एडीएम फुल फार्म इन हिंदी, एडीएम कैसे बने? कार्य, योग्यता, परीक्षा

|| एडीएम फुल फार्म इन हिंदी, एडीएम किसे कहते हैं, ADM full form in hindi, who is ADM? ए डी एम का फुल फॉर्म
एस. डी एम के अधिकार, अपर जिलाधिकारी क्या होता है, DM का फुल फॉर्म हिंदी मै, ADM and SDM Difference in Hindi ||

ज्यादातर हर पढ़े लिखे युवा एवं उसके मां-बाप का यही सपना होता है कि वह कोई रुतबे वाली सरकारी नौकरी करे, ताकि परिवार के मान सम्मान में भी बढ़ोत्तरी हो। हमारे समाज में आईएएस अधिकारी (IAS officer) का पद इसी प्रकार का एक गरिमा से भरा पद है।

आईएएस को शुरूआती दौर में एडीएम (ADM), एसडीएम SDM, सीडीओ (CDO) जैसे पदों की जिम्मेदारी मिलती है। यदि आप भी एडीएम बनकर समाज एवं अपने जीवन को बेहतर बनाना चाहते हैं तो आज हम आपको एडीएम के संबंध मे पूरी जानकारी देंगे –

जैसे- एडीएम फुल फार्म क्या है? (ADM full form in hindi) एडीएम किसे कहते हैं? (Who is ADM) एडीएम बनने के लिए कौन सी परीक्षा में बैठना पड़ता है? एडीएम एवं एसडीएम में क्या अंतर होता है? एडीएम का क्या वेतन होता है? आदि। आइए, शुरू करते हैं-

एडीएम फुल फार्म क्या होती है? (What is the full form of ADM?)

दोस्तों, आइए सबसे पहले एडीएम फुल फार्म (full form of ADM) जान लेते हैं। एडीएम फुल फार्म होती है-एडिशनल डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट (additional district magistrate)। इसे हिंदी में अतिरिक्त जिला न्यायाधीश भी पुकारा जाता है। इसे असिस्टेंट डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट कहकर भी पुकारा जाता है।

आपको बता दें दोस्तों कि एडीएम डीएम के पश्चात जिले में दूसरा सबसे सीनियर प्रशासनिक अधिकारी (second senior most administrative officer) होता है। डीएम की गैर मौजूदगी में उसकी सभी जिम्मेदारियों का निर्वहन एडीएम (ADM) ही करता है।

एडीएम फुल फार्म इन हिंदी, एडीएम कैसे बने? कार्य, योग्यता, परीक्षा

एडीएम का क्या कार्य होता है? (What are the duties of an ADM?)

प्रत्येक व्यक्ति के मन में यह सवाल उठता है कि जब जिले में डीएम है तो एडीएम की क्या जरूरत है? वह क्या करता है यानी उसके कार्य क्या क्या हैं? अब हम आपको यही बताएंगे कि एक एडीएम का क्या कार्य होता है (what are the duties of an ADM)-

  • एडीएम का कार्य जिले में कानून व्यवस्था बनाए रखना (to maintain law and order), सभी जिला कार्यालयों, उप प्रभागों एवं तहसीलों का निरीक्षण (inspection) करना होता है।
  • एडीएम का कार्य सभी तरह के प्रमाण पत्र जारी (to issue certificates) करना है। मसलन मैरिज सर्टिफिकेट (marriage certificate), डोमिसाइल सर्टिफिकेट (domicile certificate) आदि।
  • वह डीएम की अनुपस्थिति में (in the absence of DM)) जिले की जिम्मेदारी संभालता है।
  • डीएम को उसके कार्यों में मदद करता है।
  • एक एडीएम के पास ही बाल श्रम (child labour) यानी बाल मजदूरी से संबंधित मामलों की जांच (investigation) करने एवं दोषियों पर कार्रवाई (action) की जिम्मेदारी होती है।
  • जमीन से जुड़े मामलों जैसे-भूमि एवं संपत्ति के दस्तावेजों का रजिस्ट्रेशन (registration of land and property related documents) भी उसी का कार्य है।
  • प्राकृतिक आपदा (natural disaster) की स्थिति में घटनास्थल तक मदद पहुंचाने आदि की जिम्मेदारी भी एडीएम की होती है।
  • जिले के सभी पुलिस स्टेशनों (police stations) की जांच एवं निरीक्षण (investigation and inspection) भी एडीएम का ही कार्य होता है।

एडीएम बनने के लिए कौन सी परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है? (Which exam to be cleared to become an ADM?)

दोस्तों, आपको बता दें कि एडीएम बनने के लिए सीधे सीधे कोई परीक्षा नहीं होती। अभ्यर्थी को देश की प्रतिष्ठित सिविल सेवा परीक्षा (civil service exam) यानी सीएसई (CSE) उत्तीर्ण करनी होती है। इस परीक्षा का आयोजन यूपीएससी (UPSC) यानी संघ लोक सेवा आयोग (union public service commission) करता है।

एडीएम बनने के को एक छात्र को परीक्षा में बैठने के लिए आवेदन पत्र (application form) भरना होगा। इसके पश्चात उसे यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा (preliminary exam) देनी होगी। इसमें सफल होने के पश्चात उसे मुख्य परीक्षा (main exam) में बैठने के लिए बुलावा भेजा जाएगा।

यदि उम्मीदवार इसमें भी सफल रहता है तो उसे साक्षात्कार यानी इंटरव्यू (interview) के लिए न्योता भेजा जाता है। इसमें प्रदर्शन के आधार पर मेरिट लिस्ट (merit list) तैयार की जाती है। रैंकिंग के आधार पर (on the basis of ranking) चयनित अभ्यर्थियों (selected candidates) की सूची जारी कर दी जाती है।

इसके पश्चात उन्हें प्रशासनिक अकादमी में ट्रेनिंग (training) दी जाती है। इस ट्रेनिंग के समाप्त होने के पश्चात आवश्यकतानुसार विभिन्न जिलों में एडीएम (ADM), एसडीएम (SDM), सीडीओ (CDO) आदि पदों पर तैनाती दी जाती है।

एडीएम बनने के लिए सीएसई में बैठने की आवश्यक योग्यता क्या है? (What is the eligibility to take CSE to ba ADM?)

एक एडीएम बनने के लिए सीएसई (CSE) में बैठने की आवश्यक योग्यता यूपीएससी (UPSC) की ओर से निर्धारित की गई है, जो कि इस प्रकार से है-

  • अभ्यर्थी भारत का नागरिक (citizen of India) हो।
  • अभ्यर्थी ने किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय अथवा संस्थान (recognised board/institution) से ग्रेजुएशन (graduation) की डिग्री हासिल की हो।
  • अभ्यर्थी की नयूनतम उम्र (minimum age) 21 वर्ष हो।
  • अभ्यर्थी की अधिकतम उम्र (maximum age) विभिन्न वर्गों (different categories) के लिए अलग अलग निर्धारित की गई है। यह सामान्य वर्ग (general category) के लिए 32 वर्ष, ओबीसी (OBC) के लिए 35 वर्ष एवं एससी/एसटी (SC/ST) के लिए अधिकतम 37 वर्ष से अधिक न हो।

एडीएम एवं एसडीएम में क्या अंतर है? (What is the difference between ADM and SDM?)

बहुत से एडीएम (ADM) एवं एसडीएम (SDM) को एक ही पद समझते हैं। वे दोनों अधिकारियों में कोई अंतर नहीं कर पाते, जबकि शाब्दिक अर्थ के साथ ही दोनों के कर्त्तव्यों (duties) में भी अंतर है। आपको बता दें दोस्तों कि एसडीएम (SDM) की फुल फार्म (full form) होती है – सब डिवीजनल मजिस्ट्रेट (sub divisional magistrate)

इसे हिंदी में उप प्रभागीय न्यायाधीश भी पुकारा जाता हैं। वहीं, एडीएम फुल फार्म (full form) तो हम आपको ऊपर बता ही चुके हैं। यह होती है – एडिशनल डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट additional (district magistrate)

एसडीएम जिले के उपखंडों को देखता है। वह डीएम के बाद सबसे शक्तिशाली होता है। वहीं, एडीएम डीएम के कार्यों में उसकी मदद करता है। वह डीएम के पश्चात दूसरा सबसे वरिष्ठ अधिकारी होता है।

एक एडीएम का वेतन कितना होता है? (What is the salary of an ADM?)

दोस्तों, आपको जानकारी दे दें कि एक एडीएम का वेतन (salary of an ADM) 57,100 से ढाई लाख रूपये तक हो सकता है। यह प्रत्येक राज्य में अलग अलग हो सकता है, इसलिए निश्चित तौर पर वेतन के संबंध में नहीं बताया जा सकता।

अलबत्ता, एक एडीएम को वे तमाम सुविधाएं (facilities) मिलती हैं, जो किसी भी भारतीय प्रशासनिक सेवा (indian administrative service) के अधिकारी को मुहैया होती हैं। जैसे – गाड़ी, घर, पानी-बिजली के बिल का भुगतान, मोबाइल के बिल का भुगतान, नौकर-चाकर, गार्ड, चिकित्सा भत्ता, पेंशन आदि।

एडीएम बनने के लिए तैयारी कब से करनी चाहिए? (When one should start preparations to become an ADM?)

जैसा कि हमने आपको बताया कि एडीएम बनने के लिए यूपीएससी (UPSC) द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा civil service exam उत्तीर्ण करनी होगी। अब आपको बताएंगे कि इसमें बैठने के लिए तैयारी कब से शुरू कर देनी चाहिए। दोस्तों, आप ग्रेजुएशन (graduation) में एडमिशन (admission) लेने के साथ ही इस परीक्षा के लिए तैयारी (preparations) शुरू कर दें तो बेहतर होगा।

प्रतिदिन 6 से 7 घंटे अपनी पढ़ाई को अवश्य दें। अपने करेंट अफेयर्स (current affairs) को मजबूत करना आपके लिए बेहद आवश्यक होगा। इसके लिए आप योजना, फ्रंटलाइन जैसी मैगजीन के साथ ही एक एक हिंदी एवं अंग्रेजी के न्यूजपेपर (news paper) का रोज अवश्य अध्ययन करें।

चाहें तो आप अपने शहर में स्थित किसी लाइब्रेरी (library) के भी सदस्य (member) बन सकते हैं। इसके अतिरिक्त आप इंटरनेट (internet) को अपनी पढ़ाई के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। यूट्यूब (YouTube) पर ऐसे अनेकों जानकारी भरे चैनल (channel) उपलब्ध हैं, जिन्हें आप सब्सक्राइब (subscribe) कर सकते हैं।

यदि आप सिविल सेवा की परीक्षा (civil service exam) की तैयारी करने वाले अपने अन्य मित्रों, परिचितों के साथ मिलकर तैयारी करें तो और बेहतर रहेगा। विभिन्न विषयों पर ग्रुप डिस्कशन (group discussion) में मदद मिलेगी। इसके अतिरिक्त आपको अपने उस विषय पर भी मजबूत पकड़ बनानी होगी, जिसका चयन (selection) आपने परीक्षा के लिए किया है।

आप आईएएस (IAS) में चयनित हुए अभ्यर्थियों (selected candidates) के इंटरव्यू (interview) देख सकते हैं। परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन (better performance) के लिए उनके द्वारा दिए गए टिप्स (tips) को आजमा सकते हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि इस परीक्षा में सफलता (success) का कोई शार्टकट (short cut) नहीं है।

इसके लिए आपको खूब मेहनत करनी होगी और अपने आप पर भरोसा (confidence) रखना होगा। यानी आत्मविश्वास (self confidence) को उच्च स्तर पर बनाए रखना होगा। यदि आप समर्थ हैं तो किसी अच्छे कोचिंग संस्थान (coaching institute) को भी ज्वाइन कर सकते हैं। लेकिन मूल रूप से मेहनत आपको ही करनी होगी। इसके अतिरिक्त कोई विकल्प (option) नहीं है।

जिले में डीएम की तरह क्या एडीएम का एक ही पद होता है? (Is there only one post of ADM in the district as of DM?)

बहुत से लोगों के मन में यह सवाल भी आता है कि क्या डीएम की भांति जिले में एडीएम का एक ही पद होता है? आपको जानकारी दे दें दोस्तों कि ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। जिले के आकार एवं आवश्यकता के अनुसार एडीएम के पद सृजित किए जाते हैं।

आम तौर पर जिले के प्रशासनिक सेट अप (administrative set up) में डीएम को सहायता करने के लिए एक सीडीओ (CDO), पांच एडीएम (ADM), एक सिटी मजिस्ट्रेट (city magistrate) एवं एक एडीशनल सिटी मजिस्ट्रेट (additional city magistrate) होता है। उसकी सहायता के लिए जो पांच एडीएम होते हैं, वे इस प्रकार से हैं-

  • एडीएम फाइनेंस/रिवेन्यू (adm finance/revenue)।
  • एडीएम ई (ADM E)
  • एडीएम सिटी (ADM city)।
  • एडीएम लैंड एक्विजिशन (adm land acquisition)।
  • एडीएम ज्यूडिशियल (ADM judicial)।

एडीएम फुल फार्म क्या है?

एडीएम फुल फार्म है – एडिशनल डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट।

एडीएम को हिंदी में क्या पुकारा जाता है?

एडीएम को हिंदी में अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट पुकारा जाता है।

एडीएम किस स्तर का पद होता है?

यह जिले में डीएम के बाद दूसरा सबसे बड़ा प्रशासनिक पद होता है।

एक एडीएम की क्या जिम्मेदारियां होती हैं?

एक एडीएम डीएम को उसकी जिम्मेदारियों के निर्वहन में मदद करता है। इसके अतिरिक्त कानून व्यवस्था संभालने के साथ ही जिला कार्यालयों, तहसीलों आदि का निरीक्षण करना होता है।

एक एडीएम का चयन किस परीक्षा से होता है?

एडीएम के चयन को सीधे कोई परीक्षा नहीं होती। उसे यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा पास करनी होती है। इसके पश्चात चुने गए अभ्यर्थियों को ट्रेनिंग के पश्चात एडीएम, एसडीएम, सीडीओ आदि पदों पर काम करने का मौका मिलता है।

एडीएम बनने के लिए सीएसई में बैठने को आवश्यक योग्यता क्या है?

एडीएम बनने के लिए अभ्यर्थी को भारत का नागरिक होना चाहिए। उसकी न्यूनतम उम्र 21 साल हो तथा उसने किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन किया हो।

एडीएम बनने के लिए परीक्षा में बैठने को अधिकतम उम्र क्या है?

यह आयु सीमा अलग अलग निर्धारित की गई है। जैसे-सामान्य वर्ग के लिए अधिकतम आयु सीमा 32 वर्ष, ओबीसी के लिए 35 वर्ष तथा एससी/एसटी के लिए 37 वर्ष है।

दोस्तों, हमने आपको एडीएम फुल फार्म इन हिंदी, एडीएम कैसे बने? कार्य, योग्यता, परीक्षा, इस संबंध में विस्तार से जानकारी दी। यदि इस संबंध में आपका कोई सवाल है तो आप उसे बेखटके नीचे दिए गए कमेंट बाक्स (comment box) में कमेंट (comment) करके भेज सकते हैं। यदि यह आर्टिकल आपको ज्ञानवर्धक लगा है तो इसे अधिक से अधिक लोगों से शेयर करें। ।।धन्यवाद।।

————————–

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment

शेयर मार्किट से पैसे कैसे कमाए? जमीन का सरकारी रेट कैसे पता करें? ओटीटी प्लेटफॉर्म क्या है? OTT कैसे काम करता है? सरकारी बैंकों से लोन कैसे लें? इनकम टैक्स चोरी की शिकायत कैसे करें?