बिज़नेस प्लान कैसे बनाएं? | Business plan kaise banaye

Business plan kaise banaye :- कुछ लोग नौकरी करते हैं तो कुछ को बिज़नेस करने में रुचि होती है। हर किसी की चाह और इच्छाएं अलग अलग होती है और वह उसी के अनुसार ही आगे का काम करता है। आज के इस लेख में हम आपके साथ बिज़नेस प्लान के बारे में ही बात करने जा रहे हैं। बहुत से लोग होते हैं जो बिज़नेस कर तो रहे होते हैं या शुरू करना तो चाहते हैं लेकिन उन्हें बिज़नेस प्लान के बारे में ही सही से जानकारी नहीं होती (Business plan ideas in Hindi) है।

अब आपने भी देखा होगा कि जिन लोगों को बिज़नेस करते हुए बहुत वर्ष हो गए लेकिन उनकी आज तक उन्नति नहीं हो पायी है तो इसका कारण क्या होता है? इसका मुख्य कारण होता है कि वे सही रणनीति के तहत काम नहीं कर रहे होते हैं जिस कारण वे आगे नहीं बढ़ पाते हैं। अब अपने बिज़नेस में सही रणनीति के तहत काम करने और निरंतर आगे बढ़ने के लिए एक सही प्लान की जरुरत होती है जिसे हम बिज़नेस प्लान कहते (Business plan format in Hindi) हैं।

ऐसे में आज के इस लेख में हम आपके साथ इसी बिज़नेस प्लान के ऊपर ही चर्चा करने वाले हैं। आज के इस लेख को पढ़कर आपको ना केवल बिज़नेस प्लान क्या है, इसके बारे में पता चलेगा बल्कि बिज़नेस प्लान कैसे बनाते हैं, के बारे में भी संपूर्ण जानकारी मिलेगी। तो आइये जाने बिज़नेस प्लान के बारे में (Business plan for startup in Hindi) सबकुछ।

Contents show

बिज़नेस क्या है? (Business kya hai)

बिज़नेस प्लान में एक नहीं बल्कि कई तरह की चीजें आती है जिनका आपस में संबंध होता है। अब हर बिज़नेस एक दूसरे से अलग होता है और इसमें सभी चीजें भी अलग हो सकती है। उदाहरण के तौर पर कोई किरयाने की दुकान का बिज़नेस कर रहा है तो वह अलग होता है तो किसी का कपड़े का व्यापार होता है तो किसी का मेडिकल में होता है तो कोई कुछ बनाने का काम करता (Business kya hota hai) है। एक तरह से बिज़नेस किस किस तरह के होते हैं, उसके बारे में समझ लेते हैं, फिर हम बिज़नेस प्लान क्या है, के बारे में जानेंगे।

Business plan kaise banaye

उत्पाद बनाने का काम

यह सबसे मुख्य बिज़नेस होते हैं जो किसी उत्पाद को बनाने का काम कर रहे होते हैं। अब वह उत्पाद कोई भी हो सकता है और इसमें छोटी से लेकर बड़ी कंपनियां तक आती है। अब जो मोबाइल आप इस्तेमाल करते हैं, वह एक उत्पाद है तो जो चप्पल आपने पहन रखी है, वह भी एक उत्पाद है। जिस साबुन से आप नहाते हैं, वह भी एक उत्पाद है तो जिस वाहन से आप यात्रा करते हैं, वह भी एक उत्पाद है।

उत्पाद बेचने का काम

सामान्य तौर पर जो बिज़नेस उत्पाद या प्रोडक्ट को बनाने का काम कर रहा होता है, वह उसे बेचने का काम नहीं करता है। इसके लिए आपको दुकानों पर जाना होता है और वहां से अपना सामान खरीदना होता है। अपने आसपास आपको सामान बेचने की जो भी दुकाने दिखती हैं और जहाँ से आप खरीदारी करते हैं, वह सभी उत्पाद को बेचने का ही काम कर रही होती हैं।

डायरेक्ट सर्विस देने का काम

उत्पाद के बाद बारी आती है सर्विस प्रदान करने वाले बिज़नेस की। यह वह बिज़नेस होते हैं जहाँ आप किसी सेवा के बदले में उन्हें पैसा देते हैं। उदाहरण के तौर पर आपको अपने बाल कटवाने हो या ब्यूटी पार्लर जाना हो तो उसके लिए आप कुछ खरीद नहीं रहे हैं, बल्कि उन्हें सेवा देने के बदले में पैसा दे रहे हैं। तो इस तरह के सभी बिज़नेस इसी श्रेणी में आते हैं।

बिज़नेस इंटरलिंक का काम

यह बिज़नेस को ही बिज़नेस से लिंक करने का काम करते हैं और इनके बिना कोई बिज़नेस चल भी नहीं सकता है। उदाहरण के तौर पर एक कंपनी की फैक्ट्री गुजरात में है और वह साबुन बनाने का काम करती है। अब राजस्थान की किसी दुकान या शहर में उसको साबुन पहुंचानी है तो उसके लिए इसी इंटरलिंक वाले बिज़नेस की जरुरत पड़ती है।

फ्रैंचाइज़ी बिज़नेस

आज के समय में फ्रैंचाइज़ी बिज़नेस भी बहुत खुल चुके हैं जिनका संबंध ज्यादातर बड़ी बड़ी कंपनियों या बिज़नेस से होता है। यह खाने, कपड़े, वाहन इत्यादि किसी से भी जुड़े हुए हो सकते हैं। तो आपके शहर में भी कोई ऐसा आउटलेट है तो वह फ्रैंचाइज़ी बिज़नेस पर काम कर रहा होता है।

डिलीवरी बिज़नेस

अब हम ऑनलाइन कितना काम करते हैं लेकिन साथ ही ऑनलाइन खरीदारी भी तो करते हैं। ऐसे में उन सामान को डिलीवर करने का काम भी तो एक बिज़नेस ही होता है। इसलिए आपके घर तक जो सामान पहुँच रहा है उसे ही डिलीवरी बिज़नेस कहा जाता है।

ऑनलाइन बिज़नेस

अब ऑनलाइन सामान डिलीवर हो रहा है तो अवश्य ही वहां भी तो कोई बिज़नेस ही कर रहा है। ऐसे में आज के समय में ऑनलाइन बिज़नेस करने का चलन भी बहुत ही तेजी के साथ आगे बढ़ा है।

बिज़नेस प्लान क्या होता है? (Business plan kya hota hai)

अब जब आपने बिज़नेस के तरह तरह के प्रकारों के बारे में जानकारी ले ली है तो बारी आती है बिज़नेस प्लान में क्या कुछ आता है, उसे समझने की। तो बिज़नेस प्लान में कई तरह की चीजें आ सकती है, जिनमें से कुछ मुख्य चीज़ों के बारे में आज हम आपको बताने वाले (Business plan kya hai) हैं।

बिज़नेस का नाम

सबसे पहले तो आपको अपने बिज़नेस के लिए एक अच्छा सा नाम सोच लेना चाहिए। यह नाम आपको बहुत सोच समझ कर रखना चाहिए क्योंकि आगे चलकर यही आपके बिज़नेस की मुख्य पहचान बनने वाला है। इसलिए बिज़नेस का नाम बहुत ही महत्वपूर्ण होता है।

बिज़नेस का क्षेत्र

बिज़नेस किस चीज़ में करने जा रहे हैं और उसका क्षेत्र किस तरह का होगा, उसके बारे में भी संपूर्ण जानकारी एक सही बिज़नेस प्लान में होती है। इसलिए बिज़नेस में काम करने वाले लोगों, उसमें जरुरत में आने वाले सभी चीज़ों के बारे में जानकारी इसके अंदर होनी चाहिए।

बाजार का आंकलन

जिस भी क्षेत्र में आप बिज़नेस करने जा रहे हैं, उसमें बाजार की क्या स्थिति है और किस तरह का काम वहां हो रहा है, उसके बारे में भी आपको इसी में ही जानकारी लिखनी होगी। ऐसे में बाजार का पूरा लेखा जोगा आपको बिज़नेस प्लान में डालना होगा।

प्रतिस्पर्धी का ब्यौरा

आप जिस भी बिज़नेस में कदम रखने जा रहे हैं या रख चुके हैं, उसमें पहले से कितने लोग काम करते हैं और आपको उनके साथ किस तरह से काम करना है, यह सब कुछ भी आपको अपने बिज़नेस प्लान में डालना होगा।

बिज़नेस की क्षमता

आपके बिज़नेस करने की क्या क्षमता होगी और आप किस स्तर पर काम शुरू करेंगे, उसके लिए कितने सामान और लोगों की जरुरत पड़ेगी, वह सबकुछ भी एक अच्छे बिज़नेस प्लान का हिस्सा होना चाहिए। ऐसे में आपके बिज़नेस करने की संपूर्ण क्षमता को इसमें लिखना होगा।

पैसों का लेनदेन

आप पैसों का लेनदेन कैसे करेंगे, उसके लिए कितने पैसों की जरुरत पड़ेगी, आपके पास उतने पैसे हैं या आपको कहीं से ऋण लेने की जरुरत होगी इत्यादि, यह सभी भी बिज़नेस प्लान में ही लिखा हुआ होना चाहिए।

मार्केटिंग की स्ट्रेटेजी

केवल बिज़नेस को शुरू कर लेना ही पर्याप्त नहीं होता है बल्कि इसे आगे बढ़ाने के लिए आप क्या कुछ करते हैं और किस तरह की मार्केटिंग स्ट्रेटेजी को अपनाते हैं, यह भी बहुत जरुरी होता है। ऐसे में आप किस तरह से अपने बिज़नेस की मार्केटिंग करने वाले हैं, वह भी बिज़नेस प्लान का ही हिस्सा होना चाहिए।

इस तरह से एक बिज़नेस प्लान में यह सब चीजें तो होनी ही चाहिए। अब इनके अलावा भी कुछ चीजें हो सकती है जिनके बारे में आप स्वयं निर्णय ले सकते हैं। अब हम बात करेंगे कि बिज़नेस प्लान को किस तरह से बनाया जाना चाहिए ताकि वह अपने आप में संपूर्ण हो। आइये जाने उसके बारे में भी।

बिज़नेस प्लान कैसे बनाएं? (Business plan kaise banaye)

बिज़नेस प्लान क्या होता है, यह जानने के बाद बारी आती है बिज़नेस प्लान को किस तरह से बनाया जा सकता है, इसके बारे में जानने की। अब यह किस रूप में होना चाहिए, यह तो हर बिज़नेस के प्रकार पर निर्भर करता है लेकिन इसे बनाने के लिए आपके पास किस किस तरह की चीज़े होनी चाहिए और उसके लिए आपको किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए, उनके बारे में हम अवश्य जान सकते (Business plan kaise banaya jata hai) हैं।

एक सही बिज़नेस प्लान को बनाने के लिए सही मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है। ऐसे में आपको अपना बिज़नेस प्लान बनाने के लिए यह सब काम करने होंगे:

अपने बिज़नेस के लक्ष्य निर्धारित करना

सबसे पहले तो आपको अपने बिज़नेस के लक्ष्य और गोल को निर्धारित करने की जरुरत है। यदि आपका लक्ष्य ही स्पष्ट नहीं है तो फिर बिज़नेस प्लान बनाने का कोई लाभ नहीं होगा। इसलिए आप क्या करना चाहते हैं और क्यों वह बिज़नेस कर रहे हैं और इससे आप क्या कुछ हासिल करना चाहते हैं, यह सब आपके बिज़नेस प्लान में लिखा हुआ होना (Business plan kaise banta hai) चाहिए।

बाजार का संपूर्ण विश्लेषण करना

बिज़नेस प्लान को बनाने के लिए आपको उसमें बाजार की मौजूदा स्थिति का क्या कुछ आंकलन है, क्या कुछ करना बाकी है और क्या कुछ नया किया जा सकता है, किस चीज़ को छोड़ा जा सकता है इत्यादि के बारे में लिखा जाना चाहिए। एक तरह से बाजार का संपूर्ण विश्लेषण और उसका आंकलन आपको अपने बिज़नेस प्लान में समाहित करने की जरुरत है तभी यह आगे बढ़ (Business plan bnane ke liye kya kare) पायेगा।

कच्चे माल की सप्लाई देखना

किसी भी बिज़नेस को करने के लिए कच्चे माल और उसकी बिना किसी रूकावट के सप्लाई की भी जरुरत पड़ती है। इसी कच्चे माल से ही आप अपने उत्पाद का निर्माण कर पाते हैं या उन्हें आगे भेज पाते हैं। अब यह उस पर निर्भर करता है कि आपका बिज़नेस किस चीज़ का है और उसके लिए आपको किस किस चीज़ की जरुरत पड़ने वाली है। इसलिए आपको कच्चे माल की सप्लाई कहाँ से लेनी है और उसके लिए क्या करना होगा, इसके बारे में अपने बिज़नेस प्लान में मेंशन करना होगा।

कर्मचारियों की संख्या

आपके बिज़नेस में कर्मचारियों की संख्या क्या रहेगी और आप उनके जरिये किस तरह से आगे बढ़ने वाले हैं, इसके बारे में भी आपको अपने बिज़नेस प्लान में ही बताना होगा। अब कोई भी बिज़नेस अकेले दम पर तो खड़ा नहीं किया जा सकता है और इसके लिए बहुत ज्यादा परिश्रम और लोगों की भी जरुरत पड़ती है। ऐसे में आपके साथ कौन कौन काम कर रहा है, फिर चाहे वह आपके पार्टनर हो या कर्मचारी या कोई अन्य काम करने वाले उत्पादि, उन सभी की जानकारी भी आपको अपने बिज़नेस प्लान में देनी होती (Business plan kaise banega) है।

पैसों की जरुरत

बिज़नेस को शुरू करने के लिए, उसे जारी रखने के लिए और उसे निर्बाध रूप से आगे बढ़ाने के लिए पैसों की जरुरत पड़ती है। अब किसी के पास यह पैसा होता है तो किसी को इसका इन्तेजाम करने की जरुरत होती है। ऐसे में आप अपने बिज़नेस के लिए यह पैसा कहाँ से लाने वाले हैं और उसके लिए आपकी क्या कुछ योजना है, इसको सोचना बहुत ही ज्यादा जरुरी होता है। इसके लिए आप अभी से ही तैयारी शुरू कर देंगे तो बहुत सही रहेगा।

ग्राहक की जरुरत को समझना

बिज़नेस प्लान को बनाते समय जो एक चीज़ सोचनी और समझनी बहुत ज्यादा जरुरी होती है, वह है अपने ग्राहकों की जरुरत को समझा जाना। अब आप यह बिज़नेस कर रहे हैं तो किसलिये कर रहे हैं? आपका उत्तर होगा पैसा कमाने के लिए लेकिन आपका मुख्य लक्ष्य होगा अपने ग्राहकों को संतुष्ट करना और उन्हें बेहतर से बेहतर चीज़ उपलब्ध करवाना। यदि ग्राहक खुश हैं तो अवश्य ही आपका बिज़नेस भी आगे बढ़ेगा और आप बहुत जल्द बहुत सारा पैसा भी कमा पाएंगे।

प्रोडक्ट या सर्विस की विशेषता

यह वाला पॉइंट कुछ हद्द तक ऊपर वाले पॉइंट से ही लिंक मान लीजिये क्योंकि आपको अपने प्रोडक्ट या सर्विस की विशेषता पर ध्यान रखने की जरुरत है। आप लोगों को क्या चीज़ दे रहे हैं, वह बाकि प्रोडक्ट्स से किस तरह से अलग है, उनमें क्या कुछ नया है, वह किस तरह से लोगों की सहायता कर सकता है, इत्यादि का ध्यान रखा जाना बहुत ही ज्यादा जरुरी होता है। इसलिए इस पर अभी से ही सोचना शुरू कर देंगे तो बहुत सही रहेगा।

प्रोमोशन व मार्केटिंग की तकनीक

केवल अच्छा प्रोडक्ट बना देना या सही सर्विस देना ही पर्याप्त नहीं होता है बल्कि इसके लिए प्रोमोशन व मार्केटिंग की भी जरुरत पड़ती है। वह इसलिए क्योंकि यदि आपके बारे में लोगों को पता ही नहीं होगा तो वे कैसे ही आपसे संपर्क कर पाएंगे। इसलिए बिज़नेस प्लान में मार्केटिंग व प्रोमोशन की सही स्ट्रेटेजी का डाला जाना भी बहुत ज्यादा जरुरी हो जाता है। इस पर आप पूरा फोकस रखें और अच्छे से प्लान बनाएं।

डिस्ट्रीब्यूशन कैसे होगा

बिज़नेस को शुरू करने के बाद आप जो भी चीज़ बना रहे हैं या जो भी काम कर रहे हैं, उसका डिस्ट्रीब्यूशन अर्थात वितरण करने की भी तो जरुरत होगी। ऐसे में वह वितरण किस तरह से होगा और उसके लिए आपको किन किन चीज़ों का ध्यान रखने की जरुरत है, इसके बारे में पता लगाना बहुत जरुरी होता है। बहुत से लोग इसी चीज़ में मात खा जाते हैं और उनका बिज़नेस शुरू होने से पहले ही डूब जाता है।

कमाई व ग्रोथ के आंकड़े

बिज़नेस प्लान में हमेशा आपकी कमाई और ग्रोथ के आंकड़े भी होने चाहिए। अब आप सोच रहे होंगे कि जब आपने बिज़नेस शुरू ही नहीं किया है तो फिर उसमें कमाई और ग्रोथ के आंकड़े कैसे हो सकते हैं तो यहाँ हम असली आंकड़ों की बात नहीं कर रहे हैं। आपको उसमें यह बताना होगा कि आप अपने बिज़नेस को लेकर आगे के लिए क्या सोच रखते हैं और किस तरह से आप आगे जाकर उन्नति करने वाले हैं।

download app

बिज़नेस प्लान कैसे बनाएं – Related FAQs

प्रश्न: 12 महीने चलने वाला बिजनेस कौन सा है?

उत्तर: ऐसे कई तरह के बिज़नेस होते हैं जो बारह महीने चलते हैं जैसे कि किराने की दुकान हो गयी या फिर सब्जी बेचना या मोबाइल शॉप इत्यादि।

प्रश्न: गांव में सबसे अच्छा बिजनेस कौन सा है?

उत्तर: गाँव में सबसे अच्छा बिज़नेस खेती से जुड़ा सामान बेचना और लोगों को शिक्षा देने का होता है। इसके लिए आप गाँव में एक स्किल डेवलपमेंट की कक्षा खोल सकते हैं।

प्रश्न: बिजनेस प्लान कैसे तैयार करें?

उत्तर: यदि आपको अपने लिए एक बिज़नेस प्लान तैयार करना है तो उसके लिए सभी तरह की महत्वपूर्ण जानकारी हमने इस लेख में उपलब्ध करवायी है जिसे आप पढ़ सकते हैं।

प्रश्न: 200000 में कौन सा बिजनेस शुरू करें?

उत्तर: यदि आपको 2 लाख रुपये में किसी बिज़नेस की शुरुआत करनी है तो आप मोबाइल पार्ट्स के सामान बेचने की दुकान खोल सकते हैं क्योंकि आज के समय में इनकी माँग बहुत ज्यादा रहती है।

तो इस तरह से इस लेख के माध्यम से आपने बिजनेस प्लान कैसे बनाना है इसके बारे में जानकारी हासिल कर ली है। हमने आपको बिज़नेस प्लान बनाने के लिए पूरी प्रक्रिया को चरण दर चरण तरीके से समझाया है। अगर आप हमारे द्वारा बताई गई प्रक्रिया का पालन करते हुए बिजनेस प्लान बनायेंगे तो आपका बिजनेस जरूर सफल होगा। आशा है कि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी समझ आई होगी। फिर भी यदि कोई शंका आपके मन में शेष है तो आप हम से नीचे कॉमेंट करके पूछ सकते हैं।

लविश बंसल
लविश बंसल
लविश बंसल वर्ष 2010 में लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में प्रवेश लिया और वहां से वर्ष 2014 में बीटेक की डिग्री ली। शुरुआत से ही इन्हें वाद विवाद प्रतियोगिता में भाग लेना या इससे संबंधित क्षेत्रों में भाग लेना अच्छा लगता था। इसलिए ये काफी समय से लेखन कार्य कर रहें हैं। इनके लेख की विशेषता में लेख की योजना बनाना, ग्राफ़िक्स का कंटेंट देखना, विडियो की स्क्रिप्ट लिखना, तरह तरह के विषयों पर लेख लिखना, सोशल मीडिया कंटेंट लिखना इत्यादि शामिल है।
WordPress List - Subscription Form
Never miss an update!
Be the first to receive the latest blog post directly to your inbox. 🙂

Leave a Comment