डिजिटल मार्केटिंग क्या है? | डिजिटल मार्केटिंग कोर्स कैसे करें? | Digital marketing kya hai Hindi

|| डिजिटल मार्केटिंग क्या है? | Digital marketing kya hai Hindi | Digital marketing course kaise kare in Hindi | डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स क्या है? | डिजिटल मार्केटिंग के कोर्स में क्या सिखाया जाता है? | डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स कैसे करें? | डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने के लिए योग्यता ||

Digital marketing course kaise kare :- जैसे जैसे इंटरनेट का युग बढ़ता जा रहा है और हर काम ऑनलाइन हो चला है, वैसे वैसे ही इंटरनेट से जुड़े कोर्स और काम भी बढ़ते जा रहे हैं। कहने का अर्थ यह हुआ कि जब इस देश व दुनिया में इंटरनेट नहीं हुआ करता था और ऑनलाइन किसी भी तरह का साधन उपलब्ध नहीं था तब हम अपने हरेक काम ऑफलाइन माध्यम से ही किया करते थे। किन्तु जब से इंटरनेट व ऑनलाइन की क्रांति आयी है तब से आज तक हमारे दैनिक जीवन से जुड़ा हरेक काम ऑनलाइन हो चला (Digital marketing course kaise kare in Hindi) है।

अब चाहे वह किसी उत्पाद का प्रोमोशन करना हो या उसे खरीदना, किसी सेवा का प्रचार प्रसार करना हो या उसका लाभ उठाना इत्यादि। अब सभी काम ऑनलाइन ही हो रहे हैं तो निश्चित तौर पर वहां काम करने के कई सारे क्षेत्र खुल रहे हैं और उनमें लाखों लोग काम कर रहे हैं। इसी में एक काम है डिजिटल मार्केटिंग का जो आज के समय में बहुत ज्यादा प्रचलन में है। हर क्षेत्र में डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स किये लोगों की माँग बहुत ज्यादा बढ़ गयी है और उन्हें बहुत ज्यादा महत्व भी दिया जा रहा (Digital marketing course in Hindi) है।

ऐसे में यदि आप भी डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने का मन बना रहे हैं और डिजिटल मार्केटिंग में ही अपना करियर सेट करना चाहते हैं तो आज के इस लेख में हम आपके साथ डिजिटल मार्केटिंग के बारे में ही बात करने जा रहे हैं। उक्त लेख को पढ़कर आपको यह जानने में सहायता मिलेगी कि डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स है क्या और यह आप कहाँ से कर सकते हैं। आइये जाने डिजिटल मार्केटिंग के कोर्स के बारे में शुरू से लेकर अंत तक संपूर्ण (Digital marketing course kaise hota hai) जानकारी।

Contents show

डिजिटल मार्केटिंग क्या है? (Digital marketing kya hai Hindi)

सबसे पहले हम बात करते हैं डिजिटल मार्केटिंग के बारे में और यह जानने का प्रयास करते हैं कि आखिरकार यह डिजिटल मार्केटिंग है क्या चीज़। तो आज यदि आप ऑनलाइन किसी भी जगह पर जाएंगे फिर चाहे वह सोशल मीडिया हो या फिर गूगल या कहीं और। तो आपको वहां कई तरह के प्रोडक्ट्स व सर्विसेज की ऐड दिखती है फिर चाहे वह कंटेंट में हो या फोटो में या वीडियो या अन्य किसी माध्यम से। आप उनकी ऐड को देखते हैं और उस प्रोडक्ट या सेवा के बारे में जानकारी लेते हैं। यहाँ तक कि आप उस ऐड पर क्लिक कर उस प्रोडक्ट को ऑर्डर भी कर सकते हैं या सर्विस को बुक करवा सकते (Digital marketing kya hai samjhaie) हैं।

डिजिटल मार्केटिंग क्या है  डिजिटल मार्केटिंग कोर्स कैसे करें  Digital marketing kya hai Hindi

तो इंटरनेट के माध्यम से यदि किसी भी प्रोडक्ट या सर्विस का प्रचार प्रसार किया जा रहा है, उसके बारे में जागरूकता फैलायी जा रही है और लोगों को उसे खरीदने या उसकी सेवा लेने को प्रोत्साहित किया जा रहा है तो यह सभी डिजिटल मार्केटिंग का ही एक हिस्सा होते हैं। एक तरह से इसमें ऑर्गेनिक प्रोमोशन से लेकर सोशल मीडिया प्रोमोशन तक सभी तरह का ऑनलाइन प्रोमोशन शामिल होता है।

ऐसे में सीधे शब्दों में डिजिटल मार्केटिंग को समझाया जाए तो किसी भी कंपनी या बिज़नेस के किसी भी प्रोडक्ट या सर्विस का ऑनलाइन प्रचार प्रसार किया जाना ही डिजिटल मार्केटिंग का हिस्सा होता है। इसके जरिये वह कंपनी या व्यवसाय उन्नति करता है और लोगों के बीच अपनी प्रसिद्धि बनाये रखता है। यह किसी उत्पाद, मूवी, सर्विस, शिक्षा इत्यादि किसी भी क्षेत्र से संबंधित हो सकता है।

डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स क्या है? (Digital marketing course kya hai)

अब जब आपने डिजिटल मार्केटिंग क्या है, इसके बारे में जानकारी ले ली है तो अब बारी आती है डिजिटल मार्केटिंग के कोर्स के बारे में समुचित जानकारी लिए जाने की। तो डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स एक ऐसा कोर्स होता है जहाँ पर आपको डिजिटल मार्केटिंग के प्लेटफार्म के बारे में हरेक जानकारी दी जाती है। जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया कि आप ऑनलाइन जो भी ऐड या प्रोमोशन देखते हैं फिर चाहे वह किसी भी मंच पर किसी भी रूप में हो, वह सभी ही डिजिटल मार्केटिंग का ही हिस्सा होते (Digital marketing ka course kya hota hai) हैं।

तो इसमें आप किसी भी क्षेत्र में यदि कोर्स करने वाले हैं या इसकी ओवरऑल जानकारी लेने को इच्छुक हैं तो उसके लिए आपको डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करना होता है। आज के समय में लगभग हर तरह के छोटे से लेकर बड़े संस्थान में डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करवाया जा रहा है। वह इसलिए क्योंकि हर दिन के साथ डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स किये हुए लोगों का महत्व बढ़ता जा रहा है और मार्केट में डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स किये हुए लोगों की माँग बहुत ही तेजी के साथ बढ़ रही है।

वह इसलिए क्योंकि हर किसी को अपने बनाये प्रोडक्ट या लॉन्च की गयी सर्विस का प्रोमोशन ऑनलाइन करवाना होता है क्योंकि यह बहुत ही बड़ा सेक्टर है जो उनके उत्पाद या सेवा को अभूतपूर्व प्रसिद्धि दे सकता है। ऐसे में डिजिटल मार्केटिंग के कोर्स के माध्यम से आपको ऑनलाइन प्रोमोशन के तरह तरह के तरीकों सहित उसकी स्ट्रेटेजी बनाना और उसे किस तरह से अप्लाई किया जाए, इसके बारे में जानकारी दी जाती है।

डिजिटल मार्केटिंग के कोर्स में क्या सिखाया जाता है? (Digital marketing course me kya sikhaya jata hai)

अब आपको यह भी जानना होगा कि आखिरकार डिजिटल मार्केटिंग के कोर्स में आपको किस किस चीज़ के बारे में जानकारी दी जाएगी या फिर आपको क्या कुछ डिजिटल मार्केटिंग के कोर्स की सहायता से सीखने को (Digital marketing course details in Hindi) मिलेगा। तो इसका कोई दायरा नहीं है और ना ही इसे अभी निर्धारित किया गया है। वह इसलिए क्योंकि बदलते ज़माने और इंटरनेट में हर दिन आ रही नयी से नयी क्रांति के कारण इसमें तरह तरह के क्षेत्र और प्रोमोशन करने के तरीके भी बढ़ते या जुड़ते चले जा रहे हैं।

फिर भी डिजिटल मार्केटिंग में आपको कुछ मुलभुत तरीकों और उनकी तकनीक के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाती है ताकि आपको डिजिटल मार्केटिंग के बारे में बेसिक जानकारी हो सके। फिर आप अपने को मिली जानकारी का उपयोग करके डिजिटल मार्केटिंग में अपना करियर सेट कर सकें और आगे बढ़ (How many types of digital marketing course in Hindi) सकें। ऐसे में आपको डिजिटल मार्केटिंग के कोर्स में जो कुछ सिखाया जाता है, उसकी सूची इस प्रकार है:

  • सोशल मीडिया मार्केटिंग
  • कंटेंट मार्केटिंग
  • सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन
  • सर्च इंजन मार्केटिंग
  • एफिलिएट मार्केटिंग
  • मोबाइल मार्केटिंग
  • वेब मार्केटिंग
  • इन्फ्लुएंस मार्केटिंग
  • ग्राफ़िक्स डिजाइनिंग
  • वीडियो एडिटिंग
  • ईमेल मार्केटिंग
  • इवेंट मैनेजमेंट इत्यादि।

अब यह तो हमने आपको ऊपर ही बता दिया था कि ऑनलाइन जिस भी तरह से संपर्क करने के माध्यम जुड़ते चले जा रहे हैं उतनी ही तेजी के साथ डिजिटल मार्केटिंग का विस्तार होता जा रहा है। अब जितनी तेजी के साथ संपर्क करने के तरह तरह के माध्यम बढ़ते हैं उतने ही तरीके ऑनलाइन प्रचार प्रसार करने के भी बढ़ते चले जाते हैं। ऐसे में इन सभी माध्यमों से आप किसी प्रोडक्ट या सर्विस का प्रचार प्रसार किस तरह से कर सकते हैं, यही सब डिजिटल मार्केटिंग के कोर्स में सिखने को मिलता है।

डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स कैसे करें? (Digital marketing course kaise kare)

अब आती है मुद्दे की बात और वह है डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने के ऊपर। आप यह तो जान ही गए हैं कि आज का जमाना डिजिटल मार्केटिंग का है और इसे यदि इसे किसी ने अच्छे से सीख लिया तो अवश्य ही उसका करियर सेट है और भविष्य सुनहरा। अब यदि आप भी अपने करियर को एक नयी उड़ान देने को इच्छुक हैं तो आपको भी अवश्य ही किसी अच्छे इंस्टीट्यूट या जगह से डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करना चाहिए और इसमें अपना करियर बनाना (Is there any course for digital marketing in Hindi) चाहिए।

किन्तु इस काम में सबसे बड़ी दुविधा यह होती है कि लोगों को डिजिटल मार्केटिंग के कोर्स को कहाँ से करना चाहिए और किस तरह से करना चाहिए, इसके बारे में समूची जानकारी नहीं होती है। अब समुचित जानकारी के अभाव में बहुत से लोग डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने की चाहत रखते हुए भी सही से इसमें अपना करियर नहीं बना पाते हैं। ऐसे में उनका समय और पैसा दोनों ही व्यर्थ चले जाते हैं और मिलता कुछ नहीं है। तो हमने इसी समस्या को समझा और इस लेख के माध्यम से हम हर उस चीज़ को चिंहित करेंगे जो डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने में सहायक सिद्ध होती है।

डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने के लिए योग्यता (Digital marketing course eligibility criteria in Hindi)

सबसे पहले बात करते हैं डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने के लिए आपके अंदर क्या कुछ योग्यताएं होनी चाहिए। अब यदि आप बिना कुछ जाने या सोचे समझे ही डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने लग जाएंगे और बाद में पता चलेगा कि आप तो इसके लिए योग्य हैं ही नहीं या फिर यह आपकी रुचि का क्षेत्र ही नहीं है तो कैसा लगेगा। तो इसके लिए जो जो गुण आपके अंदर होने चाहिए वह अब हम आपके साथ सांझा करने वाले हैं।

  • इसके लिए जो सबसे पहला गुण आपके अंदर होना चाहिए वह है कंप्यूटर व मोबाइल की अच्छे से समझ। अब डिजिटल मार्केटिंग का सारा खेल ही इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स से होता है और यदि आपको इसकी अच्छे से समझ ही नहीं है तो सारी मेहनत बेकार चली जाएगी।
  • इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स के साथ साथ आपको इंटरनेट और उसकी दुनिया की भी अच्छे से समझ होनी चाहिए अर्थात आपको इंटरनेट अच्छे से सर्फ़ करना आना चाहिए। किस चीज़ को कैसे ढूंढा जाता है और उसका कैसे इस्तेमाल किया जाता है, यह आपको पता होना चाहिए।
  • सोशल मीडिया की भी अच्छे से जानकारी आपको होनी चाहिए। अब इसका अर्थ यह नहीं है कि आपको बस सोशल मीडिया पर पोस्ट करना आता है और दूसरों से बात करना तो आपको इसकी समझ हो गयी। बल्कि तरह तरह की सोशल मीडिया किस तरह से काम करती है, उनका एल्गोरिथम क्या है और वहां कैसे पैसा कमाया जाता है, इसकी जानकारी आपको होनी चाहिए।
  • आपको प्रोडक्ट्स व सर्विसेज के बारे में भी अच्छी समझ होनी चाहिए अर्थात किसी प्रोडक्ट का क्या गुण है और क्या नुकसान, इसका आंकलन करना आपको आना चाहिए।
  • आपको लोगों से बातचीत का गुण भी होना चाहिए जिसे हम संचार कौशल भी कह सकते हैं। यह भी डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने और उसमें अपना करियर सेट करने में अहम भूमिका निभाता है।

डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने के लिए क्या चाहिए? (Digital marketing course ke liye kya karna padta hai)

अब जब आपको डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करना शुरू करना है तो उससे पहले आपके पास कुछ चीज़ों का होना जरुरी हो जाता है। उदाहरण के तौर पर यदि आपके पास मोबाइल फोन तो है लेकिन वह स्मार्ट फोन नहीं है तो फिर आप कैसे ही इस क्षेत्र में आगे बढ़ सकते हैं। तो इसके लिए जो सबसे पहली जरुरत है वह है एक बढ़िया सा स्मार्ट फोन जिसकी सहायता से आप डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स सीख सकते हैं या उसमें एक्सपेरिमेंट कर सकते हैं।

अब इसी के साथ ही यदि आपके पास बढ़िया सा कंप्यूटर या लैपटॉप है तो यह बहुत ही अच्छी बात कही जाएगी। जो लोग डिजिटल मार्केटिंग में छोटा मोटा काम कर रहे हैं उनके पास यह ना भी हो तो चल जाएगा लेकिन यदि आपको डिजिटल मार्केटिंग में प्रोफेशनल तरीके से काम करना है तो उसके लिए आपके पास मोबाइल के साथ साथ लैपटॉप या कंप्यूटर का होना आवश्यक है। इसी के साथ ही एक बढ़िया सा इंटरनेट कनेक्शन भी बहुत ही ज्यादा जरुरी हो जाता है क्योंकि डिजिटल मार्केटिंग का सारा काम ही ऑनलाइन हुआ करेगा जिसके लिए इंटरनेट की जरुरत पड़ेगी।

डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने के लिए आयु सीमा (Digital marketing course age limit in Hindi)

अब यदि आप अपनी आयु को लेकर चिंतित हैं और यह सोच रहे हैं कि क्या इसे एक निश्चित आयु सीमा के बाद ही किया जा सकता है तो आज से ही इसकी चिंता का त्याग कर देंगे तो सही रहेगा। वह इसलिए क्योंकि डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने के लिए आयु की कोई सीमा नहीं होती है और ना ही यह कभी हो सकती है। एक टीनएज बच्चे से लेकर अधेड़ उम्र का कोई भी व्यक्ति डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स कर सकता है और उम्र के किसी भी पड़ाव पर इसमें अपना करियर बना सकता है।

ऐसे में आप चाहे अभी स्कूल में पढ़ रहे हो या कॉलेज से डिग्री ले रहे हो या फिर किसी अन्य क्षेत्र में नौकरी या व्यापार कर रहे हो या घरेलू कामकाज करती हो या कुछ और, हर कोई डिजिटल मार्केटिंग के क्षेत्र में अपना करियर बना सकता है और इसका कोर्स कर सकता है।

डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने के लिए शैक्षणिक योग्यता (Digital marketing course ke liye qualification)

इसके बारे में आपको ऊपर इसकी आयु सीमा के बारे में पढ़कर ही आईडिया हो गया होगा कि इसके लिए किसी तरह की शैक्षणिक योग्यता की भी जरुरत नहीं होती है। अब यदि कोई भी व्यक्ति और किसी भी तरह का काम कर रहा मनुष्य डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स कर सकता है तो निर्धारित तौर पर उसमें शैक्षणिक योग्यता कैसे एक मापदंड हो सकता (Digital marketing course qualification in Hindi) है।

हालाँकि यदि आप बारहवीं कक्षा पास किये हुए हैं तो ज्यादा अच्छा रहता है। कहने का अर्थ यह हुआ कि आप किसी भी उम्र में या फिर कितने भी पढ़े हो, उसमें आप डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स तो कर सकते हैं लेकिन उसके बाद काम मिलना इतना आसान नहीं होता है। अक्सर कंपनियां या व्यवसाय उन लोगों को अपने यहाँ काम पर रखना पसंद करते हैं जिन्होंने कम से कम बारहवीं कक्षा तक की पढ़ाई की हुई हो या ग्रेजुएशन की हुई हो।

डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स कहाँ से करें? (Digital marketing course kaha se kare)

अब आती है बारी डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स किये जाने की। आप सोच रहे होंगे कि इसके लिए आपको किसी कॉलेज या यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेना होगा और 3 से 4 साल की पढ़ाई करके उसमें डिग्री लेनी होगी तो आप गलत हैं। कहने का अर्थ यह हुआ कि आज भी किसी भी यूनिवर्सिटी या कॉलेज में डिजिटल मार्केटिंग की कोई डिग्री नहीं दी जाती है और जब डिग्री ही नहीं दी जाती है तो फिर इसमें किसी कॉलेज में एडमिशन लेने वाली बात ही कहाँ से आ गयी।

इसके लिए आपको ऑनलाइन व ऑफलाइन कई तरह के कोर्स मिल जाएंगे जो डिजिटल मार्केटिंग के तरह तरह के क्षेत्रों से संबंधित होंगे। अब इसमें आप चाहें तो सोशल मीडिया मार्केटिंग में कोर्स कर सकते हैं या फिर सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन या किसी अन्य क्षेत्र में। यह ध्यान रखें कि डिजिटल मार्केटिंग एक बहुत ही बड़ा क्षेत्र है और इसमें अलग अलग क्षेत्रों के बारे में जानकारी देने और सीखाने के लिए अलग अलग कोर्स करवाए जाते हैं।

आपको इसके लिए ऑनलाइन भी कई तरह के साधन मिल जाएंगे जो अलग अलग टाइम पीरियड के लिए अलग अलग फीस के साथ डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करवा रहे होंगे। वहीं आपको कई ऐसे इंस्टीट्यूट या कोचिंग सेंटर या कॉलेज और यूनिवर्सिटी भी मिल जायेंगे जो अपने यहाँ डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करवाने की सुविधा देते होंगे। आपको बस सही इंस्टीट्यूट चुनना होगा और उसके बाद वहां से डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करना होगा।

डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स कितने समय का होता है? (Digital marketing course kitne din ka hota hai)

यह प्रश्न भी बहुत लोगों के दिमाग में घूमता रहता है कि यदि वे डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करना शुरू करेंगे तो उसमें कितना तक समय लग सकता है। तो यह हम आपको पहले ही स्पष्ट कर दें कि इसके लिए कोई निर्धारित समय सीमा नहीं होती है और यह पूर्ण रूप से आप पर ही निर्भर करता है कि आप इसके लिए कितने समय वाला कोर्स चुन रहे (Digital marketing course kitne mahine ka hai) हैं।

अब डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स तो एक महीने का भी होता है और एक साल का भी। सामान्य तौर पर इसे 3 महीने, 6 महीने, 1 वर्ष और 2 वर्ष के बीच में विभाजित किया गया होता है। तो आपको अपने करियर के अनुसार जो भी कोर्स सही लगता है और आपको इसमें जितनी भी जानकारी लेनी हो, उसी के अनुसार ही आप डिजिटल मार्केटिंग के कोर्स का चुनाव कर सकते (Digital marketing course kitne year ka hota hai) हैं।

डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने की फीस कितनी है? (Digital marketing course fees in Hindi)

अब जब आप डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने जा रहे हैं तो उसमें एक और महत्वपूर्ण प्रश्न है और वह है इसकी फीस का। तो आपको यह भी चिंता करने की जरुरत नहीं है क्योंकि इसमें भी आपको कई तरह की स्कीम मिल जाएगी। कोई इंस्टीट्यूट आपको 5 से 10 हज़ार में भी डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करवा देगा तो कोई इसके लिए 50 से 60 हज़ार रुपये भी माँग सकता (Digital marketing course karne me kitna paisa lagta hai) है।

हालाँकि यह पूर्ण रूप से उस इंस्टीट्यूट के द्वारा आपको प्रदान की जा रही सुविधाओं, डिजिटल मार्केटिंग के कोर्स की समय सीमा, उसके सर्टिफिकेट और उसकी मार्केट में वैल्यू पर निर्भर करता है। ऐसे में आप जितने का चाहें उतने का ही डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स कर सकते हैं। यह 5 हज़ार से शुरू होकर 2 लाख तक का हो सकता है।

डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने के फायदे (Digital marketing course ke fayde in Hindi)

अंत में हम आपको इसके बारे में भी जानकारी दे देते हैं कि यदि आप डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स कर लेते हैं तो उससे आपको क्या कुछ फायदे देखने को मिल सकते हैं। आइये जाने डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने के प्रमुख (Digital marketing course benefits in Hindi) लाभ।

  • आज के समय में आप चाहे कोई भी कंपनी ले लीजिये, फिर चाहे वह छोटी हो या बड़ी, उसे अपने बनाये प्रोडक्ट या सर्विस का प्रचार प्रसार करने के लिए अच्छे लोगों की जरुरत होती है जिन्होंने डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स किया हुआ हो। ऐसे में यदि आप सही जगह से डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स कर लेते हैं और अच्छी खासी जानकारी ले लेते हैं तो आपको नौकरी मिलने में कोई मुश्किल नहीं होगी।
  • इसी के साथ ही आपको हर दिन के साथ कुछ नया सीखने को मिलता रहेगा क्योंकि इंटरनेट के इस युग में हर दिन नयी तकनीक आती जा रही है। तो आप नयी नयी तकनीक को सीखकर अपने करियर को एक नयी उड़ान दे सकते हैं।
  • इसमें आप घर बैठे काम भी ले सकते हैं क्योंकि डिजिटल मार्केटिंग का लगभग सारा काम ऑनलाइन ही होता है जिसे घर बैठे मोबाइल या कंप्यूटर के माध्यम से किया जा सकता है। तो आपको कहीं पर जाने की भी जरुरत नहीं होगी और आपका काम बनता चला जाएगा।
  • यदि आपका खुद का कोई प्रोडक्ट है या आप किसी तरह की सर्विस प्रदान करते हैं तो आप उसका प्रचार प्रसार भी डिजिटल मार्केटिंग के माध्यम से कर सकते हैं और अपने बिज़नेस में चार चांद लगा सकते हैं।
  • इसमें काम करने का कोई एक क्षेत्र नहीं होता है बल्कि आपके सामने तरह तरह के क्षेत्र में काम करने की सुविधा होती है। ऐसे में यदि आपको किसी क्षेत्र में काम अच्छे से समझ नहीं आ रहा है तो आप किसी अन्य क्षेत्र में काम करना शुरू कर सकते हैं। यह भी डिजिटल मार्केटिंग का एक बहुत ही बढ़िया फायदा होता है।

इस तरह से डिजिटल मार्केटिंग के बस यही पांच फायदे ही नहीं है बल्कि इसमें हर दिन के साथ फायदे भी बढ़ते ही जा रहे हैं। इनका सही से पता आपको तब चलेगा जब आप डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करके उसमें काम करना शुरू कर देंगे।

download app

डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स कैसे करें – Related FAQs 

प्रश्न: डिजिटल मार्केटिंग कोर्स करने के लिए क्या करना पड़ता है?

उत्तर: डिजिटल मार्केटिंग के कोर्स के लिए क्या कुछ योग्यता चाहिए इसकी पूरी जानकारी आपको यह लेख पढ़ कर आसानी से समझ आ जायेगी।

प्रश्न: डिजिटल मार्केटिंग में पढ़ाई के लिए क्या-क्या है?

उत्तर: डिजिटल मार्केटिंग में सोशल मीडिया मार्केटिंग, कंटेंट मार्केटिंग, सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन, सर्च इंजन मार्केटिंग, एफिलिएट मार्केटिंग इत्यादि कोर्सेज कर सकते हो और बाकी जानकारी आपको ऊपर का लेख पढ़ कर मिल जायेगी।

प्रश्न: डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स कितने महीने का होता है?

उत्तर: डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स 3 महीने, 6 महीने, 1 वर्ष और 2 वर्ष का हो सकता है।

प्रश्न:  क्या मैं 3 महीने में डिजिटल मार्केटर बन सकता हूं?

उत्तर: हां, आप चाहो तो 3 महीने का डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करके डिजिटल मार्केटर बन सकते हो।

तो इस तरह से इस लेख के माध्यम से आपने जाना कि डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स आप कैसे कर सकते हो। साथ ही आपने डिजिटल मार्केटिंग के कोर्स के बारे में अन्य जानकारी भी इस लेख के माध्यम से जान ली है जैसे कि डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने के लिए क्या कुछ योग्यता चाहिए होती है यह कितने साल का कोर्स होता है इसकी फीस कितनी होती है इस कोर्स को करने के क्या कुछ फायदे देखने को मिलते हैं इत्यादि। आशा है कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख पसंद आया होगा।

लविश बंसल
लविश बंसल
लविश बंसल वर्ष 2010 में लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में प्रवेश लिया और वहां से वर्ष 2014 में बीटेक की डिग्री ली। शुरुआत से ही इन्हें वाद विवाद प्रतियोगिता में भाग लेना या इससे संबंधित क्षेत्रों में भाग लेना अच्छा लगता था। इसलिए ये काफी समय से लेखन कार्य कर रहें हैं। इनके लेख की विशेषता में लेख की योजना बनाना, ग्राफ़िक्स का कंटेंट देखना, विडियो की स्क्रिप्ट लिखना, तरह तरह के विषयों पर लेख लिखना, सोशल मीडिया कंटेंट लिखना इत्यादि शामिल है।
WordPress List - Subscription Form
Never miss an update!
Be the first to receive the latest blog post directly to your inbox. 🙂

Leave a Comment