आयुष्मान भारत टोल फ्री नंबर 2022| आयुष्मान भारत सहायता के लिए कहाँ सम्पर्क करें?

|| आयुष्मान भारत का टोल फ्री नंबर क्या है? what is the toll free number of Ayushmann bharat, आयुष्मान भारत सहायता के लिए कहाँ सम्पर्क करें?, PMJAY customer care number ||

देश में लाखों ऐसे गरीब, निर्धन परिवार हैं, जिनके लिए अपनी बीमारी का खर्च उठाना अथवा निजी अस्पतालों में इलाज कराना एक बेहद कठिन कार्य है। हजारों लोग बेहतर इलाज के अभाव में दम तोड़ देते हैं। ऐसे में केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना लोगों के लिए संबल बनकर उभरी है।

इसके अंतर्गत लोगों को उपचार संबंधी बहुत सहूलियत हो गई है। किसी भी प्रकार की समस्या होने पर आयुष्मान भारत टोल फ्री नंबर पर काॅल करने की भी सुविधा दी गई है। इस पोस्ट में हम इस संबंध में विस्तारपूर्वक प्रकाश डालेंगे। आशा करते हैं कि यह पोस्ट आपको पसंद आएगी-

आयुष्मान भारत योजना क्या है?

आयुष्मान भारत योजना (Ayushmann bharat Yojana) को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (pradhan mantri Jan arogya Yojana) के नाम से भी जाना जाता है। इस योजना को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (pradhan mantri narendra modi) ने गरीब एवं पिछडे़ परिवारों की स्वास्थ्य संबंधी मुश्किलों एवं समस्याओं को देखते हुए आरंभ किया था।

योजना की शुरूआत 14 अप्रैल, 2018 को संविधान निर्माता डा भीमराव अंबेडकर (dr bhimrao Ambedkar) के जन्म दिवस पर छत्तीसगढ़ प्रदेश (chattisgarh state) के बीजापुर जिले (Bijapur district) से की गई थी। इसके पश्चात 25 सितंबर, 2018 को पंडित दीनदयाल उपाध्याय (pt deen dayal upadhyay) की जयंती पर इसे संपूर्ण देश में लागू कर दिया गया था।

आयुष्मान भारत टोल फ्री नंबर | आयुष्मान भारत सहायता के लिए कहाँ सम्पर्क करें?

इस योजना के अंतर्गत देशवासियों को आयुष्मान गोल्डन कार्ड (Ayushmann golden card) जारी किया जाता है, जिस पर उन्हें 5 लाख के मुफ्त बीमा (free insurance) के साथ ही योजना में इंपैनल्ड (empanelled) देश के किसी भी सरकारी (government) अथवा निजी अस्पताल (private hospital) में इलाज की सुविधा मिलती है।

इस योजना में अधिकांश ऐसे उपचार शामिल किए गए हैं, जिन्हें कराना अधिकांशतः किसी भी सामान्य व्यक्ति के आर्थिक बूते से बाहर की बात होती है। सामान्य रूप से इस कार्ड धारक को करीब 1350 बीमारियों का मुफ्त में इलाज कराने का अवसर मिलता है। यह कार्ड जन सेवा केंद्र में (common service center) जाकर भी बनवाया जा सकता है।

आयुष्मान भारत टोल फ्री नंबर क्या है? (what is the Ayushmann bharat toll free number)

आयुष्मान भारत टोल फ्री नंबर (toll free number) 14555 जारी किया गया है। इसके अतिरिक्त राज्यों (states) ने अपने अलग हेल्पलाइन नंबर (helpline number) जारी किए हुए हैं।

यदि आपका कार्ड (card) किसी अन्य व्यक्ति के नाम से बन गया है अथवा आयुष्मान भारत योजना के विषय में अधिक जानकारी चाहते हैं तो उसके लिए आपको कुछ नहीं करना, केवल आयुष्मान भारत टोल फ्री नंबर को अपने मोबाइल से डायल करना होगा।

जैसा कि हमने आपको बताया कि आयुष्मान भारत टोल फ्री नंबर कौन सा है। इसका अर्थ यह है कि इस नंबर पर काॅल करने के लिए आपका एक पैसा भी नहीं लगेगा। आपको इलाज कराने में कोई परेशानी हो रही हो, आपका योजना के संबंध में कोई सुझाव हो तो भी आप आसानी से ऊपर बताए गए टोल फ्री नंबर पर फोन कर बता सकते हैं।

आयुष्मान सारथी मोबाइल एप एवं ईमेल से भी सहायता ले सकते हैं (one can take help from email and Ayushmann Sarathi app)

यदि आप आयुष्मान भारत टोल फ्री नंबर पर काॅल नहीं करना चाहते तो भी कोई बात नहीं, आप इसके इस योजना की आधिकारिक ईमेल आईडी [email protected] इन पर मेल कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त यदि आप चाहें तो एंड्रायड (android) फोन पर उपलब्ध एप (app) आयुष्मान सारथी (Ayushmann Sarathi) को डाउनलोड (download) कर उस पर भी आयुष्मान के तहत सूचीबद्ध (listed) किए गए अस्पतालों की सूची समेत अन्य जानकारी ली जा सकती है। इस एप (app) को गूगल प्ले स्टोर (Google Play Store) से डाउनलोड (download) किया जा सकता है।

आयुष्मान भारत के अंतर्गत कितने लाभार्थियों को शामिल किया जाएगा (how many beneficiaries will be added to Ayushmann bharat)

आयुष्मान भारत योजना को निर्धन लोगों की स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने के लिए प्रारंभ किया गया है। सरकार का लक्ष्य है कि इस वर्ग के अधिक से अधिक लोगों तक योजना का लाभ पहुंचे। लक्ष्य की बात करें तो इस योजना के अंतर्गत 10 करोड़, 74 लाख से भी अधिक गरीब परिवारों को शामिल करने का लक्ष्य रखा गया है।

इससे करीब 50 करोड़ लाभार्थी लाभान्वित होंगे। यह भारतीय आबादी (indian population) का करीब 40 प्रतिशत हिस्सा है। इतना ही नहीं, इसके लिए सरकार ने इस योजना में हेल्थ केयर (health care) के बजट (budget) को भी बढ़ाने पर फैसला किया है।

इस योजना में आरएसवाई के लाभार्थी परिवारों को भी शामिल किया गया है (RSY beneficiary families also included in this scheme)

आयुष्मान भारत अर्थात प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना (national health safety scheme) का भी विलय किया गया है। ऐसे में इस योजना में वे परिवार भी शामिल किए गए हैं, जो राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना (RSBY) में कवर हैं, लेकिन सामाजिक आर्थिक जातिगत जनगणना (social economic caste census) अर्थात (SECC) के डाटाबेस (data base) में शामिल नहीं हैं।

यह पूरी तरह से सरकार द्वारा वित्त पोषित योजना है। इसके कार्यान्वयन की लागत अर्थात इम्लीमेंटेशन कास्ट (implementation cost) केंद्र एवं राज्य सरकारों के मध्य विभाजित की गई है।

केवल उपचार ही नहीं, अस्पताल में दाखिले एवं बीमारी के खर्च को भी कवर किया जा रहा है

आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को किस प्रकार की सुविधा मिलेगी, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसमें लाभार्थी को केवल उपचार की ही सुविधा नहीं मिलेगी, बल्कि उसके अस्पताल में दाखिले, दवाओं के खर्च, अस्पताल में दाखिल होने के बाद के खर्चों को भी कवर किया जा रहा है।

योजना में बताए गए उपचारों के अंतर्गत किसी प्रकार की सर्जरी तो मुफ्त में होगी ही। इसके अंतर्गत अस्पताल में भर्ती होने से तीन दिन पहले एवं 15 दिन बाद तक का उपचार, स्वास्थ्य इलाज एवं दवाएं मुफ्त की गई हैं। परिवार के आकार, उम्र अथवा लिंग संबंधी कोई बाध्यता अभ्यर्थी के लिए नियत नहीं की गई है।

यानी व्यक्ति किसी भी उम्र का हो, वह महिला/पुरूष अथवा किसी भी अन्य कैटेगरी में शामिल हो, वह इस योजना का लाभार्थी बन सकता है।

अभी तक 17,35,71,234 आयुष्मान कार्ड जारी किए गए (till now 17,35,71,234 Ayushmann cards have been issued)

अभी तक देश भर में कुल 17,35,71,234 आयुष्मान कार्ड जारी किए जा चुके हैं। यह आंकड़ा योजना के लांच (launch) होने के बाद से 7 फरवरी, 2022 तक का है।

इनमें 11.60 करोड़ कार्ड प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (pradhan mantri Jan arogya Yojana) के अंतर्गत जारी किए गए हैं, जबकि स्टेट कार्ड (state cards) की संख्या 5.85 करोड़ से भी अधिक हैं।

योजना के अंतर्गत अब तक अस्पताल में 2,61,36,725 लाभार्थी भर्ती कराए गए (2,61,36,725 beneficiaries have been admitted in hospital under this scheme till now)

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://pmjay.gov.in/ पर दर्शाए गए आधिकारिक आंकड़े (official data) इस योजना की प्रगति की कहानी बयां करते हैं।

इनके अनुसार जब से इस योजना को लांच किया गया है, तब से इसके अंतर्गत कुल 2,61,36,725 लाभार्थियों को अस्पताल में भर्ती कराया जा चुका है। यह आंकड़ा 7 फरवरी, 2022 को जारी किया गया है।

कोरोना के 8.3 लाख मरीजों का भी इस योजना के अंतर्गत इलाज किया गया

कोरोना महामारी ने पिछले दो साल में लोगों को बेहाल करके रखा है। इस दौरान असंख्य लोगों ने अपने परिजनों, रिश्तेदारों को इस बीमारी की भेंट चढ़ते देखा है। सरकार ने लोगों के हित को देखते हुए इस योजना के अंतर्गत कोरोना (corona) के इलाज (treatment) की भी सुविधा मुहैया कराई।

दो साल के भीतर आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत कुल 8.3 लाख मरीजों का इलाज किया गया है। सरकार ने संसद के उच्च सदन कहलाने वाली राज्यसभा में इस संबंध में जानकारी प्रदान की।

आयुष्मान भारत के नाम पर फर्जी वेबसाइटों से सावधान रहें

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की आधिकारिक वेबसाइट का एड्रेस https://www.pmjay.gov.in/ है। यदि इसके अतिरिक्त किसी अन्य पोर्टल (portal), ईमेल (email) का लिंक (link) आपके पास आता है तो इसे ओपन (open) न करें।

यदि कोई आपसे काल करके, टेक्स्ट मैसेज, ईमेल, व्हाट्सएप आदि के जरिए वैक्सीन लगवाने, योजना के लिए नामांकन कराने अथवा प्रीमियम (premium) जमा करने के लिए कहता है तो उस पर यकीन न करें। स्वयं राष्ट्रीय स्वास्थ्य अभिकरण यानी नेशनल हेल्थ अथारिटी (national health authority) ने इस संबंध में लोगों को चेताया है, ताकि वह किसी भी फर्जी व्यक्ति के भ्रमजाल में फंसने से बच सकें।

आयुष्मान भारत ऑफिस एड्रेस –

Email: [email protected]
Postal Address : 9th मंजिल, टॉवर-1, जीवन भारती बिल्डिंग, कनॉट प्लेस, नई दिल्ली – 110001
 टोल-फ्री कॉल सेंटर नंबर : 14555

आयुष्मान भारत के अंतर्गत अब तक अस्पताल में कितने लाभार्थी भर्ती कराए गए हैं?

आयुष्मान भारत के अंतर्गत अभी तक 2,61,36,725 लाभार्थी अस्पतालों में भर्ती कराए गए हैं।

अभी तक कितने आयुष्मान कार्ड जारी किए गए हैं?

आयुश्मान भारत योजना के अंतर्गत अभी तक देश भर में कुल 17,35,71,234 आयुश्मान कार्ड जारी किए गए हैं।

क्या इस योजना के अंतर्गत कोरोना के इलाज की भी सुविधा है?

जी हां, इस योजना के अंतर्गत कोरोना के इलाज की सुविधा भी प्रदान की गई है।

अब तक कितने कोरोना मरीजों का इलाज आयुष्मान भारत के तहत हो चुका है?

सरकार द्वारा राज्यसभा में दी गई जानकारी के अनुसार अभी तक देश में कुल 8.3 लाख कोरोना मरीजों का इलाज इस योजना के अंतर्गत किया जा चुका है।

क्या योजना का लाभार्थी होने के लिए उम्र अथवा लिंग संबंधी कोई बाध्यता रखी गई है?

नहीं, इस योजना का लाभार्थी बनने के लिए परिवार के आकार, लाभार्थी की उम्र अथवा लिंग संबंधी कोई भी बाध्यता नहीं रखी गई है।

आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत कितने परिवारों तक लाभ पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है?

आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 10.74 करोड़ परिवारों तक स्वास्थ्य लाभ पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है। इनमें करीब 50 करोड़ से अधिक लाभार्थी शामिल होंगे।

हमने इस पोस्ट के माध्यम से आपको आयुष्मान भारत टोल फ्री नंबर के साथ ही योजना के संबंध में विस्तार से बताया। इस योजना का सरकारी स्तर पर बहुत प्रचार प्रसार किया गया है। जन जागरूकता के इस यज्ञ में आप भी इस पोस्ट को साझा कर अपनी ओर से आहुति दे सकते हैं। धन्यवाद।

——————————-

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment