डिजिटल मार्केटिंग में जॉब कैसे करे? | योग्यता, कार्य व सैलरी | Digital marketing me job kaise kare

डिजिटल मार्केटिंग में जॉब कैसे करे? | Digital marketing me job kaise kare | Digital marketing company me naukri kaise kare | Digital marketing kya hai | Digital marketing ka course | Digital marketing ka course kaise kare | डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार ||

Digital marketing me job kaise kare : – आज के समय में जिस फील्ड में सबसे ज्यादा नौकरी का बोलबाला है या फिर यूँ कहे कि जिस क्षेत्र में जॉब कम होने की बजाए बढ़ती ही चली जा रही है, वह है डिजिटल मार्केटिंग। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि समय के साथ साथ डिजिटल मार्केटिंग के क्षेत्र में मांग बढ़ती ही चली (Digital marketing me job kaise paye) जा रही है। हर कोई डिजिटल मार्केटिंग में ही अपना करियर चमकाने का सोच रहा है और इसके लिए मेहनत भी कर रहा है।

ऐसा इसलिए भी है क्योंकि जिस तेजी के साथ इंटरनेट ने अपने पाँव दुनियाभर में पसारे है और अपने साथ अपार संभावनाएं लेकर आया है तो उसी तेजी के साथ डिजिटल मार्केटिंग का प्रभुत्व भी (Digital marketing company me naukri kaise kare) स्थापित हुआ है। आज के समय में हम या आप जो कुछ भी देखते है या काम करते है या कुछ खरीदते है या कोई जानकारी पाना चाहते है तो उसके लिए हम इंटरनेट पर ही यह सब करते है। आज के समय में दुनिया का लगभग हर तरह का काम इंटरनेट के माध्यम से होने लगा है।

अब जब काम ऑनलाइन या इंटरनेट के माध्यम से होने लगा है तो सभी तरह की कंपनियां भी यहाँ उपलब्ध होगी। साथ ही उन्हें अपने लिए ज्यादा से ज्यादा सेल्स या ग्राहक भी चाहिए होंगे, तो उसके लिए उन्हें डिजिटल मार्केटिंग करने की आवश्यकता पड़ती है। इसलिए यदि आप भी डिजिटल मार्केटिंग में नौकरी करना चाहते हैं या इसमें अपना भविष्य बनाना चाहते हैं तो आज हम आपको डिजिटल मार्केटिंग के क्षेत्र में नौकरी करने के ऊपर ही सब जानकारी देने जा रहे हैं। आइए जानते है कि किस तरह से आप डिजिटल मार्केटिंग में जॉब कर सकते हैं।

Contents show

डिजिटल मार्केटिंग में जॉब कैसे करे? (Digital marketing me job kaise kare)

डिजिटल मार्केटिंग में जॉब करने से पहले आपको डिजिटल मार्केटिंग की दुनिया को समझना जरुरी होता है। यदि आपको यही नही पता होगा कि डिजिटल मार्केटिंग का काम क्या होता है और उसमे क्या कुछ करना होता है तो फिर कैसे ही आप डिजिटल मार्केटिंग का काम (Digital marketing me career kaise banaye) कर पाएंगे। साथ ही समय के साथ साथ इसके प्रकार भी बदलते रहते है या यूँ कहे कि इसके प्रकारों में बढ़ोत्तरी होती चली जाती है। ऐसा इंटरनेट के बढ़ते प्रभाव और उस पर उपलब्ध विकल्पों के रूप के कारण होता है।

डिजिटल मार्केटिंग में जॉब कैसे करे योग्यता कार्य व सैलरी Digital marketing me job kaise kare

आज के समय में सभी तरह की कंपनियां डिजिटल मार्केटिंग के सभी तरह के प्रकारों या कुछ चुनिंदा प्रकारों के तहत अपनी सेल्स को बढ़ाने में लगी हुई है। यही कारण है कि यदि आप डिजिटल मार्केटिंग में करियर बनाना चाहते हैं तो उसके लिए आपको इसके बारे में जान लेना अति आवश्यक हो जाता है। इसलिए आज हम सबसे पहले तो डिजिटल मार्केटिंग के बारे में जानेंगे और उसके प्रकारों के बारे में बात करेंगे। उसके बाद आप उसमे कैसे नौकरी कर सकते हैं या करियर बना सकते हैं, इसके बारे में चर्चा करेंगे।

डिजिटल मार्केटिंग क्या है? (Digital marketing kya hai)

इसे हम सरल भाषा में आपको समझाएंगे ताकि आप इसके अर्थ को आसानी से समझ सके। तो आज के समय में आप ऑनलाइन कितनी ही चीजों को देखते है और उसमे कई कंपनियों के प्रोडक्ट और सर्विस की ऐड भी (Digital marketing kya hoti hai) देखते होंगे। जैसे कि आप सोशल मीडिया को स्क्रॉल कर रहे हो तो आपको कई तरह लकी ऐड पांच मिनट में ही दिख जाएगी। इसी तरह यदि आप गूगल पर कुछ ढूँढ रहे हैं तो वहां पर भी आपको कई तरह के विज्ञापन मिल जाएंगे।

इसी तरह आपको अपनी ईमेल आईडी पर, मोबाइल नंबर पर या अन्य किसी माध्यम से भी ऐड के लिए फोन, मैसेज या मेल आते होंगे। यह मेल या मैसेज कई तरह के हो सकते हैं। इसी के साथ आपको टीवी या अख़बार के माध्यम से भी विज्ञापन दिखते होंगे। तो इन विज्ञापनों के द्वारा कोई भी कंपनी अपनी सेल्स को बढ़ाने का काम करती है। इसे ही डिजिटल मार्केटिंग कहा जाता है। इसके द्वारा किसी कंपनी को अपनी बिक्री बढ़ाने और ज्यादा से ज्यादा ग्राहकों तक अपनी पहुँच बनाने में सहायता मिलती है।

डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार (Digital marketing kitne prakar ke hote hain)

अब आपने यह तो जान लिया है कि डिजिटल मार्केटिंग होती क्या है लेकिन उसी के साथ साथ यदि आप यह भी जान ले कि इसके तहत आप किस तरह से काम कर सकते हैं या इसमें किस किस तरह के काम होते है तो आपको काम करने में आसानी होगी। यहाँ हम यह कहना चाह रहे हैं कि डिजिटल मार्केटिंग के कई रूप होते है जिसके तहत लोग काम करते है। इनमे आपको एक से अधिक तरह के विकल्प मिल जाएंगे जो समय के साथ साथ बढ़ते ही चले जा रहे हैं। 

कोई सोशल मीडिया से जुड़ा हुआ है तो किसी का जुड़ाव गूगल से है तो कोई अन्य किसी माध्यम से जुड़ा हुआ है। ऐसे में आप किस तरह के डिजिटल मार्केटिंग में अपना करियर बनाना चाहते हैं या इसमें कई तरह के डिजिटल मार्केटिंग के प्लेटफार्म हैंडल करना चाहते हैं, यह आप पर निर्भर करता है। आइए जानते हैं डिजिटल मार्केटिंग के प्रकारों के बारे में विस्तार से।

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन

यह डिजिटल मार्केटिंग के प्रकारों में सबसे मुख्य और प्रसिद्ध प्रकार है। इसके तहत आपको अपनी कंपनी की वेबसाइट पर कंटेंट को इस तरह से एनालिसिस करके आगे लाना होता है जिससे कि दुनिया में कोई भी बैठा व्यक्ति आपकी कंपनी से संबंधित कोई उत्पाद या सेवा को ऑनलाइन सर्च करे तो उसमे आपकी कंपनी की सेवाएं प्रमुख तौर पर दिखाई दे। अब इसमें आपको सर्च एनगिनेर ऑप्टिमाइजेशन को गहराई से पढ़ना होता हैं क्योंकि इसमें कंटेंट मार्केटिंग, बैकलिंकिंग, आउटबाउंड लिंक्स इत्यादि कई चीज़ों की भूमिका होती है।

सोशल मीडिया मार्केटिंग

ऐसा कोई ही व्यक्ति होगा जो किसी सोशल मीडिया पर ना हो। बल्कि आज के समय में तो लोगों के एक से अधिक सोशल मीडिया एकाउंट्स होते हैं। इनमे कुछ प्रमुख सोशल मीडिया के नाम फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सऐप, टिकटोक, यूट्यूब इत्यादि है। अब कोई इनके जरिये पैसे कमा रहा है तो कोई इसको मनोरंजन के लिए इस्तेमाल में ला रहा है तो कोई कुछ जानकारी एकत्र करने में तो कोई अपने लोगों से जुड़े रहने के लिए इसका इस्तेमाल कर रहा है। किंतु इनमे से जो व्यक्ति इसके जरिये पैसा कमा रहा है वह डिजिटल मार्केटिंग का ही काम कर रहा है।

ईमेल मार्केटिंग

आपकी ईमेल आईडी तो होगी ही होगी। तो क्या अपने कभी नोटिस किया है कि आपको ऐसे भी ईमेल आते है जो आपको विभिन्न कंपनियों के चल रहे ऑफर, स्कीम इत्यादि के बारे में जानकारी देते है। यह ईमेल किसी के भी हो सकते हैं। हालाँकि इनमे से ज्यादातर ईमेल ऐसी कंपनियों के होंगे जिनसे कभी आपने कुछ ख़रीदा हो या जिनकी सेवा का इस्तेमाल आपने किया हो या जहाँ पर आपने कभी रजिस्ट्रेशन इत्यादि करवाया हो। तो ऐसे ईमेल भी डिजिटल मार्केटिंग का ही एक हिस्सा होते हैं।

मोबाइल मार्केटिंग

अब आपको केवल कंपनियों के प्रोमोशन के लिए ईमेल ही नही आते होंगे बल्कि उनके द्वारा समय समय पर आपको मैसेज करके या कॉल करके भी सूचित करने का काम किया जाता होगा। इसके द्वारा आपको यह बताने का प्रयास किया जाता है कि आप निश्चित समय के लिए उस ऑफर का लाभ उठा सकते है। इसके द्वारा आपको अन्य चीज़ों के बारे में भी जानकारी दी जाती है जिसके बारे में वह कंपनी आपको सूचित करना चाहती होगी। तो मोबाइल के द्वारा सूचना देने को मोबाइल मार्केटिंग के रूप में डिजिटल मार्केटिंग का ही एक प्रकार माना गया है।

अन्य

अब ऊपर बताये गए चार प्रकारों के अलावा डिजिटल अर्थात ऑनलाइन माध्यम के रूप में आपसे यदि किसी अन्य तरीके से संपर्क किया जाता है और आपको कंपनी के प्रोडक्ट या सर्विस के बारे में बताया जाता है तो वह सब भी डिजिटल मार्केटिंग का ही एक भाग होते है। इसमें टीवी पर ऐड के माध्यम से या किसी वेबसाइट पर क्रेडिट लेकर या अन्य किसी माध्यम से प्रचार किया जाना शामिल है। तो यह सभी प्रकार भी डिजिटल मार्केटिंग का ही एक हिस्सा होते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग में किस तरह की जॉब मिलती है?

अब जब आपने डिजिटल मार्केटिंग के प्रकारों के बारे में जान लिया है और यह पता लगा लिया है कि इसमें किस किस तरह की जॉब्स मिल सकती है तो आपको यह भी जान लेना चाहिए कि उसके तहत आपको किस किस तरह के काम मिल सकते हैं या इसमें आपकी किस तरह की जॉब प्रोफाइल रह सकती है। इसके माध्यम से आप यह जान सकते हैं कि यदि आप डिजिटल मार्केटिंग के रूप में काम करना शुरू करते हैं तो उसमे आपको किस तरह की प्रोफाइल में नौकरी करनी पड़ेगी।

  • ग्रोथ हैकर
  • डिजिटल मैनेजर
  • मार्केटिंग एक्सपर्ट
  • सोशल मीडिया मैनेजर
  • SEO एक्सपर्ट
  • कंटेंट मार्केटर
  • SEO एग्जीक्यूटिव
  • मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव
  • डाटा एक्सपर्ट
  • डाटा एनालिस्ट
  • वेब डिज़ाइनर
  • कंटेंट मैनेजर इत्यादि।

तो इस तरह से आप डिजिटल मार्केटिंग की फील्ड में कई तरह के क्षेत्रों में काम कर सकते हैं। अब यह आप पर निर्भर करता है कि आप किस तरह की फील्ड में अपना करियर बनाना पसंद करते हैं। हाल ही में डिजिटल मार्केटिंग के क्षेत्र में जॉब्स की भरमार आई हुई हैं और इसको देखते हुए इसमें काम करने की संभावनाओं में भी अप्रत्याशित वृद्धि देखने को मिली हैं। इसलिए यदि आप डिजिटल मार्केटिंग में नौकरी करना चाहते हैं तो उससे पहले इसके बारे में अच्छे से पता लगा ले कि आप किस तरह के क्षेत्र में काम कर सकते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करना (Digital marketing ka course)

चूँकि डिजिटल मार्केटिंग एक नयी तरह की फील्ड है तो इसमें अभी तक कोई डिग्री इत्यादि की शुआत तो नही हुई है। तो ऐसे में यदि आप डिजिटल मार्केटिंग के क्षेत्र में काम ही करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको ऑनलाइन व ऑफलाइन कई तरह के कोर्स (Digital marketing ka course Kahan se karen) मिल जाएंगे। हालाँकि आप इससे संबंधित तरह तरह के अलग से कोर्स या डिग्री कर सकते हैं जैसे कि वेब डिजाइनिंग, डाटा एनालिस्ट का कोर्स करना इत्यादि।

तो आपको इसके बारे में अच्छे से विश्लेषण करना होगा की आपकी किस चीज़ में (Digital marketing ka course kaise kare) अच्छी पकड़ है। उदाहरण के रूप में क्या आपको डिजाईन करना ज्यादा अच्छा लगता है या फिर आप डाटा पर अच्छी पकड़ रखते हैं या फिर आपको सोशल मीडिया अल्गोरिथम के बारे में अच्छी जानकारी है या कुछ और। तो अपनी काबिलियत को पहचान कर ही यदि आप उसमे आगे बढ़ेंगे तो ज्यादा सही रहेगा। इससे आप अपना भविष्य भी सुरक्षित कर पाएंगे और उसमे अच्छी पहचान भी बना पाएंगे। कुछ चुनिंदा कोर्स के नाम नीचे दिए गए हैं:

  • डाटा एनालिसिस
  • डाटा एक्सपर्ट
  • वेब डिजाइनिंग
  • कंटेंट राइटिंग
  • ब्रांड्स हैंडलिंग
  • सोशल मीडिया हैंडलर
  • SEO एनालिसिस
  • कीवर्ड एक्सपर्ट
  • टेक SEO एक्सपर्ट
  • कम्युनिकेशन
  • इवेंट हैंडलर
  • इवेंट मैनेजर
  • पेड एडवरटाइजिंग इत्यादि।

समय के साथ साथ डिजिटल मार्केटिंग के कोर्स में भी बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है और इनमे नए नए विषय जुड़ते चले जा रहे है। इसलिए आप जब भी डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने जाए तो पहले इसके बारे में ऑफलाइन व ऑनलाइन दोनों ही माध्यम से सर्च अवश्य कर ले क्योंकि क्या पता आपको एक बेहतर अवसर मिल जाए। ऐसे में पूरी तरह से सोच समझ कर ही डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करे और उसमे अपना भविष्य सुरक्षित करे।

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स की फीस (Digital marketing course ki fees kitni hai)

अब यदि आप डिजिटल मार्केटिंग कोर्स करने की फीस के बारे में जानना चाह रहे हैं तो यह भी कुछ ज्यादा नही होती है। साथ ही इसे करने के दोनों तरह के विकल्प मौजूद होते है। कहने का अर्थ यह हुआ कि आप चाहे तो अपने घर बैठे ही ऑनलाइन क्लास के माध्यम से डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स कर सकते हैं या फिर अपने शहर की किसी नामी इंस्टिट्यूट से जुड़ कर भी डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स (Digital marketing course fees in Hindi) कर सकते हैं। दोनों ही माध्यम से आपको डिजिटल मार्केटिंग के बारे में जानने को मिल जाएगा।

अब इसमें लगने वाली फीस की बात की जाए तो यह आपके द्वारा चुने गए कोर्स और उसकी अवधि पर निर्भर करता है। किसी कोर्स को करने में आपको 5 से 10 हज़ार रुपए लगेंगे तो किसी में आपके 30 से 50 हज़ार रुपए भी लग सकते है। यह पूरी तरह से किये जाने वाले कोर्स की अवधि और प्रकार पर ही निर्भर करता है कि आप उसके लिए कितना पैसा चुकाने वाले हैं।

डिजिटल मार्केटिंग में करियर स्कोप (Digital marketing career scope in Hindi)

अब यदि आप डिजिटल मार्केटिंग में करियर स्कोप के बारे में जानना चाह रहे हैं तो हम आपको यह पहले ही बता दे कि इसमें करियर बनाना आपके लिए बहुत ही सुखद हो सकता है। साथ ही इसमें कोई लंबी चौड़ी पढ़ाई करने की भी जरुरत नही होती है और ना ही आपको किसी टॉप कॉलेज या यूनिवर्सिटी से पास होना होता है। इसमें करियर बनाने के लिए आप बस सही समय पर इसका सही से कोर्स कर लीजिए। उसके बाद सब चीज़ आपके द्वारा किये गए काम पर ही निर्भर करेगी।

अब यदि आप इसमें अच्छे से काम करते हैं और कंपनी का काम करके देते हैं तो जल्द से जल्द आपका करियर सेट हो जाएगा। डिजिटल मार्केटिंग में जिनका करियर सफल होता है या जो अच्छा पैसा कमाते हैं, उनका काम ही इसका निर्धारण करता है। यदि आपने शुरुआत में ही अच्छे से अपना काम कर लिया तो निश्चित तौर पर आपका करियर जल्द से जल्द सेट हो जाएगा।

डिजिटल मार्केटिंग में नौकरी करना

अब जब आपने डिजिटल मार्केटिंग में एक अच्छा सा कोर्स कर लिया है और उसमे करियर बनाने को इच्छुक है तो इसके लिए आपको एक सही जॉब का चुनाव करना होगा। तो यदि आप यह सोच रहे हैं कि इसके लिए कौन सी कंपनी सही रहेगी या कौन सी कंपनी में डिजिटल मार्केटिंग का काम होता है तो यहाँ हम आपको पहले ही बता दे कि आज के समय में ऐसी कोई ही कंपनी बची हो जहाँ पर डिजिटल मार्केटिंग का काम ना होता हो। चाहे कोई कंपनी छोटी हो या बड़ी, हर जगह डिजिटल मार्केटिंग का काम होता है।

ऐसे में अब यह आप पर निर्भर करता है कि आप किस कंपनी में नौकरी के लिए आवेदन देते हैं और उसमे कितनी जल्दी और किस वेतन पर आपको नौकरी मिल पाती है। यदि आपने सही समय पर सही जगह हाथ मार लिया तो निश्चित तौर पर आपकी सही कंपनी में सही वेतन पर नौकरी लग जाएगी।

डिजिटल मार्केटिंग में सैलरी (Digital marketing job salary in Hindi)

आप डिजिटल मार्केटिंग के किसी ना किसी क्षेत्र में किसी ना किसी कंपनी में नौकरी पा तो लेंगे लेकिन आपको यह भी जानना होगा कि डिजिटल मार्केटिंग में आपकी कमाई कितनी होगी या आप उसमे कितना तक पैसा कमा पाएंगे। तो यहाँ हम आपको यह बात पहले ही स्पष्ट कर दे कि यदि आप डिजिटल मार्केटिंग में काम करना चाहते हैं और उसमे पैसे कमाने को इच्छुक हैं तो इसमें आपकी सैलरी कुछ हज़ार में भी (Digital marketing job salary in India in Hindi) हो सकती हैं तो कुछ लाभ में भी। यह पूर्ण रूप से आपके द्वारा किये जा रहे काम पर ही निर्भर करेगा कि डिजिटल मार्केटिंग में आपका कितना पैसा बनता है।

आप चाहे तो कुछ हज़ार में शुरुआत कर महीने भर का एक लाख से ज्यादा कमाना भी शुरू कर सकते हैं तो आपकी कमाई एक महीने की 10 लाख तक भी पहुँच सकती है। यहाँ हम यह कहना चाह रहे हैं कि डिजिटल मार्केटिंग में काम करने और उसमे पैसे कमाने की कोई सीमा नही है। इसलिए आप बस इसमें मन लगाकर काम करे और आपकी कमाई दिनों दिन बढ़ती चली जाएगी।

डिजिटल मार्केटिंग में काम करने के फायदे (Digital marketing job benefits in Hindi)

अंत में आप यह बात भी जान ले कि डिजिटल मार्केटिंग के क्षेत्र में काम करने के क्या क्या फायदे देखने को मिलते हैं। तो इसके बारे में तो हमने आपको पहले ही बीता दिया कि यदि आप डिजिटल मार्केटिंग के क्षेत्र में काम करने जा रहे हैं तो आप पूर्ण रूप से लाभ ही लाभ में (Digital marketing career benefit in Hindi) रहने वाले हैं। वह इसलिए क्योंकि जिस तरह से इंटरनेट की क्रांति आई है, उसी तरह से डिजिटल मार्केटिंग का प्रभाव बढ़ता चला जा रहा है।

अब तो यह तक स्थिति हो गयी हैं कि बाजार में डिजिटल मार्केटिंग का अच्छा और बेहतर काम करने वालों की कमी तक देखने को मिल रही हैं और कंपनियां अच्छे डिजिटल मार्केटर को मुहं माँगा पैसा देने को तैयार बैठी हैं। तो यदि आप बेहतर तरीके से डिजिटल मार्केटिंग का काम कर सकते हैं और कंपनी की कमाई में बढ़ोत्तरी करवा सकते हैं तो अवश्य ही इसमें आपका भविष्य सुनहरा होने वाला है।

इसके साथ ही डिजिटल मार्केटिंग के काम में कभी भी कमी देखने को नही मिलेगी बल्कि यह तो समय के साथ साथ बढ़ता ही चला जाएगा। वह इसलिए क्योंकि हर कंपनी ऑनलाइन या यूँ कहे कि डिजिटल माध्यम से अपने बनाए प्रोडक्ट्स या सेवाओं का प्रचार करने को इच्छुक है ताकि उसकी पहुंच ज्यादा से ज्यादा लोगों तक और सही तरीके से पहुँच सके। तो इसके लिए उनके द्वारा डिजिटल मार्केटिंग का ही इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि यह उनके लिए सस्ता, सरल और फायदेमंद होता है। ऐसे में डिजिटल मार्केटिंग के क्षेत्र में लाभ ही लाभ देखने को मिलेगा।

डिजिटल मार्केटिंग में जॉब कैसे करे – Related FAQs

प्रश्न: क्या मुझे डिजिटल मार्केटिंग में नौकरी मिल सकती है?

उत्तर: यदि आपने डिजिटल मार्केटिंग में अच्छे से पढ़ाई की हुई हैं और आप उसमे सही से काम कर सकते हैं तो अवश्य ही आपको डिजिटल मार्केटिंग में नौकरी मिल सकती है।

प्रश्न: डिजिटल मार्केटर कैसे बने?

उत्तर: डिजिटल मार्केटर बनने के लिए आपको हमारे द्वारा बताये गए कोर्सेज में से किसी एक कोर्स का चुनाव करना होगा और उसे पूरा कर उसमे नौकरी हासिल करनी होगी।

प्रश्न: डिजिटल मार्केटिंग में कौन काम कर सकता है?

उत्तर: डिजिटल मार्केटिंग में कोई भी व्यक्ति काम कर सकता है लेकिन उसको पहले इसमें कोर्स करना होगा और महारत हासिल करनी होगी।

प्रश्न: डिजिटल मार्केटिंग में सैलरी कितनी होती है?

उत्तर: डिजिटल मार्केटिंग में एक महीने की सैलरी 20 हज़ार से लेकर 20 लाख तक की हो सकती है।

प्रश्न: डिजिटल मार्केटिंग कोर्स कितने दिन का होता है?

उत्तर: डिजिटल मार्केटिंग कोर्स 3 से 12 महीने का होता है।

तो इस तरह से आज के इस लेख में आपने जान लिया की डिजिटल मार्केटिंग क्या होती है और किस तरह से आप इसमें अपना करियर सेट कर सकते हैं। साथ ही यदि आप इसमें नौकरी करना शुरू करते हैं तो उसमे आपको क्या क्या लाभ देखने को मिल सकते हैं और आपका इसमें भविष्य कैसा रहने वाला है।

Leave a Comment