउंट पर मिलने वाले ब्याज की तुलना अवश्य करें। जो बैंक अधिक ब्याज दे रहा हो, खाता वहीं खुलवाएं।

-बैंकों द्वारा लिए जा रहे चार्जेज पर ध्यान दें

साथियों, यह तो आप जानते ही हैं कि ज्यादातर बैंकों में बचत खातों पर एक मिनिमम बैलेंस रखने की बाध्यता होती है। ऐसा न होने पर बैंक संबंधित खाताधारक से जुर्माना वसूलता है।

इसके अतिरिक्त बैंक एसएमएस अलर्ट चार्ज, एटीएम कार्ड चार्ज, नेटवर्क से बाहर के एटीएम से ट्रांजेक्शन करने पर चार्ज वसूलते हैं। आप ऐसे बैंक का चयन करें, जिसमें ये चार्ज सबसे कम हों।

बैंकों के एप के जरिए भी डिजिटल सेविंग्स एकाउंट खुलवा सकते हैं (one can open digital savings account through app of banks)

मित्रों, ग्राहकों की सुविधा के मद्देनजर विभिन्न बैंकों के एप (app) पर भी डिजिटल सेविंग्स एकाउंट खुलवाए जाने की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। जैसे भारत के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (state bank of india) यानी एसबीआई (SBI) की बात करें तो वह अपने एप योनो (YONO) पर डिजिटल सेविंग्स एकाउंट खुलवाने की सुविधा दे रहा है। इसी प्रकार के कुछ बैंकों के एप्स (apps) इस प्रकार से हैं-

  • एसबीआई-YONO SBI
  • एचडीएफसी-PayZapp
  • पीएनबी-PNB ONE
  • केनरा बैंक-CANDI
  • आईसीआईसीआई बैंक-iMobile app
  • एक्सिस बैंक-Axis MOBILE

कोराना काल में डिजिटल खाते खूब खुले हैं

कोरोना काल को याद करते ही लोग सिहर जाते हैं। ये वो काल था, जब लोगों ने अपने परिजनों, संबंधियों को खोया। हजारों लोगों की नौकरियां छूटीं। रोजगार चले गए। लेकिन इस काल में एक अच्छी चीज यह हुई कि बैंकों ने अपने ग्राहकों को घर बैठे खाते खुलवाने सहित कई प्रकार की बैंकिंग सुविधाएं मुहैया कराईं।

इसके पीछे कारण यह था कि लोगों को बैंक में आकर भीड़ का हिस्सा न बनना पड़े और वे बीमारी के प्रसार से सुरक्षित रहें। इस काल में लोगों ने बैंकों द्वारा प्रदान की जा रही डिजिटल खातों की सुविधा का लाभ उठाया।

अच्छी संख्या में डिजिटल सेविंग्स एकाउंट खुलवाए। उन्हें फिजिकली बैंक विजिट करने की जरूरत नहीं पड़ी। वीडियो केवाईसी (video KYC) कराकर उन्होंने खातों को आपरेट करना आरंभ कर दिया।

सेविंग्स एकाउंट क्या होता है?

सेविंग्स एकाउंट को हिंदी में बचत खाता कहते हैं। जैसे कि नाम से स्पष्ट है इस खाते में व्यक्ति अपनी बचत की राशि जमा करता हैं।

डिजिटल सेविंग्स एकाउंट क्या है?

डिजिटल सेविंग्स एकाउंट ऐसा खाता है, जिसे आनलाइन घर बैठे खोला जा सकता है। इसे ओपन करने के लिए आपको किसी कागज की आवश्यकता नहीं होती।

डिजिटल सेविंग्स एकाउंट में केवाईसी कैसे होती है?

डिजिटल सेविंग्स एकाउंट ओपन करने में बैंक वीडियो केवाईसी का सहारा लेते हैं।

कोई व्यक्ति कितने डिजिटल सेविंग्स एकाउंट खोल सकता है?

व्यक्ति एक ही डिजिटल सेविंग्स एकाउंट खोल सकता है।

डिजिटल सेविंग्स एकाउंट खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज क्या क्या हैं?

डिजिटल सेविंग्स एकाउंट खोलने के लिए आधार कार्ड, पैन, कार्ड, वैध मोबाइल नंबर, ईमेल एकाउंट आदि की आवश्यकता पड़ती है।

डिजिटल सेविंग्स एकाउंट खोलने का सबसे बड़ा लाभ क्या है?

डिजिटल सेविंग्स एकाउंट खोलने का सबसे बड़ा लाभ यह है कि आप घर बैठे यह एकाउंट खोल सकता है एवं बैकिंग सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं।

दोस्तों, हमने आपको डिजिटल सेविंग्स खाते के बारे में विस्तार से जानकारी दी। यदि आप भी यह खाता खुलवाने के इच्छुक हैं तो पोस्ट में दिए गए टिप्स को ध्यानपूर्वक पढ़ें, आपको लाभ होगा। बैंक ग्राहकों की जागरूकता के उद्देश्य से इस पोस्ट को शेयर कर सकते हैं। पोस्ट को लेकर आपका कोई सवाल है तो हमें नीचे दिए गए कमेंट बाक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं। आपकी प्रतिक्रियाओं का स्वागत है। ।।धन्यवाद।।

———————————–

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment

एक देश एक राशन कार्ड योजना नानाजी देशमुख कृषि संजीवनी योजना यूपी जनसंख्या कानून क्या है? मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना झारखण्ड कम्युनिकेशन स्किल इम्प्रूव करने के 8 तरीके