बिजली मीटर तेज चलने का कारण | बिजली का बिल कम करने के उपाय

Bijli meter tej kyu chal rha h, हम सभी बिजली का इस्तेमाल करते हैं व आज के समय में कोई भी काम बिना बिजली के नही हो सकता हैं। फिर चाहे (Bijli bill jyada aane ke karan) वह मोबाइल इत्यादि चलाने का काम हो या कपड़े धोने का या कुछ और।

आज तो नहाने के गीजर और खाना बनाने का सामान भी बिजली से चलने वाले आने लगे हैं। कहने का मतलब हुआ कि सब काम के लिए मशीन आने लगी हैं तो (Bijli ka bill jyada aane par kya kare) उसे चलाने में बिजली का इस्तेमाल होगा ही।

ऐसे में हम कभी कभी अपने घर का बिजली का बिल देखकर आश्चर्य में पड़ जाते हैं कि यह बिजली बिल इतना बढ़ क्यों गया हैं। जब हम उसकी तुलना पिछले वाले साल से करते हैं तो हम यह सोचने लगते हैं कि आखिर इसके बढ़ने का कारण क्या (Bijli meter kaise check kare) हैं।

इसलिए यदि आपके घर का भी बिजली मीटर तेज चल रहा हैं और आपको उसका कारण समझ में नही आ रहा हैं तो आज हम आपके साथ वही साँझा करेंगे।

बिजली मीटर तेज चलने का कारण (Bijli meter tej kyu chal rha hai)

दरअसल बिजली मीटर के तेज चलने के कई कारण हो सकते हैं। इसमें से सबसे मुख्य कारण बिजली मीटर का ख़राब होना या उसमे कुछ गड़बड़ी हो जाना होता हैं। इसलिए यदि आपको लगता हैं कि आपके बिजली मीटर में ही कुछ खराबी हैं या आपको लगता हैं कि आपका बिजली मीटर तेज चल रहा हैं तो सबसे पहले उसी की जाँच कीजिए।

ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि सबसे पहले उसी की जांच की जनि चाहिए जो बिल दिखा रहा हैं। पहले हम यह सुनिश्चित कर लेंगे कि (Bijli ka bill jyada aane per kya karen) बिजली मीटर एकदम सही हैं तो फिर बाकि कारणों पर गौर करेंगे। इसलिए आइए जाने की आप अपने घर का बिजली मीटर कैसे चेक कर सकते हैं।

बिजली मीटर तेज चलने का कारण | बिजली का बिल कम करने के उपाय

बिजली मीटर कैसे चेक करें (Bijli meter kaise check kare)

यदि आपके बिजली मीटर में कोई खराबी है या वह सही से काम नही कर रहा है या तेज गति से दौड़ रहा है तो आपको उसकी जांच करनी (Bijli ka bill jyada kyu aata hai) चाहिए। बिजली मीटर की जाँच आप दो तीन तरीको से करवा सकते हैं। आइए जाने इसके लिए क्या क्या किया जाए।

#1. बिजली वाले भाई को बुलाकर करवाए जांच

आपके घर में कभी भी कोई बिजली की समस्या होती होगी या कुछ रिपेयर करवाना होगा होगा या कुछ बदलवाना होता होगा तो आप किसी बिजली वाले भाई को बुलाते होंगे। तो आज फिर उसे बुला लीजिए और उसे अपना बिजली मीटर दिखाए। वह बिजली वाला भाई आपके घर के मीटर को सही से चेक करके बता सकता हैं कि उसमे कोई ख़राब हैं या नही।

#2. स्वयं ही चेक करें बिजली मीटर (Bijli metre ki reading kaise dekhe)

आप चाहे तो बिना किसी को बुलाये भी बिजली मीटर को चेक कर सकते हैं। इसके लिए आप अपने घर में जो जो भी बिजली के उपकरण इस्तेमाल होते हैं उनकी वाट नोट कर लीजिए। अब यह जानिए कि यदि कोई 1000 वाट (Bijli meter reading kaise dekhe) वाला बिजली का उपकरण एक घंटे तक लगातार चलता हैं तो वह एक यूनिट की बिजली की खपत करता हैं।

इसलिए आप इस चीज़ को ध्यान में रखकर अपने घर की बिजली को इस तरह चलाये की वह 1000 वाट हो जाए और उसे एक घंटे तक चलाकर रखे। उससे पहले बिजली मीटर की रीडिंग को नोट कर ले। एक घंटे बाद देखे कि बिजली मीटर की रीडिंग एक यूनिट ही बढ़ी हैं या उससे ज्यादा बढ़ गयी हैं।

यदि यह रीडिंग एक यूनिट ही बढ़ी हैं तो इसका अर्थ हुआ कि आपका मीटर एकदम ठीक हैं और उसमे कोई खराबी नही हैं। जबकि इसकी रीडिंग एक यूनिट से ज्यादा हो गयी हैं तो मतलब कुछ ना कुछ तो गड़बड़ हैं। अब यह गड़बड़ आपके मीटर में भी हो सकती हैं या फिर किसी बिजली के उपकरण में भी।

इसके लिए आपने अभी तक जो उपकारं चलाये थे, उनकी बजाए किन्ही अन्य उपकरण को चलाये वो भी एक घंटे। फिर से मीटर चेक कीजिए। यदि अभी भी वही ज्यादा रीडिंग वाली गड़बड़ हैं तो अवश्य ही मीटर में दिक्कत हैं, आपके घर के किसी बिजली के उपकरण में नही।

बिजली मीटर तेज चलने के अन्य कारण (Bijli bill jyada aane ke karan)

अब यह आवश्यक नही कि आपके मीटर में ही ख़राब हो। क्या पता आपके घर में किसी अन्य उपकरण या बिजली की डिवाइस में ही कोई समाया हो और आपका इसका दोष बिजली के मीटर को दे रहे हो। इसलिए पहले अपने घर के उपकरण के (Bijli ka bill jyada hai to kya karen) बारे में भी कुछ चीज़ों का ध्यान रखें। आइए जाने बिजली मीटर तेज चलने के कारण।

#1. एसी की सर्विस समय पर करवाएं

यदि आपके घर में एसी लगा हुआ है और वह बहुत ठंडी हवा भी देता है तो इसका मतलब यह नही कि वह जितनी बिजली पहले खाता था उतनी ही अभी भी खायेगा। इसलिए यदि आपको लगता हैं कि यदि एसी कमरे को ठंडा कर दे रहा है तो उसमे कोई भी खराबी नही तो आप बिल्कुल गलत हैं।

ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि बिना सर्विस के एसी ठंडी हवा तो दे सकता है लेकिन वह बिजली भी ज्यादा खाता है। ऐसे में यदि आप समय पर अपने घर के एसी की मरम्मत नही करवाएंगे तो बिजली का बिल बढ़ना लाजमी है।

#2. ट्यूबलाइट पंखों इत्यादि की जांच करवाए

बहुत बार ऐसा देखने को मिलता हैं कि हमारे घर पर लगी ट्यूनलाइट व पंखे एकदम सही से काम कर रहे होते हैं तो हम कभी उनकी जांच भी नहीं करवाते। फिर कभी कोई दुर्घटना हो जाती हैं तब हमारा ध्यान उस ओर जाता हैं। यदि आपके घर में भी इन्हें लगे बहुत वर्ष हो चुके हैं और आपने अभी तक इनकी जांच नही करवाई हैं तो आज ही इस पर ध्यान दे।

दरअसल बिजली का मीटर ताज चलने का कारण बहुत बार घर में लगे पुराने बिजली के उपकरण भी हो सकते हैं। इसी कारण वे बिजली का बिल भी बढ़ा देते हैं। इसलिए समय समय पर इनकी मरम्मत करवाते रहने चाहिए।

#3. CFL का करे इस्तेमाल

आजकल सरकार के द्वारा CFL बल्ब का इस्तेमाल करने की सलाह दी जा रही हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि यह आपकी पुरानी ट्यूबलाइट की तुलना में कही अधिक रोशनी देता है और साथ ही बिजली भी कम खाता है। ऐसे में आपको दो दो लाभ हो गए, एक तो बिजली भी बच गयी और ऊपर से रोशनी का स्तर भी बढ़ गया।

CFL के बल्ब ही नही आते बल्कि आज की आधुनिक ट्यूबलाइट भी आने लगी है। यह शुरूआती रूप से अवश्य ही थोड़ी महँगी लगेगी लेकिन उसका असर बहुत देर तक रहेगा।

#4. कोई ज्यादा उपकरण लगा हो

बहुत बार हम बिजली के बिल की तुलना पिछले वर्ष के महीने के साथ करते हैं। जैसे कि पिछले साल जून के महीने में तो इतना बिजली का बिल नही आया था तो फिर इस साल जून के महीने में यह 5 हज़ार बढ़ कैसे गया। ऐसा आप केवल बिल के साथ ही मत कीजिए बल्कि अपने घर में आये परिवर्तन को भी देखिये जिसे हम कई बार अनदेखा कर देते हैं।

आप एक वर्ष पीछे जाइये और जरा ध्यान से सोचिये कि इस एक वर्ष के अंदर आपके घर में बिजली का क्या अत्याधुनिक सामान आया हैं या फिर क्या चीज़ अदला बदली हुई हैं। जैसे कि हम ने फ्रिज बदल लिया हो या नया एसी लगवाया हो। इसके अलावा क्या कोई अन्य चीज़ भी नयी आई हैं जो बिजली ज्यादा खाती हो।

यदि आप ध्यान से सोचेंगे तो अवश्य ही आपको उत्तर मिल जाएगा। बहुत बार ऐसा देखने को मिलता हैं कि हमारे घर के अंदर बिजली को क्झापने वाली चीज़े तो बढ़ गयी हैं ;लेकिन हमने उस ओर ध्यान ही नही दिया।

#5. अनावश्यक बिजली ना चलाये

आजकल लोग सोशल मीडिया या इलेक्ट्रॉनिक्स की आइटम में इतने ज्यादा व्यस्त रहने लगे हैं कि वे बिजली का दुरूपयोग करने लगे हैं। अब जैसे कि घर के आँगन के पंखे यूँ ही चल रहे हैं और किसी को सुध तक नही हैं। इसी के साथ घर के दो लोग अलग अलग कमरे में बैठे हैं और दोनों कमरों के एसी चल रहे हैं। ऐसे में आप लोग एक कमरे में बैठकर एसी का एक साथ उपयोग कर बिजली के बिल में बहुत कमी ला सकते हैं।

बहुत बार महिलाएं यह सोचती हैं कि कौन इतनी गर्मी में सीढ़ियाँ चढ़कर कपड़े सुखाने जाए, इससे अच्छा तो उन्हें किसी कमरे में पंखा चलाकर सुखा दिया जाए। तो हमारी यही बदली हुई आदते, हमारा बिजली का मीटर भी तेज कर देती हैं। ऐसी स्थिति में हम सभी को अपने जीवन में जल्द से जल्द बदलाव लाने की आवश्यकता हैं।

बिजली मीटर की शिकायत कहां करें (Bijli bill jyada aane par shikayat patra)

यदि आपको पक्का यकीन हो जाए कि खराबी आपके घर के बिजली के उपकारों में नही बल्कि आपके बिजली वाले मीटर में हैं तो आप इसकी शिकायत भी कर सकते हैं। इसके लिए आप अपने शहर या गाँव के बिजली विभाग में जाए और वहां अपनी शिकायत दर्ज करवाए। इसके साथ ही आप उन्हें बिजली मीटर खराबी का सबूत भी दिखा देंगे तो बहुत बढ़िया रहेगा।

एक बार आपको बिजली विभाग में शिकायत करने की देर (Bijli bill jyada aane par kya kare) हैं। इसके बाद तो बिजली विभाग के अधिकारी स्वयं आपके घर आपके आपके बिजली मीटर की जांच करेंगे। यदि उसमे कोई गड़बड़ी पाई जाती हैं तो उसे उसी समय बदल दिया जाएगा। ऐसे में आप निश्चिंत होकर अपने बिजली मीटर की शिकायत कर सकते हैं और उस पर तत्काल प्रभाव से कार्यवाही भी हो जाएगी।

बिजली मीटर तेज चलने से Related FAQs

प्रश्न: यूनिट कैसे निकाला जाता है?

उत्तर: यूनिट निकालने के लिए आप एक हज़ार वाट के किसी भी बिजली के उपकरण को एक घंटा चलाएंगे तो उससे एक यूनिट बिजली खर्च होगी।

प्रश्न: नाम से मीटर नंबर कैसे पता करें?

उत्तर: नाम से मीटर नंबर का पता करने के लिए आपको बिजली विभाग के टोल फ्री नंबर 1912 पर कॉल करना होगा।

प्रश्न: 100 यूनिट का कितना बिल आता है?

उत्तर: बिजली का बिल हर राज्य के अनुसार अलग अलग होता हैं व साथ ही इसे क्षेत्र के अनुसार भी अलग अलग रखा जाता हैं जैसे कि कमर्शियल या रेजिडेंट इत्यादि।

प्रश्न: मीटर किसके नाम से है कैसे चेक करें?

उत्तर: मीटर किसके नाम से है यह चेक करने के लिए आपको बिजली विभाग को कॉल करना होगा या उनके कार्यालय जाना होगा।

तो आज आपने सीखा कि बिजली मीटर कैसे काम करता हैं, इसकी रीडिंग कैसे चेक करते हैं, इसमें कोई खराबी हैं तो वह कैसे होती हैं, उसके क्या क्या कारण हो सकते हैं और उसके लिए हम कहां और की शिकायत कर सकते हैं।

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment

एक देश एक राशन कार्ड योजना नानाजी देशमुख कृषि संजीवनी योजना यूपी जनसंख्या कानून क्या है? मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना झारखण्ड कम्युनिकेशन स्किल इम्प्रूव करने के 8 तरीके