अशोक गहलोत पर्सनल मोबाइल नंबर,व्हाट्सप्प नंबर ,जीवन परिचय | शिकायत पत्र ऑनलाइन

राजस्थान के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के बारे में लगभग सभी लोग जानते हैं | अशोक गहलोत की पहचान मुख्यमंत्री के तौर पर कम बल्कि उनकी सादगी और गाँधीवादी मूल्यों के आधार पर ज्यादा की जाती है | भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राजनेता होने के साथ – साथ वह व्यक्तिगत जीवन में काफी उदार व्यक्ति है | जिसके कारण ही उन्हें राजस्थान की जनता ने काफी समर्थन दिया | और मौजूदा समय में वह फिर से तीसरी बार राजस्थान के मुख्यमंत्री बन सके | प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने के बाद श्री अशोक गहलोत जी से संपर्क करने के लिए काफी लोग कोशिश करते हैं | कुछ लोग सिर्फ उनसे मुलाकात करना चाहतें हैं , और कुछ लोग उनसे मिल कर अपनी समस्याओं को बताना चाहते हैं |

अशोक गहलोत जी का जीवन परिचय | मोबाइल नंबर , व्हाट्सप्प नंबर | शिकायत पत्र ऑनलाइन,सोशल मीडिया सम्पर्क

लेकिन एक मुख्यमंत्री को सभी लोगों से व्यक्तिगत रूप में मिल पाना काफी मुश्किल होता है | इसलिए आज के डिजिटल युग में किसी व्यक्ति से संपर्क करने के लिए कई प्रकार के साधन उपलब्ध है | जिनका उपयोग करके आप किसी व्यक्ति से संपर्क कर सकते हैं | इसलिए आज आपको इस आर्टिकल के माध्यम से राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी से संपर्क करने की पूरी जानकारी प्रदान की जाएगी | इस आर्टिकल में आपको श्री अशोक गहलोत जी के जीवन परिचय उनके फेसबुक ट्विटर और अन्य सोशल मीडिया अकाउंट से संपर्क करने की जानकारी | और उनके मोबाइल नंबर , whatsapp नंबर आदि की जानकारी प्रदान की जाएगी | जिनका उपयोग करके आप उनसे संपर्क कर सकते हैं | और अपनी किसी प्रकार की समस्या का समाधान प्राप्त कर सकते हैं |

श्री अशोक गहलोत जी का जीवन परिचय –

अशोक गहलोत जी बचपन से ही सादा जीवन उच्च विचार की भावना से प्रेरित है | और उन्होंने अपने जीवन में भी सादगी और गांधीवाद मूल्यों को अपनाया | अशोक जी का जन्म आजाद भारत में 3 मई सन 1951 जोधपुर राजस्थान में हुआ था | उनके पिता जी का नाम स्वर्गीय श्री लक्ष्मण सिंह गहलोत है | अशोक गहलोत जी ने विज्ञान और कानून में स्नातक की डिग्री प्राप्त की और इसके साथ ही अर्थशास्त्र विषय से स्नाकोत्तर डिग्री प्राप्त की है | श्री अशोक गहलोत जी का विवाह 27 नवंबर 1977 को श्रीमती सुनीता गहलोत के साथ संपन्न हुआ | श्री अशोक गहलोत जी के दो संताने हैं | जिनमें वैभव गहलोत पुत्र और सोनिया गहलोत व पुत्री हैं |

राजनीतिक गतिविधियों में रूचि होने के साथ-साथ श्री अशोक गहलोत जी को घूमना फिरना भी काफी पसंद है | सादा जीवन उच्च विचार में विश्वास रखने के कारण उन्हें फिजूलखर्ची बिल्कुल भी पसंद नहीं है | श्री अशोक गहलोत जी 24 घंटे किसी भी आम नागरिक की मदद करने के लिए तत्पर रहते हैं | और आम नागरिक के दुख दर्द में सदैव भागीदार बने रहते हैं |

अशोक गहलोत जी की राजनीतिक पृष्ठभूमि –

श्री अशोक गहलोत जी को सामाजिक सेवा में काफी रुचि है | इसलिए वह विद्यार्थी जीवन से ही समाज सेवा में जुट गए | सामाजिक सेवा करते हुए वह राजनीतिक गतिविधियों में भी सक्रिय हुए | और साथ में लोकसभा (1980-84 के लिए) 1980 में पहली बार जोधपुर संसदीय क्षेत्र से चुनाव जीते | इसके बाद वह एक लोकप्रिय नेता बन गए | जिसे आम जनता ने काफी समर्थन दिया | जिसके कारण वह 8वीं , 10वीं , 11वीं और 12वीं  लोकसभा चुनाव में जोधपुर संसदीय क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते रहे |

सरदारपुरा विधानसभा क्षेत्र से श्री अशोक गहलोत जी का काफी लगाव रहा | और क्षेत्र की जनता ने भी उन्हें अपना प्रतिभाशाली और कर्मठ राजनेता माना |  जिसके कारण ही वह सरदारपुरा विधानसभा क्षेत्र से फरवरी 1999 में 11 वीं राजस्थान विधानसभा के सदस्य बने , और फिर इसी विधानसभा क्षेत्र से 2003 , 2008 , 2013 में भी निर्वाचित हुए | और 15वीं राजस्थान विधानसभा क्षेत्र के लिए 11/12/2018 में सरदारपुरा विधानसभा क्षेत्र से ही पुनः निर्वाचित हुए

केंद्रीय मंत्री के रूप में श्री अशोक गहलोत जी की भूमिका –

श्री अशोक गहलोत जी एक ऐसे राजनेता है |  जिनका मुख्य देश से गरीबों का सर्वांगीण विकास करना है |  क्षेत्र की जनता का प्रतिनिधित्व करते हुए वह केंद्रीय मंत्री भी रहे हैं | उन्होंने स्वर्गीय श्रीमती इंदिरा गाँधी , स्वर्गीय श्री राजीव गाँधी एवं श्री पी. वी. नरसिम्हा राव के मंत्रिमंडल में केंद्रीय मंत्री के रूप में कार्य किया | श्री गहलोत जी 3 बार केंद्रीय मंत्री के रूप में कार्यभार संभाला | श्रीमती इंदिरा गाँधी के शासनकाल में वह पर्यटन और नागरिक उड्डयन मंत्री भी रहे हैं | इसके साथ ही वह उप खेल मंत्री भी बने |

उन्होंने 7 फरवरी 1984 से 31 अक्टूबर 1984 तक का खेल मंत्रालय में कार्य किया | इसके बाद फिर से वह 12 नवंबर 1984 से 31 दिसंबर  1984 की अवधि में भी खेल मंत्रालय का कार्यभार संभाला | इसके साथ ही 21 जून 1991 से 18 जनवरी 1993 तक श्री अशोक गहलोत जी ने कपड़ा मंत्रालय में भी कार्य किया |

राजस्‍थान सरकार में मंत्री की भूमिका –

अशोक गहलोत जी राजस्थान सरकार के मंत्रालय में भी कार्य किया है | वह जून 1989 से नवंबर 1989 की अल्प अवधि के बीच में राजस्थान सरकार में  गृह तथा जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के मंत्री बन चुके हैं |

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी में श्री अशोक गहलोत जी का योगदान –

अशोक गहलोत जी ने भारतीय कांग्रेस कमेटी के लिए काफी लंबे समय तक कार्य किया है | उन्होंने जनवरी 2004 से 16 जुलाई 2004 तक अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी में विशेष आमंत्रित सदस्य के रूप में भी कार्य किया है | इस बीच उन्होंने हिमाचल प्रदेश और छत्तीसगढ़ प्रदेश प्रभारी के रूप में  पूरी जिम्मेदारी और निष्ठा पूर्वक कार्य किया

अशोक गहलोत जी ने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव के रूप में भी कार्य किया है | यह कार्यभार उन्होंने 17 जुलाई 2004 से 18 फरवरी 2009 तक संभाला | इसके साथ ही  श्री गहलोत जी को 30 मार्च, 2018 को कांग्रेस अध्यक्ष श्री राहुल गाँधी जी ने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव पद के लिए मनोनीत किया |

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी में अध्यक्ष के रूप में भूमिका –

लंबे समय तक भारतीय कांग्रेस को अपनी सेवाएं प्रदान करते हुए वह  तीन बार प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भी रह चुके हैं |  प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष वह पहली बार 34 वर्ष की युवा अवस्था में बने | उनका पहला  प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष के रूप में कार्यकाल सितंबर 1985 से जून 1989 के बीच रहा | दूसरी बार वह 1 दिसंबर 1994 से जून, 1997 तक वह प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष बने | और तीसरी बार वह जून, 1997 से 14 अप्रैल, 1999 तक प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद पर  बने रहे | इसके साथ ही वह 1982 में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव भी रह चुके हैं | और साथ में ही वर्ष 1979 से 1982 के बीच में वह जोधपुर शहर के जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भी रहे हैं |

अशोक गहलोत जी की सामाजिक पृष्ठभूमि –

विद्यार्थी जीवन से ही श्री अशोक गहलोत जी की सामाजिक कार्य में काफी रुचि थी | जिसके कारण वह सदैव गरीब और पिछड़े वर्ग के नागरिकों की सेवा के लिए तत्पर रहे | जिसके कारण ही वह पश्चिम बंगाल के बनगांव और 24 परगना जिले में वर्ष 1971 में बांग्लादेश युद्ध के दौरान शरणार्थियों के शिविरों में काम किया | इसके साथ ही अशोक गहलोत जी तरुण शांति सेवा द्वारा सेवाग्राम , वर्धा , औरंगाबाद , इंदौर तथा अन्य ऐसी जगहों पर आयोजित शिविरों में भी कार्य किया है | और साथ ही उन्होंने नेहरू युवा केंद्र के माध्यम से प्रौढ़ शिक्षा के विस्तार में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया | और राजीव गाँधी मेमोरियल बुक बैंक में भी सक्रिय रूप से जुड़े रहे |

श्री अशोक गहलोत जी ने सबसे ज्यादा योगदान भारत सेवा संस्थान में दिया है | जिसके वह संस्थापक अध्यक्ष है | यह संस्थान समाज सेवा को पूर्णता समर्पित है | इस संस्थान द्वारा एंबुलेंस सेवाएं प्रदान की जाती है |

श्री अशोक गहलोत जी की विदेश यात्रा –

भारतीय प्रतिनिधिमंडल के सदस्य के रूप में श्री अशोक गहलोत जी ने विदेशों में भी भारत का प्रतिनिधित्व किया है | उन्होंने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रतिनिधिमण्डल के सदस्य के रूप में जनवरी 1994 में चीन की यात्रा की | साथ ही कामनवेल्थ यूथ अफेयर्स का भी नेतृत्व किया | प्रतिनिधिमंडल के सदस्य के रूप में उन्होंने बैंकॉक , आयरलैंड , फ्रैंकफर्ट , अमेरिका , कनाडा , हांगकांग , यूके , इटली और फ्रांस सहित अन्य देशों की यात्रा की है |

राजस्थान के मुख्यमंत्री के रूप में श्री अशोक गहलोत जी का योगदान –

राजस्थान के मुख्यमंत्री के तौर पर श्री अशोक गहलोत जी ने तीन बार कार्यभार संभाला है | पहली बार वह 1 दिसंबर 1998 से 8 दिसंबर 2003 तक प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे | इसके बाद वह पुनः 13 दिसंबर 2008 से 13 दिसंबर 2013 तक मुख्यमंत्री पद ग्रहण किया | इसके पश्चात वह फिर से तीसरी बार 17 दिसंबर 2018 को राजस्थान के मुख्यमंत्री पद का कार्यभार कार्यभार ग्रहण किया है | मुख्यमंत्री के पद पर रहते हुए उन्होंने राजस्थान के विकास में काफि भूमिका निभाई है |

उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान पचपदरा बाड़मेर में रिफाइनरी , जयपुर मेट्रो रेल , सूरतगढ़ में सुपर थर्मल पावर स्टेशन की दो इकाइयों , बाड़मेर लिफ्ट परियोजना , रतलाम से डूंगरपुर वाया बांसवाड़ा 188 किलोमीटर रेल लाइन का निर्माण , बाड़मेर जिले के नागाणा गांव में मंगला टर्मिनल से पाईप लाईन आदि मेगा प्रोजेक्ट्स को आरंभ किया |

मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना , मुख्यमंत्री निशुल्क जांच योजना , पेंशन योजना , राजस्थान जननी सुरक्षा योजना , सुनवाई का अधिकार अधिनियम , मुख्यमंत्री ग्रामीण बीपीएल आवास योजना , राजस्थान लोक सेवाओं के प्रदान की गारंटी अधिनियम , वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना , उद्योग के लिए एकल खिड़की योजना , मुख्यमंत्री पशुधन निशुल्क दवा योजना एवं अन्य कल्याणकारी योजना को प्रारंभ किया |

अशोक गहलोत पर्सनल मोबाइल नंबर एंव व्हाट्सएप नंबर –

प्रदेश की जनता के लिए 24 घंटे कार्य करने के लिए तत्पर श्री अशोक गहलोत जी को कोई भी संपर्क कर सकता है | किसी भी प्रदेश के नागरिक को किसी प्रकार की समस्या का सामना होने पर वह डायरेक्ट अशोक गहलोत जी से संपर्क करके अपनी समस्या का समाधान प्राप्त कर सकता है | अशोक जी से संपर्क करें कि डीटेल्स इस प्रकार है –

निवास – 49, सिविल लाईन्स,  जयपुर-302006  राजस्थान, भारत

फोन:+91(141)2229244फैक्स:+91(141)2229255ई-मेल:cmrajasthan@nic.in
कार्यालय  – मुख्यमंत्री खण्ड, शासन सचिवालय,  जयपुर-302005  राजस्थान, भारत

फोन:+91(141)2227656  , +91(141)2227647
फैक्स:+91(141)2227687 ई-मेल: cmrajasthan@nic.in
Website:www.cmoffice.rajasthan.gov.in/

अशोक गहलोत कांटेक्ट नंबर – सोशल मीडिया टि्वटर , फेसबुक , युटुब , इंस्टाग्राम –

सोशल मीडिया का हमारे जीवन में काफी महत्व बढ़ चुका है | किसी भी प्रकार की गतिविधि को हम सबसे पहले सोशल मीडिया के जरिए ही शेयर करते हैं | इसलिए यदि आपको अशोक कुमार से सोशल मीडिया के माध्यम से संपर्क करना चाहते हैं | तो अब नीचे बताये जा रहे संपर्क की डिटेल्स के माध्यम से सोशल मीडिया के द्वारा भी संपर्क कर सकते हैं |

तो दोस्तों यह थी अशोक गहलोत जी का जीवन परिचय और अशोक गहलोत पर्सनल मोबाइल नंबर  के बारे में जानकारी | यदि आपके किसी  सगे – संबंधी या दोस्त को अशोक जी से संपर्क करना है , तो उनके साथ भी इस जानकारी को शेयर करें | साथ ही यदि आपका किसी भी प्रकार का कोई सवाल हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करें | हम जल्दी आपके सवालों का जवाब देंगे || धन्यवाद ||

Spread the love

अनुक्रम

3 thoughts on “अशोक गहलोत पर्सनल मोबाइल नंबर,व्हाट्सप्प नंबर ,जीवन परिचय | शिकायत पत्र ऑनलाइन”

  1. कांग्रेस कार्यकर्ता जुड़ना चाहते हैं उन नेता लोगों से मिलना नहीं होता राहुल गांधी जी कहते हैं कि कांग्रेस के कार्यकर्ता की पार्टी है

    Reply
  2. मोदी जी ने कल सदन में कहा था अब सारे विरोधी दल मिलकर मिलावट ही नहीं महा मिलावट की सरकार बनने के लिए कोलकता में सम्मेलन किया था ।मोदी जी ने सदन में बोला कि जनता बहुत ही हेल्थकोंसिल हो गई है महा मिलावट को स्वीकार नहीं करेगी आपको जानकर हैरानी होगी की आज भारत में व सबसे ज्यादा मिलावट का दौर गुजरात में सभी खानेपीने की वस्तुओ में खासतौर डेयरी उत्पादों देसी घी जिसका प्रयोग हिदू परिवार में जन्म से लेकर मरन तक होता है।सभी 90/ मिलावटी देसी घी विभिन्न ब्रांड पैकिंग व एगमर्क होकर गुजरात महाराष्ट्र, हरियाणा बीजेपी के सतारूढ़ राज्यो से मोदी जी की सह से सारे देश में आ रहे है। सारे बीजेपी नेता लोगो को मिलावटी जहर खिलाकर अपनी तिजोरी भर रहे है। दीवोज ब्रांड मिलावटीदेसी घी एमपी में बन रहा है सुनने में अा रहा कि वांसुधरा राजे के सांसद बेटे की भागीदारी है। मोदी जी जनता बचेगी तो देश बचेगा फिर लोकतंत्र । हमे तो आपके चेहरे पर हसी भी मिलावटी लग रही है ।पहले जनता को मिलावट के दानव से छुटकारा दिलवाएं फिर 2019 की बात करे

    Reply
  3. X ray tacnisiyan bhilwara mgh hospital bhilwara me 7sal se Hu par theke par Hu me gahlot sab se nivedan karti Hu ki hame bhi parmanant karwane Ka kast kare

    Reply

Leave a Comment