BE Kya Hai – B.Tech Kya Hai? बीटेक कैसे करें? पूरी जानकारी

What is BE and B.Tech in Hindi : BE तथा B.Tech 2 ऐसी डिग्रियां हैं, जिनकों हासिल कर लेने के बाद कोई भी व्‍यक्ति देश के निजी अथवा सरकारी संस्‍थान में इं‍जीनियर की नौकरी हासिल कर सकता है। भारत में बहुत से छात्र BE की डिग्री लेकर इंजीनियर बनना पसंद करते हैं, तो वहीं कुछ ऐसे भी हैं जो B.Tech करते हैं।

Be and B.Tech Kya Hai in Hindi

BE तथा B.Tech में कुछ अंतर भी होता है। ऐसे में हमें इस अंतर को भी समझना होगा। वह अंतर क्‍या हैं और दोनों प्रकार डिग्रियां क्‍या समान जॉब दिलाती हैं? इस बात को भी समझना बेहद जरूरी है।

आज की इस पोस्‍ट में बीई तथा B.Tech से जुड़ी कुछ विशेष बातों पर बात की जाएगी। यदि आप 10+2 के छात्र हैं। और आगे चल कर इंजीनियरिंग के क्षेत्र में Career बनाने की इच्‍छा रखते हैं, तो यह पोस्‍ट आपके बहुत काम आने वाली है।

B.Tech Kya Hai –

B.Tech in Hindi : बीटेक एक ऐसी डिग्री है, जो इंजीनियरिंग के क्षेत्र में पढ़ाई कर रहे छात्र छात्राओं को प्रदान की जाती है। B.Tech कोर्स में प्रवेश 10+2 की परीक्षा पास करने के बाद लिया जाता है। यह कोर्स देश के अलग अलग राज्‍यों में अलग अलग अवधि का भी हो सकता है।

सामान्‍यत: इस कोर्स की अवधि 3 से 5 वर्ष की होती है। बीटेक की परीक्षा पास करने के बाद सभी छात्र छात्रायें देश विदेश के सरकारी तथा निजी कंपनियों में इंजीनियर के खाली पदों के लिये अपना आवेदन प्रस्‍तुत कर सकते हैं।

BE Kya Hai –

BE in Hindi : बीई भी इंजीनियरिंग के क्षेत्र में प्रदान की जाने वाली डिग्री है। यह बीटेक के बराबर होती है। इस डिग्री को पाने के लिये आपको 10+2 की परीक्षा उत्‍तीर्ण करने के बाद प्रवेश लेना होता है।

BE and B.Tech में क्‍या अंतर है?

बीई तथा B.Tech दोनों ही डिग्रियों की समान मान्‍यता है तथा दोनों से ही समान प्रकार का भविष्‍य तथा Career बनाने में मदत मिलती है। लेकिन फिर भी कुछ ऐसा है, जिसकी वजह से इन दोनों डिग्रियों के बीच का अंतर साफ तौर पर दिखाई पड़ता है।

हमारे देश में 2 प्रकार के कॉलेज तथा यूनिवर्सिटियां हैं। जिसमें एक प्रकार की यूनिवर्सिटी ऐसी होती हैं। जहां पर इंजीनियरिंग के अलावा मेडिकल तथा अन्‍य विषयों की पढ़ाई होती है।

इसके अलावा कुछ ऐसे विश्‍वविद्धालय भी हैं, जो केवल इंजीनियरिंग की ही पढ़ाई कराते हैं और अपने यहां पढ़ने वाले छात्र छात्राओं को इंजीनियरिंग की डिग्री प्रदान करते हैं।

ऐसे विश्‍वविद्धालय जहां इंजीनियरिंग के अलावा अन्‍य Subjects में भी डिग्रियां दी जाती हैं। वहां इंजीनियरिंग के लिये BE की डिग्री प्रदान की जाती है।

तथा ऐसे विश्‍वविद्धालय जो अपने यहां केवल इंजीनियरिंग की शिक्षा देते हैं। वहां के छात्रों को B.Tech की उपाधि प्रदान की जाती है।

Also Read :

BE डिग्री की कुछ विशेषतायें –

  • BE का सिलेबस ज्ञान आधारित होता है।
  • बीई में थ्‍यौरी पर विशेष बल दिया जाता है, जो विज्ञान के बुनियादी सिद्धांतों और परिभाषाओं पर आधारित होता है।
  • चूंकि यह एक ज्ञान आधारित सिलेबस के आधार पर संचालित किया जाता है। इसलिये इसे बार बार अपडेट करना पड़ता है।

B.Tech डिग्री की कुछ विशेषतायें –

  • बीटेक का पाठयक्रम ज्ञान आधारित होने के साथ साथ कौशल (Skill) आधारित होता है।
  • बीटेक में सैंद्धातिक पहलुओं के बजाये व्‍यवहारिक प्रयोगों को अधिक तरजीह दी जाती है।
  • यह नई टैक्‍नोलॉजी के आधार पर खुद बार बार अपडेट करता रहता है।

बीई तथा बीटेक Kitne Year Ka Hota Hai –

बीई तथा बीटेक कोर्स की समय अवधि कुछ राज्‍यों में अलग अलग हो सकती है। पर भारत में सामान्‍यत: इस कोर्स की समय अवधि केवल 4 साल है।

बीई तथा बीटेक में क्‍या समानता है?

भारत में इन दोनों कोर्स की अवधि 4 साल है। इसके अलावा दोनों ही डिग्रियों के लिये समान Future तथा समान कैरियर मौजूद है। दोनों प्रकार की डिग्रियों के सिलेबस सेमेस्‍टर पैटर्न का पालन करते हैं और प्रत्‍येक साल के 2 सेमेस्‍टर के हिसाब से 4 साल में 8 सेमेस्‍टर पूरा करते हैं।

दोनों ही प्रकार की डिग्रियों के लिये अवसर भले ही समान हो, लेकिन पाठयक्रम का दृष्टिकोण पूरी तरह भिन्‍न होता है। AICTE दोनों प्रकार की डिग्रियों को अलग अलग नहीं मानता है। इसलिये दोनों को समान मान्‍यता प्रदान करता है।

बीटेक के लिये मौजूदा कोर्स तथा विषय –

  • सिविल इंजीनियरिंग कोर्स
  • मैकेनिकल इंजीरियरिंग कोर्स
  • इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग कोर्स
  • केमिकल इंजीनियरिंग कोर्स
  • कंप्‍यूटर इंजीनियरिंग कोर्स
  • एअरोस्‍पेस इंजीनियरिंग कोर्स
  • इलेक्‍ट्रोनिक्‍स व टेलीकम्‍यूनिकेशन इंजीनियरिंग कोर्स
  • टेक्‍सटाइल इंजीनियरिंग कोर्स
  • माइनिंग इंजीनियरिंग कोर्स

इसके अतिरिक्‍त और भी बहुत से ऐसे कोर्स हैं, जिनके तहत आप B.Tech की डिग्री हासिल पा सकते हैं।

बीई तथा बीटेक कैसे करें?

बीई तथा B.Tech करने के लिये सबसे पहले आपका 10+2 की परीक्षा उत्‍तीर्ण करना अनिवार्य है। जिसके बाद आपको देश भर के इंजीनियरिंग संस्‍थानों के द्धारा प्रवेश परीक्षायें आयोजित की जाती है। आप बीटेक प्रवेश परीक्षा में भाग लेकर तथा उसे पास करने के उपरांत बीटेक कोर्स में प्रवेश ले सकते हैं।

किंतु ध्‍यान देने वाली बात यह है कि BE and B.Tech में प्रवेश मेरिट के आधार पर ही मिलता है। आप जैसा प्रदर्शन प्रवेश परीक्षा में अंक जुटा करेंगें, ठीक उसके अनुरूप ही आपको इंजीनियरिंग कॉलेज तथा कोर्स में प्रवेश मिलेगा।

भारत के कुछ Popular Entrance Exam for BE –

GCET, AIEEE, IIT-JEE, Common Entrance Test (CET), Punjab University, BCECE, REPT, GUJCET, UPSEE, GATE, DUCEE, BCECE आदि।

B.Tech Entrance Exam List for 2020 –

  • JEE Main
  • JEE Advanced
  • BITSAT
  • VITEEE
  • SRMJEEE
  • COMEDK
  • KIITEE
  • WBJEE
  • MHTCET

बीटेक करने के लाभ क्‍या हैं?

  • बीटेक करने के बहुत फायदे हैं। लेकिन यदि आप बीटेक करने के तुरंत बाद M Tech कर लें तो आप एक अच्‍छी जॉब के साथ साथ सुनहरा भविष्‍य बना पाने में सफल हो सकते हैं।
  • B.Tech करने के बाद आपको जल्‍दी सरकारी नौकरी हासिल हो सकती है।
  • सरकारी नौकरी न लगे तो निजी कंपनी में नौकरी हासिल करना कोई कठिन काम नहीं है।
  • इस डिग्री के बदौलत आपको आकर्षक वेतन मिलता है। जिसकी वजह से आप एक अच्‍छा जीवन व्‍यतीत कर सकते हैं।
  • आप जहां काम कर रहे हैं, वहां आपको समय समय पर प्रमोशन भी मिल सकता है।
  • आप चाहें तो देश में अथवा विदेश में नौकरी का विकल्‍प चुन सकते हैं।
  • बीटेक तथा एमटेक करने वाले छात्र छात्राओं के लिये सभी बहुराष्‍ट्रीय कंपनियों में भारी डिमांड है।
  • मल्‍टीनेशनल कंपनी में नौकरी पाने के बाद यदि आपका प्रमोशन होता है, तो कंपनी के द्धारा विदेश में भी नियुक्ति की जा सकती है।

SOL के तहत कौन सी डिग्री महत्‍वपूर्णं होगी BE अथवा B.Tech?

SOL में इंजीनियरिंग तकनीशियन के रूप में आपको आवेदन करना होता है। इजीनियरिंग अभियंता के रूप में नहीं। इसलिये इस मामले में आपके लिये BE की डिग्री कारगर साबित होगी। जबकि B.Tech वाले आवदेन नहीं कर सकते हैं।

तो दोस्तों यह थी BE Kya Hai – B.Tech Kya Hai? बीटेक कैसे करें? के बारे में पूरी जानकारी। यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें। साथ ही यदि आपका किसी प्रकार का कोई सवाल हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करें। हम जल्द ही आपके सवालों का जवाब देगें।। धन्यवाद ।।

Sharing is caring

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।