भारत के सबसे अमीर आदमियों की सूची | भारत के सबसे अमीर आदमी कौन है?

Bharat Ka Sabse Amir Aadmi:- आज यहां हम बात करने वाले हैं भारत के सबसे अमीर व्यक्तियों के बारे में। हम यहाँ उन सभी व्यक्तित्व को भी सामने रखेंगे। आज जानेंगे कि कैसे इन व्यक्तियों ने अपने बिज़नेस को भारत तथा विश्व में एक ऐसे स्थान (India richest person list in Hindi) पर लाकर खड़ा किया है जिसकी कल्पना भी कठिन होती है। इन लोगो ने न सिर्फ अपने बिज़नेस को आगे बढ़ाया बल्कि भारत तथा भारत की आम जनता के जीवन को भी सुलभ बनाने का प्रयास किया है। उन्होंने भारत के व्यावसायिक स्तर को अधिक ऊँचा उठाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

आइये तो यहां हम आपको उन सभी (India ke sabse amir aadmi) भारत की शक्तियों से परिचय करवाते हैं। हम इनके बारे में इनके नाम के शीर्षक से प्रारम्भ करेंगे तथा उनके जीवन काल और बिज़नेस को कैसे (Bharat ke richest man) बढ़ाया, उसको भलीभांति समझाने का प्रयास करेंगे। तो चलिए जान लेते हैं भारत के सबसे अमीर आदमियों की सूची के बारे में।

भारत के सबसे अमीर आदमियों की सूची (Bharat Ka Sabse Amir Aadmi)

अब हम आपके सामने एक एक करके भारत के सबसे अमीर आदमियों की सूची रखेंगे और आपने इनमे से अधिकांश का नाम सुना भी होगा। वह इसलिए क्योंकि किसी ना किसी कारण से इनका नाम न्यूज़ में या बिज़नेस न्यूज़ में आता ही रहता (Top richest person in India in Hindi) हैं। साथ ही इनके ऊपर अपने देश की अर्थव्यवथा भी बहुत निर्भर करती हैं और साथ ही इनके द्वारा देश के लाखों करोड़ो लोगों को रोजगार भी उपलब्ध करवाया जा रहा हैं। तो चलिए जानते हैं भारत के टॉप रिचेस्ट परसन की लिस्ट।

भारत के सबसे अमीर आदमियों की सूची भारत के सबसे अमीर आदमी कौन है

#1. गौतम अडानी 

इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब कोई एशियाई ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स के टॉप 3 में भारतीय शामिल हो गया है। दुनिया के तीसरे सबसे बड़े और देश के टॉप बिज़नेस मैन गौतम अडानी ने एक सामान्य जीवन से अपनी शुरुआत की है। अडानी ने बर्नार्ड अरनॉल्ट, बिल गेट्स और वॉरेन बफे (Warren Buffett) जैसे दिग्गजों को पछाड़ दिया है। आज के समय में अडानी विश्व के तीसरे नंबर के सबसे अमीर आदमी बन चुके हैं। वर्तमान समय में गौतम अडानी की कुल 137 अरब डॉलर की संपत्ति है।

अडानी ने वेलस्पन एंटरप्राइजेज लिमिटेड के साथ संयुक्त उद्यम भारत में प्राकृतिक गैस के भंडार की खोज और विकास के लिए काम कर रहा है। साल 2021 में, कंपनी ने मुंबई तट के पास प्राकृतिक गैस के भंडार की खोज करने का दावा किया है। 714.6 वर्ग किलोमीटर चौड़ा ब्लॉक मुंबई अपतटीय बेसिन के ताप्ती-दमन सेक्टर में स्थित है। 

#2. मुकेश अंबानी

मुकेश धीरूभाई अंबानी जिन्हें मुकेश अंबानी के नाम से जाना जाता है। वे एक भारतीय व्यापारी, उद्यमी और प्रसिद्ध उद्योगपति है। मुकेश अंबानी भारत के साथ-साथ पूरे एशिया के सबसे धनी व्यक्ति है, जिनका जन्म 19 अप्रैल 1957 को यमन की राजधानी अदेन (Aden) में हुआ था। वे प्रसिद्ध रिलायंस इंडस्ट्री और जिओ (JIO) मोबाइल इंडस्ट्री के मालिक है। आज मुकेश अंबानी 93 बिलियन USD डॉलर के साथ दुनिया के सबसे धनी व्यक्ति में से एक हैं जिनका स्थान विश्व के 11वें सबसे अमीर व्यक्तियों में शामिल है।

मुकेश अंबानी एशिया के सबसे धनी व्यक्तियों में से एक है, जो कि एशिया के टॉप टॉप टेन बिजनेसमैन की लिस्ट में टॉप दो पर आते हैं। मुकेश अंबानी वर्तमान समय में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड कंपनी के चेयरमैन और एमडी हैं जो भारत की एक बहुत बड़ी कंपनी मानी जाती है।

जियो और रिलायंस पेट्रोलियम की शुरुआत करने से पहले मुकेश अंबानी ने Network18 की स्थापना की, जो एक भारतीय मीडिया कंपनी है, इसकी स्थापना 1996 में हुई थी। 1996 में एक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के तौर पर इस कंपनी को, 2006 में एक पब्लिक लिमिटेड कंपनी में बदल दिया गया। वेब 18 सॉफ्टवेयर सर्विसेज, टीवी18 ब्रॉडकास्ट, कैपिटल 18 Network 18 की होल्डिंग कंपनी है।

जियो (JIO) जो कि मोबाइल इंडस्ट्री कंपनी है, जिसकी स्थापना 15 फरवरी 2007 में हुई थी। आज के समय में भारत और विश्व में शायद ही कोई ऐसा होगा जो JIO का नाम नहीं जानता हो। आज के समय में भारत देश में जिओ के काफी ज्यादा यूजर हैं, जो कि काफी सालों से चलते आ रही एयरटेल कंपनी को भी पीछे करते हुए काफी आगे निकल गई है। अब तो जिओ कंपनी ने अपना जिओ फाइबर भी लॉन्च कर दिया है, जो कि वर्तमान समय में धीरे धीरे काफी ज्यादा मार्केट हासिल कर रहा है।

रिलायंस पेट्रोलियम एक भारतीय पेट्रोलियम कंपनी है जो भारत की सबसे बड़ी निजी क्षेत्र की कंपनियों में से एक मानी जाती है। इस कंपनी के मालिक मुकेश अंबानी है जिसका मुख्यालय अहमदाबाद, गुजरात में स्थित है। रिलायंस रिटेल एक भारतीय रिटेल कंपनी है और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की सहायक कंपनी है, जिसकी स्थापना करीब 16 साल पहले 2006 में में हुई थी। इस कंपनी के संस्थापक मुकेश अंबानी है, जिसका मुख्यालय महाराष्ट्र में स्थित मुंबई में है।

#3. शिव नाडार

शिव नाडार एक प्रसिद्ध भारतीय आईटी उद्योगपति हैं। वे एचसीएल और शिव नाडार फाउंडेशन के संस्थापक और अध्यक्ष हैं। उन्होंने 1970 के मध्य में एचसीएल की स्थापना की और धीरे-धीरे कंपनी को हार्डवेयर के साथ-साथ आईटी उद्योग का एक बड़ा नाम बना दिया। आईटी उद्योग में उनके योगदान को देखते हुए भारत सरकार ने उन्हें ‘पद्म भूषण’ से सम्मानित किया। आईटी क्षेत्र साथ-साथ शिव नाडार देश के शिक्षा क्षेत्र में भी बदलाव के लिए कार्य कर रहे हैं। यह कार्य शिव फाउंडेशन द्वारा संचालित किया जाता है।

शिव नाडार ने वर्ष 1967 में पुणे स्थित कूपर इंजीनियरिंग से अपने करियर की शुरुआत की, लेकिन वे इससे संतुष्ट नहीं थे क्योंकि वो अपना व्यवसाय शुरू करने की इच्छा रखते थे। वर्ष 1976 में 6 युवा इंजीनियरों के साथ उन्होंने ‘माइक्रो कॉम्प लिमिटेड नामक एक कंपनी बनाई, जो टेली डिजिटल कैलकुलेटर बेचने का काम करने लगी। इसके बाद उन्होंने ‘हिंदुस्तान कंप्यूटर लिमिटेड’ (एचसीएल) नामक कंप्यूटर बनाने वाली कंपनी बनाई और वर्ष 1982 में अपने पहले पीसी के साथ एचसीएल बाजार में उतारा।

#4. साइरस एस. पूनावाला

साइरस एस. पूनावाला भारतीय पारसी व्यवसायी हैं जिन्हें ‘भारत का वैक्सीन किंग’ के रूप में जाना जाता है। वह ‘पूनावाला समूह’ के अध्यक्ष हैं जिसमें ‘सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया’ शामिल है। वैक्सीन बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी ‘सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया’ के मैनेजिंग डायरेक्टर साइरस पूनावाला भारत के पांचवें सबसे बड़े अमीर आदमी हैं। बिजनेस मैगजीन फोर्ब्स के मुताबिक 2021 में उनकी नेटवर्थ 7।5 अरब डॉलर बढ़कर 19 अरब डॉलर पहुंच चुकी है।

‘सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया’ कोरोना की वैक्सीन ‘कोविशील्ड’ बना रही है। भारत के साथ-साथ दुनिया के कई देशों की इसकी आपूर्ति की जा रही है। भारत सरकार ने साइरस पूनावाला को व्यापार और वाणिज्य के क्षेत्र में अहम योगदान के लिए पद्म भूषण 2023 से सम्मानित किया है। इससे पूर्व में वह 2005 में पद्मश्री से नवाजे जा चुके हैं।

साल 1966 में साइरस पूनावाला ने ‘सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया’ नाम से एक कंपनी की शुरुआत की थी। यह कंपनी मुख्य रूप से अलग-अलग बीमारियों के लिए वैक्सीन बनाने का काम करती है। कंपनी के शुरुआती दौर में सायरस पूनावाला ने महाराष्ट्र के हाफकिन इंस्टीट्यूट से 10 साइंटिस्ट और डॉक्टर को हायर किया। जिसके बाद वे वैक्सीन निर्माण के क्षेत्र में काम करने लगे। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की तरफ से पहली बार टिटनेस के वैक्सीन का निर्माण किया गया, जिसमें साइरस पूनावाला का प्रयोग सफल हुआ।

पहली वैक्सीन के सफल निर्माण के बाद कंपनी ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। साइरस पूनावाला के सफर में सरकार ने भी साथ दिया। सरकारी अस्पतालों में इसके वितरण करने की उस समय की योजना सीरम इंस्टिट्यूट के लिए वक्त बदलने वाला साबित हुई।

टिटनेस के वैक्सीन के सफल प्रयोग के बाद सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया ने सांप के जहर को खत्म करने वाला टीका, डिप्थीरिया, टिटनस, डीपीटी के टीके, बीसीजी के टीके, मीजल्स, मंप, एमएमआर के टीके और रोटावायरस के टीके इत्यादि का निर्माण किया। आज सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया बच्चों की दवा बनाने वाली कंपनियों में सबसे पहले नंबर पर आती है।

#5. राधाकिशन दमानी 

आरके दमानी ने अपने करियर की शुरुआत एक स्टॉक ब्रोकर के रूप में की थी लेकिन कुछ ही समय बाद उन्होंने भारतीय शेयर बाजार में ट्रेडिंग शुरू कर दी। आरके दमानी ने मल्टी-बैगर शेयरों में निवेश और होल्डिंग करके बहुत पैसा कमाया। उसके पोर्टफोलियो में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले कुछ शेयरों में वीएसटी इंडस्ट्रीज, सुंदरम फाइनेंस, इंडिया सीमेंट और ब्लू डार्ट शामिल हैं। उन्होंने वीएसटी इंडस्ट्रीज में भी औसतन 85 रुपये का निवेश किया और यह वर्तमान में 3,466 रुपये पर कारोबार कर रहा है। इसके अलावा, इंडिया सीमेंट ने उनके पोर्टफोलियो में +115% का रिटर्न दिया।

आरके दमानी की लंबे समय से कंज्यूमर रिटेल में काफी दिलचस्पी रही है। इसलिए उन्होंने 2002 में उपनगरीय मुंबई में एक स्टोर के साथ डी-मार्ट खोला। फिर भी एक मूल्य निवेशक होने के नाते, यह उनके द्वारा एक बहुत ही सुनियोजित कदम था। मार्च 2017 में, डी-मार्ट मूल कंपनी- ‘एवेन्यू सुपरमार्ट्स’ के नाम से अपना आईपीओ पेश करके सार्वजनिक हुआ। आईपीओ एक बड़ी हिट थी। एवेन्यू सुपरमार्ट ने अपने शेयरों को 299 रुपये की कीमत पर जनता के लिए पेश किया और अधिक सदस्यता के बाद 604 रुपये पर सूचीबद्ध हो गया। वर्तमान में, एवेन्यू सुपरमार्ट्स के शेयर 06 अक्टूबर 2021 तक 4,250 रुपये प्रति शेयर पर कारोबार कर रहे हैं।

इसके अलावा, 2021 तक, डी-मार्ट के महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, तमिलनाडु, कर्नाटक, दमन और दीव और पंजाब में फैले 234 से अधिक स्टोर है। मार्च 2021 को खत्म हुए साल में डी मार्ट स्टोर ने कुल 23,787 करोड़ रुपये का राजस्व अर्जित किया। आरके दमानी खुद को व्यापारी और निवेशक दोनों मानते हैं। वह मार्केट स्विंग में ट्रेड करता है और लॉन्ग टर्म वैल्यू मिलने पर निवेश करता है।

व्यक्तिगत रूप से श्री दमानी बहुत ही सादा जीवन जीते हैं। उन्हें ‘श्रीमान’ के नाम से जाना जाता है क्योंकि ज्यादातर समय वह एक साधारण सफेद शर्ट और सफेद पतलून पहनते है। इसके अलावा वे मीडिया और सार्वजनिक समारोहों से बचते हैं।

#6. लक्ष्मी निवास मित्तल

भारत सरकार द्वारा स्टील के उत्पादन पर नियंत्रण की वजह से लक्ष्मी निवास मित्तल ने मात्र 26 वर्ष की आयु में सन 1976 में अपना पहला स्टील कारखाना ‘पी.टी. इस्पात इंडो’ इंडोनेशिया के सिदोअर्जो में स्थापित किया। 1990 के दशक तक भारत में मित्तल परिवार के परिसंपत्ति के रूप में नागपुर में शीट स्टील्स की एक कोल्ड रोलिंग मिल और पुणे के पास एक एलॉय स्टील संयंत्र था। 

मार्च 2008 में फोर्ब्स मैगजीन ने लक्ष्मी मित्तल को दुनिया के चौथे सबसे धनी शख्स का खिताब दिया। लक्ष्मी एशिया के सबसे धनी इंसान बताए गए। वर्तमान में लक्ष्मी मित्तल आर्सेलर मित्तल स्टील कंपनी के सीईओ और चेयरमैन हैं। इसके अलावा वे ईएडीएस, आईसीआईसीआई बैंक और इन्वेस्टमेंट बैंकिंग कंपनी गोल्डमैन सच्स के गैर-कार्यकारी निदेशक भी हैं। सन 2008 में भारत सरकार ने उन्हें पद्म विभूषण से सम्मानित किया था।

#7. सावित्री जिंदल

हम अपने देश में कई ऐसे अमीर लोगों के नाम सुनते हैं जिनकी कमाई और संपत्ति जानकर सब हैरान रह जाते हैं लेकिन इन सभी में एक बात कॉमन है कि ऐसी लिस्ट में पुरुषों के नाम ही अधिक रहते हैं। मगर इन अमीरों में एक नाम ऐसा है जिसने अपनी पहचान सबके बीच बहुत मजबूत बनाई है। यह नाम है सावित्री जिंदल का। सावित्री जिंदल अमीरी के मामले में किसी से भी कम नहीं हैं। यही वजह है कि वे देश की सबसे अमीर महिला हैं।

सावित्री जिंदल एक महिला उद्यमी हैं और ओपी जिंदल समूह की चेयरपर्सन हैं। जिंदल समूह का बिज़नस काफी फैला हुआ है और यह देश की दिग्गज स्टील कंपनी के रूप में काबिज है। जिंदल समूह के द्वारा कई क्षेत्रों में काम किया जाता हैं जैसे कि पॉवर, सीमेंट, इन्फ्रास्ट्रक्चर आदि।

#8. कुमार मंगलम बिड़ला

कुमार मंगलम बिड़ला को कौन नहीं जानता। भारत के बड़े-बड़े उधोगपतियों के नामो में एक नाम कुमार मंगलम बिड़ला का भी है। इन्हे आदित्य बिड़ला ग्रुप के अध्यक्ष के रूप में जाना जाता है।  भारत में आदित्य बिड़ला ग्रुप के हिस्सों में ग्रासिम, हिंडाल्को, अल्ट्राटेक सीमेंट, आदित्य बिरला नुवो, आइडिया सेल्युलर, आदित्य बिरला रिटेल और कनाडा में आदित्य बिरला मिनिक्स और बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस (बिट्स पिलानी) शामिल है।

कुमार मंगलम बिड़ला इन सभी के सचिव हैं। भारत में कुमार मंगलम बिरला का स्थान नियामक और व्यावसायिक बोर्डों पर कई महत्वपूर्ण और जिम्मेदार पदों में से एक हैं। इनका नाम फोर्ब्स की लिस्ट में कई बार शुमार हो चुका है। आज कुमार मंगलम बिड़ला को आदित्य बिड़ला समूह के अध्यक्ष के तौर पर जाना जाता है। 

उनका जन्म 14 जून 1967 (54 साल) को राजस्थान में एक मारवाड़ी (बिड़ला) परिवार में हुआ था। यह जन्म से ही व्यवसायी बिड़ला परिवार में बड़े हुए। वे बिड़ला परिवार के चौथी पीढ़ी के सदस्य हैं। यह बचपन में कोलकाता और मुंबई में ही रहे इनकी पढ़ाई भी मुंबई विश्वविद्यालय से हुई। उन्हें लंदन बिजनेस स्कूल में एक मानद सदस्य के रूप में जाना गया।

साल 2021 के अगस्त में बिड़ला ने टेलीकॉम फर्म वोडाफोन आइडिया के गैर-कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में पद छोड़ दिया था, जिसका गठन उनके आइडिया सेल्युलर और वोडाफोन इंडिया के बीच 2018 विलय से किया था। इस साल 2023 के जनवरी 2022 में, ABFRL ने हाउस ऑफ मसाबा लाइफस्टाइल में 51% हिस्सेदारी का अधिग्रहण किया था।

#9. दिलीप सांघवी

इंडिया के सबसे अमीर व्यक्ति की लिस्ट में नौवें स्थान पर 15.6 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ दिलीप सांघवी विराजमान है। दिलीप सांघवी हमारे इंडिया के फेमस बिजनेसमैन है। इन्होंने ही दवाई बनाने वाली लोकप्रिय कंपनी सन फार्मास्यूटिकल की स्थापना की है और साथ ही साथ वर्तमान के समय में यह सन फार्मास्यूटिकल कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर के पद को भी संभाल रहे हैं। 

सन फार्मा कंपनी आज के समय में दुनिया में एक जानी-मानी इंडियन मेडिसिन बनाने वाली कंपनी है जो लगातार प्रगति के पथ पर आगे बढ़ रही है। दिलीप सांघवी ने सन फार्मास्यूटिकल कंपनी की स्थापना जब की थी तब उनके साथ काम करने वाले सिर्फ दो लोग थे। वे 2 लोग कंपनी की मार्केटिंग का काम करते थे और धीरे-धीरे कंपनी की दवाइयों की बिक्री बढ़ती गई। स्टार्टिंग में उनकी कंपनी में सिर्फ 5 प्रकार की दवा ही बनाई जाती थी।

भारत के सबसे अमीर व्यक्तियों की सूची – Related FAQs

प्रश्न: भारत तथा एशिया का सबसे अमीर व्यक्ति कौन है?

उत्तर: भारत तथा एशिया का सबसे अमीर व्यक्ति गौतम अडानी है। 

प्रश्न: रिलायंस JIO किस अमीर व्यक्ति द्वारा स्थापित कंपनी है?

उत्तर: रिलायंस JIO एक बड़ी बिज़नेस हस्ती मुकेश अम्बानी द्वारा स्थापित कंपनी है। 

प्रश्न: कुमार मंगलम बिरला की टेलीकॉम नेटवर्क कंपनी का नाम क्या था?

उत्तर: कुमार मंगलम बिरला की टेलीकॉम नेटवर्क कंपनी का नाम आईडिया था जो कि बाद में वोडाफोन के साथ संविलयित हो गयी थी।

प्रश्न: भारत की सबसे अमीर महिला हस्ती कौन है?

उत्तर: भारत की सबसे अमीर महिला हस्ती सावित्री जिंदल हैं।

हमने आपको इस पोस्ट भारत के सबसे अमीर आदमियों की सूची (Bharat Ka Sabse Amir Aadmi) बहुत से लोग इस संबंध में जानने में दिलचस्पी रखते हैं। आप भी इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर करना न भूलें। धन्यवाद।

Leave a Comment