बिजली विभाग को पत्र कैसे लिखें? | Bijli vibhag application format in Hindi

Bijli vibhag application format in Hindi :- हम सभी के घर में बिजली का कनेक्शन दिया गया होता है। अब यह बिजली का कनेक्शन देना, बिजली उपलब्ध करवाना, मीटर लगाना, उसकी रीडिंग लेना, बिल भेजना और बिल को लेना इत्यादि सब कार्य बिजली विभाग के होते हैं। उनके द्वारा ही बिजली से जुड़ा हर कार्य किया जाता है। इसी के साथ ही हर शहर में अपना एक बिजली विभाग भी होता है और बिजली से जुड़ी हरेक जानकारी वहीं पर दी जाती है और शिकायतें सुनी जाती (Bijli vibhag ko application kaise likhe) है।

ऐसे में यदि आपको भी बिजली विभाग से संपर्क करना है या उन्हें कोई सूचना देनी है या किसी भी अन्य चीज़ के लिए शिकायत या सुझाव देना है तो आप उन्हें पत्र लिखकर भेज सकते हैं। अब बहुत से लोगों को तो यही नहीं पता होगा कि आखिरकार वे अपने यहाँ के बिजली विभाग को किस तरह से और किस रूप में पत्र लिखकर भेज सकते हैं। यदि आप भी कुछ इसी तरह की दुविधा में हैं तो चिंता मत कीजिये, क्योंकि इसमें हम आपकी सहायता करने (Bijli vibhag ko application in Hindi) वाले हैं।

आज के इस लेख में हम आपको बताएँगे कि किस तरह से आप बिजली विभाग को पत्र लिख सकते हैं और उसका प्रारूप किस तरह का होता है। इसी के साथ ही बिजली विभाग को पत्र लिखते समय आपको किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। आइये (How to write electricity department application in Hindi) जाने।

बिजली विभाग को पत्र कैसे लिखें? (Bijli vibhag application format in Hindi)

बिजली विभाग को पत्र लिखकर भेजना है तो आपको कुछ बातों का ध्यान रखने की जरुरत है। उदाहरण के तौर पर आप किस चीज़ के लिए पत्र भेज रहे हैं, वह कारण स्पष्ट होना चाहिए। इसी के साथ ही आपके पत्र की भाषा सरल और सीमित होनी चाहिए। इसी के साथ ही आपको अपने द्वारा तथ्यों को स्पष्ट रूप में अंकित करना चाहिए ताकि अधिकारी आपकी बातों को यूँ ही ना ले (Bijli vibhag ko application kaise likhen) ले।

Bijli vibhag application format in Hindi

जब कभी भी आप बिजली विभाग के नाम से पत्र लिख रहे हैं या उन्हें एप्लीकेशन सबमिट करने जा रहे हैं, तो ऐसी कई बातें हैं जिनका आपको अभी से ही ध्यान रखना होगा। इस लेख में हम आपको बिजली विभाग को पत्र लिखने के लिए फॉर्मेट तो देंगे ही देंगे लेकिन साथ के साथ आपको यह भी बताएँगे कि उसके लिए आपको किन किन चीज़ों को ध्यान में रखकर वह पत्र लिखना होगा। तो आइये जाने इसके बारे (How to write a application to electricity office in Hindi) में।

पत्र का प्रारूप हो स्पष्ट

सबसे पहले तो आपको बिजली विभाग को पत्र लिखने के लिए उसके प्रारूप पर ध्यान देना होगा। अब प्रारूप का अर्थ होता है कि आपका पत्र पूरी तरह से व्यवस्थित होना चाहिए और उसमें कुछ भी जानकारी कहीं पर भी लिखी हुई नहीं होनी चाहिए। जिस प्रकार हम स्कूल में अपने शिक्षक को एप्लीकेशन लिखते थे, तो उसका एक प्रारूप होता था, ठीक उसी तरह बिजली विभाग को लिखी जानी वाली एप्लीकेशन का भी एक सही प्रारूप होना आवश्यक (How to write application to electricity department in Hindi) है।

इसके लिए आपको पहले विषय वस्तु के बारे में सोचना होगा और यह देखना होगा कि आप किस चीज़ के लिए बिजली विभाग को पत्र लिखने जा रहे हैं। इसमें सबसे पहले संबंधित अधिकारी को संबोधित करते हुए शुरुआत की जानी चाहिए और उसके बाद अपनी जानकारी अंकित कर विषय के बारे में लिखना शामिल है। अंत में आपको अपने हस्ताक्षर सहित सलंग्न किये गए डाक्यूमेंट्स की जानकारी लिखनी होगी।

पत्र का विषय हो सही

जब कभी भी बिजली विभाग को आपका पत्र मिलेगा तो उसको खोलने से पहले या उसको खोलने के बाद जो चीज़ संबंधित अधिकारी के द्वारा सबसे पहले देखी जाएगी, वह होगा उस पत्र का विषय। अब यदि आपका विषय आवश्यकता से अधिक लम्बा है तो वह इसे शायद ही पढ़े और यह यदि आवश्यकता से अधिक छोटा है तो उसमें आधी अधूरी जानकारी होगी।

इसी के साथ ही विषय का एकदम सीधा और स्पष्ट होना आवश्यक है ताकि अधिकारी उसी के आधार पर ही पत्र को पढ़ना जारी रख सकें। इसलिए आप जिस भी विषय पर बिजली विभाग को पत्र लिखने जा रहे हैं, वह विषय एकदम स्पष्ट और सरल भाषा में लिखा हुआ होना चाहिए।

सही शब्दों का चयन

पत्र आप चाहे जिस भी भाषा में लिखें, उसमें कोई आपत्ति नहीं लेकिन भाषा में शब्दों का शयन सही रहना चाहिए। कहने का अर्थ यह हुआ कि कोई हिंदी में बिजली विभाग को पत्र लिखता है तो कोई अंग्रेजी में तो कोई अपने राज्य की मातृभाषा में। किन्तु उस पत्र में भाषा से संबंधित किस तरह के शब्दों का चयन किया जा रहा है, यह बहुत मायने रखता है।

यदि आपको बिजली विभाग से कोई शिकायत भी करनी है तो आपको मर्यादा में रहकर अपनी बात को कहना सीखना होगा। यदि आप गलत शब्दों का चयन कर उन्हें पत्र में लिखते हैं तो ऐसे में आपकी किसी भी बात पर ध्यान नहीं दिया जाएगा और ना ही उस पर कोई कार्यवाही की जाएगी। यहाँ तक कि बिजली विभाग के अधिकारियों को धमकाने के लिए आपके ऊपर केस तक किया जा सकता है।

सीमित शब्दों का उपयोग

शब्दों के सही चयन के साथ साथ आपको सीमित शब्दों में भी अपनी बात को रखना होगा। यदि आप बिजली विभाग को लिखे जा रहे पत्र को बहुत ही ज्यादा लंबा बना देते हैं और उसमें बात को घुमा फिराकर और बहुत ज्यादा शब्दों में कहते हैं तो सामने वाला व्यक्ति उसे पूरा पढ़ेगा ही नहीं। ऐसे में आपके द्वारा पत्र लिखना एकदम बेकार हो जाएगा और उस पर कोई कार्यवाही भी नहीं होगी।

इसके लिए यह जरुरी है कि आप सीमित शब्दों में और स्पष्ट रुप से अपनी बात उस पत्र में लिखें। आप जितना सीमित और स्पष्ट रूप में अपनी बात लिखेंगे, उतना ही आपके लिए भी सही रहेगा। ऐसे में आपको सही रूप में अपनी बात कहना और रखना सीखना होगा अन्यथा आप अकारण ही अपना और बिजली विभाग का समय नष्ट करेंगे।

आपकी पूर्ण जानकारी हो अंकित

अब आप तो बिजली विभाग को पत्र लिख देंगे लेकिन उन्हें यह भी तो पता होना चाहिए कि यह जो पत्र आया है, वह किसकी ओर से लिखा गया है। बहुत से लोग बिजली विभाग को पत्र लिखते समय उसमें अपनी शिकायत या अन्य जानकारी तो अच्छे से लिख देते हैं लेकिन अपने बारे में बताना ही भूल जाते हैं या आधी अधूरी जानकारी लिखते हैं। ऐसे में बिजली विभाग चाहकर भी उस पर कार्यवाही नहीं कर पाता है।

ऐसे में आपको उस पत्र में अपना नाम, अपने घर का पता, वार्ड नंबर, बिजली मीटर का नंबर, फोन नंबर, ईमेल आईडी इत्यादि सभी जानकारी अंकित करनी चाहिए। इससे बिजली विभाग के अधिकारी भी आपकी शिकायत पर जल्दी कार्यवाही कर सकते हैं और उसका समाधान कर सकते हैं।

सभी दस्तावेजों की फोटोकॉपी हो साथ

अब आप जिस भी चीज़ के लिए बिजली विभाग को पत्र लिख रहे हैं, उसमें इस बात का प्रमुखता के साथ ध्यान रखें कि उसके लिए जो जो भी दस्तावेज साथ में भेजने जरुरी हैं, आप उनकी फोटोकॉपी को भेजें। यदि आप केवल और केवल पत्र लिखकर ही इतिश्री कर लेंगे और सोचेंगे कि काम हो जाएगा तो आप गलत हैं। इसके लिए साथ में दस्तावेजों का भेजा जाना भी उतना ही आवश्यक हो जाता है।

ऐसे में आप पत्र में यह बताएं कि आप उस पत्र के साथ किस किस दस्तावेज को साथ में भेज रहे हैं ताकि उनके साथ किसी भी तरह की छेड़छाड़ ना होने पाए। फिर उस पत्र के पीछे ही सभी आवश्यक दस्तावेजों की फोटोकॉपी को जोड़ देंगे तो बेहतर रहेगा।

पत्र को पंजीकृत डाक से ही भेजें

अब जब पत्र लिख दिया गया है तो उसे बिजली विभाग के पते पर भेजना भी होगा। तो इसे आप पंजीकृत रूप से ही भेजें और उसके लिए डाक का उपयोग करें। बिजली विभाग के पते पर जो भी पत्राचार किया जाता है, वह डाक के माध्यम से ही संभव हो पाता है। इसलिए आपको भी इसी के माध्यम से ही उन्हें पत्र भेजना (Bijli vibhag ko kaise application likhe) होगा।

इसी के साथ ही आपको बिजली विभाग का पता भी सही से लिखना होगा ताकि वह किसी गलत पते पर ना चला जाए। अब आप चाहे तो अपने शहर के बिजली विभाग को वह पत्र भेज रहे हो या फिर राज्य के या केंद्र के, यह तो आप पर निर्भर करता है। बस बिजली विभाग का पता सही होना चाहिए और उसे पंजीकृत डाक के द्वारा ही भेजा जाना चाहिए।

बिजली विभाग को पत्र लिखने का नमूना (Bijli vibhag ko application)

अब यहाँ हम आपके सामने बिजली विभाग को किस तरह से पत्र लिखा जाना चाहिए, उसका एक नमूना रखने जा रहे हैं। आप चाहें तो इसी नमूने को आधार बनाकर ही बिजली विभाग को पत्र लिख सकते हैं।

सेवा में,

अधीक्षक, बिजली विभाग,

[पता]

विषय: [समस्या या अनुरोध]

माननीय महोदय/महोदया,

मैं [अपना नाम], [अपना पता] का निवासी हूं। मैं आपको यह पत्र [समस्या या अनुरोध] के संबंध में लिख रहा हूं।

[समस्या या अनुरोध का विवरण]

मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि कृपया इस मामले में मेरी सहायता करें। मैंने इस पत्र के साथ निम्नलिखित दस्तावेजों की प्रतियां संलग्न की हैं:

[दस्तावेजों की सूची]

आपकी सहायता के लिए मैं आपका आभारी रहूंगा।

धन्यवाद,

[अपना नाम]

[हस्ताक्षर]

[दिनांक]

[पता]

[फोन नंबर]

[ईमेल पता]

तो बिजली विभाग को लिखने के लिए यह एक सामान्य पत्र या प्रारूप हो गया। आप इसी प्रारूप में उन्हें पत्र लिख सकते हैं और अपनी शिकायत, सुझाव या किसी अन्य अनुरोध के बारे में सूचित कर सकते हैं। यदि आपका प्रारूप सही होगा तो अवश्य ही आपके अनुरोध पर त्वरित कार्यवाही की जाएगी।

बिजली कटौती की शिकायत के लिए पत्र (Bijli vibhag ko shikayat Patra)

अब बहुत बार देखने में आता है कि किसी इलाके या शहर में बिजली की बहुत ज्यादा कटौती होती है। इससे आम जन को बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता (Bijli vibhag ko complaint kaise kare) है। ऐसे में यदि आपको भी बिजली विभाग से बिजली में हो रही कटौती की शिकायत करनी है तो उस पत्र का प्रारूप कुछ इस प्रकार है:

विषय: बिजली कटौती की शिकायत

माननीय महोदय/महोदया,

मैं [अपना नाम] हूं और मैं [अपना पता] पर रहता हूं। मैं आपको यह पत्र [तारीख] को [समय] से [क्षेत्र] में बिजली कटौती की शिकायत करने के लिए लिख रहा हूं।

बिजली कटौती [समय अवधि] तक चली और इससे मुझे और मेरे परिवार को बहुत परेशानी हुई। मैं घर से काम करता हूं और बिजली कटौती के कारण मैं अपना काम नहीं कर पाया। इसके अलावा, बिजली कटौती के कारण हमारे घर के सभी उपकरण बंद हो गए, जिससे हमें बहुत परेशानी हुई।

मैंने इस समस्या को लेकर [विभाग का नाम] में फोन किया, लेकिन समस्या का समाधान नहीं हुआ। मैं अनुरोध करता हूं कि बिजली कटौती की समस्या का जल्द से जल्द समाधान किया जाए।

धन्यवाद,

[अपना नाम]

[अपना पता]

[संपर्क जानकारी]

तो कुछ इस तरह से आप बिजली विभाग में अपना यह पत्र भेज सकते हैं। यहाँ पर जो भी चीज़ ब्रैकेट में लिखी गयी है, वहां पर आपको अपने से जुड़ी जानकारी को लिखना है। इसके बाद आप इस पत्र को बिजली विभाग को भेज सकते (Bijli vibhag ko complaint kaise likhe) हैं।

download app

बिजली विभाग को पत्र कैसे लिखें – Related FAQs

प्रश्न: बिजली विभाग के खिलाफ शिकायत पत्र कैसे लिखें?

उत्तर: बिजली विभाग के खिलाफ शिकायत पत्र लिखना है तो आप हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख पढ़ सकते हो जिसमें हमने बिजली विभाग को शिकायत पत्र लिखने का एक फॉर्मेट आपके सामने रखा है।

प्रश्न: मैं विद्युत विभाग को आवेदन पत्र कैसे लिखूं?

उत्तर: विद्युत विभाग को आवेदन पत्र लिखना है तो आप ऊपर का लेख पढ़ कर इसके लिए जानकारी प्राप्त कर सकते हो।

प्रश्न: मैं अपने क्षेत्र में बिजली के बारे में शिकायत कैसे करूं?

उत्तर: बिजली के बारे में शिकायत करने के लिए आप बिजली विभाग को शिकायत पत्र लिख कर दे सकते हैं।

प्रश्न: बिजली विभाग को एप्लीकेशन कैसे लिखें?

उत्तर: बिजली विभाग को एप्लीकेशन लिखनी है तो ऊपर हमने इसके लिए फॉर्मेट शेयर किया है जो आप पढ़ सकते हो।

तो इस तरह से इस लेख के माध्यम से आपने बिजली विभाग को पत्र कैसे लिखना है इसके बारे में जानकारी हासिल कर ली है। हमने आपको चरण दर चरण यह समझाया है और साथ ही एक फॉर्मेट भी इसके लिए दिया है। आशा है कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख पसंद आया होगा। यदि ऐसा है तो हमें नीचे कॉमेंट करके अवश्य बताइएगा।

लविश बंसल
लविश बंसल
लविश बंसल वर्ष 2010 में लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में प्रवेश लिया और वहां से वर्ष 2014 में बीटेक की डिग्री ली। शुरुआत से ही इन्हें वाद विवाद प्रतियोगिता में भाग लेना या इससे संबंधित क्षेत्रों में भाग लेना अच्छा लगता था। इसलिए ये काफी समय से लेखन कार्य कर रहें हैं। इनके लेख की विशेषता में लेख की योजना बनाना, ग्राफ़िक्स का कंटेंट देखना, विडियो की स्क्रिप्ट लिखना, तरह तरह के विषयों पर लेख लिखना, सोशल मीडिया कंटेंट लिखना इत्यादि शामिल है।
WordPress List - Subscription Form
Never miss an update!
Be the first to receive the latest blog post directly to your inbox. 🙂

Leave a Comment