बाइक लोन ना चुका पाने पर क्या होता है? | Bike loan na chuka pane par kya hota hai

|| बाइक लोन ना चुका पाने पर क्या होता है? | Bike loan na chuka pane par kya hota hai | What happens if the bike loan is not repaid in Hindi | What is bike loan in Hindi | Bike loan kaise milta hai | क्या आपको बाइक लोन नहीं चुकाने पर जेल हो सकती है? ||

Bike loan na chuka pane par kya hota hai :- हमें कई चीज़ों के लिए बैंक से या अन्य किसी वित्तीय संस्था से लोन लेना पड़ सकता है। आपने भी कई चीज़ों के लिए लोन के लिए आवेदन दिया होगा या उसे ले रखा होगा। अब लोन भी कई तरह के होते हैं जैसे कि होम लोन, पर्सनल लोन, व्हीकल लोन, एजुकेशन लोन इत्यादि। अब इस तरह के लोन व्यक्ति को समय समय पर लेने पड़ जाते हैं ताकि वह अपनी और अपने परिवार की जरूरतों को पूरा कर (Bike loan nahi bhara to kya hoga) सके।

ऐसे में यदि आपने बाइक लोन लिया है और हर महीने उसकी किश्त चुका रहे हैं तो आप अकेले नहीं हैं। वह इसलिए क्योंकि भारत देश में लाखों लोगों के द्वारा बाइक लोन लिया जाता है और फिर मासिक तौर पर उसकी किश्त का भुगतान किया जाता है। अब इतने लोग बाइक लोन ले रहे हैं तो इसका अर्थ यह नहीं है कि उन सभी में से किसी को भी आगे चल कर उसकी किश्त को चुकाने में दिक्कत ना आये। अब यदि किसी व्यक्ति के द्वारा समय पर बाइक लोन नहीं चुकाया गया है या उसमें देरी हो गयी है तो क्या होता (Bike loan rules in Hindi) है।

आज के इस लेख में हम आपके साथ इसी विषय पर ही बातचीत करने वाले हैं। आज हम आपको बताएँगे कि यदि आप अपनी बाइक के लिए लिया गया लोन समय पर नहीं चुकाते हैं या फिर चुकाते ही नहीं हैं तो आप पर क्या कुछ एक्शन लिया जा सकता है। साथ ही बाइक लोन नहीं चुका पाने की स्थिति में क्या कार्यवाही की जा सकती (Bike loan na chuka pane par) है।

बाइक लोन ना चुका पाने पर क्या होता है? (Bike loan na chuka pane par kya hota hai)

अब देश में एक कंपनी की नहीं बल्कि कई तरह की कंपनियों की बाइक आती है। साथ ही एक ही कंपनी की सैकड़ों तरह की बाइक होती है और उनके भाव भी अलग अलग होते हैं। सामान्य तौर पर किसी भी बाइक का रेट 50 हज़ार से चालू हो जाता है लेकिन यदि आपको एक सही और बढ़िया बाइक चाहिए तो वह कम से कम एक लाख तक की आती ही है। इतना ही नहीं, अब तो लोग अपने शौक के लिए और अपनी पसंद को ध्यान में रखते हुए महँगी बाइक लेने से भी नहीं कतराते (Bike loan na chuka pane par kya hota hai in Hindi) हैं।

बाइक लोन ना चुका पाने पर क्या होता है Bike loan na chuka pane par kya hota hai

अब ज्यादा अच्छी दिखने वाली और बड़े इंजन वाली बाइक महँगी भी आती है जिसकी कीमत 2 लाख से भी ऊपर जा सकती है। हम यह नहीं कह रहे हैं कि आपको महँगी बाइक नहीं खरीदनी चाहिए क्योंकि यह तो पसंद पसंद की बात है। अब होता क्या है कि लोग जब बाइक खरीदने जाते हैं या जब उन्हें उसकी जरुरत पड़ जाती है, तब उन्हें उसके लिए पैसों की भी व्यवस्था करनी पड़ती है। ऐसे में यदि उनके पास इतने पैसे नहीं है या कम पैसे हैं तो लोन लेना पड़ता (What happens if the bike loan is not repaid in Hindi) है।

ऐसे में यदि आपको बाइक लोन नहीं चुकाने के बारे में जानना है तो पहले आपको बाइक लोन होता क्या है और यह किसलिये लिया जाता है, इसके बारे में भी जान लेना चाहिए। इसे जानकर ही तो आप आगे की जानकारी ले पाएंगे। तो आइये बाइक लोन के बारे में शुरू से लेकर अंत तक संपूर्ण जानकारी ले लेते हैं।

बाइक लोन क्या होता है? (Bike loan kya hota hai in Hindi)

बहुत से लोगों को तो यही नहीं पता होगा कि बाइक को लेने पर भी लोन मिलता है। साथ ही उन्हें बाइक लोन के बारे में इतनी जानकारी भी नही होगी। उन्हें लगता होगा कि बैंक उन्हें बाइक खरीदके देता है या बाइक ही लोन पर अर्थात रेंट पर मिलती है। तो यदि आप भी ऐसा कुछ ही सोच रहे हैं तो आप गलत हैं। हम उदाहरण सहित आपको समझा देते हैं।

अब मान लीजिये कि आपको ऑफिस जाने के लिए बाइक की जरुरत है। तो ऐसे में आप हीरो कंपनी की बाइक लेने के लिए उसके शोरूम जाते हैं। आपके पास इसके लिए 40 हज़ार रुपये हैं लेकिन जो बाइक आपको पसंद आयी वह एक लाख की है। तो या तो आप पहले एक लाख की व्यवस्था कीजिये और तब तक बाइक को लेने की प्रतीक्षा कीजिये या फिर आप वहां चल रहे ऑफर या बैंक से बातचीत कर उसके लिए लोन ले (What is bike loan in Hindi) लीजिये।

इसके लिए आप अपने बैंक या अन्य किसी बैंक में जाकर वहां बाइक लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं। तो होगा क्या कि वह बैंक आपको एक लाख में से 60 हज़ार रुपये भरने में मदद करेगा। एक तरह से वह बैंक आपको ब्याज पर कर्ज दे रहा है जिसका भुगतान आपको महीने दर महीने की किश्त से करना होगा। तो इस तरह से आपको बाइक खरीदने के लिए एक लाख रुपये की जरुरत थी जिसमें से 40 हज़ार आपके पास थे और बाकि के 60 हज़ार बैंक ने दे दिए। तो आप बाइक ले लेंगे और उस बाइक लोन को धीरे धीरे करके चुका देंगे।

बाइक लोन क्यों लेते हैं?

अब आपको यह भी जान लेना चाहिए कि आखिरकार लोगों के द्वारा बाइक लोन लेने की क्या ही जरुरत पड़ जाती है। तो इसके कई कारण हो सकते हैं जो हर व्यक्ति के लिए भिन्न भिन्न हो सकते हैं। एक तरह से यह उस व्यक्ति की आर्थिक स्थिति, निजी कारणों तथा अन्य कुछ परिस्थितियों के कारण हो सकते हैं जिस कारण वह व्यक्ति बाइक लोन लेता है या कुछ मात्रा में लेने का निर्णय लेता है।

ऐसे में हम यहां कुछ सामान्य परिस्थितियां रखने जा रहे हैं जो ज्यादातर मामलों में देखने को मिलती है। तो आइये जाने बाइक लोन लेने के कुछ प्रमुख कारणों के बारे में।

  • सबसे मुख्य कारण तो यही हो सकता है कि व्यक्ति को उस समय बाइक की सख्त जरुरत है लेकिन उसके पास उसका भुगतान करने के लिए उस समय इतने पैसे नहीं है या कम पैसे हैं।
  • अब कभी कभार यह व्यक्ति की पसंद का भी मामला होता है। उसे जो बाइक पसंद होती है, वह उसके पास पड़े पैसों से थोड़ी ज्यादा महँगी होती है। उस समय वह बैंक से बाइक लोन लेकर उसका बाद में भुगतान कर देता है।
  • कुछ लोगों के पास पैसा होते हुए भी वे बाइक लोन लेते हैं। दरअसल ऐसा वे लोग करते हैं जो अपना पैसा किसी चीज़ में निवेश करते हैं या बाकि लोगों को ब्याज पर देते हैं। ऐसे में वे देखते हैं कि यदि बाइक लोन लिया जाए तो उस पर उन्हें कितना ब्याज देना होगा और वह पैसा यदि किसी अन्य व्यक्ति को दें तो उस पर उन्हें कितना ब्याज मिलेगा। ऐसे में स्थिति के अनुसार भी वे बाइक लोन ले लेते हैं।
  • अब बहुत से नौकरीपेशा लोग यह सोचते हैं कि एक बारी में इतनी बड़ी राशि का भुगतान करने से अच्छा है कि उसे महीने दर महीने अपने वेतन में से कटवाया जाए। इससे उन पर एक साथ ज्यादा पैसे चुकाने का बोझ भी नहीं पड़ता और बाइक भी समय से पहले उनकी हो जाती है।
  • आज के समय में लगभग हर बैंक और वित्तीय संस्था के द्वारा बाइक लोन व अन्य लोन दिए जाते हैं। इसके लिए वे कई तरह के लोक लुभावने ऑफर व अन्य योजनाएं रखते हैं जिनसे लोग आकर्षित होते हैं और बाइक लोन ले लेते हैं।

बाइक लोन कैसे लें? (Bike loan kaise le)

अब यदि आपको भी बाइक खरीदने के लिए पैसों की आवश्यकता है और आपको उसके लिए लोन चाहिए तो चिंता करने की बात नहीं है। आप चाहें तो बाइक के शोरूम में जाकर ही वहां के डीलर से इस बारे में बात कर सकते हैं। उनके लगभग हर बैंक व उनके अधिकारियों से संपर्क होते हैं क्योंकि उनका तो रोजाना लोगों का लोन पास करवाने का काम होता है। अब उनके पास दिन में 100 ग्राहक आते हैं तो उनमे से बहुत जनों के पास कम पैसे होते हैं या होते नहीं हैं। तो वे उसके लिए बाइक लोन ही लेते (Bike loan kaise milta hai) हैं।

तो आप भी उसी बाइक शोरूम के डीलर से ही डील कर लेंगे तो ज्यादा सही रहेगा। यदि वे नहीं बताते हैं और आपको खुद से ही पैसे मैनेज करने का कहते हैं तो आप अपने घर या शोरूम के पास के किसी बैंक में जा सकते हैं और वहां के मैनेजर को कह सकते हैं कि आपको वह बाइक खरीदनी है। ऐसे में आपके पास इतने पैसे पहले से हैं और इतने पैसे आपको बाइक लोन के रूप में उस बैंक से चाहिए। उसके बाद वह बैंक मैनेजर कुछ जांच पड़ताल के बाद कुछ दिनों में आपका लोन पास कर देता है।

बाइक लोन चुकाने में क्या दिक्कत आ सकती है?

आप यह जानना चाह रहे थे कि यदि आप बाइक लोन नहीं चुका पाते हैं या इसमें असमर्थ हो जाते हैं तो क्या कुछ दिक्कत आ सकती है लेकिन उससे पहले आपका यह जानना जरुरी है कि ऐसा होता ही क्यों है। अब इसका कारण भी हर व्यक्ति के अनुसार अलग अलग हो सकता है जो उस समय की स्थिति पर निर्भर करता है। आइये उनमे से कुछ प्रमुख कारणों के बारे में जान लेते हैं।

  • सबसे बड़ा और प्रमुख कारण तो यही है कि व्यक्ति पैसा चुका पाने में असमर्थ हो जाता है अर्थात उसके पास लोन की किश्त चुकाने के लिए ही पैसा नहीं बचता है। ऐसे में जब उसके पास पैसा ही नहीं है तो फिर वह किश्त कैसे ही चुका पायेगा।
  • व्यक्ति पर अचानक से आर्थिक संकट आ सकता है और उसके पास रखे पैसे खत्म हो सकते हैं। यह आर्थिक संकट किसी भी तरह का हो सकता है जैसे कि उसे व्यापार में घाटा लग गया हो या नौकरी चली गयी हो या फिर घर के किसी सदस्य की तबियत ख़राब हो गयी हो इत्यादि।
  • कभी कभी यह भी देखने में आया है कि व्यक्ति लोन की किश्त को चुकाना भूल जाता है और बाद में उसे याद आता है कि वह किश्त चुकाना भूल गया था।
  • बहुत से लोग जान बूझकर भी ऐसा करते हैं और सोचते हैं कि उन्हें बैंक को अपना बाइक लोन का पैसा चुकाना नहीं पड़ेगा।
  • कई बार लोग उस जगह को छोड़कर चले जाते हैं और दूसरी जगह शिफ्ट हो जाते हैं। ऐसे में वे सोचते हैं कि अब उन्हें बाइक लोन का पैसा देने की जरुरत नहीं है।

बाइक लोन नहीं चुकाने पर क्या होता है? (Bike loan nahi chukane par kya hoga in Hindi)

अब आती है मुख्य मुद्दे की बात और वह यह है कि यदि आप बैंक के द्वारा दिया गया बाइक लोन नहीं चुकाते हैं तो उस स्थिति में क्या कुछ हो सकता है या बैंक आपके विरुद्ध क्या क्या कार्यवाही कर सकता है। तो किसी भी बैंक या अन्य वित्तीय संस्था का बाइक लोन नहीं चुकाने पाने की स्थिति में आपके विरुद्ध यह कार्यवाही हो सकती है।

  • अब यदि आप पहले माह की किश्त को नहीं चुकाते हैं तो बैंक के अधिकारी आपको फोन करते है या आपको एक रिमाइंडर मैसेज या ईमेल भेजा जाता है। उसमें यह बताया जाता है कि आपने इस महीने के लोन की किश्त को नहीं चुकाया है, ऐसे में आप जुर्माने की राशि सहित जल्द से जल्द उसका भुगतान कर दें।
  • अब यदि आप दो माह तक लोन की किश्त को नहीं चुकाते हैं तो उसके बाद बैंक के अधिकारी आपसे बात करते हैं। आपकी बात वहां के मैनेजर या अन्य किसी बड़े अधिकारी से भी हो सकती है और वे आपको सख्त लहजे में लोन की राशि को चुकाने का कह सकते हैं। इसी के साथ ही आपको चेतावनी वाले ईमेल या मैसेज आ सकते हैं।
  • यदि आप तीसरे महीने भी लोन की किश्त को नहीं चुकाते हैं या इसे 90 दिन से अधिक हो जाते हैं तो फिर बैंक के द्वारा आपके घर पर एक सामान्य नोटिस भेजा जाता है। इसमें बैंक का लोन जल्द से जल्द और जुर्माने सहित चुकाने को कहा जाता है।
  • यदि आप इस नोटिस का उत्तर नहीं देते हैं और आपको लोन की किश्त चुकाए हुए 5 माह से अधिक का समय बीत जाता है तो फिर बैंक आपको एक कानूनी नोटिस भेज सकता है। इसमें सिविल मामलों के तहत आप पर कार्यवाही करने के विकल्प लिखे होते हैं और लोन की राशि को जल्द से जल्द चुकाने को कहा जाता है।
  • यदि आप इस कानूनी नोटिस का भी उत्तर नहीं देते हैं तो बैंक के अधिकारी आपके घर आते हैं और आपको लोन की किश्त चुकाने का कहते हैं। वे अपने साथ कुछ बाउंसर या लोन की वसूली के लिए रखे हुए गुंडे भी लेकर आ सकते हैं जो आपको सख्त लहजे में लोन की किश्तों का भुगतान करने के लिए कहते हैं। हालाँकि यह कानूनन अपराध है लेकिन बहुत जगह और बहुत बार यह देखा गया है जिसमें लोन की राशि को वापस पाने के लिए बैंक के द्वारा गुंडे भर्ती किये जाते हैं ताकि वे संबंधित व्यक्ति को धमकी दे सकें।
  • इसी के साथ ही बैंक लोन की वसूली के लिए आपकी बाइक को भी जब्त कर सकता है और उसको बेच कर लोन की राशि को प्राप्त कर सकता है।
  • वहीं यदि आपने बैंक में बाइक लोन लेते समय कुछ गिरवी रखा था या किसी डॉक्यूमेंट पर हताक्षर किये थे तो बैंक उसकी मदद से या उन्हें जब्त करके भी लोन की राशि को ले सकता है।
  • वहीं यदि आपका उसी बैंक में खाता है और उसमें पैसे जमा है तो बैंक उसमें से उस राशि को काट सकता है और बाइक लोन को ले सकता है।
  • एक तरह से आप उस बैंक के शत्रु बन चुके होते हैं और बैंक के अधिकारी अपने नियम व शर्तों के तहत साम, दाम, दंड व भेद के द्वारा अपने लोन की राशि को ब्याज सहित लेने का पूरा प्रयास करते हैं। इसके लिए वह अपनाये जा सकने वाले सभी तरह के हथकंडे अपनाते हैं ताकि लोन की राशि को किसी भी तरह पुनः प्राप्त किया जा सके।

अब यदि आप बाइक लोन नहीं चुकाते हैं या उसमें आनाकानी करते हैं तो यह केवल आपके उसी बैंक के साथ ही रिश्ते को ख़राब नहीं करता है बल्कि यह जीवनभर के लिए आपके सभी तरह के बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थाओं के साथ रिश्ते को ख़राब कर देता है। दरअसल किसी भी व्यक्ति को लोन देने से पहले बैंक और अन्य वित्तीय संस्थाएं उस व्यक्ति का सिबिल स्कोर चेक करती है जो यह दर्शाती है कि उस व्यक्ति का पूर्व में लोन को चुकाने का क्या इतिहास रह चुका है।

ऐसे में जब आपने बाइक लोन नहीं दिया है या उसकी किश्त का समय पर भुगतान नहीं किया है तो आपका यह सिबिल स्कोर कम हो जाता है। जिस व्यक्ति का सिबिल स्कोर कम होता है उसे कहीं से भी लोन मिलना बहुत ही मुश्किल हो जाता है और यदि किसी भी तरह से मिलता भी है तो उसकी शर्तें बहुत ही कठोर होती है और ब्याज बहुत अधिक। ऐसे में बाइक लोन नहीं चुका पाने की स्थिति में आपकी छवि हमेशा के लिए नकारात्मक बन जाती है जिसे सुधारा नहीं जा सकता है।

क्या आपको बाइक लोन नहीं चुकाने पर जेल हो सकती है?

बहुत से लोग यह सोचकर भी डरे रहते हैं या शंका में रहते हैं कि यदि वे बाइक लोन समय पर नहीं चुकाते हैं या चुकाते ही नहीं हैं तो क्या उसके लिए बैंक उन पर FIR करवा सकता है या फिर उनको जेल जाने का खतरा हो सकता है या नहीं। तो यहाँ हम आपको यह बात पहले ही बता दें कि बाइक लोन नहीं चुका पाने की स्थिति में आपको जेल नहीं जाना पड़ता है और ना ही आपके ऊपर FIR की जा सकती है। आपने कोई अपराध नहीं किया है और यह मामला सिविल मामले के तहत आता है जिस पर अलग से कार्यवाही होती है।

हालाँकि आज के समय में बैंक बहुत ही स्मार्ट व आधुनिक हो गए हैं और वे पहले से ही इसके लिए व्यवस्था करके रखते हैं। उनके द्वारा आपसे चेक ले लिए जाते हैं और कई तरह के डाक्यूमेंट्स पर हस्ताक्षर करवा लिए जाते हैं। उस स्थिति में लोन नहीं चुका पाने पर या तो वे आपके वाहन को ही जब्त कर लेते हैं या आपके ऊपर उन डाक्यूमेंट्स के आधार पर केस कर देते हैं या अन्य कोई सख्त कार्यवाही कर देते हैं।

बाइक लोन लेते समय रखें इन बातों का ध्यान

बहुत बार यह देखने में आया है कि व्यक्ति के पास लोन की किश्त को चुकाने के पैसे ही नहीं होते हैं और इस कारण वह लोन की किश्त समय पर नहीं चुका पाते हैं। अब जो लोग जान बूझकर बाइक लोन नहीं चुका रहे हैं तो उनका तो क्या ही कहना। उन पर तो बैंक और कानून ही कार्यवाही करेगा लेकिन हम उन लोगों की बात कर रहे हैं जो बाइक लोन चुकाना तो चाहते हैं लेकिन किसी परिस्थिति या आर्थिक संकट के कारण ऐसा कर पाने में सक्षम नहीं होते हैं।

इसलिए आपको बाइक लोन लेने से पहले ही या उस समय कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए जिससे आप इस तरह की प्रतिकूल परिस्थितियों से बच सकते हैं। आइये जाने बाइक लोन लेने से पहले आपको किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए ताकि आप उन्हें समय पर चुका सकें।

download app
  • लगभग सभी बैंक बाइक लोन देते समय उसकी किश्त की राशि और समय के बारे में आपसे पूछते हैं। अब यह जरुरी नहीं है कि आपके पास अभी ज्यादा किश्त चुकाने का पैसा है तो आगे जाकर भी यही स्थिति रहेगी।
  • ऐसे में आप ज्यादा समय का विकल्प चुने ताकि आप छोटी छोटी किश्तों के जरिये बाइक लोन को चुका दें। इससे आप पर ज्यादा बोझ भी नहीं पड़ेगा और लोन आसानी से चुकता हो जाएगा।
  • बहुत लोग बाइक लोन सही समय पर चुकाने के लिए यह भी करते हैं कि वे एक महीने की किश्त को एडवांस में ही जमा करवा देते हैं। कहने का अर्थ यह हुआ कि आप एक महीने की किश्त ज्यादा चुका दें अर्थात एक माह में दो किश्त चुका दें और फिर आगे एक एक करके किश्त चुकाते रहें।
  • इससे कभी यदि आप लोन चुकाने में देरी कर देते हैं या भूल जाते हैं या कोई आर्थिक संकट भी आ जाता है तो आप उस महीने किश्त नहीं भी चुकायेंगे तो कोई दिक्कत नहीं होगी क्योंकि आपने तो एक किश्त एडवांस में जमा करवाई हुई है।
  • जब लोन की किश्त चुकाने की तारिख आती है तो उससे एक सप्ताह पहले या या कम से कम 2 दिन पहले का रिमाइंडर आप अपने मोबाइल में लगा कर रखें। इससे होगा क्या कि आपको कुछ दिन पहले ही पता चल जाएगा कि इस तारीख तक लोन चुकाना है तो कैसे भी करके उस राशि की व्यवस्था की जा सके।

बाइक लोन ना चुका पाने पर क्या होता है – Related FAQs 

प्रश्न: बाइक लोन न चुकाने पर क्या होता है?

उत्तर: बाइक लोन ना चुकाने पर क्या होगा यह जानने के लिए आप ऊपर का लेख पढ़ सकते हो जिसकी जानकारी हमने विस्तार से इस लेख में दी है।

प्रश्न: अगर भारत में बाइक लोन का भुगतान नहीं किया जाता है तो क्या होता है?

उत्तर: अगर आप बाइक लोन का भुगतान नहीं करते हैं तो आपकी संपत्ति को जब्त और नीलाम किया जा सकता है।

प्रश्न: मोटरसाइकिल पर लोन कैसे लिया जाता है?

उत्तर: मोटरसाइकिल पर लोन लेने के लिए आप जहां से वह खरीद रहे हैं वहां से भी इस बारे में बात कर सकते हो।

प्रश्न: बाइक लोन का मतलब क्या होता है?

उत्तर: बाइक लोन के बारे में संपूर्ण जानकारी को हमने ऊपर के लेख में विस्तार से बताया है जो आपको पढ़ना चाहिए।

तो इस तरह से इस लेख के माध्यम से आपने जाना कि बाइक लोन ना चुका पाने पर क्या होता है। साथ ही आपने जाना कि बाइक लोन क्या होता है बाइक लोन क्यों लेते हैं बाइक लोन कैसे लें बाइक लोन लेते समय क्या सावधानी बरतनी चाहिए इत्यादि। आशा है कि जो जानकारी लेने के लिए आप इस लेख पर आए थे वह आपको मिल गई होगी। फिर भी यदि कोई शंका आपके मन में शेष है तो आप हम से नीचे कॉमेंट करके पूछ सकते हैं।

लविश बंसल
लविश बंसल
लविश बंसल वर्ष 2010 में लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में प्रवेश लिया और वहां से वर्ष 2014 में बीटेक की डिग्री ली। शुरुआत से ही इन्हें वाद विवाद प्रतियोगिता में भाग लेना या इससे संबंधित क्षेत्रों में भाग लेना अच्छा लगता था। इसलिए ये काफी समय से लेखन कार्य कर रहें हैं। इनके लेख की विशेषता में लेख की योजना बनाना, ग्राफ़िक्स का कंटेंट देखना, विडियो की स्क्रिप्ट लिखना, तरह तरह के विषयों पर लेख लिखना, सोशल मीडिया कंटेंट लिखना इत्यादि शामिल है।
WordPress List - Subscription Form
Never miss an update!
Be the first to receive the latest blog post directly to your inbox. 🙂

Leave a Comment