Agricultural Solar Feeder Scheme Maharashrta क्या है ?

महाराष्ट्र सरकार ने प्रदेशवासियों के लिए एक नई योजना का शुभारंभ किया है। इस योजना का नाम Agricultural Solar Feeder Scheme Maharashrta रखा गया है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य प्रदेश के किसानों को सस्ती दर पर बिजली उपलब्ध कराना है। योजना के अंतर्गत सरकार अगले वर्ष में राज्य भर के किसानों को सौर ऊर्जा से चलने वाले सोलर फ़ीडर्स की सहायता से सस्ती बिजली उपलब्ध कराएगी। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इस योजना का शुभारंभ भूमि पूजन करके किया। इस मौके पर प्रसिद्ध समाजसेवी अन्ना हजारे भी मौजूद थे।

Agricultural Solar Feeder Scheme Maharashrta kya hai

महाराष्ट्र सरकार ने Agricultural Solar Feeder Scheme Maharashrta का निर्णय इसलिए लिया। ताकि महाराष्ट्र के किसानों को सस्ते दर पर बिजली उपलब्ध कराई जा सके। और उन्हें आत्मनिर्भर बनाया जा सके। शुरू में इस परियोजना के अंतर्गत किसानों को सौर पंप चलाने के लिए दी गई थी। इसके पश्चात अब इस योजना से सौर ऊर्जा बनाई जाएगी। और फिर यह बिजली घरों में भी सप्लाई की जाएगी। प्रदेश सरकार ने बताया कि जब उन्हें पता चला कि सौर पंपों के वितरण के लिए सीमाएं हैं। उन्होंने निर्णय लिया कि 12 घंटे तक बिजली सुनिश्चित करने के लिए किसानों के कृषि पंपों के लिए आपूर्ति करने के लिए सौर पैनलों को जोड़ा जाना आवश्यक है। ताकि किसानो को किसी प्रकार की समस्या ना हो सके।

Agricultural Solar Feeder Scheme Maharashrta –

महाराष्ट्र सरकार Agricultural Solar Feeder Scheme Maharashrta का मुख्य उद्देश्य अगले 3 वर्षों में राज्य के कोने-कोने में किसानों को सस्ती दर पर बिजली उपलब्ध कराना है। इस योजना के अंतर्गत प्रदेश सरकार किसानों को भरपूर मात्रा में बिजली सस्ती दर पर उपलब्ध कराना चाहती है। ताकि किसानों को बिजली को लेकर किसी प्रकार की समस्या का सामना ना करना पड़े। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने रालेगण सिद्धि में आयोजित मुख्यमंत्री सौर कृषी वाहिनी परियोजना का शुभारंभ भूमि पूजन करके किया। आयोजन में प्रसिद्ध वरिष्ठ समाज सेवक अन्ना हजारे भी मौजूद थे।

Agricultural Solar Feeder Scheme Maharashrta के अंतर्गत किसानों को सोलर से निर्मित बिजली उपलब्ध कराई जाएगी। सोलर सेल निर्मित बिजली फीडर से जोड़ने का काम किया जा रहा है। शुरुआत में किसानों को सोलर पंप देने की योजना थी। लेकिन सौर पंप वितरित करने से पहले किसानों को 12 घंटे बिजली आपूर्ति करना मुख्य चुनौती थी। इसलिए प्रदेश सरकार ने बिजली आपूर्ति करने वाले फीडर को सोलर पैनल से जोड़ने का निर्णय लिया।

Agricultural Solar Feeder Scheme Maharashrta की विशेषताएं –

Agricultural Solar Feeder Scheme Maharashrta की प्रमुख विशेषताएं कुछ इस प्रकार हैं –

  • प्रदेश सरकार का लक्ष्य 2018 तक मुख्यमंत्री सौर कृषी वाहिनी योजना का उद्घाटन है।
  • प्रदेश सरकार 200 किसानों के एक समूह के लिए एक मेगावाट सौर ऊर्जा उपलब्ध कराएगी।
  • महाराष्ट्र सरकार 4000 किसानों के एक समूह के लिए 20 मेगा वाट सौर ऊर्जा उपलब्ध कराएगी।
  • महाराष्ट्र सरकार ने अभी हाल में ही सोलापुर और लातूर जिले में सार्वजनिक निजी भागीदारी पर आधारित सौर ऊर्जा उत्पादन परियोजनाएं लागू की है।
  • प्रदेश सरकार सौर ऊर्जा पैनल की स्थापना किसानों के लिए 15 वर्ष तक के लिए किसानों से भूमि खरीदने की भी योजना पर विचार कर रही है।
  • यदि यह  योजना सफल होती है तो प्रदेश के किसानों को सस्ती दर पर बिजली प्राप्त होगी।
  • इस योजना के फलस्वरुप प्रदेश के किसानों को सस्ती दर पर 12 घंटे बिजली आपूर्ति उपलब्ध कराई जाएगी।

तो दोस्तों यदि Agricultural Solar Feeder Scheme Maharashrta के बारे में थोड़ी सी जानकारी। यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें। साथ ही साथ यदि आपका कोई सवाल हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करें।। धन्यवाद।।

Leave a Comment

Share2
Tweet
Pin
+1
2 Shares