कोरोना वायरस से बचाव के तरीके, Corona Virus Ke Lakshan Aur Bachne Ke Upay

कोरोना वायरस से बचाव के तरीके – चीन के वुहान शहर से शुरू होकर दुनिया भर के लिए रोना बने कोरोना वायरस को लेकर हर तरफ हाहाकार मचा हुआ है। संसार के तमाम ताकतवर देश इसके आगे घुटने टेके हुए हैं। अभी तक इसकी वैक्सीन भी नहीं बन पाई है। अकेले चीन में साढ़े तीन हजार से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं और डेढ़ लाख के करीब इस वायरस से संक्रमित हैं। अमेरिका भी सैंतीस से ज्यादा लोग मौत के ग्रास बन चुके हैं। हमारे देश भारत में भी हालात कोई बहुत अच्छे नहीं हैं। देश भर में अलग अलग राज्यों में हजारों लोगों को विजिलेंस पर रखा गया है।

कर्नाटक में एक बुजुर्ग की मौत के बाद अब दिल्ली में दूसरी मौत का मामला सामने आया है। हालात साफ बताते हैं कि आने वाली स्थिति अच्छी नहीं है। तमाम राज्यों में सिनेमा हॉल, स्कूल कॉलेज, सब बंद कर दिए गए हैं। कई राज्यों ने इसे महामारी घोषित कर दिया है। देश ने अपनी सीमाएं दूसरे देशों के साथ सील कर ली हैं। विभिन्न कार्यालयों में कर्मचारियों से कह दिया गया कि वह वर्क फ्रॉम होम करें यानी अपने घर से ही काम करें। उन्हें ऑफिस आने की कोई जरूरत नहीं है। कई स्थलों से बायोमेट्रिक प्रणाली को हटा लिया गया है।

तमाम बड़े खेल और सरकारी आयोजन रद्द कर दिए गए हैं। लोगों को भीड़ से बचने को कहा जा रहा है। ऐसे में कोरोना वायरस से हम किस प्रकार से सुरक्षित रह सकते हैं? और क्या सावधानियां बरत सकते हैं? इस पर हम आपको आज इस post के माध्यम से जानकारी देंगे। आप से उम्मीद है कि आप सावधानी से इस पोस्ट को पढ़ेंगे और इसमें बताए गए तरीकों को आजमा कर सुरक्षित बने रहने की कोशिश करेंगे। आइए शुरू करते हैं-

कोरोना वायरस से बचाव के घरेलू उपाय: क्या करें कि सुरक्षित रहें –

  • दिन में कई बार अपने हाथों को 20 सेकंड तक साबुन और पानी से जरूर धोएं।
  • अगर आप सेनेटाइजर का उपयोग कर रहे हैं तो इस बात को सुनिश्चित करें कि 60% से ज्यादा उस में अल्कोहल की मात्रा हो।
  • अगर किसी व्यक्ति को बुखार है या वह खांस और छींक रहा है तो उससे कम से कम 2 मीटर की दूरी बनाए रखें।
  • भीड़ में ना जाएं। इसके साथ ही भीड़भाड़ वाले स्थान जैसे होटल और मॉल आदि से दूरी बनाकर रखें।
  • हाथों से अपनी आंख नाक और चेहरे को न छुएं।
  • हर 1 घंटे में यथासंभव गर्म पानी पीते रहें।
  • अगर जरूरी ना हो तो किसी भी तरह की यात्रा से बचें।
  • अगर आपको खांसी, जुकाम हो तो अपने चेहरे को कवर करके रखें। खासतौर पर अपने मुंह और नाक को अवश्य कवर करें।
  • खूब पानी और तरल पेय पदार्थ पिएं।
  • फलों का इस्तेमाल करें खासतौर पर जिम में साइट्रिक एसिड है जैसे कि संतरे और नींबू।
  • मांसाहारी खाद्य पदार्थों का सेवन ना करें।
  • इसी तरह से ठंडे और बासी खाने से भी परहेज बरतें।
  • अपने कपड़ों को रोज धोएं, साफ करें।
  • अपने कमरे में साफ सफाई का विशेष ध्यान रखें और कमरे को खासतौर पर खुला और हवादार रखें।

दोस्तों, यह सामान्य गाइडलाइंस है, जो किसी भी व्यक्ति को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए अपनाने चाहिए। इसके अलावा जो सबसे बड़ी सतर्कता है, वो ये कि उसे किसी भी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में नहीं आना चाहिए। भीड़ में मास्क, वह भी N95 का उपयोग करना चाहिए। और, साथियों, अगर गलती से किसी दूसरे के मास्क को अगर किसी तरह आप छू लेते हैं तो सावधानी बरतें। अपने हाथ को सेनेटाइजर से जरूर साफ कर लें।

भारत में भी शुरू हो चुका कोरोना वायरस से मौत का सिलसिला

दुनिया के 122 देशों में कोरोना वायरस अपने पैर पसार चुका है। भारत में भी कोरोना वायरस से मौत का सिलसिला शुरू हो चुका है। पहली मौत कर्नाटक के कलबुर्गी में एक 76 साल के बुजुर्ग की हुई। इसके बाद दिल्ली में कोरोना वायरस से मौत का दूसरा मामला सामने आया। इस वायरस से पीड़ित 69 वर्षीय महिला की मौत हो गई। ये महिला उस संक्रमित व्यक्ति की मां थी जो स्विट्जरलैंड और इटली होते हुए भारत आया था।

देश में कोरोना वायरस से मौत का ये दूसरा मामला है। कोरोना वायरस खांसी और छींक के साथ ही संक्रमण के जरिए दूसरे आदमी में प्रवेश करता है। इसी वजह से लोगों को किसी की खांसी और छींक से दूर रहने की सलाह दी जा रही है। भीड़ और संक्रमित लोगों के संपर्क से दूर रहने की सलाह दी जा रही है।

कोरोना को WHO ने घोषित किया महामारी –

कोरोना वायरस से बचाव के तरीके, Corona Virus Ke Lakshan Aur Bachne Ke Upay

विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी डब्ल्यूएचओ ने कोरोना को महामारी घोषित कर दिया है। दोस्तों, आपको बता दें कि महामारी उस बीमारी को कहते हैं, जो संक्रामक बीमारी संसार के कई देशों में एक साथ फैलती है। डब्ल्यूएचओ के अध्यक्ष अध्ययन टेडरोज अध्यनमो गैब्रोयसिस ने इसकी घोषणा की है। इसके बाद से कोरोना वायरस से प्रभावित देशों में हाहाकार की स्थिति मची हुई है। उद्योगों पर ताले पड़ रहे हैं।

कई कंपनियों ने अपने कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम यानी घर से काम करने का विकल्प दिया है। माना जा रहा है कि मौसम रंग बदलेगा और गर्मी बढ़ेगी तो कोरोना वायरस का असर कम होगा। इस वक्त तो हालात यह हैं कि बेमौसम बरसात लोगों के लिए मुसीबत का सबब बनी हुई है। ओलावृष्टि से किसानों की फसलों को भारी नुक़सान पहुंचा है।

कोरोना वायरस ट्रैकिंग कैसे होती है?

दोस्तों, आपके लिए एक और बात जानना बेहद जरूरी है और वो ये कि कोरोना वायरस की ट्रैकिंग कैसे होती है। आइए हम आपको कदम दर कदम इसकी जानकारी देते हैं-

  • इस वायरस के शुरू होने पर 1-3 दिन में व्‍यक्ति इसके संपर्क में आता है। यह ऊपरी श्वसन प्रणाली को प्रभाव‍ित करता है, जिससे हल्‍का बुखार जैसा महसूस होता है। बढ़ते हुए यह तीसरे दिन तक खांसी और गले में खराश की समस्‍या पैदा करता है। आपको इस बात की जानकारी दे दें कि दुनिया भर में अभी तक लगभग 80 प्रतिशत संदिग्ध लोगों में यह लक्षण काफी देखने को मिले हैं।
  • 3-4 दिन में यह संक्रमण हमारे फेफड़ों तक जा पहुंचता है। जिसकी वजह से 4 से 9 दिन तक सांस लेने में तकलीफ महसूस होने लगती है। 14 प्रतिशत लोगों में इसी तरह के लक्षण पाए गए हैं।
  • फेफड़ों के संक्रमण से यह हमारे खून में मिल जाता है। जिसके बाद यह व्‍यक्ति को इस कदर कमज़ोर कर देता है कि उसके जीने की संभावना काफी कम हो जाती है।
  • आपको बता दें कि 5 प्रतिशत लोग जो कोरोना वायरस से संक्रमित हैं, वह अस्पतालों की इंटेंसिव केयर यूनिट यानी ICU में हैं।

कोरोना से बाजार भी हुआ बुरी तरह प्रभावित

कोरोना वायरस की वजह से देश बड़े इकनॉमिक स्लोडाउन से गुजर रहा है। इलेक्ट्रॉनिक का 40 से 50%, मोबाइल पार्ट्स का 80 से 85% , जबकि कंज्यूमर प्रोडक्ट्स का 20% बाजार चीन पर निर्भर है। मुर्गी पालन उद्योग को 17 हजार करोड़ रुपए का नुक़सान हुआ है। खरीदारी में गिरावट इस कदर है कि व्यवसायी मुफ्त में मुर्ग बांटने पर मजबूर हो रहे हैं। शेयर बाजार धड़ाम हो गया। नौ मार्च को सेंसेक्स 2400 अंकों के साथ लुढ़क गया। यह पिछले दस साल की सबसे बड़ी गिरावट है। कोरोना का असर होटल और पर्यटन उद्योग पर भी पड़ा है।

लोगों ने पर्यटन स्थलों की अपनी बुकिंग कैंसिल कर दी है। तमाम बड़े इवेंट्स कैंसिल हो गए हैं। अमेरिका में नेशनल इमरजेंसी घोषित होने के बाद हाहाकार है। लोग घरों में कैद हो गए हैं। राशन और जरूरी चीजों का स्टोरेज कर लिया है। फिल्मी अवॉर्ड से जुड़े समारोह कैंसिल हो गए है। दोस्तों, आपको यह भी बता दें कि इंटरनेशनल मार्केट में आने वाली गिरावट की एक वजह सऊदी अरब और रशिया में टकराहट के साथ ही कच्चे तेल की कीमतों में आई गिरावट भी है। आंकड़े के आइने में देखें तो यह गिरावट करीब 30 फीसदी है।

कोरोना से बचाव के तरीकों पर दो खेमों में बंटे लोग

मित्रों, देश में जहां कोरोना वायरस के चलते धीरे धीरे स्थिति गंभीर हो रही है, वहीं इसके इलाज को लेकर लोग दो खेमों में लोग बढ़ गए हैं। दरअसल, कुछ लोग प्राचीन भारत के गोमूत्र सेवन जैसे उपायों को कोरोना वायरस को दूर रखने में भी कारगर बता रहे हैं। तो वहीं, दूसरी ओर ऐसे लोगों की भी कमी नहीं, जो इन उपायों को हास्यास्पद करार दे रहे हैं। इसी बीच 14 मार्च को नई दिल्ली के मंदिर मार्ग पर अखिल भारतीय हिंदू महासभा की ओर से गोमूत्र सेवन के कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें बड़ी संख्या में लोग जुटे। यहां उन्होंने कुल्हड़ में गोमूत्र का सेवन किया। उनका दृढ़ विश्वास है कि इससे कोरोना वायरस के असर से वह दूर रहेंगे।

उन्होंने और लोगों को भी इस वायरस से दूर रहने के लिए, इसके असर को कम करने के लिए गोमूत्र सेवन की अपील की है। वहीं, दूसरे खेमे के लोग इस चीज को केवल प्रचार पाने का तरीका बता रहे हैं। उनके मुताबिक इस संवेदनशील समय में वैज्ञानिकों की ओर से सुझाए गए तरीकों पर अमल करके ही कोरोना वायरस से दूर रहा जा सकता है।

सोशल मीडिया पर भी छाया कोरोना वायरस

कोरोना वायरस की वजह से इटली में जहां लाक डाउन है, लोगों को 14 दिनों के लिए घर में कैद कर दिया गया है, वहीं अमेरिका में इसे नेशनल इमरजेंसी घोषित कर दिया गया है। युद्ध के पैमाने पर कोरोना वायरस को देखते हुए काम हो रहा है। वहीं, सोशल मीडिया पर कोरोना वायरस ही छाया हुआ है। लोग कोरोना वायरस से जुड़े मीम्स बनाकर एक दूसरे को भेज रहे हैं। कुछ संदेश जबरदस्त वायरल हो रहे हैं।

कुछ लोग कोरोना वायरस से बचाव के तरीकों को वायरल कर रहे हैं। कुछ के बाबाओं के जरिए इलाज में झाड़-फूंक के मैसेज भी बहुत वायरल हो रहे हैं। कोरोना वायरस को लेकर बहुत चुटकुले भी बन रहे हैं, लेकिन वह केवल दिल को बहलाने वाली बात है। असल बात तो यही हैं कि स्थितियां चिंताजनक है।

दोस्तों, यह थी कोरोना वायरस की ट्रैकिंग और कोरोना वायरस से बचाव के तरीके, Corona Virus Ke Lakshan Aur Bachne Ke Upay की जानकारी। पहली बात तो यही है कि सुरक्षा ही बचाव है। उम्मीद है, यह पोस्ट आपके लिए मददगार साबित होगी। अगर इस विषय पर कुछ और जानकारी आप चाहते हैं, तो नीचे दिए गए comment box में comment करके अपनी बात हम तक पहुंचा सकते हैं। अगर इस विषय पर कोई सुझाव भी आपका है, तो उसे आप नीचे दिए गए comment box में comment करके हमें भेज सकते हैं। हमें आपकी प्रतिक्रियाओं का शिद्दत से इंतजार है।

Spread the love

Leave a Comment