गूगल सर्च हिस्ट्री डिलीट कैसे करें? How To Delete Google History In Hindi

Google search history ko kaise delete karte hain, हमे इंटरनेट पर चाहे कोई भी काम हो या कुछ भी ढूँढना हो तो उसके लिए हम सभी के दिमाग में जिस चीज़ का सबसे ख्याल आएगा वह होगा गूगल। गूगल हमारी (Google search history kaise delete kare) हर समस्या, हर प्रश्न, हर चीज़ का समाधान हैं।

फिर चाहे हमे कुछ खरीदना हो, किसी को ढूँढना हो, कुछ (Google search history ko kaise delete kare) जानकारी प्राप्त करनी हो, किसी वेबसाइट पर जाना हो, बिल का भुगतान करना हो या अन्य को भी काम।

ऐसे में हम सभी की चिंता यह रहती हैं कि हम इंटरनेट पर जो भी कर रहे हैं वह सबकुछ उनकी हिस्ट्री अर्थात गूगल हिस्ट्री में सेव हो जा (Google search history kaise mitaye) रहा है।

ऐसे में यदि हम गूगल सर्च हिस्ट्री को डिलीट करना चाहे तो उसे कैसे करे, यही प्रश्न हमारे दिमाग में घूमता रहता हैं। तो चिंता मत कीजिए आज हम आपको गूगल सर्च हिस्ट्री डिलीट करने के ऊपर पूरी जानकारी देंगे ताकि आप आसानी से और बिना किसी झंझट के गूगल सर्च हिस्ट्री को डिलीट कर सके।

Contents show

गूगल सर्च हिस्ट्री को कैसे डिलीट करते हैं (Google search history ko kaise delete karte hain)

आब इंटरनेट कई उपकारों पर और कई तरह के ब्राउज़र पर इस्तेमाल करते होंगे। यदि उपकारों की बात की जाए तो इसे आप या तो अपने मोबाइल पर इस्तेमाल करते होंगे व दूसरा लैपटॉप या कंप्यूटर पर। और यदि ब्राउज़र की बात को जाए तो (Google search history kaise nikale) व्यक्ति अपनी सुविधा के अनुसार कई तरह के ब्राउज़र पर इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकता है जैसे कि गूगल क्रोम, मोजिल्ला, इंटरनेट एक्स्प्लोरर, ओपेरा इत्यादि।

गूगल सर्च हिस्ट्री डिलीट कैसे करें? How To Delete Google History In Hindi

ऐसे में आज के समय में जिस ब्राउज़र का इस्तेमाल सबसे ज्यादा किया जाता है वह है गूगल क्रोम क्योंकि यह गूगल का ही एक ब्राउज़र है। साथ ही आधे से ज्यादा लोग मोबाइल पर इंटरनेट का इस्तेमाल ज्यादा करते हैं बजाए कि वे लैपटॉप या कंप्यूटर पर इसका इस्तेमाल करें। तो चलिए जानते हैं मोबाइल या कंप्यूटर से गूगल सर्च हिस्ट्री को कैसे साफ करें।

गूगल सर्च हिस्ट्री कैसे सेव होती है? (Google search history kaise dekhe)

गूगल सर्च हिस्ट्री को डिलीट करने से पहले हमारा यह जानना जरुरी हैं कि आपकी यह सर्च हिस्ट्री कैसे सेव होती हैं। इसे हम एक उदाहरण से समझेंगे। मान लीजिए, आपने गूगल पर आज का मौसम सर्च किया और उसके बाद आपके सामने कुछ सर्च रिजल्ट आ गए जिसमें 10 वेबसाइट के लिंक हैं जिन्हें हम 1, 2, 3 … करके नंबर देंगे।

अब इनमें से आपने 2 व 5 नंबर वेबसाइट को खोलकर अपने यहाँ का मौसम का हाल देखा। इसमें जब आप 5 नंबर वेबसाइट देख रहे थे तो आपको यह वेबसाइट अच्छी लगी और आपने इसमें किसी और जगह का भी मौसम देखा जो कि इसका 5.2 नंबर पेज था।

अब आपकी गूगल सर्च हिस्ट्री में जो जो चीज़ सेव हो जाएगी वह होगी –

  • आपने आज का मौसम सर्च किया फिर जो गूगल का पेज खुला वह।
  • उसके बाद आपने 2 नंबर पेज पर क्लिक किया और पेज का लिंक।
  • फिर आपने 5 नंबर पेज पर क्लिक किया और उसका लिंक।
  • फिर आपने 5 नंबर पेज पर उसी का 5.2 नंबर पेज खोला और उसका लिंक।

इस तरह गूगल सर्च हिस्ट्री में आपकी हर एक गतिविधि का पूरा ब्यौरा होता हैं कि आपने इंटरनेट क्या-क्या ढूंढा, क्या-क्या टाइप किया और कहां-कहां गए। इसे एक तरह से आप गूगल का हिडन कैमरा भी कह सकते हैं जो हर पल आप पर नज़र रखता है और उसका रिकॉर्ड तैयार करता रहता है।

गूगल सर्च हिस्ट्री क्या है? (Google search history kya hoti hai)

अभी तक आपने जान लिया कि गूगल सर्च हिस्ट्री आप पर कैसे नज़र रखता है और आपके बारे में हर एक चीज़ का रिकॉर्ड रखता है। अब हम जानेंगे कि इसमें क्या-क्या आता हैं या फिर यह आपके बारे में क्या-क्या चीज़े सेव करके रख सकता हैं।

  • आपने गूगल पर जो भी कुछ ढूंढा है या सर्च किया हैं उस हर चीज़ का रिकॉर्ड।
  • आप गूगल में जिस किसी भी वेबसाइट पर गए हैं उस हर वेबसाइट का लिंक।
  • आपने कहां पर अपना पासवर्ड या यूजर नाम सेव किआ हैं वह सब भी।
  • आपने क्या-क्या डाउनलोड किया हैं उस सब का रिकॉर्ड भी।
  • गूगल फॉर्म या अन्य किसी फॉर्म का डाटा।
  • वेबसाइट की कूकीज जिसे आप कई बार अपनी अनुमति भी देते हैं।
  • Cahched इमेजेज व फाइल्स का डाटा भी।
  • अन्य कोई भी गूगल पर की जा रही गतिविधि।

एक तरह से आप अनुमान लगा लीजिए कि आपने इंटरनेट पर कुछ भी किया अर्थात कुछ भी, वह हर चीज़ गूगल सर्च हिस्ट्री में सेव हो जाएगी। इसलिये आप इसे बस गूगल पर ढूंढने तक ही सीमित ना रखें क्योंकि यह आप पर हर तरीके से नज़र रखता हैं।

हालाँकि आप किसी वेबसाइट के अंदर क्या कर रहे हैं, यह उसके बारे में पता नही लगा पाएगा लेकिन आप वेबसाइट के किस किस लिंक को खोल रहे हैं, उस चीज़ का ब्यौरा यह अपने पास रखेगा। ऐसे में यदि आप गूगल सर्च हिस्ट्री को डिलीट करना चाहे तो वह भी आप आसानी से कर सकते हैं। आइए जाने।

गूगल सर्च हिस्ट्री डिलीट कैसे करे (Google search history kaise delete kare)

गूगल सर्च हिस्ट्री को डिलीट करना बहुत ही आसान हैं और इसे आप अपने हिसाब से कैसे भी और किसी भी तरीके से डिलीट कर सकते हैं। इसलिए आज हम आपके साथ चरण दर चरण तरीके से हर चीज़ को बताएँगे ताकि (Google ki search history clear kaise kare) आप गूगल सर्च हिस्ट्री डिलीट करने के हर एक विकल्प के बारे में विस्तार से जान सके।

यह चरण या तरीके गूगल क्रोम ब्राउज़र को ध्यान में त्रखकर बताये जा रहे हैं लेकिन यदि आप कोई ब्राउज़र भी इस्तेमाल करते हैं तो वहां भी इन्हीं चरणों का ही पालन किया जाता हैं और इनमे कुछ ज्यादा बदलाव नही होता हैं। साथ ही गूगल क्रोम से हिस्ट्री को साफ करने के लिए मोबाइल और कंप्यूटर दोनों में एक ही तरह के चरणों का पालन लिया जाता हैं। आइए जाने।

  • #1. सबसे पहले गूगल क्रोम ब्राउज़र को खोले और उसमे उपरी दाए कोने में दिखाए जा रहे 3 लंबाकार बिंदुओं पर क्लिक करें।
गूगल सर्च हिस्ट्री डिलीट कैसे करें? How To Delete Google History In Hindi
  • #2. मोबाइल व कंप्यूटर दोनों में यह उपरी दाएं कोने में दिखाई देंगे जिस पर क्लिक करने से एक लंबी चौड़ी ड्रापडाउन सूची खुल जाएगी जिसमे आप कई तरह के विकल्प देख सकते हैं।
  • #3. अब इन विकल्प में से आपको दूसरे या तीसरे नंबर पर हिस्ट्री या इतिहास लिखा हुआ बटन मिल जाएगा जिस पर आपको क्लिक करना हैं।
गूगल सर्च हिस्ट्री डिलीट कैसे करें? How To Delete Google History In Hindi
  • #4. मोबाइल से इस पर क्लिक करते ही यह आपको या तो सीधे सर्च हिस्ट्री पर ले जाएगा जबकि कंप्यूटर या लैपटॉप पर यह इस विकल्प की भी एक ड्रापडाउन सूची दिखायेगा जो इसकी साइड में खुल जाएगी। इस सूची में आपको फिर से सबसे ऊपर हिस्ट्री लिखा हुआ दिखाई देगा जिस पर आपको क्लिक करना हैं। अब आप गूगल सर्च हिस्ट्री पहुँच जाएंगे।
  • #5. यदि आपको ऊपर बताये गए विकल्प में से कोई समस्या हैं तो आप सीधे chrome://history/ इस लिंक पर क्लिक कर भी गूगल सर्च हिस्ट्री तक पहुँच सकते हैं।
  • #6. अब वहां आपको एक बहुत ही लंबी चौधी सूची दिखाई देगी जो आपकी गूगल पर हर गतिविधि को दर्शाएगी जैसे कि आपने किस तिथि पर और किस समय क्या किया और क्या ढूंढा, किस पर क्लिक किया इत्यादि।
गूगल सर्च हिस्ट्री डिलीट कैसे करें? How To Delete Google History In Hindi
  • #7. अब आपको मोबाइल पर तो सबसे ऊपर Clear Browsing Data का विकल्प दिखाई देगा जिसे हिंदी में ब्राउज़िंग डाटा साफ करें लिखा होगा। कंप्यूटर पर यह विकल्प बाएं कोने में दिए गए विकल्पों में सबसे नीचे दिखाई देगा।
  • #8. जैसे ही आप क्लियर ब्राउज़िंग डाटा पर क्लिक करेंगे तो यह आपके सामने एक पॉप अप खोल देगा और डाटा को डिलीट करने से पहले आपसे विभिन्न तरह की अनुमतियाँ मांगेगा। जैसे कि आपको किस तरह का डाटा डिलीट करना हैं और कब तक का डिलीट करना हैं। आइए एक-एक करके इसके बारे में भी जाने।

किस तरह की गूगल हिस्ट्री डिलीट करनी है –

  • जैसे ही आप Clear browsing history पर क्लिक करेंगे तो आपके पास एक पॉप अप बॉक्स में दो तरह के विकल्प दिखाई देंगे।
गूगल सर्च हिस्ट्री डिलीट कैसे करें? How To Delete Google History In Hindi
  • इनमे से एक विकल्प होगा Basic व दूसरा Advanced। आइए पहले Basic में दिए गए विकल्पों पर बात करें।
  • बेसिक में आपको तीन तरह के विकल्प दिये जाएंगे जिन पर आपको टिचक मार्क करना हैं या हटाना हैं। यह तीन विकल्प होंगे: Browsing History, Cookies and other site data व Cached images and other files.

Browning history क्या है?

ब्राउज़िंग हिस्ट्री का मतलब हुआ कि आप जो भी गूगल पर सर्च करते हैं या ढूंढते हैं उस चीज़ की हिस्ट्री। जैसे कि हमने आपको ऊपर उदाहरण के स्वरुप में बताया कि आपने गूगल पर जो कुछ भी ढूंढा व जिस भी वेबसाइट पर क्लिक किया वह सब।

इस पर टिक करने से आप अपनी ब्रोविंग हिस्ट्री को साफ कर देंगे। यह आपके द्वारा ढूंढे गए सभी तरह के सर्च रिजल्ट, आपके द्वारा क्लिक की गयी हर वेबसाइट का लिंक इत्यादि को साफ करने में मदद करेगा।

Cookies and other site data क्या है?

यदि आपने कुछ वेबसाइट पर आटोमेटिकलॉग इन किया हुआ हैं तो यह वह सबकुछ डिलीट कर देगी। उदाहरण के तौर पर यदि आपने अपने क्रोम ब्राउज़र पर फेसबुक का यूजर नाम व पासवर्ड सेव करके आटोमेटिक लॉग इन किया हुआ हैं और आप एक ही क्लिक में सीधे अपने फेसबुक प्रोफाइल पेज पर पहुँच जाते हैं तो इस पर क्लिक करने वह लॉग इन से लॉगआउट हो जाएगा।

इसी तरह अन्य किसी वेबसाइट पर भी यदि आपने ऑटोमेटिकली लॉग इन किया हुआ हैं तो वहां सभी जगह से आप आटोमेटिक लॉगआउट हो जाएंगे। साथ ही उस वेबसाइट पर सेव की गयी अन्य जानकारी पर भी अपने आप डिलीट हो जाएगी।

Cached images and other files क्या है?

इन छोटी मोटी चीज़ों पर हम बहुत कम ध्यान देते हैं लेकिन यह होती बहुत कमाल की हैं। दरअसल जब भी हम कोई वेबसाइट खोलते हैं तो वे आपके अनुभव को बेहतर बनाने के लिए वहां की कुछ चीजों को आपके ब्राउज़र में पहले से ही सेव करके रख लेती हैं जिसमें उस वेबसाइट की कुछ फोटोज व फाइल जो हमेशा खुलनी होती हैं वह।

ऐसा करने से जब भी आप उस वेबसाइट को पुनः खोलेंगे तो वह खुलने में कम समय लेगी और आपका उस वेबसाइट पर अनुभव बेहतर रहेगा।

ऐसे में यदि आप cached इमेजेज व फाइल्स को डिलीट कर देते हैं तो आपकी गूगल सर्च हिस्ट्री तो डिलीट हो जाएगी लेकिन अगली बार से वह वेबसाइट खुलने में अपेक्षाकृत ज्यादा समय ले सकती हैं।

  • अब बात करते हैं बेसिक के साथ दिख रहे एडवांस्ड विकल्प की। इसमें आपको ऊपर दिए गए तीन विकल्प तो दिखाई देंगे ही लेकिन साथ में कुछ अन्य विकल्प भी दिखाई देंगे। तभी इसका नाम एडवांस्ड दिया गया हैं मतलब बेसिक से कुछ ज्यादा।
  • इसमें आपको जो विकल्प एक्स्ट्रा दिखाई देंगे वह होंगे Download history, Passwords and other sign in data, Autofill form data, Site setting व Hosted app data. आइए एक एक करके इनके बारे में भी जाने।

Download history क्या है?

जैसा कि नाम से ही स्पष्ट हैं कि यह आपके द्वारा गूगल पर किसी भी वेबसाइट से डाउनलोड की गयी हर एक चीज़ की हिस्ट्री होगी फिर चाहे वह कोई फोटो हो, विडियो हो या कोई फाइल या अन्य कुछ भी। ऐसे में आप चाहते हैं कि आपके द्वारा डाउनलोड की गयी हिस्ट्री को कोई ना देख पाए तो आप इसे डिलीट कर सकते हैं।

यहाँ पर इस बात का ध्यान रखे कि वह डाउनलोड की गयी चीज़ को नही डिलीट करेगी बल्कि बस उसकी हिस्ट्री को डिलीट करेगी। इसलिए आप बेफिक्र होकर इसे डिलीट कर सकते हैं।

Passwords and other sign in data क्या है?

ऊपर हमने जाना कि कूकीज को डिलीट करने से आप हर वेबसाइट से आटोमेटिक रूप में लॉगआउट हो जाएंगे और आपको फिर से लॉग इन करना पड़ेगा लेकिन इसका अर्थ यह नही हुआ कि उस वेबसाइट से आपकी जानकारी डिलीट हो गयी। कहने का तात्पर्य यह हुआ कि आपका यूजर नाम व पासवर्ड भी भी सेव रहेगा।

जब आप फिर से फेसबुक खोलेंगे तब आप पाएंगे कि आप उसमे लॉग इन तो नही हैं लेकिन आपका यूजर नाम और पासवर्ड अभी भी सेव हैं और इसे वापस भरने की आवश्यकता नही। इसलिए आपको बस लॉग इन पर क्लिक करना होगा और आप पुनः लॉग इन हो जाएंगे।

जबकि Passwords and other sign in data को डिलीट कर देने से आपकी यह चीज़े भी डिलीट हो जाएँगी। इसके बाद आप जब भी कोई वेबसाइट खोलेंगे तो आपको फिर से अपना यूजर नाम व पासवर्ड डाटा डालने की आवश्यकता होगी।

ऐसे में इस विकल्प का इस्तेमाल करने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि आपने जहाँ जहाँ अपने ब्राउज़र से आटोमेटिक रूप से लॉग इन किया हुआ हैं वहां के पासवर्ड व अन्य जानकारी आपको याद है या नही। हम में से बहुत की यह आदत होती हैं कि हम एक बार पासवर्ड डालने के बाद उसे सेव कर देते हैं और फिर उसे भूल जाते हैं।

ऐसे में यदि आप इसे डिलीट कर देंगे तो बाद में आपको ही असुविधा होगी। इसलिए इसे तभी डिलीट करे जब आपको अपनी सभी लॉग इन डिटेल के बारे में पता हो।

Autofill form data क्या है?

आपने बहुत बार यह देखा होगा कि जब भी आप कोई फॉर्म या कोई ऐसी जानकारी भरते हैं जहाँ पर आपसे आपका नाम, घर का पता, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी इत्यादि जानकारी पूछी जाती हैं तो बस आपका नाम टाइप करते ही बाकि सभी जानकारी अपने आप ही भर जाती हैं और आपको बार बार उसे टाइप करने की आवश्यकता नही पड़ती।

दरअसल गूगल में आपकी बेसिक जानकारी जैसे कि आपका नाम, पता, फोन नंबर, लिंग, ईमेल आईडी इत्यादि जानकारी पहले से ही भरी हुई होती हैं। फिर जब भी आप कोई फॉर्म भरते हैं या जहाँ भी ऐसी जानकारी आपसे मांगी जाती हैं, वहां यह स्वतः ही भर जाती हैं। यदि आप इसे डिलीट कर देंगे तो अगली बार से आपको यह सब जानकारी पुनः टाइप करके भरनी होगी।

Site setting क्या है?

आप ना जाने कितनी ही वेबसाइट खोलते होंगे लेकिन गूगल भी एक वेबसाइट हैं जो आपके हिसाब से काम करती हैं। इसमें गूगल सर्च हिस्ट्री के अलावा अन्य कई तरह की सेटिंग्स होती हैं जिन्हें आप अपने हिसाब से सेट करके रखते हैं। इसके अलावा आप जो भी वेबसाइट खोलते हैं उनमे भी आप किसी ना किसी तरह की सेटिंग करके रखते होंगे ताकि वह आपके अनुसार काम करें।

ऐसे में इस चीज़ को डिलीट कर देने हर वेबसाइट पर आपके द्वारा की गयी स्पेसिफिक सेटिंग डिलीट हो जाएगी और फिर वह वेबसाइट अपने मूल रूप में खुलेगी। उसके बाद आपको पुनः उसे अपने हिसाब से चलाने के लिए फिर से सब सेटिंग करनी होगी। इसलिए इस विकल्प को डिलीट करने से पहले भी ध्यान रखें।

Hosted app data क्या है?

जब हम क्रोम पर किसी ऐप का इस्तेमाल करते हैं तो उस ऐप का डाटा भी इसमें सेव हो जाता हैं। ऐसे में यदि हम उस ऐप के डाटा को डिलीट करना चाहे तो इस विकल्प के माध्यम से कर सकते हैं।

  • तो यह थे कुछ विकल्प और उनकी जानकारी जिन्हें आप गूगल सर्च हिस्ट्री के माध्यम से डिलीट कर सकते हैं। इसमें आप अपनी सुविधा के अनुसार किसी भी विकल्प को चुन सकते हैं और उसकी हिस्ट्री को डिलीट कर सकते हैं।
  • अब जब आपने यह चुन लिया हैं कि आपको गूगल सर्च हिस्ट्री में से क्या क्या डिलीट करना हैं तो अब आपके पास अगला विकल्प होगा कि आप इस डाटा को पिछले कितने समय के लिए डिलीट करना चाहते हैं।
  • यह विकल्प आपको Time Range या समय सीमा के नाम से दिखाई देगा। इसमें क्लिक करने पर आपके पास 5 विकल्प होंगे जो होंगे Last hour, Last 24 hours, Last 7 days, Last 4 weeks व All time. आइए इनके बारे में भी जाने।

Last Hour या पिछला घंटा: इस विकल्प का उपयोग करने से आपने पिछले 1 घंटे में जो भी गतिविधि की हैं, उसका डाटा डिलीट हो जाएगा।

Last 24 Hours या पिछले 24 घंटे: इस विकल्प का उपयोग करने से आपने पिछले 24 घंटे या एक दिन में जो भी गतिविधि की हैं, उसका डाटा डिलीट हो जाएगा।

Last 7 Days या पिछले 7 दिन: इस विकल्प का उपयोग करने से आपने पिछले 7 दिन या एक सप्ताह में जो भी गतिविधि की हैं, उसका डाटा डिलीट हो जाएगा।

Last 4 Weeks या पिछले चार हफ्ते: इस विकल्प का उपयोग करने से आपने पिछले 4 हफ्ते या लगभग 1 महीने में जो भी गतिविधि की हैं, उसका डाटा डिलीट हो जाएगा।

All Time या हमेशा: इस विकल्प का उपयोग करने से आपने आज तक जो भी गतिविधि की हैं, उसका डाटा डिलीट हो जाएगा अर्थात सब कुछ साफ (Google search history delete all my activity)।

  • अब बस आपको इनमे से कोई भी एक समय सीमा चुननी हैं और फिर आपको नीचे अंत में दो विकल्प दिखाई देंगे। एक होगा Clear Data और दूसरा होगा Cancel.
  • इसमें क्लियर डाटा में क्लिक करने पर आपने जो भी डाटा डिलीट करने के लिए चुना हैं और जिस भी समय सीमा के लिए चुना हैं वह डिलीट होना शुरू हो जाएगा।
  • यदि आप इसे कैंसिल कर देंगे तो यह पॉप अप बंद हो जाएगा और कुछ भी डिलीट नही होगा।

गूगल सर्च हिस्ट्री को आटोमेटिक कैसे डिलीट करें?

अभी तक आपने सीखा कि आप अपने आप से गूगल सर्च हिस्ट्री को कैसे डिलीट कर सकते हैं लेकिन गूगल इसके अलावा आपको एक विकल्प की सुविधा और देता हैं जिसका उपयोग करने से आपकी गूगल सर्च हिस्ट्री के समय के बाद अपने आप डिलीट होना शुरू हो जाएगी। आइए इसके बारे में भी जान ले।

इसके लिए सबसे पहले आपको इस लिंक पर क्लिक करना होगा https://myactivity.google.com/product/search

यह आपको गूगल के एक पेज पर ले जाएगा जाना पर आपको दो विकल्प दिखाई देंगे। पहला विकल्प होगा Saving to Web and App Activity. इस विकल्प का इस्तेमाल कर आप आने गूगल को यह आदेश दे सकते हैं कि इसके बाद से वह आपकी सर्च हिस्ट्री को सेव ही ना करें।

यह विकल्प ऑटोमेटिकली ऑन होता हैं लेकिन आप इसे ऑफ भी कर सकते हैं। इसके लिए आप इस विकल्प पर क्लिक करें और फिर आपको यह एक अन्य पेज पर ले जाएगा। वहां आपको ऑन के साथ इ एक अन्य विकल्प दिखाई देगा जिस पर लिखा होगा Turn Off. जब आप इस विकल्प पर क्लिक करेंगे तो यह आपको चेतावनी के रूप में एक पॉप अप दिखायेगा और आपसे कहेगा कि इसका इस्तेमाल करने से आपका गूगल पर अनुभव ख़राब रह सकता हैं।

इसलिए इस चेतावानी को ध्यान से पढ़िए और जानिए कि इसे ऑफ कर देने से क्या क्या हो सकता हैं और उसके बाद ही इसे हां कहिये। एक तरह से यह गूगल पर आपकी सर्च हिस्ट्री को pause कर देता हैं अर्थात इसके बाद से आप जो भी गतिविधि करेंगे वह आपके गूगल में सेव नही होगी।

अब बात करते हैं दूसरे विकाप कि जिसका नाम होगा Auto Delete. यह विकल्प नाम से ही दर्शा रहा हैं कि इसका इस्तेमाल करने से आपको अपनी गूगल सर्च हिस्ट्री को डिलीट करने की आवश्यकता नही पड़ेगी और यह अपने आप ही एक समय के बाद आपकी सर्च हिस्ट्री को डिलीट कर दिया करेगा।

यह विकल्प भी ऑटोमेटिकली ऑफ ही रहता हैं लेकिन आप इस पर क्लिक कर इसे ऑन कर सकते हैं। इसके लिए ऑटो डिलीट विकल्प पर क्लिक करें और फिर यह आपको एक नए पेज पर ले जाएगा। वहां पर क्लिक करने से आपको 2 तरह के विकल्प दिखाई देंगे, जो होंगे:

  • Auto-delete activity older than
  • Don’t auto-delete activity

इसमें जिस विकल्प पर पहले से क्लिक होगा वह दूसरे वाला होगा जिसका अर्थ हुआ कि अभी तक आपके क्रोम ब्राउज़र पर कोई भी डाटा आटोमेटिक रूप से डिलीट नही होता हैं। इसलिए यदि आप इसे शुरू करना चाहते हैं तो पहले वाले विकल्प पर क्लिक करें और फिर आपको 3 अन्य विकल्प दिखाई देंगे जो ड्रापडाउन में होंगे, वे होंगे:

  • 3 months
  • 18 months
  • 36 months

इसमें आप जो भी विकल्प चुनकर उसे हां कर देंगे तो इसका अर्थ हुआ कि उस समय के पहले से सब डाटा आपके क्रोम पर साफ हो जाएगा। उदाहरण के तौर पर आपने 3 महीने वाला विकल्प चुनकर हां कर दिया तो इसका अर्थ हुआ कि आपने 3 महीने से पहले जो भी गूगल पर सर्च किया था या जो भी गतिविधि की थी वह सब आटोमेटिक रूप से डिलीट हो जाएगी और आपको बार बार जाकर उसे डिलीट नही करना पड़ेगा। क्यों हैं ना आसान।

प्रश्न: क्या गूगल सर्च हिस्ट्री सेव है?

उत्तर: गूगल सर्च हिस्ट्री हमेशा सेव रहती हैं जब तक कि आप इसे स्वतः डिलीट ना करें या इसे pause ना करें।

प्रश्न: गूगल हिस्ट्री कैसे चेक किया जाता है?

उत्तर: गूगल सर्च हिस्ट्री को आप सेटिंग ओप्तिपों में जाकर हिस्ट्री पर क्लिक कर चेक कर सकते हैं।

प्रश्न: मोबाइल की हिस्ट्री कैसे खोलें?

उत्तर: मोबाइल पर क्रोम ब्राउज़र खोलकर वहां उपरी दाए कोने में तीन बिन्दू दिखेंगे, उस पर क्लिक कर हिस्ट्री विकल्प पर जाया जा सकता हैं।

प्रश्न: पर्सनल सर्च कैसे डिलीट करें?

उत्तर: इसके लिए आप हिस्ट्री वाले विकल्प में जाकर वहां से हर लिंक पर क्लिक कर उसे डिलीट कर सकते हैं।

प्रश्न: गूगल अकाउंट को डिलीट कैसे करते हैं?

उत्तर: इसके लिए मोबाइल की सेटिंग ऑप्शन में जाकर एकाउंट्स पर क्लिक कर वहां से अकाउंट डिलीट कर दे।

प्रश्न: सर्च किए गए को कैसे हटाएं?

उत्तर: इसके लिए हिस्ट्री वाले विकल्प में जाकर वहां से जिस सर्च की गयी चीज़ को हटाना हैं उसके अंत में तीन बिन्दू दिखाई देंगे, उस पर क्लिक कर उसे हटा दे।

Leave a Comment

कंपार्टमेंट के लिए आवेदन कैसे करें? प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना 2023 एमटीपी एक्ट 2021 क्या है? डेट फंड का क्या मतलब होता है? रिकरिंग डिपॉजिट क्या होता है?