BS4 Manak Kya Hai – BS6 Kya Hai – बीएस 6 कब लागू होगा?

BS4 Manak in Hindi : भारतीय सड़कों पर दौड़ने वाले वाहनों के लिये अभी BS4 Manak लागू हैं। इस समय भारत में जो भी Two Wheelers और 4 Wheelers वाहनों का निर्मांण हो रहा है। वह सभी BS4 Manak की शर्तों को पूरा करते हैं। बीएस 4 मानक वाले 2 पहिया तथा 4 पहिया वाहन अधिक मात्रा में प्रदूषण नहीं करते हैं।

What is BS4 Manak in Hindi जैसे जैसे देश की सड़कों पर वाहनों की संख्‍या बढ़ रही है। वैसे वैसे इन वाहनों से होने वाले प्रदूषण के उत्‍सर्जन को लेकर चिंता भी बढ़ती जा रही है। इसलिये देश में ऐसी Technology वाले वाहनों का विकास करने पर बल दिया जा रहा है। जिससे कम से कम मात्रा में प्रदूषण फैले।

BS4 Manak Kya Hai

What is BS4 in Hindi : दुनिया भर में तेजी से फैल रहे Pollution की वजह से यूरोपियन देशों में इसको लेकर गहरी चिंता है। यही कारण है कि यूरोपियन देशों में वाहनों से होने वाले प्रदूषण की रोकथाम के लिये European Pollution Norms बनाये गये हैं। इन यूरोपियन Pollution Norms को पूरी दुनिया को देशों ने मान्‍यता प्रदान की है। लेकिन भारत ने इन नियमों को यूरोपीय देशों के स्‍वरूप में नहीं अपनाया। बल्कि अपने देश के लिये BSES मानक प्रणाली का विकास किया। इन्‍हीं European Pollution Norms को भारत में BSES यानि European Pollution Norms के रूप में जाना जाता है।

BS4 Manak Full Form in Hindi

दोस्‍तों BS4 Full Form हिंदी में भारत स्‍टेज उत्‍सर्जन मानक कहा जाता है। यह European Pollution Norms की शर्तों पर पूरी तरह खरा उतरता है।

BS4 Manak Full Form in English

BS4 Full Form in English – Bharat Stage Emission Standards है।

BS4 Engine Technology क्‍या है?

भारत सरकार के निर्धारित कार्बन उत्‍सर्जन मानक जिसे BS4 Manak कहते हैं। इस मानक के अनुरूप बनने वाले वाहनों में आंतरिक दहन इंजन तथा Spark Ignition Engine लगाये जाते हैं। इस प्रकार की Technology के तहत बनने वाले वाहनों से बहुत कम मात्रा में कार्बन उत्‍सर्जन होता है।

वर्तमान में BS4 मानक पूरे देश में लागू है और इस नियम का पालन देश के पर्यावरण तथा वजन मंत्रालय तथा केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के द्धारा कराया जा रहा है।

बीएस 4 मानक वाले वाहनों को क्‍यों हटाया जाएगा?

अभी पिछले साल ही BS4 मानक के वाहन बाज़ार में आये थे. और सरकार ने BS3 मानक वाहन की बिक्री पर पूरी तरह से रोक लगा दी थी. और अभी इतनी जल्दी भारत में BS4 मानक के वाहन की नई बिक्री पर रोक इस बित्तीय वर्ष के अंत में लग जाएगी. और सरकार BS5 मानक को छोड़कर डायरेक्ट BS6 मानक ला रही है.  ऐसे में आप भी यही सोच रहे होगें की आखिर BS4 को इतनी जल्दी बंद क्यों किया जा रहा है.

देश में बहुत जल्‍दी BS4 मानक वाले वाहनों की जगह BS6 वाहन लेने वाले हैं। केंद्र सरकार ने बीएस 4 मानक को पूरी तरह हटा कर BS6 Manak वाले वाहन वाली व्‍यवस्‍था लागू करने का पूरा मन बना लिया है। इसकी सबसे बड़ी वजह इनसे भारी मात्रा में फैलने वाला प्रदूषण है।

Also Read :

BS5 मानक देश में लागू क्‍यों नहीं होगा?

वैसे देखा जाये तो देश में बीएस 4 मानक के स्‍थान पर बीएस 5 मानक लागू होना चाहिए। पर ऐसा नहीं होने जा रहा है। भारत ने जलवायु परिवर्तन पर एक कड़ा फैसला लिया है। जिसके लिये देश में सीधे बीएस 6 मानक लागू किया जाएगा।

बीएस 5 को लागू करने करने से देश को पर्यावरण स्‍वच्‍छता के क्षेत्र में उतने अच्‍छे परिणाम नहीं मिलेंगें। जितने कि BS6 Manak लागू करने के बाद हासिल होने वाले हैं।

Bharat Stage Emission Standards (BS6) लागू करने की Deadline क्‍या है?

दोस्‍तों अगले साल 2020 में देश में BS4 Manak को पूरी तरह अ‍लविदा कह दिया जाएगा। इसके बजाये देश में भारत स्‍टेज 6 मानक लागू होगा।

BS6 के लागू होते ही वाहन निर्माता कंपनियां कम प्रदूषण उत्‍पन्‍न करने वाले इंजिनों को लगा कर ही अपने वाहन बेंच पाएंगीं। फिर वह Bike हों या फिर SUV, इसके अलावा देश भर के सभी पेट्रोल पंपों पर बीएस 6 मानक वाला पेट्रोल, डीजल बिकने लगेगा। बीएस 4 मानक वाले वाहन तथा बीएस 6 मानक वाला ईंधन दोनों को ही बाजार से पूरी तरह हटा लिया जाएगा।

BS6 Latest News के अनुसार 1 अप्रैल 2020 से देश में भारत स्‍टेज 6 मानक वाले ही वाहन और पेट्रोल बिक सकेगा।

BS4 Manak के बजाये भारत स्‍टेज 6 मानक पर माननीय सुप्रीम कोर्ट ने कौन सा आदेश दिया है?

जब से भारत सरकार ने देश में BS6 Manak लागू करने का मन बनाया है। तब से वाहन निर्मांता कंपनियों में खलबली मची हुई है। ऑटोमोबाइल कंपनियों की मंशा इसे टालने की थी। लिहाजा उन्‍होंने BS6 Manak लागू करने के फैसले को अनुचित बता कर टालने का प्रयास किया।

लेकिन पर्यावरण को जिस प्रकार दिन प्रतिदिन क्षति पहुंच रही है। उसे देखते हुए माननीय सुप्रीम कोर्ट ने बीएस 6 मानक को लेकर कड़ा आदेश दिया। सुप्रीम कोर्ट ने इस संबंध में एक फैसला सुनाते हुए कहा कि 1 अप्रैल 2020 से केवल BS6 Manak वाले वाहन और ईंधन बिक सकेंगें।

अप्रैल 2020 से BS6 Manak पूरे नहीं होने से क्‍या होगा?

यदि आप कार शो रूम से कोई ऐसा वाहन खरीद रहे हैं। जो BS4 Manak के अंतर्गत बना हुआ हो। तो उसका Registration नहीं हो सकेगा।

1 अप्रैल से केवल उन्‍हीं वाहनों के रजिस्‍ट्रेशन आरटीओ ऑफिस से कराये जा सकेंगे। जिन वाहनों के पास बीएस 6 प्रमाणपत्र होगा।

BS6 Manak लागू होने के बाद पुरानी Cars, Bikes का क्‍या होगा?

जैसा कि मैंनें ऊपर आपको बताया कि 2020 से उन्‍हीं नये वाहनों का रजिस्‍ट्रेशन किया जाएगा। जो बीएस 6 मानक पूरे करते होंगे। वहीं जो वाहन पुराने हैं और उनका पूर्व में रजिस्‍ट्रेशन हो चुका है। वह सड़कों से तुरंत नहीं हटाये जाएंगें। वह पूर्व की भांति सड़कों पर दौड़ते रहेंगें।

हालांकि दिल्‍ली, मुंबई जैसे बड़े और प्रदूषित शहरों से BS4 Manak वाले वाहनों को पूरी तरह शहर से बाहर निकाला भी जा सकता है। लेकिन ऐसा होगा कि नहीं यह फैसला तो सरकार को ही करना पड़ेगा। जो वाहन बड़े मेट्रोपोलेटिन शहरों से हटा दिये जाएंगें। उन्‍हें छोटे शहरों में ट्रांसफर करा कर वहां चलाया जा सकेगा। लेकिन ऐसे वाहनों को दिल्‍ली, मुंबई जैसे शहरों में इंट्री नहीं मिलेगी।

BS6 Manak लागू होने के क्‍या लाभ होंगें?

भारत में BS6 मानक के लागु होने पर देश को क्या लाभ होगा, इस बारे में जानना बहुत जरुरी है. BS6 मानक के लाभ आप इस तरह समझ सकतें हैं –

  • बीएस 6 मानक वाले वाहनों से होने वाले शोर में कमी आएगी।
  • इस वाहनों में साफ पेट्रोल और डीजल डाला जाएगा। जिससे वायु प्रदूषण में गिरावट दर्ज होने की पूरी संभावना है।
  • प्रदूषण के मामले में पेट्रोल तथा डीजल वाहनों के बीच कोई बड़ा अंतर नहीं रह जाएगा। डीजल कारें भी लगभग पेट्रोल के बराबर ही प्रदूषण उत्‍पन्‍न करने लगेगीं।
  • डीजल वाले वाहनों से लगभग 68% नाइट्रोजन ऑक्‍साइट का कम उत्‍सर्जन होगा।
  • जबकि पेट्रोल वाहनों से निकलने वाली नाइट्रोजन ऑक्‍साइट में 25% की सीधी गिरावट देखने को मिलेगी।
  • वहीं डीजल वाहनों से निकलने वाले पीएम उत्‍सर्जन में 80% तक की कमी आएगी।

कुल मिला कर बीएस 6 मानक पुराने BS4 Manak से कहीं ज्‍यादा अच्‍छा है। यही कारण है कि देश में भारत स्‍टेज 5 को लागू करने की बजाये सीधे BS6 Manak लागू किया जा रहा है। आने वाले दिनों हम सभी को भारत सरकार और माननीय सुप्रीम कोर्ट के द्धारा लिये गये इस फैसले का सकारात्‍मक असर दिखाई देने लगेगा।

BS6 Fuel के लाभ

जिस प्रकार वाहन कंपनियां अपने वाहनों में उन्‍नत इंजिन लगा कर बाजार में बेंचेगी। ठीक वैसे ही पेट्रोल पंपों से हमें साफ सुथरा BS6 Fuel भी मिलेगा।

जिसकी वजह से कार्बन डाइ ऑक्‍साइट तथा नाइट्रोजन ऑक्‍साइड में कमी आएगी। इसके अलावा डीजल वाहन बड़ी मात्रा में पार्टिकुलैट मैटर भी हवा में छोड़ते हैं।

लेकिन BS6 Fuel के कारण पार्टिकुलैट मैटर यानि PM के स्‍तर में गिरावट होगी और‍ दिल्‍ली मुंबई जैसे बड़े शहर जहां वाहनों की संख्‍या बहुत अधिक है, वहां की आबोहवा में सुधार होगा।

तो दोस्तों ये थी BS4 Manak Kya Hai – BS6 Kya Hai – बीएस 6 कब लागू होगा? के बारे में आवश्यक जानकारी. यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें. साथ ही यदि आपका किसी प्रकार का कोई सवाल हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करें हम जल्द ही आपके सवालों के जवाब देगें ।। धन्यवाद ।।

Sharing is caring

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।