आयुष्मान कार्ड के फायदे | आयुष्मान कार्ड से क्या लाभ मिलता है?

|| आयुष्मान कार्ड के क्या क्या फायदे हैं (what are the benefits of Ayushmann card), आयुष्मान कार्ड से क्या लाभ मिलता है, आयुष्मान कार्ड के लिए पात्रता, आयुष्मान भारत योजना क्या है, आयुष्मान कार्ड लिस्ट, आयुष्मान भारत में इस रोग की सूची Pdf, आयुष्मान कार्ड ऑनलाइन, आयुष्मान कार्ड लिस्ट उत्तर प्रदेश ||

देश में ऐसे करोड़ों गरीब लोग हैं, जिनके पास बीमारी की अवस्था में इलाज के पैसे तक नहीं होते। ऐसे में महंगे उपचार की बात तो कौन कहे। ऐसे लोगों की बड़ी संख्या है, जो उपचार न करा पाने की हालत में अपनी जान तक गंवा बैठते हैं। गरीब लोगों को महंगे उपचार का दंश न झेलना पड़े, इसके लिए भारत सरकार आयुष्मान भारत योजना लेकर आई है।

इसके लाभार्थियों को आयुष्मान कार्ड प्रदान किया जाता है, जिसके माध्यम से वे आयुष्मान भारत योजना के तहत निर्धारित पैनल में शामिल किसी भी सरकारी अथवा निजी अस्पताल में अपना इलाज कराने में सक्षम हैं। आज इस पोस्ट में हम आपको आयुष्मान कार्ड से मिलने वाले लाभों के विषय में जानकारी देंगे। आइए, शुरू करते हैं-

आयुष्मान कार्ड क्या है? (what is Ayushmann card)

दोस्तों, आपको बता दें कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने एक अप्रैल, 2018 को आयुष्मान भारत योजना (Ayushmann bharat Yojana-ABY) का शुभारंभ किया। यह एक स्वास्थ्य योजना है। इसका क्रियान्वयन स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय (ministry of health and family welfare) द्वारा किया जा रहा है।

आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत बीपीएल लाभार्थियों को एक आयुष्मान कार्ड दिया जाता है। इसे पूर्व में गोल्डन कार्ड भी पुकारा जाता था। बाद में इसका नाम बदला गया।

आयुष्मान कार्ड के धारकों को देश के किसी भी अस्पताल में 5 लाख रुपये तक के मुफ्त उपचार के साथ ही कैश लेस इलाज (cashless treatment), फूड सर्विस (food service), प्री हास्पिटलाइजेशन (pre-hospitalization), पोस्ट हास्पिटलाइजेशन जैसे खर्चों का भी भुगतान किया जाता है।

आयुष्मान कार्ड के फायदे | आयुष्मान कार्ड से क्या लाभ मिलता है?

आयुष्मान भारत कार्ड योजना डिटेल्स –

योजना का नामआयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड 2022
लाभार्थीदेश के गरीब नागरिक
लाभ5 लाख बीमा
कब शुरू की गई14 अप्रैल 2018
वेबसाइटhttps://mera.pmjay.gov.in

आयुष्मान कार्ड के फायदे क्या क्या हैं?

दोस्तों, आयुष्मान कार्ड के माध्यम से केंद्र सरकार ने गरीब, निर्धन, वंचित वर्ग के लोगों तक कई प्रकार के लाभ पहुंचाए हैं। ये इस प्रकार से हैं-

  • आयुष्मान भारत दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना है।
  • आयुष्मान कार्ड का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसके माध्यम से आयुष्मान कार्डधारक को पांच लाख रूपये तक का मुफ्त इलाज मिलता है।
  • इसके तहत 1,393 प्रोसीजर शामिल किए गए हैं। इनमें ट्रीटमेंट पर आई लागत, रूम चार्जेज, डाक्टर की फीस, आपरेशन थिएटर, आईसीयू, डायग्नोस्टिक सर्विस, सर्जन के चार्ज आदि सभी कुछ शामिल है।
  • इसके अंतर्गत 1354 हेल्प पैकेज (health package) शामिल किए गए हैं। कोरोनरी बाइपास सर्जरी, घुटना प्रत्यारोपण सर्जरी जैसे उपचार 15 से 20 प्रतिशत सस्ती दर पर प्रदान किए जाते हैं।
  • तीन दिन का प्री हास्पिटलाइजेशन का खर्च एवं इसके बाद 15 दिन तक का दवाओं एवं डायग्नोस्टिक का खर्च।
  • किसी भी सरकारी एवं निजी अस्पताल में इलाज की सुविधा।
  • लाभार्थियों को कैश लेस हास्पिटलाइजेशन एवं पेपर लैस क्लेम की सुविधा।
  • इसमें किसी तरह की उम्र, परिवार के आकार एवं जेंडर संबंधी बाध्यता नहीं है।
  • केवल आधार कार्ड, वोटर आईडी अथवा राशन कार्ड के जरिए पहचान साबित की जाती है।
  • योजना से संबद्ध प्रत्येक अस्पताल में आयुष्मान मित्र हेल्प डेस्क होता है, जहां लाभार्थी अपनी एलिजिबिलिटी (eligibility) की जांच कर अपना रजिस्ट्रेशन (registration) करा सकते हैं।
  • रजिस्ट्रेशन के पश्चात सभी लाभार्थियों को एक क्यूआर कोड (QR code) दिया जाता है, जिससे लाभार्थी की पहचान करने में सहायता मिलती है।

आयुष्मान भारत के तहत रजिस्ट्रेशन की पात्रता

मित्रों, अब आपको बताते है कि आयुष्मान भारत के तहत रजिस्ट्रेशन की क्या पात्रता है। यह इस प्रकार से है-

  • आवेदक भारत का नागरिक हो।
  • परिवार की पहचान गरीब एवं सुविधा से वंचित यानी बीपीएल (BPL) धारक के रूप में हुई हो।
  • इस योजना का लाभ उठाने के इच्छुक परिवार के किसी भी सदस्य के नाम पर पक्का घर न हो।
  • आवेदक ने केंद्र सरकार की किसी भी आवासीय योजना के तहत कोई लाभ न लिया हो।
  • अलबत्ता, सरकार अब इस योजना का दायरा बढ़ाए जाने पर विचार कर रही है ताकि अधिक से अधिक लोगों तक इस योजना का लाभ पहुंचाया जा सके।

आयुष्मान भारत के तहत कवर उपचारों की सूची-

आपको बता देते हैं कि आयुष्मान भारत के अंतर्गत कौन कौन सी प्रमुख बीमारियों के उपचार को शामिल किया गया है। ये इस प्रकार से हैं-

  • डबल वाॅल्व रिप्लेसमेंट
  • प्रोस्टेट कैंसर
  • कोरोनरी एबीजी
  • कैरोटाइज एंजियोप्लास्टी विद स्टंट
  • स्कल बेस्ड सर्जरी
  • अंटीरियर स्पाइन फिक्सेशन
  • पल्मोनरी वाल्स रिप्लेसमेंट
  • लारिंगोफारिनगेक्टोमी
  • टिश्यू एक्सपेंडर (जलने के केसेज में)

किस प्रकार के उपचार को इस योजना से बाहर रखा गया है

दोस्तों, इस प्रकार के कई उपचार हैं, जिन्हें इस योजना के दायरे से बाहर रखा गया है। आइए, अब आपको बताते हैं कि यह कौन कौन से उपचार हैं-

  • ड्रग रिहैबिलिटेशन प्रोग्राम (rehabilitation program)
  • ओपीडी के खर्चे (OPD expenses)
  • आर्गन ट्रांसप्लांट (organ transplant)
  • कास्मेटिक प्रोसीजर (cosmetic procedures)
  • फर्टिलिटी से जुड़े प्रोसीजर (procedures related to fertility)

अभी तक 17 करोड़ से भी अधिक कार्ड जारी किए जा चुके (till now more than 17 cr cards have been released)

दोस्तों, आपको बता दें कि अभी तक देश भर में 17 करोड़, 35 लाख, 71 हजार, 234 आयुष्मान कार्ड जारी किए जा चुके हैं। यह आंकड़ा प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (pmjay) की वेबसाइट (website) पर 27 दिसंबर, 2022 तक दर्ज आंकड़ों के अनुसार है। इनमें 11.60 करोड़ कार्ड पीएम जन आरोग्य योजना के कार्ड जारी किए गए हैं, जबकि 5.85 स्टेट कार्ड शामिल हैं।

आयुष्मान भारत योजना से जुड़ी खास बातें-

  • प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत 10 करोड़ से भी अधिक परिवारों को लाभ पहुंचाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
  • आप अपने मोबाइल नंबर से लाॅगिन (login) कर पता कर सकते हैं कि आपका परिवार प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में शामिल है अथवा नहीं।

Note – आपको बता दें कि आपको इस योजना का लाभ उठाने के लिए अलग से कोई आवेदन करने की आवश्यकता नहीं। यदि आपका परिवार इसमें शामिल है तो आप किसी भी सूचीबद्ध अस्पताल में चिकित्सा उपचार के भर्ती हो सकते हैं। प्रति वर्ष पांच लाख रूपये तक के उपचार का लाभ उठा सकते हैं।

आयुष्मान कार्ड के लाभार्थी कौन हैं? (who are the beneficiaries of Ayushmann card)

दोस्तों, आपको बता दें कि आयुष्मान कार्ड के लाभार्थियों को दो श्रेणी में रखा गया है। शहरी एवं ग्रामीण (urban and rural)। पहले आपको बता दें कि शहरी क्षेत्रों में गोल्डन कार्ड के लाभार्थी कौन कौन हो सकते हैं-

शहरी क्षेत्रों के लाभार्थी

शहरी क्षेत्रों के इन 11 कैटेगरी के लोगाें को इस योजना में बतौर लाभार्थी शामिल किया गया है-

  • कूड़ा बीनने वाले
  • भिखारी
  • घरेलू कामगार
  • स्ट्रीट वेंडर/हाकर
  • निर्माण कामगार/प्लंबर/मेसन/ मजदूर/पेंटर/वेल्डर/सिक्योरिटी गार्ड/कुली
  • स्वीपर/सफाईकर्मी/माली
  • घर से ही काम करने वाले कारीगर/हस्तकला कारीगर/टेलर
  • ट्रांसपोर्ट श्रमिक/ड्राइवर/कंडक्टर/हेल्पर/रिक्शा चालक/ बैलगाड़ी चालक
  • दुकान का वर्कर/छोटे उद्यमों में चपरासी/ हेल्पर/ डिलीवरी असिस्टेंट/ अटेंडेंट/वेटर/
  • इलेक्ट्रीशियन/मैकेनिक/असेंबलर/ रिपेयर वर्कर
  • वाशर मैन/चौकीदार

ग्रामीण क्षेत्रों के लाभार्थी

अब आते हैं योजना के ग्रामीण (rural) लाभार्थियों पर। दोस्तों, आपको बता दें कि सरकार ने D1 से लेकर D7 तक कैटेगरी (category) निर्धारित करके ग्रामीण लाभार्थियों की पात्रता तय की है, जो किस इस प्रकार से हैं-

  • जिसके पास कच्ची छतों एवं दीवारों वाला एक कमरा हो।
  • ऐसे परिवार जहां 16 साल की उम्र से लेकर 59 की उम्र तक का कोई वयस्क नागरिक न हो।
  • ऐसे परिवार, जिनके यहां 16 से लेकर 59 की उम्र का कोई पुरुष सदस्य नहीं।
  • किसी परिवार के अक्षम सदस्य
  • अनुसूचित जाति/जनजाति परिवार।
  • भूमिहीन परिवार, जिनकी आय मासिक कैजुअल श्रम के जरिए आती है।

लाभार्थियों को किस आधार पर योजना में शामिल किया गया है?

दोस्तों, आपको बता दें कि आयुष्मान भारत में लाभार्थियों को सामाजिक, आर्थिक एवं जाति जनगणना यानी (socio, economic and caste census)-2011 के आधार पर योजना में शामिल किया गया है।

राष्ट्रीय सुरक्षा बीमा योजना (RSBY) के ऐसे लाभार्थियों को भी इसमें शामिल किया गया है, जो SECC-2011 के डाटाबेस (database) में कवर नहीं किए गए हैं।

आयुष्मान कार्ड कैसे डाउनलोड करें-

साथियों, अब हम आपको बताते हैं कि यदि आप आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी हैं एवं आयुष्मान कार्ड डाउनलोड (Ayushmann card download) करना चाहते हैं तो आप कैसे कर सकते हैं। इसके लिए आपको यह स्टेप्स फाॅलो करने होंगे-

  • सबसे पहले प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की आफिशियल वेबसाइट https://connect.csc.gov.in/ पर जाना होगा। आप चाहे तो यहां क्लिक करके भी डायरेक्ट जा सकते हैं।
  • यहां login करने के लिए आपको अपनी ईमेल आईडी एवं पासवर्ड (password) डालना होगा।
आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड कैसे डाउनलोड करें? [How to Download Ayushman Bharat Golden Card?]
  • अब आपके सामने एक नया पेज (new page) खुल जाएगा। आपको यहां आधार नंबर डालकर next के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब अगले पेज (next page) पर आपको अपने अंगूठे का निशान वेरिफाई (verify) करना होगा।
  • इतना करने के पश्चात अप्रूव्ड बैनिफिशियरी (approved beneficiary) के आप्शन पर क्लिक कर दें।
  • यहां आपको अप्रूव्ड गोल्डन कार्ड (approved golden card) की लिस्ट दिखेगी।
आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड कैसे डाउनलोड करें? [How to Download Ayushman Bharat Golden Card?]
  • आप इस लिस्ट में अपना नाम सर्च (search) करें।
  • नाम दिखने पर कंफर्म प्रिंट आप्शन (confirm print option) पर क्लिक करें।
आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड कैसे डाउनलोड करें? [How to Download Ayushman Bharat Golden Card?]
  • अब आपको सीएससी वाॅलेट दिखेगा। इसमें आपको अपना पासवर्ड दर्ज करना होगा।
  • पिन (pin) डालकर होम पेज (home page) पर जाएं।
  • अब आपको लाभार्थी के नाम से डाउनलोड (download) का आप्शन दिखेगा।
आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड कैसे डाउनलोड करें? [How to Download Ayushman Bharat Golden Card?]
  • डाउनलोड के आप्शन पर क्लिक (click) करके आप अपना आयुष्मान कार्ड डाउनलोड कर सकेंगे।

यदि कोई सहायता चाहिए तो कहां संपर्क करें?

दोस्तों, आपको बता दें कि ऐसे बहुत से लोग हैं, जो आयुष्मान कार्ड बनवाने में किसी प्रकार की दिक्कत का सामना करते हैं, अथवा वे इसके इस्तेमाल के संबंध में अधिक जागरूक नहीं।

यदि इसी प्रकार की कोई समस्या आपको भी है अथवा आयुष्मान कार्ड को लेकर आपको कोई सहायता चाहिए तो आप टोल फ्री नंबर (toll free number) 14555 पर संपर्क कर सके हैं। यहां तैनात आयुष्मान कार्ड एक्जीक्यूटिव आपकी हर तरह की क्वेरी का जवाब देगा।

आयुष्मान कार्ड को लेकर सरकार जबरदस्त प्रचार प्रसार कर रही

दोस्तों, आपको बता दें कि आयुष्मान कार्ड का लाभ देखते हुए सरकार इसके प्रचार-प्रसार पर बहुत फोकस कर रही है। यहां तक कि सरकार ने लोगों के आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए कैंपों का भी बड़े पैमाने पर आयोजन किया है।

इसके अतिरिक्त विज्ञापन के माध्यम से भी लोगों को इस कार्ड के संबंध में जागरूक करने की पूरी कोशिश की गई है। यह तो हमने आपको बताया ही है कि आयुष्मान कार्ड को लेकर किसी भी प्रकार की दिक्कत की स्थिति में हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क किया जा सकता है।

देश के लाखों लोग महंगे उपचार से राहत पा रहे

मित्रों, आयुष्मान कार्ड से लोगों की किस हद तक सहायता हो रही है, इसका अंदाजा इस कार्ड का इस्तेमाल कर चुके लोगों के परिवारों से पूछा जा सकता है। लोग कैंसर, बाईपास सर्जरी जैसे महंगे इलाज वे इस कार्ड की वजह से करा पा रहे हैं।

वरना जिस कदर इस वक्त इलाज एवं उपचार महंगे हैं, अच्छे खासे कमा रहे लोगों के लिए भी किसी बड़ी बीमारी का उपचार लेना जेब से बहुत बेहाल करने वाला कार्य है।

आयुष्मान कार्ड पर कितने रूपये तक का उपचार संभव है?

आयुष्मान कार्ड दिखाने पर केंद्र सरकार ने पांच लाख रूपये तक की मुफ्त चिकित्सा उपचार सुविधा दी है।

आयुष्मान कार्ड के लिए लाभार्थियों को कितनी श्रेणियों में विभाजित किया गया है?

इस कार्ड के लिए लाभार्थियों को दो श्रेणियों में विभक्त किया गया है-शहरी एवं ग्रामीण। इनके लिए अलग अलग पात्रता निर्धारित की गई है।

क्या आयुष्मान कार्ड के जरिए प्री हास्पिटलाइजेशन खर्च का भी भुगतान होता है?

जी हां, तीन दिन का प्री-हास्पिटलाइजेशन इस योजना के अंतर्गत कवर किया गया है।

आयुष्मान कार्ड में क्या उम्र अथवा परिवार के आकार संबंधी कोई बाध्यता निर्धारित की गई है?

जी नहीं, आयुष्मान कार्ड का लाभार्थी किसी भी उम्र, परिवार के आकार अथवा जेंडर वाला व्यक्ति हो सकता है। इस संबंध में कोई बाध्यता निर्धारित नहीं की गई है।

अभी तक कितने आयुष्मान कार्ड जारी किए गए हैं?

अभी तक अभी तक देश भर में 17 करोड़, 35 लाख, 71 हजार, 234 आयुष्मान कार्ड जारी किए जा चुके हैं। इनमें 11.60 करोड़ कार्ड पीएम जन आरोग्य योजना के कार्ड जारी किए गए हैं, जबकि 5.85 स्टेट कार्ड शामिल हैं।

क्या आयुष्मान कार्ड को लेकर कोई हेल्पलाइन नंबर भी जारी की गया है?

जी हां, आयुष्मान कार्ड को लेकर हेल्पलाइन नंबर 14555 जारी किया गया है। यह एक टोल फ्री नंबर है। यानी इस नंबर पर फोन करने के लिए आपको किसी प्रकार के चार्ज का भुगतान नहीं करना पड़ेगा।

दोस्तों, इस पोस्ट में हमने आपको आयुष्मान कार्ड के लाभ बताए। यदि आप भी इस योजना के दायरे में आते हैं तो बेखटके इसका लाभ उठाएं। अपने परिचितों, मित्रों संग भी यह पोस्ट अधिक से अधिक शेयर करें ताकि वे भी आयुष्मान कार्ड के लाभों के प्रति जागरूक हो सकें। इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रियाएं आप हमें नीचे दिए गए कमेंट बाक्स में कमेंट करके बता सकते हैं। ।।धन्यवाद।।

——————————————-

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment