Army me driver kaise bane? आर्मी ड्राईवर कैसे बने? आवश्यक योग्यता, उम्र सीमा व चयन प्रक्रिया

Army me driver kaise bane, हम में से बहुत से लोग सेना में जाने का ख्वाब देखते हैं लेकिन उनमे से कुछ ही सफल हो पाते हैं। सेना का यही नियम (Army driver kaise bane) हैं, उनके लिए योग्यता बहुत मायने रखती हैं। कहने का तात्पर्य यह हुआ कि यदि सेना में किसी पोस्ट के लिए एक हज़ार भर्तियाँ निकली हैं और उन्हें केवल 900 लोग ही सही मिले तो वे 100 पोस्ट को खाली ही छोड़ देंगे लेकिन गलत लोगों को नही लेंगे।

इसलिए यदि आप भी आर्मी में ड्राईवर बनने (Army me driver ki bharti) का सोच रहे हैं और यह जानना चाहते हैं कि आर्मी ड्राईवर कैसे बने तो आज हम आपको सेना चालक या यूँ कहे कि आर्मी ड्राईवर बनने के ऊपर संपूर्ण जानकारी देंगे। इस लेख में आपको आर्मी ड्राईवर बनने के ऊपर पूरी जानकारी मिलेगी।

आर्मी में ड्राईवर कैसे बने? (Army me driver kaise bane)

इस देश में आर्मी में जाना बहुत मुश्किल भरा काम होता हैं या यूँ कहे कि सबसे मुश्किल क्योंकि इसमें ना केवल आपको पेपर देना होता हैं बल्कि फिजिकली फिट भी होना होता हैं। यदि आप फिजिकल या मेडिकल टेस्ट में जरा सा भी चुनक गए तो समझिये आपको रिजेक्ट कर दिया जाएगा।

Army me driver kaise bane? आर्मी में ड्राईवर कैसे बने

ऐसे में आर्मी का जो ड्राईवर होता हैं उसकी तो बहुत बड़ी जिम्मेदारी होती हैं। उसे तो सेना के कई जवानों को इधर से उधर लेकर जाना होता हैं। साथ ही उसे ऐसे रास्तो पर भी सफर करना होता हैं जहाँ आम नागरिक जाते जाते हैं। फिर चाहे वो कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल या उत्तराखंड के पहाड़ हो बंगाल, मिजोरम के घने जंगल या फिर राजस्थान के रेगिस्तान।

ऐसे में ड्राईवर से जरा सी चूक हुई नही कि उस ट्रक में बैठे सभी सेना के जवानों की जान तक जा सकती हैं। ऐसे में आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए बहुत ही कठिन परीक्षा से होकर गुजरना पड़ता हैं। यदि आपमें वह हौस्ल्का व जुनून हैं तो आपको आर्मी में ड्राईवर बनने से कोई नही रोक सकता।

आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए क्या करें (Army driver kaise bane)

यदि आपने आर्मी में ड्राईवर बनने का सोच लिया हैं तो आपका कुछ चीज़े जानना जरुरी हैं जो आपको आर्मी में ड्राईवर बनने में मदद करेगी। ये चीज़े हैं:

दसवीं में लाये 50 प्रतिशत से ज्यादा (Army driver qualification)

आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए कोई ज्यादा पढ़ाई करने की जरुरत नही होती। कही अप सोच रहे हो कि इसके लिए बारहवीं पास होना चाहिए या आपकी किसी विषय में ग्रेजुएशन होनी चाहिए तो आप गलत हैं। इसके लिए बस आपको दसवीं तक की ही डिग्री लेनी होती हैं और उसके बाद आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए आवेदन दे सकते हैं।

ध्यान रहे कि आपका दसवीं में पास होना जरुरी हैं और इसमें कम से कम 50 प्रतिशत अंक लाने आवश्यक होते हैं। यदि आपके दसवीं में 50 प्रतिशत से कम अंक आये तो आप दसवीं फिर से दे दे क्योंकि जब तक आपके 50 प्रतिशत से ज्यादा अंक नही आएंगे तब तक आप आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए आवेदन नही दे सकते हैं।

मन को रखे मजबूत

यदि आप कच्चे दिल के हैं और कुछ चीजों से डर जाते हैं या आपको किसी चीज़ का फोबिया हैं जैसे कि आपको उंचाई से डर लगता हो या आप पानी देखकर डर जाते हैं या फिर पहाड़ पर चढ़ने से घबराते हो तो आपको एक बार फिर से सोचने की जरुरत हैं। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि आर्मी में जाने के लिए आपको अपने मन से हर डर को निकालना होगा अन्यथा आप आगे नही बढ़ पाएंगे और ना ही सेना चालक बन पाएंगे।

इसलिए सबसे पहले अपने मन को मजबूत बनाए और खुद को मजबूत रखें। यदि आपको किसी चीज़ से डर भी लगता हैं तो उसका सामना करें और पहले से ही उसके लिए तैयारी कर ले। मन को मजबूत बना लेने से आप कोई भी मुकाम हासिल कर सकते हैं।

आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए क्या चाहिए (Army driver eligibility)

अब जब आपने यह सब जान लिया हैं तो आपका यह भी जानना जरुरी हैं कि आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए आपके पास क्या-क्या होना चाहिए और आपको किन-किन चीजों की आवश्यकता पड़ सकती हैं। आइए आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए क्या क्या चाहिए इसके बारे में भी विस्तार से जाने।

आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए चेस्ट साइज़ क्या होना चाहिए (Army driver chest size)

आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए आपकी छाती का साइज़ कम से कम 77 सेंटीमीटर से ज्यादा होना चाहिए और ज्यादा से ज्यादा 85 सेंटीमीटर होना चाहिए। यदि आपकी छाती 77 सेंटीमीटर से कम हैं या फिर 85 सेंटीमीटर से ज्यादा हैं तो आपको रिजेक्ट कर दिया जाएगा।

आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए हाइट कितनी होनी चाहिए (Army driver height)

आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए व्यक्ति की लंबाई भी बहुत मायने रखती हैं और छोटी हाइट वालो को इसमें स्थान नही मिल पाता हैं। यदि आपकी हाइट 170 सेंटीमीटर से ज्यादा हैं तो आप आसानी से आर्मी की ड्राईवर भर्ती प्रक्रिया में आवेदन कर सकते हैं। हालाँकि इसके लिए कोई अधिकतम सीमा नही हैं। इसलिए यदि आपकी हाइट ज्यादा लंबी हैं तो भी आपको चिंता करने की आवश्यकता नही।

आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए कितना वजन होना चाहिए (Army driver weight)

हाइट व चेस्ट साइज़ के अलावा आर्मी में ड्राईवर की पोस्ट पाने के लिए आपका वजन भी बहुत मायने रखता हैं। यदि आप दुबले पतले से हैं तो आपको पहले ही रिजेक्ट कर दिया जाएगा। सेना चालक बनने के लिए आपका न्यूनतम वजन 50 किलोग्राम होना चाहिए और अधिकतम की कोई सीमा नही हैं। हालाँकि आपके मोटापा नही होना चाहिए और ना ही पेट निकला हुआ होना चाहिए। आर्मी में हर किसी को एकदम फिट रहना होता हैं ताकि आवश्यकता पड़ने पर कोई भी काम आ सके।

आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए कितनी उम्र होनी चाहिए (Army driver age limit)

यदि आप सोच रहे हैं कि बस दसवीं पास कर ली और आप आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए आवेदन कर दे तो आप गलत हैं। किसी किसी की तो दसवीं 15 या 16 साल की उम्र में ही हो जाती हैं क्योंकि उन्होंने स्कूल जल्दी शुरू किया होता हैं या फिर कोई क्लास जम्प की होती हैं। साथ ही कुछ को लगता हैं कि वे उम्र के किसी भी पड़ाव में हो तो भी वे आर्मी ड्राईवर के लिए अप्लाई कर सकते हैं तो भी आप गलत हैं।

दरअसल आर्मी ड्राईवर बनने के लिए न्यूनतम व अधिकतम आयु की भी एक सीमा हैं। यदि आप सच में आर्मी में ड्राईवर बनना चाहते हैं तो इसके लूए आपकी न्यूनतम आयु 17 वर्ष व अधिकतम आयु 25 वर्ष होनी चाहिए। कहने का अर्थ यह हुआ कि यदि आपकी आयु 17 से कम हैं या 25 से ज्यादा हैं तो आप आर्मी में ड्राईवर नही बन सकते हैं।

हालाँकि जनरल को छोड़कर ओबीसी, एससी व एसटी वेर्ग के लोगों के लिए अधिकतम आयु सीमा में कुछ छूट दी गयी हैं। इसलिए यदि आप जनरल वर्ग में नही आते हैं तो आप कुछ और वर्ष तक आर्मी के ड्राईवर पद के लिए आवेदन दे सकते हैं।

आर्मी ड्राईवर बनने के लिए सबसे जरुरी चीज़ ड्राइविंग लाइसेंस (Army driving licence)

यह तो स्वाभाविक सी बात हैं कि यदि आप सेना में चालक बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपसे पास ड्राइविंग लाइसेंस होना चाहिए। वो भी एकदम परफेक्ट। कहने का अर्थ यह हुआ कि जो सामान्य लोग होते है उनका काम होता हैं सामान्य वहां चलाना और वो भी सामान्य जगहों पर लेकिन एक आर्मी ड्राईवर को दुर्गम जगहों पर और दुर्गम परिस्थितियों में भी वाहन चलाना होता हैं।

खासकर आर्मी ड्राईवर को सभी तरह की परीक्षा से गुजरना होता हैं। इसलिए सबसे पहले अपने लिए दोपहिया व चार पहिया ड्राइविंग लाइसेंस बनवाए और उसके बाद ही आर्मी ड्राईवर के लिए आवेदन करे।

आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए चयन प्रक्रिया (Army driving job)

यदि आप ऊपर दिए गए सभी मापदंडो को पूरा करते है तो अब बात करते हैं मुख्य मुद्दे की। आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए आपको तीन तरह की चरण प्रक्रिया (Indian army driver training) से होकर गुजरना पड़ता हैं। इसमें लिखित परीक्षा तो सबसे अंत में ली जाती हैं क्योंकि ड्राईवर बनने के लिए उसकी इतनी जरुरत नही पड़ती बल्कि आपका फिजिकली फिट होना जरुरी होता हैं।

आर्मी ड्राईवर के लिए ना केवल आपका फिजिकली फिर होना जरुरी होता हैं बल्कि मेडिकल रूप से भी आपका एकदम फिट होना जरुरी हैं। इसके बाद सबसे अंत में आपकी लिखित परीक्षा ली जाती हैं। इसके चयन की तीन प्रक्रियां इस प्रकार हैं।

  • #1. फिजिकल टेस्ट या शारीरिक परीक्षा
  • #2. मेडिकल टेस्ट या चिकित्सकीय परीक्षा
  • #3. रिटेन एग्जाम या लिखित परीक्षा

आइए एक-एक्कार्के इन तीनों के बारे में जानते हैं ताकि आपको कोई दुविधा ना करें।

#1. आर्मी ड्राईवर बनने के लिए फिजिकल टेस्ट (Indian army driver physical test)

इसमें आपकी शारीरिक क्षमता, आपकी कैपेसिटी, मजबूती इत्यादि को आँका जाएगा। साथ ही जैसा की हमने आपको ऊपर बताया कि आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए आपके पास एक निर्धारित चेस्ट, हाइट व वजन होना चाहिए तो वह सब भी फिजिकल टेस्ट में आँका जाएगा।

इसके अलावा आप एक मिनट में कितना भाग सकते हैं या फिर आप कुछ किलोमीटर को कितनी देर में पूरा करते हैं या फिर एक बारी में मैदान के कितने चक्कर लगा सकते हैं इत्यादि को अच्छे से जांचा जाएगा। आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए एक कड़े फिजिकल टेस्ट से गुजरना होता हैं और यदि आप इसमें चूक गए तो आपको पहले ही बाहर कर दिया जाएगा।

एक तरह से पहले राउंड में ही अधिकार परीक्षार्थी आर्मी ड्राईवर की परीक्षा से बाहर हो जाते हैं क्योंकि वे इतना कठिन फिजिकल टेस्ट पार ही नही कर पाते हैं। ऐसे में आप जब भी आर्मी ड्राईवर के लिए फिजिकल टेस्ट देने जाए तो उससे पहले अपनी तैयारी को एकदम मजबूत रखें अन्यथा आपको अगले साल तक प्रतीक्षा करनी पड़ेगी।

#2. आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए मेडिकल टेस्ट (Indian army driver medical test)

अब बात करते हैं आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए होने वाले मेडिकल टेस्ट की। आर्मी एक ऐसी चीज़ हैं जिसमे ना केवल आपका फिजिकल फिट होना आवश्यक हैं बल्कि मेडिकल रूप से भी आपका एकदम सही होना जरुरी होता हैं। यदि आपकी मेडिकल परीक्षा में कोई भी कमी पायी गयी तो आपको उसी समय बिना देखे आर्मी ड्राईवर की दौड़ से बाहर कर दिया जाएगा।

इसमें आपके पूरे शरीर का टेस्ट लिया जाएगा या यूँ कहे कि आपकी पूरी तरह से जांच की जाएगी। फिर चाहे वह आपके शरीर के सामान्य अंग हो या कोई निजी अंग। कहने का तात्पर्य यह हुआ कि आपके शरीर के किसी भी अंग में किसी भी तरह की कोई खराबी नही होनी चाहिए। एक उदाहरण से समझिये, यदि आपकी आँखों पर चश्मा लगा हुआ हैं या आपकी आँखें थोड़ी सी भी कमजोर हैं तो भी आपको बाहर का रास्ता दिखा दिया जाएगा।

इसलिए यदि आप आर्मी में ड्राईवर बनना चाहते है तो आइल लिए मेडिकल टेस्ट को पूरे तरीके से पास करना बहुत जरुरी हो जाता हैं। इसमें आपके शरीर में किसी भी तरह की कोई भी कमी नही होनी चाहिए।

#3. आर्मी ड्राईवर बनने के लिए लिखित परीक्षा (Indian army driver written test)

अब जब आपने आर्मी ड्राईवर बनने के लिए फिजिकल व मेडिकल टेस्ट को सफलतापूर्वक पास कर लिया हैं तो अंत में आपकी एक लिखित परीक्षा ली जाएगी। हालाँकि यह परीक्षा अन्य सरकारी परीक्षाओं की तरह इतनी कठिन नही होगी जैसे कि एसएससी या रेलवे इत्यादि में होती हैं। फिर भी इस परीक्षा को देने से कई परीक्षार्थी चूक जाते हैं क्योंकि उनकी बिल्कुल भी तैयारी नही होती हैं।

इसलिए यदि आप आर्मी ड्राईवर की लिखित परीक्षा को एकदम हलके में ले लेंगे और इसके लिए तैयारी नही करेंगे तो आपकी की कराई सारी मेहनत पर पानी फिर जाएगा और फिर बाद में पछतावा होगा वो अलग। इसलिए पहले से ही इसको लेकर सजग हो जाए और अपनी तैयारी को कम ना होने दे। यदि आप सच में आर्मी में ड्राईवर बनना चाहते हैं तो अपनी तैयारी को एकदम मजबूत रखें।

आर्मी में ड्राईवर बनने लिए दस्तावेज (Army driver document verification)

जब आप आर्मी में ड्राईवर बनने के लिए सब परीक्षाएँ कोपस कर लेंगे तो अंतमे आपका सत्यापन किया जाएगा। इसमें आपका नाम, पता, आप भारतवासी हैं या नही, हैं तो किस राज्य या जिला के निवासी हैं, क्या आपके दस्तावेजों में किसी तरह की कोई कमी हैं या कोई दस्तावेज नही हैं तो आपको निकाल दिया जाएगा। ऐसे में अपने दस्तावेज पहले से ही दुरुस्त रखेंगे तो बेहतर रहेगा। अन्यथा बाद में यह पछतावा रहेगा कि सब कुछ सही होते हुए भी केवल दस्तावेज नही होने के कारण आपका आर्मी ड्राईवर की पोस्ट पर सिलेक्शन नही हो पाया।

एक आर्मी ड्राईवर बनने के लिए आपको निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ सकती हैं:

  • आधार कार्ड
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • स्थायी निवास प्रमाण पत्र या मूल निवास प्रमाण पत्र
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • विद्यालय का चरित्र प्रमाण पत्र
  • दसवीं की अंकतालिका
  • जाति प्रमाण पत्र

आर्मी ड्राईवर की भर्ती कब निकलती है (Indian army me driver ki bharti)

जिस प्रकार हर वर्ष बैंक की एक निश्चित समय पर या बड़े सरकारी पदों की एक निश्चित समय पर भर्ती निकलती हैं वैसा आर्मी ड्राईवर की पोस्ट से कुछ लेना देना नही हैं। उनके पास जब भी आर्मी ड्राईवर की एक निश्चित पोस्ट खाली हो जाएँगी वे उसी समय भर्ती निकाल देंगे। कहने का तात्पर्य यह हुआ कि एक अर्मु ड्राईवर की पोस्ट की भर्ती चाहे तो एक साल में 3 बार निकल जाए तो तो दो साल बाद निकले। यह पूरी तरह से आर्मी ड्राईवर की खाली हुई पोस्ट पर निर्भर करती हैं।

आर्मी ड्राईवर की भर्ती कहां निकलती हैं (Army driver vacancy)

इसके लिए आपको सरकारी आधिकारिक वेबसाइट पर चेक करना होगा या फिर प्रतिदिन समाचार पत्र में जहाँ नौकरी के लिए विग्योँ छपते हैं वहां देखना होगा। सेना की ओर से किसी भी पोस्ट की भर्ती निकालने पर उसे अपनी वेबसाइट पर एक पॉप up के द्वारा या लेटेस्ट न्यूज़ में दिखाया जाता हैं या फिर समाचार पत्र में विज्ञापन दिया जाता हैं ताकि आमजन को इसके बारे में पता चल सके।

आर्मी ड्राईवर का वेतन कितना होता हैं (Army driver salary kitni hoti hai)

अब अंतिम बात और वो हैं आर्मी ड्राईवर कमाएगा कितना। सेना में यदि आप भर्ती हो रहे हैं तो उसमे वेतन बहुत कम ही देखा जाता हैं क्योंकि इसमें मुख्य काम देशभक्ति का होता हैं। हालाँकि एक व्यक्ति को अपने परिवार का पेट पालने के लिए कुछ ना कुछ तो कमाना ही पड़ेगा अन्यथा वह क्या ही करेगा।

ऐसे में आर्मी ड्राईवर को 10 हज़ार से लेकर 20 हज़ार तक का वेतन दिया जाता हैं। साथ ही साथ हर वर्ष उसके वेतन में वृद्धि होती जाती हैं जो सरकार पर निर्भर करती हैं। इसके अलावा वेतन आयोग लागू होने पर इसमें ज्यादा वृद्धि भी देखने को मिल सकती हैं।

अन्य संबंधित लेख:

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment

एक देश एक राशन कार्ड योजना नानाजी देशमुख कृषि संजीवनी योजना यूपी जनसंख्या कानून क्या है? मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना झारखण्ड कम्युनिकेशन स्किल इम्प्रूव करने के 8 तरीके