यूपी प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना 2024 – Apprenticeship Promotion Yojana Up

देश का जनसंख्या की दृष्टि से सबसे बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश युवा शक्ति के मामले में टाप फाइव राज्यों में शुमार हैं। यहां भी अन्य बाकी राज्यों की तरह बेरोजगारी और शिक्षा के अनुसार सेवायोजन न हो पाना युवाओं से जुड़ी एक बड़ी समस्या है। हालांकि, 2017 में जब से योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश की सत्ता संभाली है उन्होंने युवाओं के रोजगार और उनके स्किल डेवलपमेंट के जरिए उन्हें रोजगार के काबिल बनाने के लिए कई कदम उठाए हैं। यूपी प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना एक ऐसी ही योजना है, जो युवाओं को बेहतर भविष्य प्रदान करने की सोच के साथ लाई गई है। आज इस पोस्ट में हम आपको इसी योजना के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे। आइए, शुरू करते हैं-

Contents show

यूपी प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना क्या है?

दोस्तों, आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने युवाओं को प्रोत्साहन देने के लिए यूपी प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना (UP CM Apprenticeship Promotion Scheme)-2024 शुरू की है। इस योजना के तहत प्रदेश के युवाओं को उद्योगों में ट्रेनिंग के साथ ही 2500 रुपये मासिक प्रशिक्षण भत्ता (training allowance) दिया जाएगा। आपको यह भी बता दें कि इस भत्ते में से हर माह 1500 रुपए की धनराशि केंद्र सरकार की ओर से दी जाएगी, जबकि 1000 रुपये की धनराशि राज्य सरकार प्रदान करेगी।

यूपी प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना का उद्देश्य हुनर के दम पर ट्रेनिंग व अच्छी नौकरी

उत्तर प्रदेश सरकार ने यूपी प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना को प्रदेश के सभी युवाओं को ध्यान में रखते हुए शुरू किया है। इस योजना का उद्देश्य यह है कि युवा बिना आर्थिक तंगी के अपने हुनर के दम पर अच्छी नौकरी पा सकें व अपने हुनर के मुताबिक ही संबंधित उद्योगों में प्रशिक्षण भी प्राप्त कर सकें, ताकि उनका भविष्य बेहतर बन सके। आपको बता दें दोस्तों कि यूपी सरकार की इस योजना को उत्तर प्रदेश निशुल्क कौशल प्रशिक्षण योजना (UP Free Skill Training Scheme) के नाम से भी जाना जाता है।

यूपी प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना 2021 - Apprenticeship Promotion Yojana Up

यूपी मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना के लाभ

साथियों, उत्तर प्रदेश सरकार मुख्य रूप से प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के हित के लिए लेकर आई है। इसके लाभ इस प्रकार से हैं-

  • जो युवा डिग्री हासिल कर नौकरी नहीं ले पा रहे, उनकी उद्योगों में आन द जाब ट्रेनिंग।
  • ट्रेनिंग के बाद इच्छित उद्योग में अच्छी नौकरी मिलने में आसानी।
  • आर्थिक तंगी की वजह से ट्रेनिंग हासिल न कर पाने वाले युवाओं को सुविधा।
  • 2500 रुपए मासिक भत्ता निर्धन छात्रों की वित्तीय सहायता करेगा।
  • प्रदेश में बेरोजगारी की दर घटाने में सहायता मिलेगी।

यूपी प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना में आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज

मित्रों, प्रत्येक सरकारी योजना की तरह उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना का लाभ लेने के लिए आपको कुछ दस्तावेज आवेदन के साथ संलग्न करने आवश्यक होंगे। आपको इनके बगैर योजना का लाभ नहीं मिलेगा। ये दस्तावेज इस प्रकार से हैं-

  • आवेदक का आधार कार्ड।
  • आवेदक का मोबाइल नंबर।
  • निवास प्रमाण पत्र।
  • आवेदक का शैक्षिक योग्यता/अप्रैंटिसशिप का प्रमाण पत्र।
  • आवेदक का पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ।
  • बैंक खाते का ब्योरा।
  • आवेदक के हस्ताक्षर।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना के लाभार्थी कौन होंगे?

दोस्तों, उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गयी इस योजना का लाभ केवल प्रदेश के निवासी छात्र-छात्राएं ही ले सकते हैं। इस योजना में आवेदन के लिए पांच श्रेणियां (categories) तैयार की गई हैं। इन श्रेणियों में ग्रेजुएट, अप्रेंटिस आईटीआई, अप्रेंटिस, इंजीनियरिंग तथा पीएचडी एवं डिप्लोमा के छात्र शामिल हैं। योजना के लिए आवेदन करते समय इन्हें अपनी शैक्षिक योग्यता का प्रमाण प्रस्तुत करना होगा।

पहले चरण में 63 करोड़ रुपए के व्यय का प्रावधान

मित्रों, आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना के संचालन का जिम्मा उत्तर प्रदेश के प्रशिक्षण एवं सेवायोजन विभाग को सौंपा गया है। पहले चरण में इस योजना पर 63 करोड़ रुपए की धनराशि के व्यय का प्रावधान किया गया है। व्यावसायिक शिक्षा बोर्ड 35 हजार प्रशिक्षुओं को प्रशिक्षण प्रदान करेगा। कुल पांच लाख युवाओं तक इस योजना का लाभ पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है।

यूपी प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

अभी उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से आनलाइन आवेदन शुरू नहीं किया गया है। जैसे ही यह प्रक्रिया शुरू होगी, हम आपको इसकी जानकारी देंगे। आप इसके लिए लगातार हमारी वेबसाइट को चेक करते रहिए। आपको सभी अपडेट इसी पर मिलेंगे।

मित्रों, आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना का लाभ उठाने के इच्छुक युवा इसके लिए ऑनलाइन (online) आवेदन कर सकते हैं। इसकी एक आसान सी प्रक्रिया है, जो कि इस प्रकार से है-

Total Time: 20 minutes

ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ –

आवेदक को सबसे पहले मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना (CMAPS) की अधिकारिक वेबसाइट apprenticeship.gov.in पर जाना होगा। इसके बाद उसके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।

Apprentices Registration लिंक पर क्लिक करें –

यहां आवेदक को Apprentices Registration के लिंक पर क्लिक करना होगा। लिंक पर क्लिक करते ही उसके सामने योजना का रजिस्ट्रेशन फार्म खुल जाएगा।

आवेदन फॉर्म भरें –

आवेदक को इस फार्म में नाम, पिता का नाम, संबंध, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी व पासवर्ड भरकर रजिस्ट्रेशन करना होगा।

नेशनल अप्रेंटिसशिप पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

मित्रों, यूपी सीएम अप्रेंटिसशिप पोर्टल पर आवेदन प्रक्रिया शुरू होने के बाद तो हम आपको उसकी जानकारी देंगे ही, लगे हाथों हम आपको राष्ट्रीय प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना (national apprenticeship promotion scheme) यानी NAPS के पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया के बारे में बताते हैं, जो कि इस प्रकार से है-

  • आवेदक को सबसे पहले आधिकारिक अप्रेंटिसशिप प्रशिक्षण पोर्टल https://apprenticeshipindia.org/ पर जाना होगा।
  • यहां होम पेज पर उसे Register section में Candidate के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने NAPS योजना का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फार्म खुल जाएगा।
  • यहां इच्छुक युवा को पूछी गई सारी जानकारी सही सही भरनी होगी।
  • इसके बाद भरी जानकारी को चेक करके Submit के option पर क्लिक कर दें।
  • इसके बाद आवेदक होमपेज के ऊपरी दाएं कोने पर मौजूद Login लिंक पर क्लिक करके login कर सकेंगे या सीधे https://apprenticeshipindia.org/login पर क्लिक कर login कर सकेंगे।

उत्तर प्रदेश में दो करोड़ शिक्षित युवा बेरोजगार हैं –

मित्रों, एक अनुमान के अनुसार उत्तर प्रदेश में करीब दो करोड़ शिक्षित बेरोजगार हैं। इन बेरोजगारों ने युवा शक्ति संगठन गठित किया हुआ है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जन्मदिन 5 जून को इन बेरोजगार युवाओं ने बेरोजगार दिवस के रूप में मनाते हुए “डिग्री लो रोजगार दो” की मांग रखी। उन्होंने इसे सोशल मीडिया पर ट्रेंड भी कराया।

इस अभियान में प्रदेश के सेवायोजन पोर्टल में पंजीकृत बेरोजगार युवा, प्रतियोगी छात्र, लंबित भर्तियों के अभ्यर्थी भी शामिल हुए। संगठन का दावा था कि यूपी सरकार ने दिसंबर, 2020 में सभी सरकारी विभागों से खाली पदों का ब्योरा मांगा था। इस आधार पर शिक्षा, स्वास्थ्य, पुलिस, राजस्व, ऊर्जा जैसे अहम विभागों में 5 लाख पद खाली हैं। इनमें 3.25 लाख पद राज्य कर्मचारियों के हैं।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना से युवाओं के सपने पूरे होंगे –

दोस्तों, उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना से बेहतर नौकरी की बाट जोह रहे युवाओं के सपने पूरे होंगे, ऐसा माना जा सकता है। राज्य में ढेरों ऐसे युवा हैं, जिन्होंने पढ़ाई से डिग्री तो हासिल की, लेकिन उद्योगों से जुड़ा कोई स्किल या अनुभव न होने के कारण उन्हें अच्छा काम मिलने में परेशानी हो रही है। ऐसे में उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना उन्हें मनपसंद नौकरी हासिल करने लायक बनाकर उनके सपनों को पूरा करने में सहायक बनेगी।

दोस्तों, आपको बता दें कि यह योजना राष्ट्रीय प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना यानी एनएपीएस (NAPS) की तर्ज पर लाई गई है, जो केवल उत्तर प्रदेश के युवाओं के लिए घोषित की गई है। यदि एनपीएस के तहत लाभ लेने वाले लाभार्थियों की संख्या देखे तो वह बहुत बड़ी है। आप जानते ही हैं कि पूरे भारत के युवा उस योजना के लाभार्थी हैं। चाहे वे किसी भी राज्य के क्यों ना हो। यदि वे पात्रता पूरी करते हैं तो योजना का लाभ ले सकते हैं। आपको यह भी बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्किल इंडिया का नारा देते हुए युवाओं को स्किल्ड बनाने की बात कही थी जिसके क्रियान्वयन के क्रम में यह योजना सामने आई थी।

अंतिम शब्द

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार ने युवाओं को रोजगार प्रदान करने के लिए अन्य योजनाएं भी चलाई हैं। लेकिन कई बार युवाओं को उनकी पढ़ाई और स्किल के मुताबिक जाब नहीं मिल पाती, जिससे वे डिप्रेशन के शिकार हो जाते हैं। कई बार युवाओं ने पढ़ाई पूरी कर ली होती है, लेकिन आवश्यक ट्रेनिंग के लिए उनके पास पैसे नहीं होते, जिससे वे संबंधित ट्रेनिंग हासिल नहीं कर पाते। उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना ऐसे युवाओं की सहायता करेगी।

इसके अलावा साल 2024 में उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने भी प्रस्तावित हैं। प्रदेश के युवा वोटरों की संख्या भी लाखों में है। ऐसे में यह योजना युवाओं को लुभाने का एक अस्त्र भी बनेगी। दोस्तों, आपको बता दें कि विधानसभा चुनाव 2017 के दौरान भी उत्तर प्रदेश में सत्ता के लिए दो दो हाथ कर रही करीब करीब सभी पार्टियों ने युवाओं को केंद्र में रखते हुए उनके लिए रोजगार का वादा अपने घोषणा पत्र में किया था। भाजपा भी उन्हीं में शामिल थी। योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री बनने के बाद युवाओं को रोजगार के लिए कई कदम उठाए भी हैं। उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना को भी उसी का एक हिस्सा माना जा सकता है।

मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना से जुड़े सवाल जवाब –

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना किसने लांच की है?

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना की शुरुआत योगी आदित्यनाथ ने की है।

मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना के तहत क्या प्रावधान किया गया है?

इसके तहत युवाओं को स्किल ट्रेनिंग व मासिक भत्ता का प्रावधान किया गया है।

download app

इस योजना के तहत लाभार्थी को कितनी राशि मिलेगी?

इस योजना के तहत लाभार्थी को 2500 रुपए मासिक भत्ता मिलेगा।

क्या किसी भी प्रदेश के निवासी इस योजना का लाभ उठा सकेंगे?

जी नहीं, केवल उत्तर प्रदेश के निवासी ही इस योजना के लाभार्थी हो सकते हैं।

योजना के संचालन का जिम्मा किस विभाग का है?

योजना के संचालन का जिम्मा उत्तर प्रदेश में प्रशिक्षण एवं सेवायोजन विभाग का है।

उत्तर प्रदेश में शिक्षित बेरोजगार कितने हैं?

एक अनुमान के अनुसार उत्तर प्रदेश में शिक्षित बेरोजगारों की संख्या करीब दो करोड़ है।

योजना के लिए आवेदन कैसे किया जा सकता है?

उत्तर प्रदेश सरकार ने अभी आनलाइन आवेदन की प्रक्रिया शुरू नहीं की है। जैसे ही यह शुरु होगी, हम आपको इसकी जानकारी प्रदान करेंगे।

साथियों, यह थी यूपी प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना 2024 – Apprenticeship Promotion Yojana Up के संबंध में बिंदुवार जानकारी। आशा है कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी साबित हुई होगी। आप इसे अधिक से अधिक साझा करके अधिक से अधिक लोगों तक यह उपयोगी जानकारी पहुंचा सकते हैं। किसी भी प्रतिक्रिया या सुझाव के लिए हमें नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करके कर सकते हैं। ।।धन्यवाद।।

प्रवेश
प्रवेश
मास मीडिया क्षेत्र में अपनी 15+ लंबी यात्रा में प्रवेश कुमारी कई प्रकाशनों से जुड़ी हैं। उनके पास जनसंचार और पत्रकारिता में मास्टर डिग्री है। वह गढ़वाल विश्वविद्यालय, श्रीनगर से वाणिज्य में मास्टर भी हैं। उन्होंने गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय से व्यक्तिगत प्रबंधन और औद्योगिक संबंधों में डिप्लोमा भी किया है। उन्हें यात्रा और ट्रेकिंग में बहुत रुचि है। वह वाणिज्य, व्यापार, कर, वित्त और शैक्षिक मुद्दों और अपडेट पर लिखना पसंद करती हैं। अब तक उनके नाम से 6 हजार से अधिक लेख प्रकाशित हो चुके हैं।
WordPress List - Subscription Form
Never miss an update!
Be the first to receive the latest blog post directly to your inbox. 🙂