सहायक अध्यापक कैसे बनें? योग्यता, सैलरी, कार्य | How To Be An Assistant Teacher?

कुछ युवाओं को पढ़ाने में बहुत दिलचस्पी होती है खासतौर पर छोटे बच्चों को पढ़ाना उन्हें बहुत पसंद होता है। और साथ ही उनके मासूम सवालों का जवाब देना भी उन्हें बहुत अच्छा लगता है। इन लोगों के लिए सहायक अध्यापक एक बहुत अच्छा करियर विकल्प साबित होता है। वह इस क्षेत्र में सफल साबित होते हैं। दोस्तों, ऐसे हज़ारों युवा हैं, जो बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में सहायक अध्यापक बनने के लिए आवेदन करते हैं, चयन प्रक्रिया का हिस्सा बनते हैं और कामयाब होकर निकलते हैं। अपना सपना पूरा करते हैं। इनमें छात्राओं के साथ ही छात्र भी बड़ी संख्या में शामिल होते हैं। तो, फिर देर किस बात की? चलिए दोस्तों, आज इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको सहायक अध्यापक से जुड़ी बारीक से बारीक जानकारी देंगे। आइए, शुरू करते हैं-

सहायक अध्यापक की नियुक्ति कहां होती है? Where is the assistant teacher appointed?

बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापकों की नियुक्ति की जाती है। जैसा कि आप पहले से ही जानते हैं कि शिक्षा का अधिकार यानी right to education (RTE) के तहत 14 साल तक के बच्चों को स्कूलों में मुफ्त शिक्षा का प्रावधान सरकार ने किया है। दोस्तों, बता दें कि इसी के तहत परिषद के प्राथमिक स्कूलों में सहायक अध्यापक नियुक्त किए जाते हैं। 

सहायक अध्यापक के क्या कार्य हैं? What are the duties of an assistant teacher?

सहायक अध्यापक कैसे बनें? योग्यता, सैलरी, कार्य | How To Be An Assistant Teacher?

यह सहायक अध्यापक कक्षा एक से लेकर कक्षा पांच तक पढ़ाने का काम करता है। वह समय सारणी यानी time table के अनुसार बच्चों को विद्या अध्ययन कराता है। और दोस्तों, जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है, एक सहायक अध्यापक मुख्य अध्यापक को उसके कार्य में मदद करता है। और उनके निर्देशानुसार बच्चों को पाठ्यक्रम के अनुसार शिक्षा देता है। एक सहायक अध्यापक को कुछ वर्षों की सेवा के बाद मुख्य शिक्षक के पद पर प्रोन्नत कर दिया जाता है। कुछ विभागीय परीक्षा के माध्यम से अगले पद तक पहुंचने में भी कामयाबी हासिल करते हैं।

सहायक अध्यापक की सैलरी कितनी होती है? What is the salary of assistant teacher?

एक सहायक अध्यापक की सैलरी की बात करें तो विभिन्न राज्यों में भिन्न पे स्केल होता है। जैसे राजस्थान में कुछ और पे स्केल होगा तो मध्य प्रदेश में कुछ और। हरियाणा में कुछ और होगा तो उत्तराखंड में कुछ और। उदाहरण के लिए उत्तर प्रदेश की बात करें तो यहां सहायक अध्यापक का वेतन 37404/- होता है, जिसमें प्रोन्नति के साथ ही इजाफा होता रहता है।

सहायक अध्यापक कैसे बन सकते हैं? How to become an assistant teacher?

हमने आपको सहायक अध्यापक के कार्य की जानकारी दी। अब हम आपको यह बताएंगे कि आप सहायक अध्यापक कैसे बन सकते हैं। आपको पहले ही बता दें कि सहायक अध्यापक बनने में आपका शैक्षिक रिकार्ड बहुत मायने रखता है। अगर आप ने पहले से ही सहायक अध्यापक बनने के बारे में सोच लिया है तो आप यह भी जान लीजिए कि बारहवीं पास करने के साथ ही आप इसके लिए परीक्षा को लेकर तैयारी शुरू कर दें। 

टीचिंग लाइन में कैसे बनाएं करियर –

दोस्तों, एक सहायक अध्यापक बनने के लिए यह हैं कदम-

  • सबसे पहले अच्छे अंकों के साथ बारहवीं उत्तीर्ण करें।
  • यदि आप ग्रेजुएशन कर रहे हों तो उसमें अच्छे अंक प्राप्त करने की कोशिश करें।
  • इसके बाद बीएड, डीएलएड या बीटीसी आदि कोई कोर्स पूरा करें।
  • यह सेमेस्टर कोर्स होते हैं। इनमें थ्योरी और प्रैक्टिकल अलग-अलग होते हैं। आपको दोनों में अलग-अलग ही उत्तीर्ण होना होगा।
  • इसके पश्चात शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी टीईटी उत्तीर्ण करें।
  • सरकार की ओर से निकाली जाने वाली सहायक अध्यापक की रिक्तियों पर नजर रखें। जैसे ही भर्ती निकाली जाए, संबंधित पदों के लिए आवेदन करें।
  • इसके बाद आपको शिक्षक भर्ती परीक्षा देनी होगी।
  • शिक्षक भर्ती परीक्षा भी 150 अंकों की होती है।
  • शिक्षक भर्ती परीक्षा में हासिल अंकों के आधार पर मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है
  • इस मेरिट लिस्ट के आधार पर ही सहायक अध्यापक का चयन होता है।
  • डाक्यूमेंट्स verification के बाद संबंधित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र भेज दिया जाता है।

TET के लिए आवेदन कैसे करें? How to apply for TET?

जैसा कि हम आपको बता चुके हैं कि सहायक अध्यापक बनने के लिए आपको शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी टीईटी उत्तीर्ण करना होगा। इसके पश्चात रिक्तियां निकलने पर आप संबंधित पद के लिए आवेदन कर सकते हैं। अब हम आपको बताएंगे कि आप TET टीईटी के लिए आवेदन कैसे कर सकते हैं। मित्रों, आप इसके लिए online आवेदन कर सकते है। जैसे उत्तर प्रदेश का ही उदाहरण लें। बेसिक शिक्षा परिषद की official website पर सबसे पहले इस संबंध में अधिसूचना जारी की जाएगी। इसके पश्चात इसमें दिए गए link पर click कर online आवेदन करना होगा। 

Fee भी online यानी कि net banking, credit, debit card के जरिए जमा की जा सकती है। इसके बाद परिषद की official website से ही निर्धारित तिथि से एडमिट कार्ड download किए जा सकेंगे। इन्हें डाक या ई-मेल के जरिए नहीं भेजा जाता। इनमें नाम और अनुक्रमांक यानी रोल नंबर, परीक्षा तिथि, परीक्षा केंद्र के साथ ही अन्य दिशा निर्देशों का उल्लेख रहता है। परीक्षा के पश्चात नतीजे से पहले ही आंसर की जारी की जाती है। इसके जरिए अभ्यर्थियों को अपने जवाब के मिलान का मौका मिलता है। इसके पश्चात परीक्षा का परिणाम घोषित कर दिया जाता है।

टीईटी करने के लिए शैक्षिक योग्यता क्या है? What is the educational qualification to pass TET?

अब हम आपको बताएंगे कि TET यानी टीचिंग एलिजिबिलिटी टेस्ट के लिए शैक्षिक योग्यता क्या है। दोस्तों, हम स्पष्ट कर दें कि यदि आप केंद्र सरकार के नियंत्रण वाले स्कूलों में पढ़ाने की इच्छा रखते हैं तो उसके लिए CTET करना होगा, लेकिन यदि आप किसी राज्य सरकार के नियंत्रण वाले स्कूलों में पढ़ाना चाहते तो उसके लिए TET। इस test में बैठने के लिए शैक्षिक योग्यता इस प्रकार से है। 

  • ग्रेजुएशन और दो साल का डीएलएड (diploma in elementary education) कोर्स (पूर्व में बीटीसी)
  • Graduation और डिस्टेंस लर्निंग से मान्यता प्राप्त टीचिंग कोर्स
  • ग्रेजुएशन और एजुकेशन में दो वर्षीय डिप्लोमा
  • 50 फीसदी अंकों के साथ ग्रेजुएशन और बीएड की डिग्री
  • 50 प्रतिशत अंकों के साथ दो वर्षीय बीटीसी (उर्दू विशिष्ट कोर्स)
  • एंव 50 फीसदी अंकों के साथ 10+2 यानी इंटरमीडिएट और चार वर्षीय बीएलएड (bachelors in elementary education)

सहायक अध्यापक के लिए परीक्षा का शुल्क | Examination fee for Assistant Teacher –

सामान्य और अन्य पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए आवेदन शुल्क 600 रुपए रखा गया है। वहीं, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के अभ्यर्थियों को परीक्षा के लिए आवेदन शुल्क में छूट दी गई है। वह 400 रुपए के शुल्क का भुगतान कर परीक्षा में शामिल हो सकते हैं। पीडब्ल्यूडी अभ्यर्थियों को सौ रुपए का शुल्क देना होगा। वहीं, पीएच यानी physically handicap अभ्यर्थियों को आवेदन शुल्क से पूरी तरह छूट का प्रावधान किया गया है। 

सहायक अध्यापक के लिए परीक्षा का पैटर्न | Exam Pattern for Assistant Teacher –

टीईटी 150 अंकों की परीक्षा है। इसमें 150 ही प्रश्न पूछे जाते हैं। साफ है कि प्रत्येक प्रश्न के लिए एक-एक अंक निर्धारित है। यह प्रश्न बहुविकल्पीय यानी multiple choice questions (McQ) होते हैं। दोस्तों, टीईटी में 2 पेपर होते हैं। लेकिन कक्षा एक से लेकर कक्षा पांच तक पढ़ाने के लिए पेपर-1 उत्तीर्ण करना बहुत हैं। यही शिक्षक बनने की पात्रता प्रदान करता है। साथियों, टीईटी उत्तीर्ण होने के लिए व्यक्ति को 60% अंक लाना आवश्यक किया गया है। दोस्तों, आपको यह भी बता दें कि टीईटी लिए आवेदन ऑनलाइन ही करना होगा। पेपर-1 में विषय और सवालों, अंकों का break up इस प्रकार से है-

विषय प्रश्नों की संख्या
———————————
बाल विकास और अध्यापन-30
भाषा (हिंदी)-30
भाषा (अंग्रेजी/उर्दू/संस्कृत)-30
गणित-30
पर्यावरण अध्ययन-30

परीक्षा में Negative marking नहीं

आपके लिए इस परीक्षा से जुड़ी एक राहत की बात यह है कि इस परीक्षा में negative marking नहीं है। यानी अगर आपका किसी सवाल का कोई जवाब गलत भी हो जाता है तो आपका कोई अंक नहीं काटा जाएगा। ऐसे में साफ है कि अभ्यर्थी बगैर आत्म विश्वास खोए सभी सवालों के जवाब दे सके।

TET की परीक्षा की तैयारी कैसे करें? How to prepare for TET exam?

  • इस परीक्षा के लिए कम से कम छह माह पूर्व तैयारी शुरू कर दें।
  • पुराने प्रश्न पत्रों और माडल पेपर से तैयारी करें। इससे परीक्षा पैटर्न की भी जानकारी मिलेगी।
  • जैसा कि हम बता चुके हैं कि परीक्षा में निगेटिव मार्किंग नहीं है, ऐसे में किसी भी सवाल को छोड़ें नहीं। सभी सवालों को हल करने की कोशिश करें।
  • निर्धारित समयावधि के भीतर परीक्षा दे दें, इसके लिए लगातार प्रैक्टिस आपको बहुत काम आएगी।
  • तैयारी के लिए विशेषज्ञों के टिप्स भी इंटरनेट पर यूट्यूब के माध्यम से ले सकते हैं।
  • जो लोग यह परीक्षा दे चुके हैं, उनसे भी पेपर हल करने के संबंध में टिप्स लिए जा सकते हैं।
  • अपनी current affairs की जानकारी update रखने के लिए लगातार news paper, magazines, news channels पर नजर रखें।
  • एक साथ बहुत कुछ पढ़ने की कोशिश न करें। Time table बनाकर उसके अनुसार पढ़ाई करें।
  • पढ़ाई के लिए समयावधि का निर्धारण अपनी क्षमता के अनुसार करें। लगातार आठ-दस घंटे पढ़ने की बजाय उसे छोटे छोटे टुकड़ों में बांटकर पढ़ें।
  • जो भी कुछ आप पढ़ रहे हों, उसका लिखकर अभ्यास अवश्य करें। इससे आपको संबंधित विषय को लिखने की प्रैक्टिस बनी रहेगी, जो कि परीक्षा के वक्त बहुत काम आएगी।

कई बार कोर्ट में फंस जाती हैं भर्तियां

सहायक अध्यापक पद पर इतनी बड़ी संख्या में अभ्यर्थी आवेदन करते हैं कि यह भर्ती अक्सर कोर्ट में फंस जाती है। कई आवेदक कोई न कोई त्रुटि निकालकर भर्ती के खिलाफ याचिका दायर कर देते हैं। इन पर फैसला होने में सालों लग जाते हैं। कई बार तो यह भी होता है कि आवेदक की वांछित उम्र भी इन झमेलों में फंसकर निकल जाती है, जो इससे जुड़ी सबसे खराब बात है।

इस बार कोरोना की वजह से फंसी तैनाती –

उत्तर प्रदेश की बात करें तो यहां कोर्ट ने बीती एक अप्रैल, 2020 में तैनाती के आदेश दिए थे, लेकिन इस कोरोना वायरस से संक्रमण की आशंका को देखते हुए इन आदेशों पर अमल नहीं हो सका। अब सभी योग्य अभ्यर्थियों की नजर अगले आदेशों पर टिकी है। फिलहाल संशय है। इस तैनाती का हश्र अभी भविष्य के गर्भ में है।

साथियों, अब हम इस post को यहीं खत्म करते हैं। हमने आपको इस post के माध्यम से सहायक अध्यापक यानी असिस्टेंट टीचर बनने के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। उम्मीद है कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। अगर इस विषय के संबंध में कोई सवाल, सुझाव या सलाह आप हमसे साझा करना चाहते हैं तो उसके लिए आप नीचे दिए गए comment box में comment कर अपनी बात हम तक पहुंचा सकते हैं। हमें आपकी प्रतिक्रिया का इंतजार रहेगा। ।। धन्यवाद।।

Spread the love

अनुक्रम

Leave a Comment