कपड़ों का बिज़नेस कैसे करे? | निवेश, प्रॉफिट व तरीका | Clothes ka business kaise kare

|| कपड़ों का बिज़नेस कैसे करे? , Clothes ka business kaise kare, सबसे ज्यादा चलने वाला बिजनेस कौन सा है?, कपड़े का बिजनेस शुरू करने में कितना खर्चा आता है?,

Clothes ka business kaise kare: – कपड़ो का व्यापार सबसे बड़ा व्यापार माना जाता है। इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि आप जो भी ऑनलाइन शॉपिंग की बड़ी बड़ी वेबसाइट देखते हैं वहां पर आपको मुख्य तौर पर महिला से लेकर पुरुषों और बच्चों के हर तरह के कपड़े मिल जाएंगे। उन वेबसाइट की मुझय श्रेणियां ही (Kapdo ka business kaise kare in Hindi) कपड़ो की होती है जान पर अलग अलग तरह के कपड़ों की वैराइटी मिलती हैं। साथ ही आपको अपने शहर के बाजार में भी ज्यादातर दुकाने इसी बिज़नेस में खुली मिल जाएँगी।

तो यदि आप भी कपड़ो के बिज़नेस में जाना चाहते हैं तो आपके पास एक नही बल्कि कई विकल्प होंगे। कहने का मतलब यह हुआ कि कपड़ो के बिज़नेस में केवल कपड़ो की दुकाने ही नहीं आती हैं बल्कि कई अन्य काम भी आते हैं जो आप (Kapde ka business kaise kare) कपड़ो के व्यापार में कर सकते हैं। आज के इस लेख में हम आपके साथ इन्हीं सब बातो पर विचार विमर्श करने वाले हैं। आज आप जान पाएंगे कि कैसे आप भी कपड़ो का सफल बिज़नेस चला सकते हैं।

Contents show

कपड़ो का बिज़नेस कैसे करे? (Clothes ka business kaise kare)

अब कपड़ो का कोई एक बिज़नेस हो तो बात करे। यहाँ तो आपको एक नही बल्कि कई तरह के बिज़नेस मिल जाएंगे जो कपड़ो से जुड़े हुए हैं। अब कपड़े तो हर किसी को चाहिए होते हैं और वो भी केवल पहनने वाले कपड़े ही थोड़ी ना होते हैं। उसमे तो ओढने के लिए चादर से लेकर बेड पर बिछाने वाली चादर, शरीर पूछने के लिए तोलिया इत्यादि सब आ जाते हैं।

तो ऐसे में कई तरह के कपड़ो के बिज़नेस हैं जो आप कर सकते हैं। तो आज हम आपके साथ उन्ही सब कपड़ो के बिज़नेस में से कुछ मुख्य और (Clothes business ideas in Hindi) प्रमुख बिज़नेस के बारे में जानकारी साँझा करेंगे ताकि आप अपनी पसंद के अनुसार इनमे से कोई भी कपड़ो का बिज़नेस जल्द से जल्द शुरू कर सके।

कपड़ों का बिज़नेस कैसे करे निवेश, प्रॉफिट व तरीका Clothes ka business kaise kare

कपड़ों की दुकान खोलना

कपड़ों के बिज़नेस करने में जो चीज़ सबसे पहले आती है वह होती है कपड़े की दुकान खोल कर बिज़नेस को शुरू करना। आपको अपने शहर में भी ज्यादातर कपड़ो की दुकान ही दिखाई देंगी जहाँ पर हमेशा ही भीड़ लगी रहती होगी। हालाँकि हर दुकान की अलग खासियत होती होगी। कही पर महिलाओं के कपड़े ही मिलते होंगे तो कही पर पुरुषों के तो कही पर दोनों के।

कही पर बच्चों से जुड़े कपड़े मिलते होंगे तो कोई कपड़ो की दुकान केवल महिलाओं की साड़ी इत्यादि से ही संबंधित होगी। तो आप भी अपनी पसंद के अनुसार कोई भी कपड़ो की दुकान खोल सकते हैं और उसके जरिये पैसे कमाना शुरू कर सकते हैं।

चद्दर की दुकान

पहनने वाले कपड़ों की दुकान के बाद जो दुकाने कपड़ो के बिज़नेस में ज्यादा चलती हैं वे होती हैं चद्दर की दुकाने। अब इनमे भी कई तरह की वैराइटी आती है जैसे कि ओढने वाली चद्दर, बिछाने वाली चद्दर, कम्बल इत्यादि। इन दुकानों पर भी अमूमन बहुत भीड़ देखने को मिल जाती होगी। तो आप अपने शहर में एक चद्दर की दुकान खोल कर भी अच्छा खासा बिज़नेस करना शुरू कर सकते हैं।

अंडर गारमेंट्स की दुकान

लोगों को जितनी जरुरत ऊपरी लिबास की होती है उतनी ही जरुरत अंदर पहने जाने वाले कपड़ो की भी होती है। इनकी दुकान भी अलग से खोली जाती है जहाँ पर महिलाओं और पुरुषों के अंडर गारमेंट्स मिलते हैं। कुछ कुछ दुकाने तो केवल महिला या पुरुष के लिए अलग अलग से बनाई जाती है लेकिन आज के समय में यह एक साथ ही खोली जाए तो ज्यादा बेहतर रहता है। तो आप भी कपड़ो के बिज़नेस में अंडर गारमेंट्स की दुकान खोल कर अच्छा खासा लाभ कमाना शुरू कर सकते हैं।

कपड़ों की प्रिंटिंग का बिज़नेस

आज के समय में लोगों के बीच प्रिंटिंग बिज़नेस भी बहुत तेजी से पाँव पसार रहा है। लोगों को प्रिंट की हुई टी शर्ट, शर्ट इत्यादि बहुत पसंद आने लगी है। साथ ही वे अपनी पसंद के अनुसार भी प्रिंट करवाने लगे हैं। यही कारण है कि ऑनलाइन मार्केट में भी इसकी धूम देखने को मिल रही है। तो क्यों ना आप भी कपड़ों की प्रिंटिंग दुकान खोल ले। इसमें आप केवल पहने जाने वाले कपड़ों को ही प्रिंट नही करेंगे बल्कि चद्दर, तकिए के कवर इत्यादि को भी प्रिंट करने का काम कर सकते हैं।

कपड़ों की सिलाई का बिज़नेस

कपड़ो की सिलाई के बिज़नेस को टेलरिंग का बिज़नेस भी कहा जा सकता है। वैसे तो आज के समय में लोगों को सिले सिलाये कपड़े ही पसंद आते हैं लेकिन सिलाकर कपड़े पहनने वालों की भी कोई कमी नही है। इसी के साथ साथ लोगों को अपनी फिटिंग के अनुसार कपड़ो को अल्टर भी करवाना होता है। तो आप भी कपड़ो की सिलाई का बिज़नेस करके अच्छा खासा लाभ कमाना शुरू कर सकते हैं।

बच्चों की स्कूल ड्रेस की दुकान

जब आप छोटे होंगे तब आप भी अपने माता पिता के साथ एक स्पेशल कपड़ो की दुकान पर जाते होंगे जहाँ पर बच्चों की यूनिफार्म ही मिला करती थी। वहां पर लगभग हर तरह के स्कूल की यूनिफार्म को रखा और बेचा जाता था। तो आप भी तो इस तरह का बिज़नेस शुरू कर सकते हैं। अब बच्चे तो हर वर्ष स्कूल जाएंगे और हर बार नए बच्चे भी स्कूल में भर्ती होते चले जाएंगे। तो ऐसे में आपका यह बिज़नेस भी बहुत तेजी से चलेगा।

ड्रेस को किराने पर देने का बिज़नेस

यह जरुरी नही होता है कि हर बार ड्रेस को ख़रीदा ही जाए। बहुत से लोग शादी ब्याह में पहनने के लिए महँगी महंगी ड्रेस जैसे कि लहंगा, शेरवानी इत्यादि को किराये पर भी लेते हैं ताकि वे इसे एक बार पहन कर वापस कर सके। इसके बदले में वे इसका किराया चुकाते हैं। तो आप इस तरह का बिज़नेस करके भी अच्छा खासा लाभ कमा सकते हैं।

कपड़ो का बिज़नेस शुरू करने से पहले मार्केट रिसर्च (Clothes business plan and market research in Hindi)

चूँकि अब आपने कपड़ो के बिज़नेस करने के कई प्रकारों के बारे में जान लिया है तो अब बारी है इनमे से कौन सा बिज़नेस शुरू किया जाए। आपको ऊपर बताये गए प्रकारों के अलावा भी कई तरह के कपड़ो से संबंधित बिज़नेस मिल जाएंगे जो आप कर सकते हैं किंतु उससे पहले मार्केट रिसर्च कर ली जाए तो बेहतर रहता है। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि अलग अलग शहर और गाँव की मांग अलग अलग रहती है।

अब किसी शहर में स्कूल यूनिफार्म के बिज़नेस की ज्यादा मांग है तो किसी में किराये पर ड्रेस देने वाली दुकानों की। तो आप अपने शहर की स्थिति का आंकलन करे और देखे कि वहां किस तरह के कपड़ों के बिज़नेस की अधिक मांग है। इसी को ध्यान में रख कर ही यदि आप अपना कपड़ो का बिज़नेस शुरू करेंगे तो अवश्य ही आगे चलकर बहुत बड़े लाभ में रहेंगे।

कपड़ों के बिज़नेस के लिए जगह की व्यवस्था करना (Clothes business location)

अब कपड़े का कोई भी बिज़नेस करना हो तो उसके लिए एक दुकान तो चाहिए ही ना। वही पर तो आप इससे जुड़ा काम कर पाएंगे। तो यह दुकान आप कहां खोलने जा रहे हैं और इसका साइज़ कितना बड़ा होगा, यह तो आपको आने बजट और सहूलियत के अनुसार ही देखना होगा। कुछ लोग तो बहुत बड़ी दुकान खोलते हैं तो कुछ सीमित क्षेत्र में। अब यह तो व्यक्ति व्यक्ति पर निर्भर करता है।

कपड़ो के बिज़नेस में यह कोई जरुरी नही होता है कि आप एक निश्चित आकार की ही दुकान खोले। आपकी दुकान का साइज़ कितना भी बड़ा या छोटा हो सकता है लेकिन वह इतना हो कि ग्राहक अंदर आकर आराम से कपड़े देख सके और उसकी खरीदारी कर सके। तो आप इस बात को ध्यान में रखकर ही कपड़ों की दुकान का साइज़ फिक्स करे।

कपड़ों के बिज़नेस में आने वाली लागत (Clothes business cost)

कपड़ो के बिज़नेस में कितना खर्चा आएगा या उसमे आपको कितना तक निवेश करना होगा यह भी अलग अलग कारको पर निर्भर करता है। कहने का मतलब यह हुआ कि आप कपड़ो के बिज़नेस में किस तरह का बिज़नेस शुरू करने का सोच रहे हैं और उसमे भी आप किस स्तर पर यह शुरू करने जा रहे हैं। यह सभी कारण ही कपड़ो के बिज़नेस में आने वाली लागत को निर्धारित करते हैं।

अब यदि हम सामान्य स्तर पर खोली गयी कपड़ों की दुकान की बात करे तो उसमे आने वाली लागत 5 से 6 लाख रुपए हो सकती हैं। वही मध्यम दर्जे की कपड़े की दुकान खोलने के लिए 15 से 25 लाख रुपए का निवेश करना पड़ता है। वही यदि आप बड़े स्तर पर कपड़ों का बिज़नेस शुरू करने का सोच रहे हैं तो इसमें आने वाली लागत 50 से 60 लाख रुपए भी हो सकती है।

अपना जीएसटी पंजीकरण भी करवा ले

बिज़नेस चाहे जैसा भी हो फिर वो कपड़ो का हो या किसी और चीज़ का, आपको उसके लिए जीएसटी पंजीकरण पहले से ही करवा लेना चाहिए। यदि आप यह पहले से ही करवा लेंगे तो सही रहेगा अन्यथा आगे चलकर कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। कहने का मतलब यह हुआ कि यदि आप यह सोच कर चल रहे हैं कि आप बाद में यह करवा लेंगे तो कानूनी अड़चनो में फंस सकते हैं।

ऑनलाइन पेमेंट की भी दे सुविधा

आज के समय में यदि आप किसी छोटी सी दुकान या किराने की दुकान पर भी जाएंगे तो वहां आपको ऑनलाइन पेमेंट करने का विकल्प आसानी से मिल जाएगा। वह इसलिए क्योंकि यह समय की मांग है और इसके बिना कोई काम नही हो सकता है। ऐसे में कपड़ो की दुकान पर ऑनलाइन पेमेंट की सुविधा ना हो तो यह दुकान की छवि को नुकसान पहुँचाने का काम करता है। इसलिए आप इसकी सुविधा भी पहले से ही करके रखेंगे तो बेहतर रहेगा।

कुछ लोगों को काम पर रखे

अब कपड़ो की दुकान खोल रहे हैं तो उसमे आप क्या क्या कर लेंगे। मान लीजिए आपकी दुकान पर एक साथ 2 से 3 ग्राहक आ जाते हैं तो आप किस किसको कपड़े दिखाने का काम करेंगे। साथ ही काउंटर पर पैकिंग करके देने और बिलिंग करने के लिए कौन बैठेगा। तो आपका काम तो केवल बिलिंग करके देगा और ख़रीदे गए कपड़े को पैकेट में डालकर देना होगा। अन्य सभी काम के लिए आपको लोगों को काम पर रखना होगा। अब यह लोग कितने होंगे यह आपको अपने काम करने के स्तर के अनुसार निर्धारित करना होगा।

दुकान पर ही बैठने की पूरी व्यवस्था

कपड़ों की दुकान पर ग्राहकों के बैठने के लिए पूरी पूरी व्यवस्था होनी चाहिए क्योंकि इसे देखने और दिखाने में समय लगता है। ऐसे में दिखाने वाला भी कपड़ों को बैठ कर ही दिखाता है और देखने वाला भी उसे बैठ कर ही देखता है। तो आपको भी दोनों के बैठने के लिए समुचित व्यवस्था पहले ही करके रख लेनी चाहिए। इसके लिए जितनी भी टेबल या चेयर की व्यवस्था करनी हो वह पहले से ही करके रखे।

दुकान पर ना हो लाइटिंग की कमी

अब यदि आप अपनी कपड़ों की दुकान पर ग्राहकी को बढ़ाना चाहते हैं तो आप वहां पर जरुरत से ज्यादा लाइट लगाए। वह इसलिए क्योंकि धीमी या मंदी लाइट में ग्राहक को कपड़ा पसंद आते हुए भी उसमे कुछ कमी नज़र आएगी। वही यदि लाइट अच्छी खासी है तो कपड़ा दूर से ही चमक मारता है। इससे उसके ख़रीदे जाने की संभावना बढ़ जाती है। तो आप इस बात का भी प्रमुखता के साथ ध्यान रखे और रोशनी सफेद रंग में ही हो।

ड्रेसिंग रूम भी बनाए

कोई भी ग्राहक कपड़ो की दुकान पर आया है तो वह उसे पहन कर देखना भी चाहेगा कि उस पर यह कैसा लग रहा है। हालाँकि सभी कपड़ो को पहने जाने की जरुरत नही होती है लेकिन यदि आप सामान्य कपड़ो की दुकान खोल रहे हैं तो उसमे तो आपको आवश्यक रूप से ड्रेसिंग रूप की व्यवस्था करनी ही होगी। तो अब आपकी दुकान में जितना स्पेस है, उसी के हिसाब से वहां ड्रेसिंग रूम की व्यवस्था कर लेंगे तो बेहतर रहेगा।

कपड़े के बिज़नेस में कमाई (Clothes business benefits in Hindi)

कपड़े के बिज़नेस में जितनी कमाई है उतनी शायद ही किसी अन्य बिज़नेस में हो। तो आप इस तरह के बिज़नेस में बहुत कमाई कर सकते हैं और वो भी दिन रात। इसके लिए आप अपनी दुकान को ऑनलाइन भी डाल सकते हैं और वहां दुकान के प्रोडक्ट्स की फोटोज खींच कर उनका ऑनलाइन प्रोमोशन भी कर सकते हैं। अब यदि आपको यह नही करना है तो भी कोई बात नही क्योंकि आपकी दुकान पर ही इतनी ग्राहकी हो जाया करेगी।

तो सामान्य तौर पर कपड़ों की दुकान पर एक महीने में 40 से 50 हज़ार रुपए की कमाई तो आराम से हो जाती है। अब आपने दुकान कितनी बड़ी खोली है, वहां पर किस किस तरह की आइटम रखी है, यह सब भी बहुत मायने रखता है। यदि आपका बिज़नेस सही से चल पड़ता है तो यही कमाई लाखों में भी पहुँच सकती है।

कपड़ों की दुकान की मार्केटिंग करना (Clothes business marketing strategy in Hindi)

अब यदि आप अपनी कमाई को बढ़ाना चाहते हैं तो कपड़ों की दुकान की मार्केटिंग की जानी भी बहुत जरुरी होती है। आज के ज़माने के हिसाब से अपने बिज़नेस की मार्केटिंग करना बहुत ही जरुरी हो जाता है और बिना इसके तो काम ही नही चलता है। तो आप इसके लिए सोशल मीडिया का सहारा ले सकते हैं, अपनी दुकान पर आने वाले लोगों को समय समय पर कोई ऑफर दे सकते हैं। आप भी जब कपड़ों की दुकान पर जाए होंगे तो वहां आपको कभी कभी कोई ऑफर मिल ही जाता होगा।

उदाहरण के तौर पर एक पर एक फ्री या दो पर एक फ्री या इतना प्रतिशत डिस्काउंट इत्यादि। तो आप भी समय समय पर ऐसी योजनाएं चलते रहेंगे तो ज्यादा से ज्यादा लोग आपके यहाँ से खरीदी करने आएंगे। इनके अलावा भी कई ऐसे तरीके होंगे जो आप अपनी कपड़े की दुकान को चलाने में इस्तेमाल कर सकते हैं.

कपड़ों का बिज़नेस कैसे करे – Related FAQs

प्रश्न: कपड़े का बिजनेस शुरू करने में कितना खर्चा आता है?

उत्तर: कपड़े का बिजनेस शुरू करने में आने वाला खर्चा बिज़नेस के स्तर पर निर्भर करता है। कपड़े की छोटी दुकान को खोलने में 5 से 10 लाख का खर्चा आएगा तो दुकान के आकार के अनुसार यह खर्चा भी बढ़ता चला जाता है।

प्रश्न: कपड़े का व्यवसाय कैसे शुरू करें?

उत्तर: कपड़े का व्यवसाय शुरू करने के ऊपर पूरी जानकारी हमने इस लेख के माध्यम से देने की कोशिश की है जिसे आपको पढ़ना चाहिए।

प्रश्न: कपड़े के बिजनेस में कितना फायदा है?

उत्तर: कपड़े के बिजनेस में बहुत ही ज्यादा फायदा देखने को मिलता है जो लाखों तक में भी चला जाता है।

प्रश्न: सबसे ज्यादा चलने वाला बिजनेस कौन सा है?

उत्तर: सबसे ज्यादा चलने वाला बिजनेस में से एक कपड़ों का बिज़नेस होता है।

तो इस तरह से आज के इस लेख में आपने जाना कि यदि आप कपड़ों का बिज़नेस करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको क्या कुछ करना होगा और उसमे भी आप किस किस तरह के कपड़ों के बिज़नेस को शुरू कर सकते हैं।

Leave a Comment