असम NRC List जारी – ऐसे देखें लिस्ट | एनआरसी सूची में नाम कैसे देखें

NRC List Released in Assam : Assam NRC List in Hindi : भारत में पिछले कुछ समय से NRC को लेकर बहुत गहमागहमी देखी जा रही है। जब से इस बात की घोषणा केंद्र सरकार ने की है कि असम के बाद NRC को वह पूरे देश में लागू करेगी, तब से दिल्‍ली, उत्‍तरप्रदेश, राजस्‍थान, तमिलनाडु, कर्नाटक, बिहार, झारखंड, मध्‍यप्रदेश जैसे राज्‍यों में विरोध प्रदर्शनों का सिलसिला शुरू हो गया है।

अभी पिछले एक माह से कोरोना वायरस के चलते पूरे देश में CAA व NRC के खिलाफ चलाये जा रहे जनांदोलन पूरी तरह स्‍थगित हो चुके हैं।

Check Your NRC List in Hindi

लेकिन आने वाले कुछ समय में यदि सरकार ने जनभावनाओं के अनुरूप बातचीत का प्रोसेस शुरू नहीं हुआ तो एक बार फिर देश में विरोध प्रदर्शनों का सिलसिला शुरू हो सकता है।

अब आपके मन में यह प्रश्‍न उमड़ रहा होगा कि आखिर एनआरसी क्‍या है? NRC List जारी होने के बाद असम समेत पूरे देश में इसका विरोध क्‍यों हो रहा है।

तो चलिये दोस्‍तों हम आपको NRC List व एनआरसी के बारे में पर्याप्‍त तथा समुचित जानकारी देने जा रहे हैं, ताकि आपके मन में इसको लेकर किसी प्रकार की कोई दुविधा न रहे।

NRC List क्‍या है? एनआरसी की प्रक्रिया में NRC सूची की महत्‍ता क्‍या है?

What is NRC List in Hindi : NRC List Kya Hai हिंदी में पूरी जानकारी पाने के लिये आपको सबसे पहले एनआरसी को समझना होगा। एनआरसी का अर्थ National Register For Citizen है।

यह एक ऐसा आधिकारिक रजिस्‍टर होता है, जिसमें किसी राज्‍य के मूल भारतीय नागरिकों का लेखा जोखा रखा जाता है। इस रजिस्‍टर में जिन व्‍यक्तियों के नाम होते हैं, उन्‍हें भारत का मूल नागरिक माना जाता है।

National Register For Citizen की शुरूआत सबसे पहले भारत के असम राज्‍य में हुई थी। असम में वर्ष 1951 से ही एनआरसी की प्रक्रिया चलाई जा रही है। लेकिन पिछले कुछ सालों से असम की इस प्रक्रिया को धार्मिक रंग देते हुये, असम समेत पूरे देश में लागू किये जाने की कवायद भी शुरू की जा चुकी है।

लेकिन असम भारत का एक ऐसा राज्‍य है, जिसकी सांस्‍कृतिक व्‍यवस्‍था, संस्‍कृति देश के अन्‍य राज्‍यों से पूरी तरह अलग है। इस राज्‍य पर सीमा पार से होने वाली घुसपैठ को एक बड़े खतरे के रूप में भी देखा जाता रहा है। असम में पड़ोसी देश बांग्‍लादेश के गरीब नागरिक अवैध रूप से घुसपैठ करते रहे हैं। इनमें हिंदू व मुस्लिम दोनों ही तरह घुसपैठिये शामिल होते हैं।

यह घुसपैठिये असम की संस्‍कृति और संसाधनों पर बहुत बुरा प्रभाव डालते हैं। घुसपैठ का सबसे अधिक खतरा असम में रहने वाली आदिवासी जनजातियों को होता है।

पिछले दिनों असम में CAA को लेकर जिस प्रकार जनांदोलन किया गया। उसका सबसे अहम कारण यह था कि असमी संस्‍कृति धार्मिक अल्‍पसंख्‍यकों को तो स्‍वीकार करती है, बशर्ते वह भारतीय नागरिक होना चाहिये। लेकिन असमी लोग यह कतई नहीं चाहते कि उनके राज्‍य में किसी और देश के नागरिकों को नागरिकता देकर उनके राज्‍य में बसाया जाए। भले ही उनका संबंध हिंदू धर्म से क्‍यों न हो?

इन्‍हीं सब बातों के मददेनजर सन 70 के दशक से असम में घुसपैठ को लेकर आंदोलन चलाये जाते रहे हैं। इन्‍हीं आंदोलनों के कारण पूर्व प्रधानमंत्री स्‍व. राजीव गांधी ने असम के छात्र संगठनों के साथ मिल कर एक समझौता किया था। यह वर्ष 1985 की घटना है।

इस समझौते के अनुसार 1971 से पहले जितने बांग्‍लादेशी परिवार असम में बस चुके थे, उन्‍हें भारतीय नागरिक मानते हुये मामला सुलझा लिया गया था। तब से लेकर अब तक लगातार Assam में NRC की प्रक्रिया चल रही है।

असम की वर्तमान BJP सरकार ने एक बार फिर से एनआरसी की प्रक्रिया शुरू की और राज्‍य के लोगों से अपनी नागरिकता साबित करने को कहा। जिसके बाद Government of Assam ने State Coordinator of National Registration का नये सिरे से गठन कर दिया।

जिसके बाद असम के सभी नागरिकों से NRC के लिये आवेदन पत्र मांगे गये और उन्‍हें अपनी नागरिकता साबित करने को कहा। जिन लोगों के Documents पर्याप्‍त मात्रा में तथा पूर्णं रूप से सही पाये गये उनके नाम Assam NRC List में शामिल कर लिये गये हैं।

Also Read :

जिन लोगों के नाम Assam NRC List में शामिल नहीं हैं, उनको किस प्रकार की समस्‍याओं का सामना करना पड़ रहा है?

असम की एनआरसी लिस्‍ट में जिन लोगों के नाम शामिल नहीं हैं, उन्‍हें अपनी भारतीय नागरिकता साबित करने के लिये बहुत पापड़ बेलने पड़ रहे हैं।

असल में राजनैतिक खेल के चक्‍कर में देश के राजनेताओं ने CAA जैसी व्‍यवस्‍था भी की जिसके तहत यदि कोई हिंदू किसी पड़ोसी देश से भारत में आएगा तो उसे भारत की नागरिक की नागरिकता दे दी जाएगी। इसी बात का विरोध देश के प्रत्‍येक राज्‍य तथा शहरों में हमें देखनें को भी मिला है।

इन विरोध प्रर्दशनों के चलते देश को भारी आर्थिक नुकसान तथा मंदी जैसी भयावह स्थिति से भी गुजरना पड़ रहा है। इसे आप राजनैतिक अदूरदर्शिता का परिणाम भी कह सकते हैं।

असम में जिन लोगों के नाम NRC List में शामिल नहीं हैं, ऐसे लोगों की पहचान करके उन्‍हें डिटेंशन सेंटर्स में भेजा जा रहा है। जिसकी वजह से पूरे राज्‍य में आक्रोश की स्थिति पैदा हो गयी है। लोगों के लिये डिटेंशन सेंटर्स एक बहुत बड़ी समस्‍या बन कर उभरे हैं। यही कारण है कि एनआरसी की इस पूरी प्रक्रिया को भेदभावपूर्णं तथा कला संस्‍कृति से छेड़छाड़ करने वाला माना जा रहा है।

यदि एनआरसी लिस्‍ट में नाम शामिल नहीं है, तो क्‍या करें?

दोस्‍तों, यदि आप असम राज्‍य के निवासी हैं और आपका नाम एनआरसी लिस्‍ट में शामिल नहीं है, तो भी आपको अपनी नागरिकता साबित करने के कई अवसर प्रदान किये जाते हैं। इसके लिये अपील प्रक्रिया को हमें अपनाना पड़ता है।

इसके अलावा न्‍यायालय की शरण में जाया जा सकता है। लेकिन समस्‍या यह है कि नागरिकता साबित करने का सरकार ने जो पैमाना निर्धारित किया है, वह राजनैतिक तथा धार्मिक विद्धेश की भावना से परिपूर्णं है। मरे हुये लोगों से अपना संबंध साबित करने की बात करना किसी भी सभ्‍य देश का एजेंडा नहीं हो सकता है।

इसके अलावा भारत में ऐसे करोड़ों गरीबों की तादात भी है, जिनके पास आजादी के बाद से ही जमीन नहीं है। ऐसे में वह अपनी नागरिकता कैसे साबित करेंगें। यह यक्ष प्रश्‍न के रूप में हमारे सामने आकर खड़ा हो गया है।

यदि आपका नाम असम की NRC List से बाहर कर दिया गया है, तो आप अपील कर सकते हैं, लेकिन न्‍यायालय आपको कितनी राहत देगा, यह आप कुछ समय पहले ही देख चुके हैं। फिर भी अपील करते रहें।

क्‍या एनआरसी लिस्‍ट देखना सभी भारतीयों के लिये जरूरी है?

जी नहीं दोस्‍तों, एनआरसी लिस्‍ट 2020 को देश के सभी नागरिकों के लिये देखना जरूरी नहीं है, क्‍योंकि NRC की यह प्रक्रिया अभी मात्र असम राज्‍य तक सीमित है। जब एनआरसी को पूरे देश में लागू किया जाएगा, तब आप राज्‍यवार इस लिस्‍ट को देख पायेंगें।

Assam NRC List Kaise Dekhe : असम एनआरसी लिस्‍ट ऐसे देखें

How to Check Assam NRC List in Hindi : दोस्‍तों, असम एनआरसी लिस्‍ट चेक करने के लिये आपको सबसे पहले State Coordinator of National Registration के आधिकारिक पोर्टल nrcassam.nic.in पर जाना होगा।

ऊपर दिये गये लिंक पर Click करते ही आप नागरिकता रजिस्‍टर असम के ऑनलाइन पोर्टल के होमपेज पर पहुंच जाएंगें।

  • यहां आपको 2 Link नजर आएंगें।

NRC Suchi Links

  • 1 – Supplementary List of Inclusions and Exclusions (Final NRC-1)
  • 2 – Supplementary List of Inclusions and Exclusions (Final NRC-2)
  • आपको इन्‍हीं दोनों लिंक में से किसी एक जरूरी लिंक पर क्लिक करके अपना नाम लिस्‍ट में चेक करना होगा।
  • आप जब किसी लिंक पर क्लिक करेंगें तो आपको Next Page में इस तरह का Option नजर आएगा।
  • Fill Your ARN Number
  • आपको यहां सबसे पहले अपना ARN Enter करना होगा।
  • उसके बाद कैप्‍चा इमेज भरें और फिर Submit बटन पर क्लिक कर दें।

आपके द्धारा इतना करते ही आपके नाम से संबंधित Assam NRC List डाटा नजर आने लगेगा। आप चाहें तो इसका प्रिंट आउट भी निकाल कर भविष्‍य की आवश्‍यक्‍ताओं की पूर्ति हेतू सुरक्षित रख सकते हैं।

तो दोस्‍तों यह थी हमारी आज की पोस्‍ट Assam NRC List Kaise Dekhe यदि आप NRC List 2020 Assam में अपना नाम चेक करने से स‍ंबंधिक किसी प्रकार की कोई असुविधा महसूस कर रहे हैं, तो आप हमसें कमेंट बॉक्‍स के जरिये अपना प्रश्‍न पूछ सकते हैं।

Spread the love

Leave a Comment