जीरो बैंक एकाउंट बैलेंस चेक कैसे करें? जनधन खाता बैलेंस ऑनलाइन चेक कैसे करें?

|| जीरो बैंक एकाउंट बैलेंस चेक कैसे करें? जनधन खाता बैलेंस ऑनलाइन चेक कैसे करें?, जीरो बैलेंस अकाउंट कैसे खोलें, प्रधानमंत्री जीरो बैलेंस अकाउंट, एसबीआई जीरो बैलेंस अकाउंट ओपन, बैंक ऑफ बड़ौदा जीरो बैलेंस खाता, एचडीएफसी बैंक जीरो बैलेंस अकाउंट ||

इन दिनों बैंकिंग बेहद आसान हो गई है। आपको अपने खाते से राशि किसी दूसरे खाते में भेजनी है, आप पलक झपकते इस कार्य को अंजाम दे देते हैं। इसके अलावा आपको अपने बैंक खाते में कितनी रकम है, यह जानने के लिए बैंक तक नहीं जाना पड़ता। आप घर बैठे एक काॅल पर यह जानकारी हासिल कर सकते हैं।

सरकार ने जीरो बैलेंस एकाउंट खाताधारकों तक के लिए यह सुविधा मुहैया कराई है। आज इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको यही जानकारी देंगे कि आप जीरो बैंक एकाउंट बैलेंस चेक कैसे कर सकते हैं। आइए, शुरू करते हैं-

जीरो बैलेंस बैंक एकाउंट का क्या अर्थ है? (what is zero bank account meaning)

दोस्तों, इससे पूर्व कि हम आगे बढ़ें, सबसे पहले आपको यह बताते हैं कि जीरो बैलेंस बैंक एकाउंट (zero balance bank account) का क्या अर्थ है। ये वह खाते होते हैं, जिनमें न तो खाता खुलवाने के लिए कोई चार्ज देना होता है एवं न ही इन खातों में खाताधारकों को न्यूनतम बैलेंस (minimum balance) रखने की बाध्यता होती है।

कम बैलेंस पर भी बैंक एकाउंट होल्डर (bank account holder) पर किसी प्रकार का जुर्माना (fine) नहीं लगाया जाता। जैसे-प्रधानमंत्री जनधन योजना (PMJDY) के तहत खोले गए जनधन खाते (jandhan accounts) आदि।

जीरो बैंक एकाउंट बैलेंस चेक कैसे करें? [How to check zero bank account balance?]

जीरो बैंक एकाउंट बैलेंस चेक कैसे करें? जनधन खाता बैलेंस ऑनलाइन चेक कैसे करें?

अब हम आपको बताएंगे कि आप जीरो बैंक एकाउंट बैलेंस चेक कैसे कर सकते हैं। आपको बता दें कि जिन बैंकों ने यह एकाउंट खोलने की सुविधा दी है, उन्होंने जीरो बैंक एकाउंट बैलेंस चेक करने की भी सुविधा घर बैठे दी है। खास बात यह है कि यह खाता किसी बैंक में तभी खोला जा सकता है, जब खाताधारक का किसी अन्य बैंक में खाता न हो।

यदि पहले से खाताधारक का किसी बैंक में खाता है तो पहले उसे बंद कराना होगा। विभिन्न बैंकों का जीरो बैंक एकाउंट बैलेंस ऐसे चेक किया जा सकता है-

एसबीआई जीरो बैंक एकाउंट बैलेंस चेक –

यदि आपका जीरो बैंक खाता भारतीय स्टेट बैंक (state bank of india) में है तो आपके लिए अपना एकाउंट बैंलेंस (account balance) पता करना बेहद आसान है। आपको केवल एक मिस्ड काॅल (missed call) से इस एकाउंट का बैलेंस पता चल जाएगा। इसके लिए आपको टोल फ्री नंबर 18004253800 अथवा 1800112211 पर मिस्ड काॅल देनी होगी।

एक बात का ध्यान रखें कि मिस्ड काॅल अपने बैंक में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर (registered mobile number) से ही दें, तभी आपको आपके बैलेंस का पता चल पाएगा। यदि आप चाहें तो अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर 9223766666 पर काॅल करके भी अपना एकाउंट बैलेंस जान सकते हैं।

पीएनबी जीरो बैंक एकाउंट बैलेंस चेक-

पीएनबी के एकाउंट होल्डर ग्राहक अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 18001802223 अथवा 120-2303090 पर मिस्ड काॅल करके एसएमएस (SMS) के जरिए अपना बैंक एकाउंट बैलेंस जांच सकते हैं।

यदि आपका मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड नहीं है तो पहले अपनी नजदीकी बैंक शाखा (bank branch) में जाकर इस सेवा को शुरू करा लें।

आईसीआईसीआई बैंक जीरो बैंक एकाउंट बैलेंस चेक-

यदि आपका खाता आईसीआईसीआई बैंक में है तो आप 9594612612 पर मिस्ड काॅल करके अपना एकाउंट बैलेंस पता कर सकते हैं। आप चाहें तो अपना एकाउंट बैलेंस मैसेज में आईबीएएल (IBAL) लिखकर 9215676766 पर मैसेज कर भी पता कर सकते हैं।

एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank)-

यदि आप एचडीएफसी बैंक के खाताधारक हैं तो आप टोल फ्री नंबर (toll free number) 18002703333 पर काॅल करके भी अपना खाता शेष जान सकते हैं। आप चाहें तो अपना एकाउंट स्टेटस भी जांच सकते हैं। इसके लिए आपको 18002703377 पर काॅल करनी होगी।

एक्सिस बैंक (Axis Bank)-

यदि आपका जीरो बैंक एकाउंट एक्सिस बैंक में है तो आपको अपना एकाउंट बैलेंस जानने के लिए अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 18004195959 पर काॅल करनी होगी।

यदि आप अपना एकाउंट मिनी स्टेटमेंट देखना चाहते है तो इसके लिए आपको केवल 18004196969 पर काॅल करनी होगी।

बैंक आफ इंडिया (bank of india)-

यदि आपका जीरो बैलेंस एकाउंट बैंक आफ इंडिया में है तो आपको अपना एकाउंट बैलेंस जानने के लिए 09015135135 पर मिस्ड काॅल करनी होगी। बैंक की ओर से आपके एकाउंट बैलेंस की जानकारी आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेज दी जाएगी।

पीएफएमएस पोर्टल के जरिए अपना जीरो बैंक एकाउंट बैलेंस चेक करें?

यदि आप अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर का इस्तेमाल नहीं करना चाहते तो भी आप अपना जीरो एकाउंट बैलेंस जान सकते हैं। इसके लिए आपको पीएफएमएस के पोर्टल (PFMS portal) की मदद लेनी पड़ेगी। इसके जरिए आप जीरो बैंक एकाउंट बैलेंस इस प्रकार चेक कर सकते हैं-

  • आपको सबसे पहले https://pfms.nic.in/New default/Home.aspx पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने पोर्टल का होम पेज खुल जाएगा।
  • यहां आपको know your payment के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
जनधन अकाउंट बैलेंस कैसे चेक करें? (how to check Jan dhan account balance)
  • आपको दो बार अपना एकाउंट नंबर डालना होगा।
  • इसके पश्चात कैप्चा कोड (captcha code) डालकर सबमिट (submit) करना होगा।
  • आपके एकाउंट का बैलेंस आपके सामने आ जाएगा।

बहुत कम बैंक जीरो बैलेंस एकाउंट खुलवाने की सुविधा देते हैं

मित्रों, आपको यह भी बता दें कि अधिकांश बैंक जीरो बैलेंस एकाउंट खुलवाने की सुविधा नहीं देते। जो इस तरह की सुविधा देते हैं, उनमें सबसे आगे स्टेट बैंक आफ इंडिया एवं बैंक आफ बड़ौदा जैसे एकाउंट शामिल हैं। एसबीआई बेसिक सेविंग्स बैंक डिपाॅजिट एकाउंट (basic savings bank deposit account) की सुविधा देता है, जिसमें खाताधारक को एक सामान्य खाते (general account) जैसी तमाम सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती हैं।

इसके अलावा एक्सिस बैंक, कोटक एंड महिंद्रा बैंक, आईडीएफसी फर्स्ट बैंक आदि भी जीरो बैंक एकाउंट बैलेंस की सुविधा देते हैं। वे इन खातों पर ब्याज (interest) की सुविधा भी देते हैं। कई बैंकों में जीरो बैलेंस पर सेलरी एकाउंट
(salary account) खोला जा सकता है। जैसे एचडीएफसी बैंक आदि।

जीरो बैलेंस बैंक एकाउंट खुलवाने की क्या आवश्यकता होती है? (what is the need to open a zero balance bank account)

एक सामान्य बचत खाता हर किसी व्यक्ति की आवश्यकता होती है। यदि वह निर्धन वर्ग से ताल्लुक रखता है तो भी। अधिकांश सरकारी योजनाओं का इन दिनों डीबीटी (DBT) किया जा सकता है। निर्धन व्यक्ति इसका लाभ तभी ले सकता है, जब उसका कोई बैंक खाता हो।

इसी को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (prime minister Narendra Modi) ने 15 अगस्त, 2014 को जन धन योजना की शुरूआत की थी, ताकि देश के प्रत्येक नागरिक का अपना एक बचत खाता हो। इसकी खाते की आवश्यकता इसलिए होती है-

  • यदि आप एक निर्धन परिवार से ताल्लुक रखते हैं एवं एक सामान्य खाता नहीं खुलवा सकते।
  • यदि आप अधिक लेन-देन नहीं करते।
  • यदि आपकी कमाई तय नहीं एवं न्यूनतम बैलेंस रखने में दिक्कत है।
  • यदि आपको चेकबुक की आवश्यकता नहीं।
  • यदि आप किसी सरकारी योजना के लाभार्थी हैं।

विभिन्न बैंकों में जीरो बैलेंस बैंक एकाउंट पर मिलने वाला ब्याज (interest given on zero balance account in different banks)

एसबीआई (SBI)- जैसा कि हमने आपको बताया इस बैंक में बेसिक सेविंग्स बैंक डिपाॅजिट एकाउंट खोला जाता है। इस पर ब्याज दर 2.70 प्रतिशत होती है। इसमें रखी जाने वाली धनराशि की कोई मैक्सिमम लिमिट (maximum limit) तय नहीं है। इस बैंक में इन खाताधारकों को एटीएम-डेबिट कार्ड भी मिलता है।

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक (IDFC first Bank)

  • इस बैंक में जीरो बैलेंस एकाउंट पर 3 से 5 प्रतिशत ब्याज मिलता है।
  • यदि बैलेंस एक लाख रूपये से कम हे तो सालाना ब्याज 4 प्रतिशत मिलेगा।

विभिन्न धनराशि पर ब्याज इस प्रकार रहेगा-

  • एक लाख रुपये से 10 लाख तक–4.50 प्रतिशत।
  • 10 लाख से दो करोड़ तक–5 फीसदी।
  • दो करोड़ से 10 करोड़ तक–4 प्रतिशत।
  • 10 करोड़ रुपये से लेकर सौ करोड़ तक–3.50 फीसदी।
  • इससे अधिक पर सालाना ब्याज–3 प्रतिशत।

यस बैंक (YES Bank)

  • यस बैंक में जीरो बैलेंस एकाउंट पर 4 से लेकर 5.25 फीसदी तक ब्याज मिलता है।
  • बैलेंस एक लाख रुपए से कम है, तो सालाना 4 फीसदी ब्याज मिलता है।

विभिन्न धनराशि पर ब्याज इस प्रकार रहेगा-

  • एक लाख रूपये से 10 लाख तक–4.50 प्रतिशत।
  • 10 लाख से अधिक, सौ करोड़ से कम–5.25 फीसदी।

इंडसइंड बैंक (indusind Bank)-

  • इस बैंक में खुले जीरो बैलेंस खाते पर 4 से 5 प्रतिशत तक ब्याज मिलता है।
  • डेली बैलेंस 10 लाख रुपये तक हो तो 4 प्रतिशत सालाना ब्याज (annual interest) मिलता है।

डेली बैलेंस इससे अधिक होता है तो 5 प्रतिशत वार्षिक ब्याज मिलता है।

एक्सिस बैंक (Axis Bank)

  • जीरो बैलेंस खाते पर न्यूनतम तीन फीसदी ब्याज मिलता है।
  • 50 लाख रूपये से कम बैलेंस पर 3 प्रतिशत वार्षिक ब्याज मिलता है।

50 लाख से अधिक लेकिन 10 करोड़ से कम-3.50 प्रतिशत ब्याज।

यदि आप गरीब परिवार से नहीं आते तो जीरो बैलेंस एकाउंट न खुलवाएं

यदि आप किसी गरीब परिवार से ताल्लुक नहीं रखते तो जीरो बैलेंस एकाउंट न खुलवाएं। इसकी एक बड़ी वजह यह है कि इन खातों में एक लाख से अधिक का लेन-देन (transaction) करने पर आपको पहले खाते को अपग्रेड (upgrade) करना पड़ेगा।

इसके लिए आपको चार्ज (charge) देना होगा। इसके साथ ही जीरो बैंक एकाउंट बैलेंस खातों में आपको चेक बुक (cheque book) नहीं मिलती। इसके साथ ही आप आरटीजीएस का ट्रांजेक्शन (RTGS transaction) नहीं कर पाते।

प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत 44 करोड़ से अधिक जीरो बैलेंस खाते खुले

साथियों, यह जानकारी बैंकिंग से जुड़े लोगों के लिए गर्व का विषय है। देश में प्रत्येक व्यक्ति का एक बचत खाता हो, इस उद्देश्य से शुरू की गई प्रधानमंत्री जनधन योजना के अंतर्गत अब तक 44 करोड़ से भी अधिक खाते खोले जा चुके हैं। इनमें डेढ़ हजार करोड़ से भी अधिक की राशि डिपाॅजिट है।

सरकार ने इन खातों के साथ देश के आम आदमी को कई प्रकार की सुविधाएं मुहैया कराईं, जैसे बीमा लाभ, जीरो बैलेंस की सुविधा, रूपे डेबिट कार्ड, ओवर ड्राफ्ट की सुविधा आदि। यही वजह है कि यह खाते बेहद तेजी से खुले। इन खातों के खुलने में तेजी का आलम यह था कि केंद्र सरकार के वित्तीय सेवा विभाग को एक सप्ताह में सबसे अधिक खाते खोले जाने के लिए गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड में भी जगह मिली।

लोगों तक उनके बीमा, पेंशन आदि का लाभ पहुंचाने में यह पेंशन बहुत कारगर साबित हुए। आज की तारीख में बहुत कम ऐसे लोग बचे हैं, जिनका किसी बैंक में खाता नहीं। सरकार के हर योजना को डीबीटी (DBT) मोड में लाए जाने से भी इस क्रम में आशातीत बढ़ोत्तरी हुई है।

जीरो एकाउंट खुलवाने के लिए अब वीडियो केवाईसी की भी सुविधा (now zero balance account has video conferencing kyc also)

मित्रों, आपको जानकारी दे दें कि कोटक महिंद्रा बैंक (kotak mahindra bank) की ओर से 811 डिजिटल बैंक एकाउंट (digital bank account) खोला जा रहा है। इस खाते पर ब्याज दर साढ़े तीन प्रतिशत है। इस तरह के खाते के लिए केवाईसी कराने को आपको बैंक में जाने की कोई आवश्यकता नहीं।

आप घर बैठे वीडियो केवाईसी के माध्यम से अपना खाता खुलवा सकते हैं। इस एकाउंट से आप एनईएफटी (NEFT) अथवा आईएमपीएस (imps) के जरिए भी आनलाइन पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। आपको यह भी जानकारी दे दें कि कोरोना काल में बैंक खुलवाने की इच्छा रखने वालों को बैंक में आकर भीड़ का सामना न करना पड़े, इसलिए अब बैंक वीडियो केवाईसी की सुविधा पर फोकस कर रहे हैं।

इससे ग्राहक का काम तो आसान होता है, बैंक के लिए भी काम आसान हो जाता है। यूं भी इन खातों की केवाईसी कराने के लिए कोई लंबे चौड़े दस्तावेजों (documents) की आवश्यकता नहीं होती। आधार कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस जैसा कोई भी एक दस्तावेज (document) दिखाकर एक वैध मोबाइल नंबर (valid mobile number) एवं फोटो के साथ आप अपना जीरो बैलेंस खाता खुलवा सकते हैं।

जनधन एकाउंट की खासियत तो यह है कि उसमें स्माॅल एकाउंट (small account) खुलवाने वालों को यह सब दस्तावेज दिखाने की भी आवश्यकता नहीं। वे केवल एक सेल्फ अटैस्टेड फोटो (self attested photo) ले जाकर बैंक अधिकारी (bank officer) के सामने प्रार्थना पत्र (application) पर दस्तखत (signature) कर अपना खाता खुलवा सकते हैं। इसमें वे अपनी छोटी छोटी बचत रख सकते हैं।

जीरो बैलेंस एकाउंट से क्या तात्पर्य है?

जीरो बैलेंस एकाउंट उसे कहा जाता है, जिसमें खाताधारक को कोई मिनिमम बैलेंस मेंटेन करने की बाध्यता नहीं होती। इसके लिए उस पर कोई जुर्माना नहीं पड़ता।

प्रधानमंत्री जनधन खाता क्या जीरो एकाउंट बैलेंस है?

जी हां, प्रधानमंत्री जनधन खाता एक जीरो एकाउंट बैलेंस है।

कौन-कौन से बैंक जीरो बैलेंस एकाउंट खोलने की सुविधा देते हैं?

यूं तो अधिकांश बैंक जीरो बैलेंस एकाउंट खोलने में दिलचस्पी नहीं दिखाते, लेकिन एसबीआई, बैंक आफ बड़ौदा, आईडीएफसी, एक्सिस बैंक, बैंक आफ इंडिया आदि जीरो बैलेंस एकाउंट खोलते हैं।

क्या घर बैठे जीरो बैंक एकाउंट बैलेंस चेक किया जा सकता है?

जी हां, विभिन्न बैंकों ने एक मिस्ड काॅल पर जीरो बैंक एकाउंट बैलेंस चेक करने की सुविधा मुहैया कराई है। इसकी डिटेल्स हमने आपको ऊपर पोस्ट में दी है।

जीरो एकाउंट बैलेंस में किस प्रकार की सुविधा नहीं मिलती?

जीरो एकाउंट बैलेंस में आम तौर पर चेक बुक, आरटीजीएस ट्रांजेक्शन आदि की सुविधा नहीं मिलती।

हमने आपको जीरो बैंक एकाउंट बैलेंस चेक कैसे करें? विषय पर विभिन्न बैंकों द्वारा इस संबंध में दी जा रही सुविधा की जानकारी दी। उम्मीद है कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी साबित होगी। यदि आप किसी अन्य महत्वपूर्ण विषय पर हमसे जानकारी चाहते हैं तो हमें नीचे दिए गए कमेंट बाक्स में कमेंट करके बता सकते हैं। ।।धन्यवाद।।

——————————

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment