दिल्ली विधवा पेंशन योजना ऑनलाइन आवेदन, पात्रता, दस्तावेज

दिल्ली विधवा पेंशन योजना ऑनलाइन, आवेदन दिल्ली विधवा पेंशन योजना 2020 कितनी मिलती हैं आवेदन फॉर्म, योग्यता, दस्तावेज़ की जानकारी, Delhi Widow Pension Yojana Amount Status Form Eligibility Documents last Date.

ज्यादातर परिवारों में कमाने वाला सदस्य पुरूष ही होता है। ऐसे में उसके मरने के पश्चात उसके परिवार को आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ता है। कई जगह पुरूष और महिला दोनों सदस्य कमाते हैं, लेकिन पुरूष की मृत्यु के पश्चात एक सदस्य की आमदनी कम रह जाने से परिवार का गुजारा मुश्किल से हो जाता है। दोस्तों, दिल्ली में भी ऐसे परिवार बहुत हैं, जहां पुरूष की मृत्यु के पश्चात उसकी विधवा को आर्थिक मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

ऐसे में उसकी सहायता के उद्देश्य से दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने विधवा पेंशन शुरू की है। यह योजना क्या है? इसका लाभार्थी कौन हो सकता है? योजना के तहत कितनी सहायता राशि प्रदान की जाती है? ऐसे ही तमाम सवालों का जवाब आज हम इस पोस्ट के माध्यम से देंगे। उम्मीद है कि यह पोस्ट आपके लिए मददगार साबित होगी। आइए, शुरू करते हैं-

दिल्ली विधवा पेंशन योजना क्या है?

दोस्तों, आपको बता दें कि दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने 12 दिसंबर, 2018 में विधवा पेंशन योजना की शुरूआत की थी। दिल्ली सरकार का महिला बाल विकास मंत्रालय इस योजना का संचालन कर रहा है। इस योजना के अंतर्गत पात्र महिला को ढाई हजार यानी 2500 रूपये की पेंशन राशि प्रतिमाह मिलेगी, जो सीधे उसके बैंक खाते में भेजी जाएगी। आपको यह भी बता दें कि पेंशन की यह राशि लाभार्थी को हर महीने नहीं दी जाती, बल्कि पेंशन की राशि तिमाही लाभार्थी महिला के खाते में प्रति तीन माह में भेजी जाती है।

दिल्ली विधवा पेंशन योजना ऑनलाइन आवेदन, पात्रता, दस्तावेज

मसलन अप्रैल, मई, जून की पेंशन महिला के खाते में जुलाई में जाएगी। इसी तरह जुलाई, अगस्त, सितंबर की पेंशन लाभार्थी महिला के खाते में अक्तूबर में पहुंचेगी और इसी तरह अक्तूबर, नवंबर, दिसंबर की पेंशन जनवरी माह में महिला के खाते में जाएगी और जनवरी, फरवरी और मार्च माह की पेंशन महिला को अप्रैल के महीने में एक साथ मिलेगी। प्रति तीन माह में राशि हाथ आने से यह फायदा है कि हाथ में पैसा आता दिखता है। इसे किसी जरूरत के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

दिल्ली विधवा पेंशन योजना डिटेल्स –

योजना का नाम विधवा पेंशन योजना (Widow Pension)
राज्य दिल्ली
लाभार्थी विधवा और निराश्रित महिला
लाभ का प्रकार पेंशन योजना के माध्यम से वित्तीय सहायता प्रदान करना
हेल्पलाइन नंबर 1076 / 011-23935730
आधिकारिक वेबसाइट edistrict.delhigovt.nic.in

विधवा पेंशन योजना का लाभार्थी कौन हो सकता है –

साथियों, अब हम आपको बताएंगे कि इस दिल्ली विधवा पेंशन योजना का लाभार्थी कौन हो सकता है। यानी इस योजना का पात्र कौन है। आप जान लीजिए कि बेसहारा महिलाएं, जैसे विधवा और तलाकशुदा इस योजना के लाभ के दायरे में आएंगी। साथ ही आपको यह भी बता दें कि दिल्ली सरकार की ओर से शुरू की गई इस विधवा पेंशन योजना का लाभ दिल्ली की केवल उन्हीं महिलाओं को मिलेगा, जिनकी वार्षिक आय एक लाख रूपये से कम है। आइए, आपको इस योजना का लाभार्थी होने की मुख्य मुख्य शर्तें बता दें। यह इस प्रकार से हैं-

  • इस योजना का पात्र होने की पहली शर्त यह है कि लाभार्थी महिला दिल्ली की निवासी हो। यदि ऐसा नहीं है तो वह कम से कम पांच साल दिल्ली में रह चुकी हो। महिला को इसका प्रमाण देना होगा।
  • बेशक इस योजना का नाम विधवा पेंशन है, लेकिन इसमें न केवल विधवा बल्कि परित्यक्ता यानी पति द्वारा छोड़ी गई महिलाओं को भी लाभ का प्रावधान किया गया है। इन बेसहारा महिलाओं को भी पेंशन के रूप में ढाई हजार रूपये की समान राशि मिलेगी।
  • योजना का लाभ केवल न्यूनतम 18 और अधिकतम 59 वर्ष की विधवा/बेसहारा महिलाओं को मिलेगा।
  • वार्षिक आय एक लाख रूपये से कम वाली महिलाओं को ही योजना का लाभ मिलेगा।
  • विधवा पेंशन योजना का लाभ केवल उन्हीं महिलाओं को मिलेगा, जो पहले से किसी अन्य योजना का लाभ न ले रही हों या उन्होंने किसी अन्य पेंशन योजना के तहत लाभ न लिया हो।

इस तरह स्पष्ट है कि प्रत्येक विधवा महिला को दिल्ली विधवा पेंशन का लाभ नहीं मिलेगा। केवल उन्हीं विधवा और बेसहारा महिलाओं को इस योजना का लाभ मिलेगा, जो कि दिल्ली सरकार की ओर से निर्धारित अर्हता पूरी करती हों।

योजना का लाभ लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज –

दोस्तों, आइए अब आपको बता दें कि दिल्ली विधवा पेंशन योजना का लाभ लेने के लिए आपके पास कौन कौन से आवश्यक दस्तावेज होने चाहिए। यह इस प्रकार से हैं-

  • लाभार्थी महिला का अपना एक बैंक खाता हो। जैसा कि हम पहले ही बता चुके हैं कि पेंशन राशि सीधे लाभार्थी महिला के खाते में जाएगी, लिहाजा लाभार्थी महिला का बैंक खाता हो।
  • योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी महिला का आधार कार्ड या वोटर आईडी कार्ड आवश्यक है। रजिस्ट्रेशन फाॅर्म में इसका नंबर डालना आवश्यक होगा।
  • योजना एक निर्धारित आयु वर्ग की महिलाओं के लिए है। ऐसे में उन्हें उम्र संबंधी प्रमाण के तौर पर एज प्रूफ भी देना होगा। इसी से उनकी उम्र का सत्यापन किया जाएगा।
  • आवेदक महिला का दिल्ली का निवासी होना आवश्यक है, लिहाजा उसे अपना निवास प्रमाण पत्र भी देना होगा।
  • योजना एक निश्चित आय वर्ग की महिलाओं के लिए ही लिए है, ऐसे में उसे अपना पारिवारिक आय प्रमाण पत्र भी देना होगा, क्योंकि इसी से उसकी आय का सत्यापन हो सकेगा।
  • लाभार्थी महिला को एक घोषणा पत्र भी लगाना होगा, जिसके जरिये वह यह घोषित करेगी कि वह इससे पूर्व किसी भी पेंशन योजना में शामिल नहीं है। यदि महिला पहले से ही किसी पेंशन योजना की लाभार्थी है तो उसे इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

साथियों, आपको यह भी स्पष्ट कर दें कि यदि महिला इसमें से कोई भी आवश्यक दस्तावेज मुहैया नहीं करा पाती तो उसका आवेदन निरस्त हो जाएगा।

दिल्ली विधवा पेंशन योजना के लिए आवेदन ऐसे करें?

प्रत्येक सरकारी योजना की तरह इस दिल्ली विधवा पेंशन योजना का लाभ लेने के लिए भी एक पूर्व निर्धारित प्रक्रिया है। लाभार्थी महिला को इस प्रक्रिया का पालन करना होगा। यह प्रक्रिया बेहद आसान है। हम आपको बताएंगे कि आप इस प्रक्रिया का पालन कर योजना के लिए आवेदन कैसे कर सकते हैं। दोस्तों, यह स्टेप्स इस प्रकार से हैं-

  • सबसे पहले आपको योजना की वेबसाइट https://edistrict.delhigovt.nic.in पर जाना होगा। आप यहाँ क्लीक करके डायरेक्ट भी जा सकतें हैं। 
  • यदि आपका पोर्टल पर पहले से अकाउंट नही है, तो आप दिल्ली e-district पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कैसे करें?  से स्टेप बाय स्टेप जानकारी लेकर अपना अकाउंट बना सकते हैं। 
  • यहां आपके सामने एक पेज खुलेगा। यहां आप New User के option पर क्लिक करें। इसके बाद आपके सामने एक फाॅर्म खुल जाएगा।

[रजिस्ट्रेशन] दिल्ली e-district पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कैसे करें? Delhi e-district Portal Registration In Hindi

  • इसमें डाॅक्यूमेंट टाइप के drop down बाॅक्स में option भरें। इसके बाद डाॅक्यूमेंट का नंबर और captcha भरकर next के option पर क्लिक करें।

[रजिस्ट्रेशन] दिल्ली e-district पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कैसे करें? Delhi e-district Portal Registration In Hindi

  • ऐसा करते ही आपके सामने एक रजिस्ट्रेशन फाॅर्म खुलेगा। आपके इसमें पूछी गई सभी जानकारी को सही सही भरें। जानकारी भरने के बाद check भी कर लें।
  • फाॅर्म भरने के बाद submit के option पर क्लिक कर दें।
  • यदि आप पुराने यूजर हैं तो login पर क्लिक करें और यूजर आईडी, पासवर्ड तथा कैप्चा भरें। इस तरह से आपका रजिस्ट्रेशन पूरा हो जाएगा।

अन्य प्रदेशों में भी विधवा पेंशन से हो रही महिलाओं की आर्थिक मदद –

साथियों, आपको बता दें कि केवल दिल्ली सरकार ने ही विधवा पेंशन के माध्यम से विधवा और बेसहारा महिलाओं की आर्थिक मदद को कदम बढ़ाया हो, ऐसा नहीं है। उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड जैसे तमाम प्रदेशों में विधवा महिलाओं के लिए विधवा पेंशन का प्रावधान किया गया है। सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के तहत प्रदेश सरकारें इस तरह की योजनाओं का शुभारंभ और संचालन करती हैं। अधिकांश स्थानों पर समाज कल्याण या महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के तत्वावधान में यह योजनाएं चलाई जाती हैं। इस तरह की योजनाओं का मकसद महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाना भी होता है।

इसके साथ ही सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना तो इन योजनाओं का प्रमुख उद्देश है ही। बहुत सी जगह ऐसा होता है कि योजनाओं के राशि वितरण में घोटाले की बात भी सामने आती है, लेकिन आनलाइन आवेदन शुरू हो जाने के बाद से इस तरह के घोटाले बेहद कम हो गए हैं। दूसरे डीबीटी या Direct Benefit Transfer की प्रक्रिया शुरू होने से अनियमितता जैसे मामले भी बेहद कम हो गए हैं। एक बात जो सब जगह कामन है वो यह कि समाज में विधवाओं और परित्यक्ता महिलाओं को लेकर सोच में अब भी कोई बड़ी तब्दीली नहीं आई है। उन्हें परिवार पर बोझ की तरह समझा जाता है।

Delhi Vidhwa Pension Yojana In Hindi

ऐसे में सरकार की ओर से चलाई जाने वाली इस तरह की सामाजिक सुरक्षा की योजना से उनके जीवन यापन में सहायता हो रही है, इसमें कोई दो राय नहीं है। एक और बात यह भी कि इस तरह की योजनाएं चलाकर सरकार न केवल अपना समाज हित का लक्ष्य पूरा करती है, बल्कि वह अपना वोट बैंक भी सुरक्षित करती हैं। चुनाव के समय उपलब्धियां गिनाने के नाम पर वह इन  योजनाओं के लाभार्थियों की संख्या गिनाती हैं, ताकि सरकार का मानवतावादी चेहरा जनता के सामने रहे और वोट देने के वक्त संबंधित पार्टी के नाम पर मतदाताओं की मुहर लग जाए। केंद्र के साथ ही राज्य सरकारें भी इस राह पर बखूबी चलती हैं और कहने की जरूरत नहीं कि इससे उन्हें लाभ भी होता है।

अंतिम शब्द –

मित्रों, यह सब जानते हैं कि इन दिनों महंगाई आसमान छू रही है। एक निम्न या निम्न मध्यवर्ग से ताल्लुक रखने वाले परिवार की बात करें तो परिवार के सभी सदस्य कमाते हैं, इसके पश्चात ही घर का खर्च चल पाता है। ऐसे में जहां परिवार बड़ा हो और कमाने वाले मुख्य सदस्य की मृत्यु हो चुकी हो, ऐसे में उस परिवार के हालात सहज ही समझे जा सकते हैं। पढ़ाई-लिखाई, दवा दारू से इतर भी बहुत से ऐसे खर्च हैं, जो आवश्यक हैं। जैसे भोजन-पानी पर होने वाला व्यय। ऐसे में विधवा पेंशन के माध्यम से तीन माह में साढ़े सात हजार रूपये की राशि प्राप्त होती है। जो बेशक उंट के मुंह में जीरे के समान है, लेकिन इससे परिवार चलाने में थोड़ी आर्थिक मदद होती है।

दूसरे, दिल्ली सरकार ने दिल्ली विधवा पेंशन योजना में केवल विधवाओं को ही नहीं, बल्कि परित्यक्ता यानी बेसहारा महिलाओं को भी शामिल किया है। इससे योजना के लाभार्थियों का दायरा बढ़ गया है। पति का घर छोड़कर आर्थिक मोर्चे पर जूझ रही महिलाओं के लिए यह पेंशन बहुत मददगार है। कम से कम उसे अपने निजी खर्च के लिए किसी पर निर्भर रहने की आवश्यकता नहीं है। यदि महिला अपने मायके भी लौट आती है तो भी उसे निजी खर्च के लिए किसी के सामने हाथ फैलाने की जरूरत नहीं है। यह पेंशन राशि उसकी मददगार बनती है।

दोस्तों, यह थी दिल्ली विधवा पेंशन योजना के संबंध में जानकारी। यदि आप किसी अन्य विषय पर हमसे जानकारी चाहते हैं तो हमें नीचे दिए गए कमेंट बाक्स में कमेंट करके बता सकते हैं। हमारा पूरा प्रयास आपको वह जानकारी मुहैया कराने का रहेगा। आपकी प्रतिक्रियाओं और सुझावों का हमें हमेशा की तरह इंतजार है। ।।धन्यवाद।।

Spread the love

Leave a Comment