साइकिल का बिजनेस कैसे शुरू करें? साइकिल बनाने की मशीन, लागत प्रॉफिट के बारे में जानकारी (Cycle Store Business Plan In Hindi)

Cycle Store Business Plan In Hindi:- क्या आप साइकिल स्टोर खोलने के बारे में विचार कर रहे हैं? क्या आप साइकिल बेचने के काम में हाथ आजमाना (Cycle ka business kaise kare) चाहते हैं? क्या आप साइकिल बेचने के बिज़नेस के बारे में और ज्यादा जानना चाहते हैं और इसी के लिए यहाँ आये हैं? अब यदि आप यहाँ आये ही हैं तो हम आपको निराश करके तो भेजेंगे नही। यहाँ आपको साइकिल स्टोर (Cycle shop kaise khole) से संबंधित हर चीज़ के बारे में जानने को मिलेगा।

ऐसे में आपको साइकिल स्टोर खोलने से पहले इस बिज़नेस के बारे में हर जानकारी लेना आवश्यक हैं। यदि आपको पहले से ही इसके बारे में पूरी जानकारी हो गयी तो (Cycle business in India) फिर आगे चलकर साइकिल स्टोर खोलना बहुत ही आसान होगा। तो चलिए जानते हैं कि साइकिल का स्टोर खोलने के लिए आपको क्या क्या करना पड़ेगा और इसके लिए आपका किन किन चीजों का ध्यान रखना पड़ेगा।

साइकिल का बिज़नेस शुरू करने के बारे में जानकारी (Cycle Store Business Plan In Hindi)

अब यदि आप साइकिल का बिज़नेस शुरू करने जा रहे हैं तो उसके लिए आपको कई तरह की बातो को ध्यान में रखना होगा। कहने का अर्थ यह हुआ कि साइकिल स्टोर खोलना कोई आसान काम नही होता हैं और इसके लिए कई तरह की चीजों को ध्यान में रखना होता है। यदि आप इन्हें पहले से ही अपने दिमाग में नही बैठाएंगे तो फिर आप सही से साइकिल स्टोर भी नही खोल पाएंगे।

साइकिल का बिजनेस कैसे शुरू करें

सबसे पहले तो आपको यह देखना होगा कि आप इसमें कितना पैसा लगा सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि साइकिल स्टोर खोलने के लिए आपको बहुत पैसा निवेश करने की आवस्यकता होगी। इसलिए आप सभी पहलुओं के बारे में प[अहले से ही सोच कर रख लेंगे तो यही आपके लिए सबसे उत्तम रहेगा। आइए जाने आप साइकिल स्टोर खोलने की शुरुआत कैसे कर सकते हैं।

साइकिल स्टोर खोलने के लिए बिज़नेस प्लान (Cycle business plan in Hindi)

अब यदि आप साइकिल बेचने का बिज़नेस करने जा रहे हैं या फिर एक साइकिल स्टोर खोलने का विचार जार रहे हैं तो उसके लिए आपके पास एक मजबूत और सही बिज़नेस प्लान का होना ई आवश्यक हो जाता है। यदि आप बिना बिज़नेस प्लान के ही साइकिल स्टोर खोलेंगे तो इससे ना केवल आपका नुकसान होगा बल्कि आपका बिज़नेस भी बुरी तरह डूब जाएगा।

इसलिए पहले एक बिज़नेस प्लान बनाए। साइकिल स्टोर खोलने के लिए बिज़नेस प्लान में वह सब चीज़े आएँगी जो इसमें आप करने वाले हैं। कहने का अर्थ यह हुआ कि आप साइकिल स्टोर कहां खोलेंगे, उसमे कितनी साइकिल आ सकती हैं, उसमे किस किस तरह की साइकिल आप रखेंगे, उन्हें बेचने के लिए आप क्या क्या कर सकते हैं, किस तरह आप उसमे लाभ कमाएंगे, इत्यादि इत्यादि।

इसलिए साइकिल का स्टोर खोलने से पहले यदि आप एक सही बिज़नेस प्लान बना लेंगे तो यह आपके लिए बहुत सही रहने वाला हैं। एक सही बिज़नेस प्लान की सहायता से आप सही दिशा में आगे बढ़ पाएंगे और आगे की स्ट्रेटेजी बना पाएंगे।

साइकिल का बिज़नेस करने से पहले मार्किट रिसर्च

अब यदि आप साइकिल स्टोर खोलने का सोच रहे हैं तो आपको बिज़नेस प्लान बनाने के साथ साथ मार्किट के बारे में रिसर्च भी करनी होगी। कहने का अर्थ यह हुआ कि यदि आपको मार्किट के बारे में ही सही से नही पता होगा तो फिर आपकी प्रतिस्पर्धी आपको पीछे छोड़ देंगे। इससे ना तो आपको कुछ फायदा होगा बल्कि नुकसान में रहेंगे वो अलग।

इसलिए यदि आप साइकिल स्टोर खोलने जा रहे हैं तो उससे पहले यह अवश्य देख ले कि बाजार में क्या चल रहा हैं, आपसे आसपास और कितने स्टोर हैं जहाँ साइकिल बेचीं जाती हैं या रिपेयर की जाती हैं, बाजार में किस तरह की साइकिल ज्यादा बिक रही हैं, कौन सी साइकिल सही आती हैं और किसमे क्या क्या खराबी आ सकती हैं इत्यादि।

साइकिल के बिज़नेस के लिए जगह का चुनाव

अब जब आपने साइकिल स्टोर खोलने के लिए बिज़नेस प्लान तैयार कर लिया हैं और मार्किट के बारे में भी पता कर लिया हैं तो अगली बारी आती हैं साइकिल स्टोर खोलने के लिए जगह के चुनाव की। यह साइकिल का बिज़नेस शुरू करने के लिए सबसे अहम पड़ाव होगा क्योंकि यही पर ग्राहक आपसे साइकिल खरीदने आएंगे। यदि यह उनकी पहुँच से ज्यादा दूर हुआ या किसी ख़राब इलाके में हुआ तो फिर आपकी साइकिल अच्छी होती हुए भी नही बिकेगी।

इसलिए साइकिल स्टोर खोलने के लिए किसी ऐसी जगह का चुनाव करें जहाँ लोगों का आना जाना आम बात हो। इससे लोगों की नज़र में वहां रखी साइकिल रहेगी और वे इसे खरीदेंगे भी। इसी के साथ इस बात का भी ध्यान रखे कि उसके आसपास कोई अन्य साइकिल स्टोर ना हो अन्यथा ना उसको लाभ होगा और ना ही आपको।

साइकिल स्टोर खोलने के लिए आपको एक बड़ी जगह का चुनाव करना होगा क्योंकि इसमें आपको साइकिल दर्शकों को दिखाने के लिए भी रखनी होगी और अंदर गोदाम में भी। यदि आप चाहते हैं कि आपकी साइकिल ज्यादा बिके तो फिर उसे सही से सजाकर रखना होगा ताकि लोगों की नज़र में यह प्रमुखता से आये और वे इसे खरीदने को लेकर लालायित रहे।

साइकिल स्टोर खोलने के लिए लाइसेंस

अब यदि आप साइकिल स्टोर खोलने जा रहे हैं तो उसके लिए आवश्यक लाइसेंस भी लेने होंगे। यदि आप बिना लाइसेंस के साइकिल स्टोर को खोलेंगे तो आपके ऊपर कानूनी कार्यवाही हो सकती हैं और लेने के देने पड़ सकते हैं। इसलिए आप जो भी काम करने जा रहे हैं उसके लिए समुचित कानूनी प्रक्रिया का पालन करेंगे तो बेहतर रहेगा। ऐसे में आइए जाने साइकिल स्टोर खोलने के लिए आपको क्या क्या लाइसेंस लेने पड़ेंगे:

  • ट्रेड लाइसेंस: आप साइकिल को बेचने का काम शुरू करने जा रहे हैं। तो इसके लिए आपके पास ट्रेडिंग लाइसेंस होना अति आवश्यक हैं। बिना इसे आप एक भी साइकिल नही बेच सकते हैं।
  • MSME नंबर: साइकिल स्टोर का उद्योग MSME के अंतर्गत आता हैं। इसलिए आपको इसका नंबर भी लेना होगा।
  • GST नंबर: अब जब आप साइकिल स्टोर खोने जा रहे हैं तो इसमें आपका GST नंबर ही नही होगा तो फिर आप कैसे ही व्यापार कर पाएंगे। इसलिए GST नंबर भी अनिवार्य रूप से ले लेंगे तो बेहतर रहेगा।
  • स्वयं के डाक्यूमेंट्स: अब साइकिल स्टोर का मालिक तो कोई एक व्यक्ति ही होगा जो आप होंगे। तो आपको भी अपने सभी डॉक्यूमेंट बनवाने होंगे। जैसे कि आधार कार्ड, पैन कार्ड इत्यादि।
  • बैंक खाता: साइकिल स्टोर खोलने के लिए आपके पास एक बैंक खाता भी अनिवार्य रूप से होना चाहिए। बिना इसके आप साइकिल स्टोर तो क्या कोई भी स्टोर नही खोल पाएंगे।
  • IEC कोड: अब यदि आप साइकिल स्टोर खोलने जा रहे हैं तो उसके लोए IEC कोड भी अनिवार्य रूप से ले ले।
  • दुकान के नाम का पंजीकरण: अब यदि आप साइकिल स्टोर खोले या उसे दुकान कहे या कुछ और कहे, आपकी दुकान का कुछ तो नाम होगा ही। आपको अपने दुकान के नाम का भी पंजीकरण करवाना होगा।

तो साइकिल स्टोर खोलने के लिए आपको ऊपर दिए गए लाइसेंस तो अनिवार्य रूप से लेने ही होंगे। इसके अलावा भी आपको अपने राज्य के अनुसार कई तरह के अन्य लाइसेंस लेने पड़ सकते हैं जिसके बारे में आपको स्वयं पता करना पड़ेगा।

साइकिल स्टोर में माल मंगवाए

अब जब आपने साइकिल स्टोर खोलने के लिए जगह देख ली हैं और उसके लिए सब लाइसेंस इत्यादि भी ले लिए हैं तो अगली बारी हैं साइकिल मंगवाने की। यही आपका मुख्य बिज़नेस होगा जिसे लोग खरीदेंगे और आपको लाभ होगा। ऐसे में यदि आप इसी में मात खा गए तो फिर क्या ही लाभ कमाएंगे।

इसलिए सबसे पहले तो आप यह निर्धारित करे कि आप किस ब्रांड की और किस किस तरह की साइकिल मंगेअने जा रहे हैं। कहने का अर्थ यह हुआ कि साइकिल निर्माता कंपनी कई तरह की हैं और उन कंपनी के द्वारा भी कई तरह की और डिजाईन की स्य्क्ले का निर्माण किया जाता है। इसलिए आपको अपने साइकिल के स्टोर में विविधता बनाए रखने के लिए अपने हिसाब से साइकिल का ब्रांड और उसकी बनाई साइकिल का चुनाव करना होगा।

इसमें आपको मिलने वाले मार्जिन, साइकिल की उपलब्धता, ग्राहक की मांग, बाजार की मांग इत्यादि कई कारको को ध्यान में रखना होगा। यदि आप इन सभी चीजों को ध्यान में रखकर ही साइकिल मंगवाएंगे तो ही आप लाभ में रहेंगे। कहने का अर्थ यह हुआ कि यदि आपने किसी ऐसे ब्रांड या डिजाईन की साइकिल मंगवा ली जो आपके इलाके में ज्यादा बिकती ही ना हो तो फिर अप नुकसान में ही रहेंगे और यह साइकिल आपके स्टोर में पड़ी पड़ी ही ख़राब हो जाएगी।

साइकिल की कंपनी के नाम

तो अब आप इस दुविधा में होंगे कि आप साइकिल की कौन कौनसी कंपनी से साइकिल को मंगवा सकते हैं। तो आज हम आपकी यह दुविधा भी दूर कर देंगे। दरअसल साइकिल का निर्माण करने वाली कोई एक कंपनी नही बल्कि कई कंपनियां हैं और इसमें से तो कुछ विश्व प्रसिद्ध भी हैं। इनमे से कुछ नाम हैं:

  • Atlas
  • Hero
  • BSA
  • Avon
  • Giant
  • Hercules
  • Bianchi
  • Ladybird
  • Kross
  • Roadeo
  • Trek
  • Merida
  • Mach City
  • Ridley
  • Firefox
  • Mangoose

इस तरह आपको कई अन्य तरह के ब्रांड की भी साइकिल मिल जाएगी। आपको बस यह देखना होगा कि किस तरह के ब्रांड की साइकिल आपके इलाके में ज्यादा बिकती हैं और उसमे भी लोग किस तरह के डिजाईन की स्य्क्ले ज्यादा खरीदना पसंद करते हैं।

साइकिल के डिजाईन

अब जब आपने साइकिल की कंपनी के कुछ ब्रांड निर्धारित कर लिए हैं और आप सोच रहे हैं कि आपका काम ख़त्म हो गया तो जरा रुकिए। आपका काम यही ख़त्म नही हुआ हैं। अब आपको साइकिल के डिजाईन में भी पसंद करना होगा। कहने का अर्थ यह हुआ कि इन सभी ब्रांड की कई तरह की साइकिल आती हैं। इनमे से कुछ किसी काम के लिए होती हैं तो कुछ किसी काम के लिए।

साथ ही इन्हें डिजाईन के अनुसार भी विभाजित किया जा सकता हैं। ऐसे में यह आपको देखना होगा कि आप किस तरह की साइकिल ज्यादा मंगवाएंगे और किस तरह की कम। आपको बच्चों के अनुसार अलग, पुरुषों व महिलाओं के अनुसार अलग साइकिल, रंगों के अनुसार भी और उनके काम के हिसाब से भी अलग अलग तरह की साइकिल मंगवानी होगी।

कोई आपके गियर वाली साइकिल मांगने आएगा तो कोई ऐसी जो एकदम सामान्य हो। कोई आपसे पैडल वालीं साइकिल मांगेगा तो कोई ट्रेक के लिए। इसलिए आपको सभी तरह की साइकिल तो रखनी ही होगी लेकिन यह देखना होगा कि किस तरह की साइकिल ज्यादा रखे और किस तरह की कम।

साइकिल स्टोर में और क्या क्या बेच सकते है

अब यदि आप साइकिल स्टोर खोलने का विचार कर ही रहे हैं तो इसमें आप केवल साइकिल ही ना रखे। कहने का अर्थ यह हुआ कि इसमें आप अन्य आइटम भी रख सकते हैं और अपने बिज़नेस में बढ़ोत्तरी कर सकते हैं। हालाँकि साइकिल स्टोर पर अन्य सामान साइकिल से ही संबंधित आइटम रखने का होगा।

इसी के साथ आप साइकिल स्टोर में एक से दो व्यक्तो रिपेयर करने वाले भी रख सकते हैं। वे लोगों की ख़राब साइकिल को रिपेयर कर सकते हैं या फिर जो ग्राहक आपसे साइकिल खरीद कर गए हैं उन्म्की साइकिल को भी रिपेयर कर सकते हैं। रिपेयर करने के बहाने आपके दुकान की भी ब्रांडिंग होगी और जब उन्हें कभी नयी साइकिल की आवश्यकता होगी तो वे आपसे ही खरीदने आया करेंगे।

साइकिल स्टोर बिज़नेस में लागत

अब आपका अगला प्रश्न होगा कि यदि आप साइकिल स्टोर का बिज़नेस खोलने जा रहे हैं तो इसे खोलने में आपकी कितनी लागत आयेगी या फिर आपको कितना खर्चा करना पड़ेगा। तो आज आप जान ले कि यदि आप साइकिल का स्टोर खोलने जा रहे हैं तो इसमें आपको ज्यादा खर्चा करना पड़ेगा। वह इसलिए क्योंकि आजकल एक साइकिल की कीमत 5 हज़ार से लेकर 20 हज़ार तक की होती हैं।

साथ ही आप साइकिल का स्टोर खोलने जा रहे हैं तो आपको अलग अलग ब्रांड और डिजाईन की कम से कम 100 के आसपास साइकिल तो रक्झ्नी ही पड़ेगी। ऐसे में आपका खर्चा भी अधिक होगा। उसी के साथ आपको एक स्टोर खरीदना होगा या किराये पर लेना होगा। साइकिल बेचने और रिपेयर करने के लिए कुछ कर्मचारी भी रखने होंगे।

इसी के साथ साइकिल स्टोर पर बिजली पानी इत्यादि की व्यवस्था व्ही करनी होगी। तो कुल मिलाकर एक साइकिल स्टोर को खोलने में आपका 10 से 20 लाख तक का खर्चा आ जाएगा। इसलिए आप यदि इतना खर्चा कर सकते हैं तभी साइकिल स्टोर खोलने का विचार करें।

साइकिल स्टोर का बिज़नेस खोलने के लिए लोन

अब यदि आप साइकिल स्टोर का बिज़नेस करने के लिए पैसो की बात को सुनकर चिंता में पड़ गए हैं तो ज्यादा चिंता ना करे। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि यह आवश्यक नही कि हर व्यक्ति के पास 10 से 20 लाख रुपए लगाने के लिए हो। इसलिए आप इतना पैसा सुनकर चिंता मत कीजिए क्योंकि आपको बिज़नेस करने के लिए कई जगह से लोन मिल सकता हैं।

इसके लिए आप किसी भी सरकारी बैंक या प्राइवेट बैंक से लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं। बस आपको अपना पूरा बिज़नेस प्लान उन्हें दिखाना होगा और साथ ही उस लोन की राशि की गारंटी लेनी होगी। यह गारंटी आपको अपनी अभी की प्रॉपर्टी अर्थात घर इत्यादि के ऊपर मिलेगी। इसके बाद आपको एक समझौते पर हस्ताक्षर करने होंगे जिस पर लोन की राशि, उस पर लगने वाला ब्याज व अन्य संभावित जानकारी लिखी होगी।

तो इस तरह आपको साइकिल स्टोर खोलने के लिए किसी भी बैंक से 5 से 25 लाख तक का लोन मिल सकता हैं। इसी के साथ आप किसी बड़े व्यापारी से या अन्य धनी व्यक्ति से फाइनेंस पर पैसे भी ले सकते हैं। हर किसी में आपको ब्याज की राशि और लोन चुकाने की समय अवधि को ध्यान से देखना होगा।

साइकिल स्टोर की मार्केटिंग कैसे करें

अब जब आपने साइकिल स्टोर खोल लिया हैं तो आप यह भी चाहेंगे कि वह स्य्क्ले ज्यादा से ज्यादा लोग ख़रीदे ताकि आपकी कमाई हो सके। इसके लिए आपको मार्केटिंग करनी होगी और कई नाय चीज़े भी करनी होगी। कहने का अर्थ यह हुआ कि अपनी सफल मार्केटिंग के बलबूते ही आप साइकिल को बिकवाने में मदद कर सकते हैं। बिना इसके आपकी साइकिल जल्दी से नही बिक पायेगी।

  • साइकिल स्टोर की मार्केटिंग करने के लिए तो सबसे पहले आप अपने स्टोर खोलने के पोस्टर और बैनर छपवाए। जिस दिन आपके स्टोर की ओपनिंग हो उस दिन के अख़बार में अपने बैनर साथ में भेजे। साथ ही स्टोर की एक ग्रैंड ओपनिंग करे ताकि लोग उससे प्रभावित हो सके।
  • इसी के साथ आप अपने स्टोर पर आने वाले शुरूआती कुछ ग्राहकों को डिस्काउंट या अन्य ऑफर दे। इससे उस ऑफर को पाने की लालसा में ग्राहक अपने आप आपकी दुकान पर खींचे चले आएंगे। इससे आपके बिज़नेस की मार्केटिंग अपने आप हो जाएगी।
  • इसके साथ ही साइकिल स्टोर के पोस्टर को शहर के उन जगहों पर ज्यादा लगाए जहाँ ऐसे लोग ज्यादा रहते हो जिन्हें (Cycle bechne ke liye vigyapan) साइकिल पसंद हो या फिर साइकिल का ज्यादा काम होता हो। जैसे कि कोई फिर्नेस कैंप हो या योग सेंटर या जिम का स्थान इत्यादि।
  • यह बैनर और पोस्टर भी बहुत प्रभावी होना चाहिए। कहने का अर्थ यह हुआ कि इसमें लिखी जानकारी सीधी व स्पष्ट हो और लोग इसे पहली बार में ही देखकर प्रब्भावित हो जाए। इसलिए आप पोस्टर बैनर छपवाते समय इस बात का पूरा पूरा ध्यान रखे।
  • इसी के साथ आप समय समय पर अपनी साइकिल के स्टोर पर कोई ना कोई स्कीम या योजना लाते रहे। मुख्यतया दीपावली या ऐसे ही प्रसिद्ध त्योहारों पर आप इस तरह की योजना ला सकते हैं।
  • साइकिल स्टोर पर केवल साइकिल रखने की बजाए साइकिल से जुड़ा अन्य सामान भी रखेंगे तो यह भी मार्केटिंग करने का एक अच्छा तरीका होगा। इससे लोग आपके स्टोर पर केवल साइकिल लेने ही नही बल्कि अन्य सामान लेने भी आएंगे।
  • आप अपने साइकिल स्टोर का ऑनलाइन प्रचार प्रसार भी कर सकते हैं। इसके लिए आप फेसबुक पर पेज बना सकते हैं या instagram पर कोई प्रोफाइल। वहां पर आप अपने यहाँ आ रही नयी नयी साइकिल के बारे में जानकारी दे ताकि लोग आपके यहाँ उपलब्ध साइकिल को देखकर आकर्षित हो सके।

तो यह थे कुछ तरीके जिनकी सहायता से आप अपनी साइकिल की बिक्री को बढ़ा सकते हैं। इस बात का हमेशा ध्यान रखे कि एक बार आपकी साइकिल बिकने लग गयी और लोगों को यह स्टोर पसंद आ गया तो वे इसके बारे में ओरो को भी बताएँगे जिससे आपको साइकिल बेचने में बहुत आसानी होगी।

साइकिल के बिज़नेस में कमाई (Cycle business profit margin)

अब जब आप साइकिल का स्टोर खोलने जा रहे हैं तो आपको साइकिल के बिज़नेस में होने वाली कमाई के बारे में भी जानना होगा। बिना इसको जाने आप क्यों ही इतना बड़ा स्टोर खोलेंगे और इसमें खर्चा करेंगे। कहने का अर्थ यह हुआ कि कोई भी व्यक्ति किसी भी व्यापार में हाथ आजमाने से पहले उस बिज़नेस में कितना फायदा हो सकता हैं और कितना नही, यह अवश्य जानना चाहता हैं।

इसलिए आप यह मत सोचिये कि साइकिल का स्टोर खोलने से आपकी आय नही होने वाली हैं। दरअसल साइकिल का बिज़नेस शुरू करने में आपकी बहुत कमाई हो सकती हैं। जो साइकिल 5 हज़ार में आती हैं वह आप पीछे से 3 से 4 हज़ार में ही खरीदेंगे। इस तरह से आप सीधे 1 से 2 हज़ार की कमाई करेंगे। इसी के साथ आप इससे ज्यादा महँगी साइकिल बेचेंगे तो आपको उतना ही बड़ा फायदा देखने को मिलेगा।

ऐसे में साइकिल स्टोर खोलकर आप एक महीने में लाखों रुपए की कमाई कर सकते हैं। यदि आपका स्टोर का ब्य्सिनेस चल पड़ा तो फिर तो आप वर्ष भर में ही करोड़ो का व्यापार करने लगेंगे। बस इसके लिए आपको एक सही बिज़नेस प्लान के साथ ही आगे बढ़ना होगा।

साइकिल का बिज़नेस कैसे करे – Related FAQs

प्रश्न: कौन सी साइकिल सबसे अच्छी होती है?

उत्तर: हीरो व हर्कुलस की साइकिल सबसे अच्छी होती है।

प्रश्न: रेंजर साइकिल की कीमत कितनी होगी?

उत्तर: रेंजर साइकिल की कीमत 7 से 10 हज़ार होगी।

प्रश्न: भारत में सबसे अच्छी साइकिल कौन सी है?

उत्तर: भारत में सबसे अच्छी साइकिल हीरो कंपनी की है।

प्रश्न: गियर वाली साइकिल कितने की है?

उत्तर: गियर वाली साइकिल 7 से 12 हज़ार की होती है।

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment