[सूची] Assam NRC List Kaise Dekhe – असम नागरिकता रजिस्टर कैसे देखें? NRC Assam Final List 2019

Find Online Your Name in Assam NRC List : असम में इस समय NRC की प्रक्रिया चल रही है। पिछले कुछ समय से वहां National Citizen Register में अपना नाम शामिल कराने के लिये आवेदन पत्र असम सरकार के द्वारा आवेदन पत्र आमंत्रित किये गये थे। आवेदन मांगें जाने के बाद असम में 3 करोड़ से अधिक लोगों ने NRC योजना में आवेदन किया था। जिसमें से करीब 19 लाख लोग बाहर हो चुके हैं।

Assam NRC List Kaise Dekhe in Hindi

इस वर्ष 1 सितंबर को NRC Final List 2019 जारी कर दी गयी है। जिसके बाद से असम सहित पूरे देश में खलबली मची हुई है। लोग अपना नाम NRC Assam Final List 2019 में देखना चाहतें हैं और पता करना चाहतें हैं की उनका या उनके परिवार के सदस्यों का नाम NRC Assam Final List 2019 में आया है या नहीं। यदि आप भी अपना नाम NRC Assam Final List 2019 में चेक करना चाहतें हैं तो आप को इस आर्टिकल में पूरी जानकारी प्रदान की जाएगी। जिसका उपयोग करके आप NRC Assam Final List 2019 में अपना नाम देख सकतें हैं।

Assam NRC List क्‍या है?

असल में Assam NRC List वह सूची है। जिसमें असम राज्‍य के वैध ब्‍यौरा दर्ज दर्ज होता है। Assam NRC List का सीधा संबंध National Citizen Register से है।

यदि असम में रहने वाले किसी व्‍यक्ति का नाम राष्‍ट्रीय नागरिकता रजिस्‍टर में दर्ज नहीं होगा, तो उसे असम व देश का नागरिक नहीं माना जाएगा।

वर्तमान में असम सरकार वहां होने वाली बांग्‍लादेशी घुसपैठ को लेकर बहुत संवेंदनशील है। यही कारण है कि पूरे असम में NRC सेवा केंद्रों पर भारी भीड़ उमड़ रही है। लोग जल्‍द से जल्‍द अपना नाम इस लिस्‍ट में शामिल कराना चाहते हैं।

Assam NRC List में नाम दर्ज कराने की आवश्‍यक्‍ता क्‍यों पड़ी?

असम में 1947 के बाद से ही असम में पूर्वी पाकिस्‍तान और फिर बाद में बांग्‍लादेश से मुस्लिम घुसपैठियों के खिलाफ आवाज उठती रही है।

यही कारण है कि वहां 1951 से एनआरसी की प्रक्रिया चल रही है। लेकिन इसके बाद भी असम में अवैध बांग्‍लादेशी घुसपैठ के आरोप लगते रहे।

असम स्‍टूडेंट यूनियन ने 1979 में इस घुसपैठ के खिलाफ आंदोलन की शुरूआत की। जिसे बाद में असम गण परिषद ने आगे बढ़ाया।

इस आंदोलन को शांत करने के लिये उस समय के प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने 1985 में असम गण परिषद के साथ एक समझौता किया और 1971 से पहले असम में आ चुके सभी बांग्‍लादेशी शरणार्थियों को असम राज्‍य व भारत की नागरिकता प्रदान कर दी गयी।

यदि ऐसा नहीं किया जाता तो असम में टकराव की विकट स्थिति हो सकती थी। समझौते की इस प्रक्रिया से असम के अधिकांश लोगों ने अपनी सहमति जताई और NRC की प्रक्रिया को अपना समर्थन भी दिया।

National Citizen Register (राष्‍ट्रीय नागरिकता रजिस्‍टर) के नुकसान

पिछली Assam NRC List 30 July 2018 में जारी की गयी थी। इस लिस्‍ट में 40 लाख से अधिक लोगों के नाम शामिल नहीं थे।

जिसके बाद 40.7 लाख लोगों को एक मौका अपील करने का दिया गया। जिसके बाद लोगों ने पुन: अपील की। लेकिन अब NRC Final List 2019 जारी होने के बाद 19 लाख लोगों के नाम इस सूची से गायब हैं।

फाइनल लिस्‍ट में जो 19 लाख से अधिक लोग अपनी जगह नहीं बना पाये हैं। उनमें सबसे अधिक संख्‍या हिंदुओं की है।

जबकि सरकार का कहना यह था कि वह NRC की प्रक्रिया इसलिये करा रही है, क्‍योंकि असम में मुस्लिम घुसपैठियों की संख्‍या तेजी से बढ़ रही है।

राष्‍ट्रीय नागरिकता रजिस्‍टर का सबसे बड़ा नुकसान यही है, कि जब जब NRC की प्रक्रिया की जाएगी। उसका सबसे बड़ा असर हिंदू समुदाय के लोगों पर ही पड़ेगा।

राजनैतिक कारणों से एक समुदाय विशेष के लोगों को घुसपैठिया बताना और घुसपैठियों की संख्‍या को बढ़ा चढ़ा कर बताना समान्‍य चलन बन गया है।

Also Read :

क्‍या NRC Final List 2019 धर्म आधारित होगी?

NRC की पूरी प्रक्रिया को धर्म आधारित बनाने की कोशिश की जा रही है। पर ऐसा कर पाना इसलिये संभव नहीं है क्‍योंकि माननीय सुप्रीम कोर्ट इस पूरी प्रक्रिया की‍ निगरानी कर रहा है।

सवाल यह है कि विदेशों से आने वाले किस धर्म के लोगों को शरणार्थी माना जाये और किस धर्म के लोगों को घुसपैठिया करार दिया जाये। यह एक बहुत बड़ा सवाल है।

देश का कानून हमें किसी भी व्‍यक्ति के साथ भेदभाव करने की इजाजत नहीं देता है। आने वाले समय में सुप्रीम कोर्ट इस मामले पर कोई बड़ा आदेश भी दे सकता है।

क्‍योंकि भारत में अवैध तरीके से आने वाला हर व्‍यक्ति घुसपैठिया है, फिर वह चाहे हिंदू धर्म से संबंधित हो या फिर मुस्लिम धर्म से। यहां तक कि आदिवासी समाज के व्‍यक्तियों को भी एक समान नजर से देखा जाएगा।

National Citizen Register (राष्‍ट्रीय नागरिकता रजिस्‍टर) के लाभ

यदि राष्‍ट्रीय नागरिकता रजिस्‍टर में नाम दर्ज करने की प्रक्रिया पूरी ईमानदारी से पूरी की जाये तो यह बहुत लाभकारी साबित हो सकती है।

  • भारत में होने वाली घुसपैठ से छुटकारा मिलने से देश के युवाओं को रोजगार के मौकों में बढ़ोत्‍तरी हो सकती है।
  • देश की जनसंख्‍या स्थिर रहेगी अथवा अपनी एक निश्चित गति से बढ़ेगी।
  • देश में अपराधों की संख्‍या में कमी दर्ज की जा सकेगी।

असम NRC List 2019 में अपना नाम कैसे देखें?

यदि आप Assam NRC List में अपना नाम तलाश करने की कोशिश कर रहे हैं और आपको सफलता हाथ नहीं लग रही है। तो हम आपको लिस्‍ट चेक करने का सही तरीका बता देते हैं।

Official Website for NRC

  • आप जैसे ही ऊपर दिये गये लिंक पर क्लिक करेंगें, तो आप असम सरकार की ऑफिशीयल वेबसाइट के मुख्‍य पेज पर पहुंच जाएंगें।
  • यहां आपको NRC Final List Assam का एक लिंक दिखाई देगा। आपको इस पर क्लिक करना है।
  • अब आपको यहां 2 लिंक दिखाई पड़ेंगें आप बारी बारी से दोनों लिंक पर क्लिक करके अपना और अपने परिवार के अन्‍य सदस्‍यों का नाम इस लिस्‍ट में खोज सकते हैं।
  • ध्‍यान रहे दोस्‍तों इस फाइनल NRC List को वही व्‍यक्ति देख सकता है। जिसने पहली सूची आने के बाद पुन: अपील की हो। क्‍योंकि लिस्‍ट देखने के लिये आपको अपना पावती नंबर डालना होगा। तभी लिस्‍ट में दर्ज नाम आपको दिखाई पड़ेगा।

तो दोस्तों यह थी Assam NRC List Kaise Dekhe – असम नागरिकता रजिस्टर कैसे देखें? NRC Assam Final List 2019 के बारे में आवश्यक जानकारी। यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो आप अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें। जिससे उनको भी इसकी जानकारी प्राप्त हो सके। साथ ही यदि आपका किसी प्रकार का कोई सवाल हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूंछ सकतें हैं। हम जल्द से जल्द जवाब देगें।। धन्यवाद।।

Spread the love

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।