क्या आज बैंक में छुट्टी है? | बैंक हॉलिडेज 2024 इन इंडिया

|| आज बैंक की छुट्टी है क्या 2024?, आज बैंक खुला है नहीं today up, आज बैंक खुला है नहीं 2024 October, राजस्थान में आज बैंक की छुट्टी है क्या, आज बैंक की छुट्टी है क्या 2020, बैंक की छुट्टी शनिवार, एसबीआई बैंक की छुट्टी है क्या, भारतीय स्टेट बैंक की छुट्टियों 2024 ||

नया साल 2024 शुरू हो चुका है। आपको, हमको, हर किसी को साल भर बैंक में कोई-न-कोई काम पड़ता रहता है। ऐसे में यदि हमें पहले से पता हो कि बैंक किस दिन बंद रहेंगे तो हम मुश्किल से बच सकते हैं और अपना काम इन छुट्टियों के अनुसार प्लान कर सकते हैं।

यदि आप भी जानना चाहते हैं कि बैंक किस दिन बंद रहेंगे? बैंक हॉलिडे किस दिन है? तो आपको कहीं और जाने की जरूरत नहीं। हम आपको बताएंगे कि आपके राज्य में साल भर में बैंक किस किस दिन बंद रहेंगे। आइए, शुरू करते हैं-

Contents show

बैंक हॉलिडेज 2024 इन इंडिया [Bank Holidays 2024 in India] –

दोस्तों, सबसे पहले जान लेते हैं कि एक बैंक कैलेंडर (bank calendar) में कौन कौन सी छुट्टियां शामिल होती हैं। आपको बता दें मित्रों कि इस लिस्ट में केंद्र एवं राज्य सरकारों (central and state governments) द्वारा दी जाने वाली छुट्टियां भी शामिल होती हैं। आपको बता दें दोस्तों कि केंद्र तीन नेशनल होलीडे (national holiday) मनाता है।

इनमेे स्वतंत्रता दिवस (independence day) यानी 15 अगस्त, गणतंत्र दिवस (republic day) यानी 26 जनवरी एवं गांधी जयंती (Gandhi jayanti) यानी दो अक्तूबर शामिल है। रविवार को तो अवकाश होता ही है। इसके अतिरिक्त बैंक दूसरे एवं चौथे शनिवार (second and fourth Saturday) को भी बंद रहते हैं।

प्रत्येक वर्ष बैंक हॉलिडेज को आरबीआई (RBI) द्वारा तैयार की गई सूची के मुताबिक अधिसूचित (schedule) किया जाता है।

क्या आज बैंक में छुट्टी है? | बैंक हॉलिडेज 2024 इन इंडिया

साल 2024 में किस किस दिन बैंक में छुट्टी रहेगी (what days have holidays in year 2024)

कुछ त्योहार ऐसे होते हैं, जो सामान्य तौर पर पूरे देश में मनाए जाते हैं। प्रत्येक संस्थान की तरह इन त्योहारों पर बैंक भी बंद रहते हैं। आम तौर पर बैंक हॉलिडेज (bank holidays) किस किस दिन है, यह इस छुट्टियों की लिस्ट से समझ लेते हैं-

तिथिदिनअवसर
एक जनवरीशनिवारनव वर्ष
4 जनवरीमंगलवारलोसुंग (सिक्किम में बैंक बंद)
8 जनवरीशनिवारसेकंड सैटरडे
11 जनवरीमंगलवारमिशनरी डे (मिजोरम में बैंक बंद)
12 जनवरीबुधवारस्वामी विवेकानंद जयंती
14 जनवरीशुक्रवारमकर संक्रांति, पोंगल (गुजरात, तमिलनाडु,मणिपुर में बैंक बंद)
15 जनवरीशनिवारमाघ संक्रांति
18 जनवरीमंगलवारथाई पोसम (तमिलनाडु में बैंक बंद)
22 जनवरीशनिवारफोर्थ सैटरडे
26 जनवरीबुधवारगणतंत्र दिवस
31 जनवरीसोमवारमी डेम मे फी (असम में बैंक बंद)
5 फरवरीशनिवारबसंत पंचमी
12 फरवरीशनिवारसेकंड सैटरडे
26 फरवरीशनिवारफोर्थ सैटरडे
1 मार्चमंगलवारमहाशिवरात्रि
12 मार्चशनिवारसेकंड सैटरडे
18 मार्चशुक्रवारहोली
26 मार्चशनिवारफोर्थ सैटरडे
एक अप्रैलशुक्रवारबैक खातों की क्लोजिंग
2 अप्रैलशनिवारगुड़ी पड़वा/प्रथम नवरात्र
9 अप्रैलशनिवारसेकंड सैटरडे
14 अप्रैलबृहस्पतिवारडा अंबेडकर जयंती/महावीर जयंती, बैसाखी/बिहू/नव वर्ष
15 अप्रैलशुक्रवारगुड फ्राइडे/ हिमाचल डे/बंगाली नव वर्ष/बिहाग बिहू
23 अप्रैलशनिवारफोर्थ सैटरडे
3 मईमंगलवारभगवान परशुराम जयंती/बसव जयंती/अक्षय तृतीया
14 मईशनिवारसेकंड सैटरडे
16 मईसोमवारबुद्ध पूर्णिमा
28 मईशनिवारफोर्थ सैटरडे
11 जूनशनिवारसेकंड सैटरडे
14 जूनमंगलवारकबीर जयंती
25 जूनशनिवारफोर्थ सैटरडे
9 जुलाईशनिवारसेकंड सैटरडे
23 जुलाईशनिवारफोर्थ सैटरडे
नौ अगस्तमंगलवारमोहर्रम (अशूरा)
12 अगस्तशुक्रवाररक्षा बंधन
13 अगस्तशनिवारसेकंड सैटरडे
15 अगस्तसोमवारस्वतंत्रता दिवस
16 अगस्तमंगलवारपारसी न्यू ईयर
19 अगस्तशुक्रवारजन्माष्टमी
27 अगस्तशनिवारफोर्थ सैटरडे
31 अगस्तबुधवारगणेश चतुर्थी
10 सितंबरशनिवारसेकंड सैटरडे
24 सितंबरशनिवारफोर्थ सैटरडे
4 अक्तूबरमंगलवारदुर्गा पूजा/दशहरा
5 अक्तूबरबुधवारदुर्गा पूजा/दशहरा
8 अक्तूबरशनिवारसेकंड सैटरडे
22 अक्तूबरशनिवारफोर्थ सैटरडे
24 अक्तूबरसोमवारदिवाली/लक्ष्मीपूजन/नर्क चतुर्दशी
8 नवंबरमंगलवारगुरु नानक जयंती
12 नवंबरशनिवारसेकंड सैटरडे
26 नवंबरशनिवारफोर्थ सैटरडे
10 दिसंबरशनिवारसेकंड सैटरडे
24 दिसंबरशनिवारफोर्थ सैटरडे

किस महीने कितने दिन बैंक हॉलिडेज है? (how many days the banks would be closed and in which month)

दोस्तों, यदि इस कैलेंडर पर गौर किया जाए तो 52 रविवार को छोड़कर भी एक वर्ष में 52 और अवकाश हैं। यानी कुल 104 दिन की छुट्टियां। महीनों में बात करें तो करीब साढ़े तीन महीने बैंक कर्मियों के छुट्टियों में ही गुजरेंगे। अब जरा रविवार को साथ मिलाकर देख लेते हैं कि किस महीने कितने दिन बैंक हॉलिडेज रहेगा-

  1. जनवरी-16,
  2. फरवरी-7,
  3. मार्च-8,
  4. अप्रैल-10,
  5. मई-11,
  6. जून-7,
  7. जुलाई-8,
  8. अगस्त-12,
  9. सितंबर-6,
  10. अक्तूबर-9,
  11. नवंबर-7,
  12. दिसंबर-6।

पहले ही महीने में 16 बैंक में छुट्टी (first month itself has 16 holidays)

रिजर्व बैंक आफ इंडिया (reserve Bank of India) यानी आरबीआई (RBI) ने जो होलीडे लिस्ट (holidays list) घोषित की है, उसके अनुसार इस साल 2024 के पहले ही महीने यानी जनवरी माह में 16 छुट्टियां घोषित हुई हैं। 2024 में कई छुट्टियां रविवार यानी संडे (Sunday) के दिन के दिन पड़ी हैं।

मसलन, कई ऐसे बैंक हॉलिडेज 2024 हैं, जो रविवार को पड़ रहे हैं। जैसे-ईद-ए-मिलाद नौ अक्तूबर को पड़ रही है, वहीं बकरीद भी 10 जुलाई के दिन पड़ेगी, जो संडे को है।

विभिन्न राज्यों में त्योहारों के हिसाब से बैंक में छुट्टी (holidays are according festivals in different states)

बैंकों की छुट्टी अमूमन प्रत्येक राज्य में एक समान नहीं होती। यह प्रत्येक राज्य में वहां समुदाय विशेष की उपस्थिति को देखते हुए अलग अलग हो सकती है। वहां के त्योहारों एवं पर्वों को निगाह में रखते हुए बैंक अलग अलग दिन बंद हो सकते होते हैं।

जैसे असम में बिहू पर बैंक में छुट्टी हो सकती है, लेकिन उत्तराखंड में इस दिन बैंकों की छुट्रटी हो, यह आवश्यक नहीं। स्थानीय नागरिकों के हित को ध्यान में रखते हुए बैंकों में अलग state holidays का प्रावधान किया गया है।

26 जनवरी को नेशनल होलीडे फिर भी कुछ शहरों में बैंक खुलते हैं (26 January is national holiday, still banks open in some cities)

26 जनवरी को नेशनल होलीडे है। इस दिन देश भर के बैंकों में छुट्टी होती है। लेकिन कुछ शहर ऐसे हैं, जहां इस दिन भी अवकाश नहीं होता। जैसे भोपाल, भुवनेश्वर, चंडीगढ़ आदि। इसके अलावा पूरे देश में बैंक कर्मचारी गणतंत्र दिवस की धूम में शामिल होते हैं। ग्राहक भी बैंक में छुट्टी को देखते हुए इस दिन से पहले ही अपना काम निपटा लेना श्रेयस्कर समझते हैं।

बैंकों का वित्तीय वर्ष 31 मार्च को समाप्त होता है (bank’s financial year ends on 31st March)

दोस्तों, आपको बता दें कि 31 मार्च को बैंकों का वित्तीय वर्ष समाप्त होता है। यह दिन बैंकों का क्लोजिंग डे (closing day) होता है। यानी इस दिन बैंक बंद रहता है। ऐसा नहीं कि कर्मचारी काम पर नहीं होते, वे तो काम पर होते हैं, लेकिन ग्राहकों के लेन-देन से जुड़ा कोई भी कार्य नहीं होता।

यह तो आप जानते ही होंगे कि सरकार भी अपना बजट तैयार करती है तो अगले वित्तीय वर्ष के लिए उसमें विभिन्न प्रावधान (provision) करती है। जैसे अभी वित्तीय वर्ष 2021-2024 चल रहा है। एक अप्रैल 2022 से वित्तीय वर्ष 2024-2024 प्रारंभ हो जाएगा।

अभी भी बैंक खुलने-बंद होने से लाखों लोग प्रभावित होते हैं (there are many customers who get effected from bank opening-closing)

बेशक यह जमाना इंटरनेट (internet), नेट बैंकिंग (net banking) आदि का है, इसके बावजूद अभी भी बैंक खुलने-बंद होने से लाखों लोग प्रभावित होते हैं। ये वे लोग हैं, जिनके चेक (cheque) बैंक में जमा होने से भुगतान होगा, जिनके ड्राफ्ट भुनने हैं। जिन्हें अपनी कमाई का हिस्सा बैंकों में स्लिप (slip) के माध्यम से जमा करना है अथवा निकालना है।

यह तो आप भी जानते होंगे कि देश की एक बड़ी जनसंख्या (population) आज भी लेन-देन जैसी बेसिक सुविधाओं (basic facilities) के लिए बैंकों पर ही निर्भर हैं। बैंक मित्र जैसी सुविधाओं ने इन लोगों के लिए बैंकिंग को थोड़ा आसान कर दिया है।

सरकारी एवं निजी बैंक की छुट्टियों में भी अंतर (there is difference between government and private bank’s holidays)

सरकारी एवं निजी बैंकों की छुट्टियों में भी अंतर रहता है। निजी बैंक विभिन्न क्षेत्रों में अपनी ग्राहक सुविधाओं के मद्देनजर बैंक में अवकाश का निर्णय लेते हैं। कई बार यह भी होता है, जब सरकारी बैंक बंद होते हैं, लेकिन निजी बैंक कर्मचारियों को उस दिन भी अपनी ड्यूटी बजाने के लिए बुला लिया जाता है।

दरअसल, अधिकांश निजी बैंक कर्मचारी ओरिएंटेड (employee oriented) न होकर कस्टमर ओरिएंटेड (customer oriented) होते हैं। ऐसे में वे अपने कर्मचारी की सुविधा को नजर में रखकर ग्राहक सेवाओं को तरजीह देते हैं।

छुट्टियों को देखते हुए आरबीआई ने दी चेक क्लियरिंग की सुविधा (rbi gave cheque clearing facility in view of holidays)

आरबीआई ने बैंकों के लिए जो छुट्टियों की सूची अधिसूचित की है, उसकी वजह से कई बार लोगों का लेन-देन रूक जाता था। दूसरे चेक भुनाने की सुविधा भी केवल कार्य दिवस में मिल पाती थी। चेक क्लियर (cheque clear) न होने से कई व्यापारियों को वित्तीय समस्याओं (financial problems) का सामना करना पड़ता था।

इसे देखते हुए आरबीआई ने इस नियम में फेरबदल करते हुए नेशनल आटोमेटेड क्लियरिंग हाउस (national automated clearing house) यानी एनएसीएच (NACH) को एक अगस्त, 2021 से 24×7 यानी 24 घंटे, सातों दिन चालू रखने का फैसला किया है। यह नियम सभी सरकारी एवं निजी बैंकों पर लागू रहेगा। इससे नौकरी करने वाले लोगों को भी बहुत सुविधा होगी, जिनके मालिक उन्हें तनख्वाह चेक के माध्यम से देते थे, वे अवकाश होने के बावजूद एनएसीएच के माध्यम से अपना चेक क्लियर करा सकते हैं।

दोस्तों, अब आपके दिमाग में यह सवाल अवश्य उठ रहा होगा कि आखिर यह एनएसीएच क्या है? मित्रों, आपको बता दें कि यह इलेक्ट्रानिक क्लियरिंग सिस्टम (electronic clearing system) यानी ईसीएस (ECS) का एडवांस वर्जन है। एनएसीएच एक ऐसी बैकिंग सुविधा है, जिसके माध्यम से कंपनियां एवं आम आदमी हर महीने के आवश्यक लेन देन को आसानी से कर सकते हैं।

इस सेवा को भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम यानी नेशनल पेमेंट कारपोरेशन आफ इंडिया (national payment corporation of India) चलाता है। हाल ही में यह (NPCI) डीबीटी का एक सशक्त माध्यम बनकर उभरा है। सरकारी सब्सिडी (subsidy) के हस्तांतरण में भी इस सुविधा से लाभार्थियों को बड़ा लाभ पहुंचा है। चेक क्लियरेंस सुविधा 24×7 होने से यह भी हुआ है कि अब बैंक में अवकाश होने पर भी आपके बैंक एकाउंट (bank account) से जाने वाली ईएमआई (EMI) कट जाएगी।

इसके अलावा म्युचुअल फंड, लोन की ईएमआई, टेलीफोन आदि तमाम बिलों का भुगतान बैंक के अवकाश के दिन भी हो जाएगा। इससे दिक्कत यह कि अब बैंक में छुट्टी के दिन भी चेक क्लियर होने से सतर्क रहने की आवश्यकता है। आपको हर वक्त अपने एकाउंट में आवश्यक बैलेंस रखना होगा।

वरना चेक बाउंस होने की स्थिति में आपको पेनल्टी झेलनी होगी। पहले लोग बैंक में छुट्टी का दिन होने की वजह से इस बारे में निश्चिंत रहते थे। आपको बता दें कि इसके जरिए आम तौर पर बल्क पेमेंट (bulk payment) किए जाते हैं।

सरकारी छुट्टी के कैलेंडर एवं बैंक कैलेंडर में मामूली अंतर (there is nominal difference in govt and bank holidays calendar)

साथियों, आपको बता दें कि सरकारी छुट्टी के कैलेंडर एवं बैंक कैलेंडर में मामूली अंतर होता है। जैसे उसमें वित्तीय वर्ष की समाप्ति पर अगले दिन का अवकाश नहीं होता, जो कि अमूमन बैंकों में होता है।

इसके अतिरिक्त भी कई ऐसे अवकाश हैं, जो आपको सरकारी अवकाश सूची में दिखते हैं, लेकिन बैंकों में उस दिन अवकाश नहीं होता। यह तो हम आपको बता ही चुके हैं कि बैंकों की अवकाश सूची (holiday list) आरबीआई जारी करता है।

पूर्व में बैंकों के अवकाश से जनता बहुत दिक्कत उठाती थी (earlier public had many problems because of bank holidays)

बहुत अधिक समय नहीं गुजरा। कुछ ही साल हुए हैं, जब नेट बैंकिंग की सुविधा नहीं थी। मोबाइल फोन हर किसी के हाथ में नहीं था और कंप्यूटर से भी बहुत कम लोग ही वाकिफ थे। उस समय छोटे से छोटे लेन देन के लिए, सैलरी के लिए, चेक भुगतान के लिए बैंक में लंबी लंबी लाइनें लगती थीं।

विशेषकर बैंकों के कैशियर्स (bank cashier’s) के पास सिर उठाकर बात करने का वक्त तक नहीं होता था। वे चेक पर हस्ताक्षर मिलाने में ही बहुत वक्त ले लेते थे। हर छोटे बड़े व्यक्ति का बैंक में काम पड़ता था। बैंक वाले की समाज में बहुत प्रतिष्ठा थी। लेकिन इंटरनेट एवं स्मार्टफोन (internet and smart phone) आने के बाद से बैंकिंग की सूरत ही आमूल-चूल बदल गई।

इसके बाद तमाम तरह के मोबाइल एप्स (mobile apps) ने लोगों की बैंकिंग आदतों को ही बदल डाला। किसी को भुगतान करना है आप गूगल पे से कर लें, फोन पे से कर लें। एक छोटे से कार्ड के जरिए आप घर बैठे शाॅपिंग कर भुगतान कर सकते हैं। आपको कहीं जाने की आवश्यकता नहीं। कहा जाता है कि अब केवल लोन लेने के लिए ही आदमी बैंक का रूख करता है।

यही वजह है कि अब बैंकों के लक्ष्य (targets) भी बदल गए हैं। अब अधिक से अधिक बैंक आपको डोर सर्विस (door service) उपलब्ध कराने के लिए तत्पर खड़े हैं। जाहिर सी बात है कि इन सब हालातों को देखते हुए बैंकों में छुट्टी का असर अब उतना नहीं रह गया है, जो पूर्व में हुआ करता था।

क्या पूरे देश में बैंकों में एक जैसी छुट्टियां होती हैं?

जी नहीं, केंद्र एवं राज्य सरकार बैंकों के लिए अलग अलग छुट्टियां घोषित करती है।

download app

छुट्टियों की सूची कौन जारी करता है?

देश का केंद्रीय बैंक यानी रिजर्व बैंक आफ इंडिया छुट्टियों की सूची जारी करता है।

बैंकों की छुट्टियों से क्या असर होता है?

बैंकों की छुट्टियों से ग्राहकों के लेन-देन के कार्य सर्वाधिक प्रभावित होते हैं।

बैंकों का वित्तीय वर्ष कब समाप्त होता है?

बैंकों का वित्तीय वर्ष 31 मार्च को समाप्त होता है।

क्या 26 जनवरी को बैंक खुलते हैं?

जी हां, भुवनेश्वर, भोपाल जैसे कई शहरों में 26 जनवरी को भी बैंक खुलते हैं।

दोस्तों, हमने आपको बैंक हॉलिडेज 2024 की जानकारी दी। उम्मीद है कि बैंक से संबंधित लेन-देन अपडेट रखने एवं यदि आप बैंक कर्मी हैं तो छुट्टी प्लान करने के नजरिये से यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी साबित होगी। यदि आप इसी प्रकार की कोई जानकारीपरक पोस्ट हमसे चाहते हैं तो संबंधित विषय हमें नीचे दिए गए कमेंट बाक्स में कमेंट करके बता सकते हैं। ।।धन्यवाद।।

————————————

प्रवेश
प्रवेश
मास मीडिया क्षेत्र में अपनी 15+ लंबी यात्रा में प्रवेश कुमारी कई प्रकाशनों से जुड़ी हैं। उनके पास जनसंचार और पत्रकारिता में मास्टर डिग्री है। वह गढ़वाल विश्वविद्यालय, श्रीनगर से वाणिज्य में मास्टर भी हैं। उन्होंने गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय से व्यक्तिगत प्रबंधन और औद्योगिक संबंधों में डिप्लोमा भी किया है। उन्हें यात्रा और ट्रेकिंग में बहुत रुचि है। वह वाणिज्य, व्यापार, कर, वित्त और शैक्षिक मुद्दों और अपडेट पर लिखना पसंद करती हैं। अब तक उनके नाम से 6 हजार से अधिक लेख प्रकाशित हो चुके हैं।
WordPress List - Subscription Form
Never miss an update!
Be the first to receive the latest blog post directly to your inbox. 🙂

Leave a Comment