भारत के 10 सबसे अमीर शहर 2022 | Bharat ke 10 sabse amir shahar

Bharat ke sabse amir shahar, क्या आपने कभी भारत के 10 सबसे अमीर शहरों के बारे में जानने की कोशिश की है? हम में से ज्यादातर लोग आज तक केवल यही पढ़ते आये हैं कि भारत के 10 सबसे बड़े शहर कौन से है (Bharat ke 10 sabse amir shahar), भारत के किन शहरों में सबसे ज्यादा जनसंख्या रहती है या (India top 10 richest cities in Hindi) भारत के कौन से शहर क्षेत्रफल या घनत्व के मामले में सबसे बड़े है। इनमे भी हमें सही से जानकारी नही होती है।

किंतु आज हम आपसे भारत के शहरों के बारे में सबसे रोचक आंकड़े (India ka sabse amir shahar) बताएँगे। आपको कैसा लगेगा यह जानकार कि भारत का कौनसा शहर कितना अमीर है और उसके अन्य आंकड़े क्या है। क्या पता उस सूची में आपका शहर या आपके राज्य का ही कोई शहर शामिल हो। तो आज हम आपके साथ भारत के 10 सबसे अमीर शहरों की सूची साँझा करेंगे।

भारत के 10 सबसे अमीर शहर (Bharat ke 10 sabse amir shahar)

अब भारत के सबसे अमीर शहरों की बात हो रही हैं तो आपको यह भी जानना चाहिए कि इसका मूल्याङ्कन कैसे किया जाता है या इसमें किस चीज़ को आधार बनाया जाता है। दरअसल भारत के सबसे अमीर शहरों को पता करने के लिए यहाँ के लोगों की प्रति व्यक्ति आय, वहां की नगर पालिका या (Bharat ka sabse amir shahar kaun sa hai) नगर निगम का बजट, वहां हो रहे निर्माण कार्य, लोगों के पास कुल पैसा इत्यादि कई कारकों को ध्यान में रखकर तय किया जाता हैं।

इन सभी कारकों को आपस में मिलाकर उसका तुलनातमक आधार पर अध्ययन किया जाता है। इसके अलावा भी बहुत सारी चीज़े होती हैं जिसका इसमें अलग अलग प्रतिशत (Hindustan ka sabse amir shahar) जोड़ा जाता है। अंत में देश के सर्वोच्च अमीर शहरों की एक सूची निकाल दी जाती हैं। आइए क्रमानुसार देश के सबसे अमीर शहरों के बारे में जाने।

भारत के 10 सबसे अमीर शहर 2022 | Bharat ke 10 sabse amir shahar

#1. मुंबई, महाराष्ट्र (Mumbai, Maharashtra)

यह तो हम सभी जानते हैं कि देश की राजनीतिक राजधानी दिल्ली को कहा जाता है तो मुंबई को आर्थिक राजधानी का दर्जा प्राप्त है। अब इसे आर्थिक राजधानी ऐसे ही नही कहा जाता बल्कि मुंबई में देश का सर्वाधिक पैसा मौजूद है, इसलिए ही इसे देश की आर्थिक राजधानी होने का दर्जा प्राप्त है (Bharat mein sabse amir shahar kaun sa hai)।

मुंबई शहर भारत के महाराष्ट्र राज्य में स्थित है। इसके पहले नाम बॉम्बे थे जिसे भारत पर राज करने वाली अंग्रेज सरकार ने रखा था। इसे सपनो का शहर भी कहा जाता है क्योंकि हर दिन हजारों की संख्या में युवा एक्टिंग, फैशन, मॉडलिंग इत्यादि में अपना करियर बनाने पहुँचते है। यह मायानगरी भी इसी कारण कही जाती हैं क्योंकि यहाँ बॉलीवुड है।

यदि मुंबई में उपलब्ध पैसो की बात की जाए तो वह जीडीपी (India ka sabse rich city) में आंकी जाएगी। तो मुंबई की कुल जीडीपी 607 बिलियन डॉलर है। यहाँ रहने वाले लोगों की जनसंख्या 1 करोड़ 25 लाख से ज्यादा है तथा यह शहर 603 किलोमीटर अर्थात 233 स्क्वायर मीटर के क्षेत्रफल में फैला हुआ है।

इस हिसाब से यहाँ की डेंसिटी 21 हज़ार per किलोमीटर हो जाती है। मुंबई शहर की आधिकारिक भाषा मराठी है लेकिन यहाँ हिंदी बहुतायत में बोली जाती है।

#2. नई दिल्ली, केंद्र शासित प्रदेश व भारतीय राजधानी (New Delhi, India)

अब जब देश के सबसे अमीर शहरों की बात हो रही है तो बेशक उसमे मुंबई बाजी मार जाता हैं लेकिन देश की राजधानी दिल्ली में कुछ ज्यादा पीछे नही है। यही कारण है कि देश के सबसे अमीर शहरों की सूची में दिल्ली का स्थान मुंबई के बाद दूसरे नंबर पर आता है।

दिल्ली इस देश की राजधानी होने के साथ साथ बहुत सी कंपनी, संस्थाओं, उद्यमों का हम भी है। यहाँ पर देश के कई बड़े घरानों के घर भी है। साथ ही देश के गणमान्य लोग व प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति यही निवास करते है। दिल्ली की आधिकारिक भाषा हिंदी है लेकिन यहाँ भारत के हर राज्य के नागरिक बसते है।

यदि दिल्ली की जीडीपी की बात को जाए तो वह मेट्रो जीडीपी / PPP के अनुसार 370 बिलियन डॉलर है। जबकि नोमिनल के अनुसार 9.23 लाख करोड़ रुपए के बराबर है जो कि लगभग 120 बिलियन अमरीकी डॉलर होगी।

दिल्ली के क्षेत्रफल की बात की जाए तो वह 1484 किलोमीटर अर्थात 573 स्क्वायर मीटर है। साथ ही दिल्ली में लगभग 1 करोड़ 70 लाख लोग रहते हैं। इस तरह से दिल्ली की डेंसिटी 11,312 per किलोमीटर है।

#3. कोलकाता या कलकत्ता, पश्चिम बंगाल (Kolkata, West Bengal)

एक समय में कोलकाता का नाम पूरे देश में बोला जाता था। यह भारत के एक बड़े राज्य पश्चिम बंगाल की राजधानी भी है। दिल्ली से पहले भारत की राजधानी भो कोलकाता ही हुआ करती थी व अंग्रेजों के समय इसको बहुत अधिक महत्ता भी दी गयी थी। किंतु पिछले कुछ दशकों में वहां के राजनीति के लोगों के द्वारा कोलकाता को बर्बाद कर दिया गया हैं। अब वहां पैसा कम और दंगा ज्यादा होता है।

वैसे यदि हम कोलकाता की खासियत की बात करे तो यह भारत का टैलेंट हब कहा जाता है। अर्थात भारत का सबसे ज्यादा टैलेंट कोलकाता शहर से ही निकलता है जो भारत के अन्य राज्यों में जाता है। इसी के साथ यदि कोलकाता के क्षेत्रफल की बात की जाए तो वह 206 किलोमीटर होता हैं जो कि स्क्वायर मीटर के हिसाब से कुल 80 होगा।

इसी के साथ कोलकाता में रहने वाले लोगों की संख्या 45 लाख के आसपास है। इस अनुसार कोलकाता शहर की डेंसिटी 22 हज़ार per किलोमीटर हो जाती है। कोलकाता की जीडीपी की बात की जाए तो वह 150 बिलियन डॉलर होती है।

इसी कारण कोलकाता को भारत के सबसे धनी शहरों में एक माना जाता है। कोलकाता की भाषा बंगाली हैं व हिंदी इसके बाद दूसरी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है।

#4. बेंगलोर या बेंगलुरु, कर्नाटक (Bengaluru, Karnataka)

दक्षिण भारत का यह शहर ना केवल अपने धनी होने के कारण प्रसिद्ध है बल्कि यह सॉफ्टवेर इंजिनियर के क्षेत्र में एक बहुत बड़ा शहर है जिसकी तुलना अमेरिका के कई शहरों से की जाती है। आप यह मान लीजिए कि भारत की हर बड़ी सॉफ्टवेर कंपनी का ऑफिस भारत के इस शहर में तो होगा ही होगा। इसी के साथ इस शहर को सिलिकॉन वैली ऑफ़ इंडिया के नाम से भी जाना जाता है।

कर्नाटक की राजधानी बैंगलोर शहरे में लगभग 85 लाख के आसपास लोग निवास करते हैं। हालाँकि यहाँ रहने वाले सभिलोगो को आंकड़ा बता पाना मुश्किल ही है। ऐसा इसलिए क्योंकि लाखों की संख्या में लोग यहाँ नौकरी करते हैं और फ्लैट, पीजी या हॉस्टल में रहते हैं। बैंगलोर का क्षेत्रफल लगभग 741 किलोमीटर अर्थात 286 स्क्वायर मीटर है।

यदि हम बात bengalore शहर के भारत के सबसे धनी शहर होने की करे तो यह अपनी जीडीपी के कारण तो है ही बल्कि यहाँ जो हजारों सॉफ्टवेर कंपनी काम कर रही हैं उसके कारण भी है।

एक तरह से bengalore शहर में जो सॉफ्टवेर कंपनी है उसी के कारण यह शहर भारत के सबसे अमीर शहरों की सूची में चौथे स्थान पर है। बेंगलोर शहार की जीडीपी 110 बिलियन अमेरिकी डॉलर है। यहाँ की आधिकारिक भाषा कन्नड़ है।

#5. चेन्नई, तमिलनाडू (Chennai, Tamilnadu)

भारत के सबसे अमीर शहरों की सूची में पांचवा नाम और bengalore के बाद का नाम जो है वह भी एक दक्षिण भारतीय शहर ही है। उस शहर का नाम है चेन्नई जिसे आपने फिल्मो, सीरियल इत्यादि में बहुत बार सुना होगा। बहुत से लोग चेन्नई को ही दक्षिण भारत का संपूर्ण रूप समझ लेते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि चेन्नई से ही असली दक्षिण भारत दिखता है।

दरअसल चेन्नई में भी बेंगलोर शहर की तरह बहुत सी सॉफ्टवेर कंपनी है। यह भारत के सबसे दक्षिण में स्थित तमिलनाडू राज्य की राजधानी भी है। यहाँ की आधिकारिक भाषा तमिल है। हालाँकि यहाँ भारत के लगभग हर राज्य के लोग काम करने आते है लेकिन यहाँ मुख्यतया तमिल भाषा ही चलन में है।

यदि हम चेन्नई शहर के क्षेत्रफल की बात करे तो वह 426 किलोमीटर अर्थात 165 स्क्वायर मीटर होता है। इसी के साथ यहाँ की जनसंख्या 71 लाख है। इस हिसाब से चेन्नई शहर की डेंसिटी 17 हज़ार per किलोमीटर हो जाति है। रही बात चेन्नई शहर की जीडीपी की तो वह 80 से 90 बिलियन अमेरिकी डॉलर के पास है।

#6. हैदराबाद, आंध्र प्रदेश (Hyderabad, Andhra Pradesh)

देश के सबसे अमीर शहरों में दक्षिण भारत के तीन शहरों का नाम लगातार आता है। अब जब बेंगलोर व चेन्नई का नाम इस सूची में आ गया है तो फिर हैदराबाद कैसे पीछे रह सकता है। इसलिए भारत के सबसे अमीर शहरों की सूची में हैदराबाद छठे नंबर पर आता है।

हैदराबाद शहर भारत के आंध्र प्रदेश राज्य में स्थित है और यह वहां की राजधानी भी है। हालाँकि जब से आंध्र प्रदेश के दो टुकड़े हुए है तब से यह हैदराबाद शहर आंध्र प्रदेश से अलग होकर तेलंगाना राज्य में आ गया है। यहाँ की आधिकारिक भाषा तेलुगु है। इस शहर को मोतियों का शहर भी कहा जाता है। यहाँ पर आपको कई तरह के बिस्कुट व फलों की विविधता भी देखने को मिल जाएगी।

यदि बात हैदराबाद शहर के क्षेत्रफल की की जाए तो वह 650 किलोमीटर अर्थात 250 स्क्वायर मीटर होता है। रही बात यहाँ की जनसंख्या की तो वह 70 लाख के आसपास है। इस अनुसार हैदराबाद शहर की डेंसिटी 10,477 पेर किलोमीटर पहुँच जाती है। हैदराबाद शहर की कुल जीडीपी 40 से 74 बिलियन अमेरिकी डॉलर है।

#7. पुणे, महाराष्ट्र (Pune, Maharashtra)

भारत के सबसे अमीर शहरों की स्थिति में महाराष्ट्र का एक शहर मुंबई तो शीर्ष पर हैं लेकिन उसी मुंबई के पास में ही स्थित पुणे शहर भी टॉप 10 शहरों की सूची में सातवें नंबर पर आता है। इस शहर को भारत की ऑक्सफ़ोर्ड सिटी भी कहा जाता है।

पुणे शहर मुंबई शहर से ज्यादा दूर नही हैं। इसलिए बहुत से लोग मुंबई की भीड़ से दूर पुणे शहर में रहना भी पसंद करते है। इसके साथ ही पुणे में भी बहुत सी सॉफ्टवेर कंपनी के ऑफिस है। एक ओर जहाँ मुंबई में फैशन का जलवा है तो पुणे में सॉफ्टवेर इंजिनियर का। पुणे शहर की आधिकारिक भाषा भी मराठी है लेकिन यहाँ हिंदी ही प्रमुख रूप से चलन में है।

यदि पुणे शहर के क्षेत्रफल की बात की जाए तो वह 516 किलोमीटर होता है जो कि 200 स्क्वायर मीटर के पास है। पुणे शहर की जनसंख्या मुंबई से तो कम है लेकिन यह अपने आप में अधिक है। पुणे की जनसंख्या लगभग 50 लाख है। इस हिसाब से पुणे शहर की डेंसिटी 9700 per किलोमीटर हो जाती हैं। तो वही पुणे शहर की जीडीपी 3.4 लाख करोड़ रुपते आंकी जा सकती है।

#8. अहमदाबाद, गुजरात (Ahmedabad, Gujrat)

भारत का सबसे धनी व प्रसिद्ध राज्य गुजरात जहाँ से हमारे देश के प्रधानमंत्री व गृह मंत्री आते हैं। उसी राज्य का अहमदाबाद शहर जिसे वहां के लोग कर्णावती के नाम से बुलाते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि मुगल आक्रांता अहमदशाह ने इस शहर का मूल नाम कर्णावती से बदलकर अहमदाबाद कर दिया था। यही कर्णावती शहार भारत के 10 सबसे अमीर शहरों की सूची में आठवें नंबर पर आता है।

अहमदाबाद शहर की आधिकारिक भाषा गुजरती हैं लेकिन यहाँ के सभी लोगों को हिंदी भी आती है। इसी के साथ यह गुजरात की राजधानी गांधीनगर से बहुत पास में ही है। अहमदाबाद में पैसे होने का प्रमुख कारण यहाँ का टेक्सटाइल का व्यापार हैं। इसी कारण इसे भारत का टेक्सटाइल हब भी कह दिया जाता है।

यदि बात अहमदाबाद शहर की जनसंख्या की की जाए तो वह 83 लाख के आसपास है। वही अहमदाबाद शहर का क्षेत्रफल कुल 505 किलोमीटर अर्थात 195 स्क्वायर मीटर है।

इस तरह से अहमदाबाद शहर की डेंसिटी 16 हज़ार per किलोमीटर पहुँच जाती है। अब अहमदाबाद के सबसे अमीर होने का कारण भी जान लेते हैं जो कि यहाँ की जीडीपी है। तो अहमदाबाद शहर की कुल जीडीपी 68 बिलियन अमेरिकी डॉलर है।

#9. सूरत, गुजरात (Surat, Gujrat)

अब जब अहमदाबाद की बात हो रही है तो गुजरात का ही दूसरा सबसे प्रमुख शहर सूरत कैसे पीछे रह सकता है। वह भी तब जब सूरत में गुजरात के सबसे ज्यादा व्यापारी व धनी लोग रहते हो। दरअसल सूरत अपने हीरों के व्यापार के कारण सबसे अधिक प्रसिद्ध है। अब जो शहर ही हीरे का व्यापार करता हो वह कैसे अमीर शहरों की सूची में शामिल हुए बिना रह सकता है।

सूरत शहर की आधिकारिक भाषा गुजरती ही है। साथ ही यहाँ पर पाटीदार समाज के लोग बहुतायत में रहते हैं। यह शहर गुजरात के समुंद्री इलाके के पास भी स्थित है। साथ ही देश के लगभग सभी राज्यों से लोग यहाँ व्यापार करने आते हैं। वैसे तो पूरा गुजरात ही व्यापारियों के लिए बहुत प्रसिद्ध है। इसी कारण गुजरात को एक व्यापारी प्रधान राज्य का दर्जा भी प्राप्त है।

यदि बात गुजरात शहर के इस सुंदर शहर सूरत के क्षेत्रफल की की जाए तो वह कुल 475 किलोमीटर होता है जो कि स्क्वायर मीटर में 183 है। इसी के साथ सूरत शहर की जनसंख्या लगभग 62 लाख के आसपास है। अब बात करते हैं सूरत शहर के पैसों की अर्थात जीडीपी की। तो सूरत शहर की कुल जीडीपी 57 बिलियन अमेरिकी डॉलर आंकी गयी है।

#10. विशाखपट्नम, आंध्र प्रदेश (Visakhapatnam, Andhra Pradesh)

भारत के सबसे 10 अमीर शहरों की सूची में हैदराबाद तो आता है लेकिन आंध्र प्रदेश में ना रहका वह अब तेलंगाना का शहर हो गया है। ऐसे में आंध्र प्रदेश का ही एक दूसरा और सबसे प्रसिद्ध शहर विशाखपट्नम इस सूची में अंतिम नंबर पर अपना स्थान हासिल कर लेता है। इस प्रसिद्ध शहर को मुख्यतया वाईज़ैग के नाम से भी जाना जाता है जो कि इसकी शोर्ट फॉर्म है।

विशाखपट्नम आंध्र प्रदेश का एक ऐसा शहर है जो समुंद्र के किनारे स्थित है। यह चेन्नई के बाद भारत का दूसरा सबसे बड़े समुंद्री शहर है जहाँ से बहुतायत में विदेशी व्यापार होता है। यही इसके अमीर शहर होने की प्रमुख कारकों में सम्मिलित हैं। विशाखापत्तम की आधिकारिक भाषा तेलुगु है और यहाँ यही भाषा प्रमुखता से बोली जाती है।

यदि हम बात विशाखपट्नम शहर के क्षेत्रफल की करे तो वह लगभग 682 किलोमीटर अर्थात 263 स्क्वायर मीटर होता है। वही यहाँ की जनसंख्या कुल 17 लाख के आसपास ही है। कहने का तात्पर्य यह हुआ कि भारत के अन्य अमीर शहरों की तुलना में यहाँ की जनसंख्या बहुत कम है। यदि विशाखपट्नम की जीडीपी की बात की जाए तो वह 44 बिलियन अमेरिकी डॉलर होती है।

भारत के 10 सबसे अमीर शहर – Related FAQs

प्रश्न: भारत में सबसे अमीर जिला कौन सा है?

उत्तर: भारत का सबसे अमीर जिला जयपुर है जो राजस्थान राज्य की राजधानी भी है।

प्रश्न: दुनिया का सबसे अमीर शहर कौन सा है?

उत्तर: दुनिया का सबसे अमीर शहर अमेरिका का न्यूयॉर्क है।

प्रश्न: भारत में सबसे अमीर शहर कौन सा है?

उत्तर: भारत का सबसे अमीर शहर महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई है व उसके बाद दिल्ली का नंबर आता है।

प्रश्न: दुनिया का सबसे अमीर देश का क्या नाम है?

उत्तर: दुनिया का सबसे अमीर देश का नाम अमेरिका है।

प्रश्न: सबसे ज्यादा पैसा कौन से राज्य में है?

उत्तर: भारत के सभी राज्यों में सबसे ज्यादा पैसा महाराष्ट्र राज्य के पास है।

इस तरह से आज हमने जान कि भारत के 10 सबसे अमीर शहर कौन कौन से हैं (India ki sabse rich city), वे किस किस राज्य में आते है, साथ ही उनकी जीडीपी क्या है, उनका क्षेत्रफल क्या है, वहां कितने लोग रहते है, वहां की आधिकारिक भाषा क्या है तथा साथ ही वहां से जुड़ी कुछ अन्य महत्वपूर्ण जानकारी।

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment

सुकन्या समृद्धि योजना के नियम अपने बिज़नेस को ऑनलाइन कैसे करे? मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना फ्लेक्स प्रिंटिंग का बिज़नेस कैसे करें? जिम कैसे खोले? | नया जिम खोलने की लागत, मुनाफा व मशीनें