आसान किस्त योजना क्या है? Aasan Kisht Yojana लाभ कैसे प्राप्त करें?

आसान किस्त योजना इन हिंदी – जिंदगी गुजारने की जरूरतों में सबसे महत्वपूर्ण है बिजली। दो घंटे के लिए भी बिजली चली जाए तो हाहाकार मच जाता है। खास तौर पर अगर गर्मियों का मौसम हो तब तो आफत ही मच जाती है। लोग कूलर, एसी, पंखे सब कुछ चलाते हैं, लेकिन अपने कनेक्शन पर इतना लोड लेने पर जब बिजली का बिल उनके सामने आता है तो उनके होश उड़ जाते हैं। कई लोग प्राथमिकता के आधार पर बिजली का बिल जमा कर देते हैं, तो कई इसे जमा नहीं कर पाते। इसकी वजह कभी पैसे की दिक्कत होती है तो कभी लापरवाही। ऐसे में बिल का बकाया इतना बढ़ जाता है कि उसे जमा कराना मुश्किल हो जाता है।

आसान किस्त योजना क्या है? Aasan Kisht Yojana लाभ कैसे प्राप्त करें?

जेब से कमजोर लोगों के लिए खास तौर पर बिजली का बिल भरना बेहद मुश्किल होता जाता है। ऐसे में महीने दर महीने सिर पर बिजली का बिल बढता ही चला जाता है। एक वक्त ऐसा भी आता है कि कनेक्शन कटने तक की नौबत आ जाती है। उत्तर प्रदेश सरकार अपने ऐसे ग्राहकों को राहत पहुंचाने, सहूलियत देने के लिए एक ऐसी ही योजना लेकर आई है, जिसका नाम है आसान किस्त योजना

ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने इस संबंध में ट्वीट करके भी जानकारी दी। मकसद यही है कि Aasan Kisht Yojana का अधिक से अधिक लोग लाभ उठाएं। सालों से बकाया अपने बिजली बिल का भुगतान किस्तों के माध्यम से करें। ताकि उन पर भी बोझ न पड़े और विभाग को भी रुकी कमाई हो। आज इस post के माध्यम से हम इस आपको इस ताजा तरीन योजना के बारे में सारी अहम जानकारी देंगे।

आसान किस्त योजना क्या है –

जैसा कि इसके नाम से ही स्पष्ट है यह योजना आसान किस्तों पर आधारित है। इसमें बिजली का सालों पुराना बकाया आसान किस्तों में चुकाने की सुविधा रहेगी। इसकी खास बात यह है कि यह योजना उन गरीब उपभोक्ताओं की सहूलियत के लिए लाई गई है, जिन्होंने पैसे की कमी या अन्य किसी भी वजह से लंबे समय से बिजली का बिल जमा नहीं किया है। इस योजना के जरिये सरकार की कोशिश राजस्व हासिल करना भी है।

आसान शब्दों और एक लाइन में कहें तो उपभोक्ता इस योजना के तहत अपने सालों से बकाया बिल की राशि को आसान किस्तों में भुगतान कर सकेंगे। हालांकि इस किस्त की कितनी राशि होगी, उसको भी Aasan Kisht Yojana के तहत पहले से ही तय किया गया है।

आसान किस्त योजना कब चालू हुई और कब तक चलेगी –

यह एक नई नवेली योजना है। इस योजना को शुरू हुए अभी ज्यादा दिन नहीं हुए, महज चंद रोज ही गुजरे हैं। इसी माह यानी 11 नवंबर, 2019 से इस योजना का शुभारंभ किया गया है। गरीब उपभोक्ताओं को बिजली बिल जमा करने में सहायता प्रदान करने के लिए लाई गई इस योजना का लाभ उठाने के लिए पहले पंजीकरण यानी registration कराना आवश्यक होगा। पंजीकरण कराने की अंतिम तिथि आने वाली 31 दिसंबर निर्धारित की गई है।

आसान किस्त योजना लाभ के लिए क्या रखी गई है शर्त –

पंजीकरण यानी registration के बाद योजना का लाभ लेने के लिए एक शर्त भी रखी गई है। वो यह है कि उपभोक्ताओं को योजना का लाभ तभी मिलेगा, जबकि हर माह आने वाले वर्तमान बिल के साथ वह बकाया बिल की किस्त भी जमा करेंगे। मासिक बिल और किस्त की धनराशि समय से जमा किए जाने पर उपभोक्ता के बिल पर लगे अधिभार यानी surcharge को भी खत्म कर दिया जाएगा। यह लाभ होगा।

कितनी किस्तों में जमा करना होगा बिल –

साथियों, आपको यह भी बता दें कि आसान किस्त योजना के तहत शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के उपभोक्ताओं के लिए भुगतान करने को अलग अलग किस्त अवधि निर्धारित की गई हैं। जैसे कि इसके तहत एक साथ बकाया बिल जमा न करने वाले शहरी क्षेत्र के ग्रामीण उपभोक्ता 12 किस्तों में बकाया बिल का भुगतान कर सकेंगे, जबकि ग्रामीण क्षेत्र के उपभोक्ताओं को बकाया बिल का भुगतान 24 किस्तों में करने की सुविधा दी गई है।

किस्त जमा की शर्त क्या है –

आसान किस्त योजना के तहत इस किस्त जमा की शर्त भी रखी गई है और शर्त यह है कि किस्त की न्यूनतम राशि 1500 रुपये से कम न हो। या फिर जो आपका कुल बिल होगा, आपको उस बिल की पांच प्रतिशत राशि जमा करनी होगी।

कितने वाट के कनेक्शन वालों को मिलेगी सुविधा –

दोस्तों, ऐसा नहीं कि बिजली बिल का कोई भी बकायादार या हर कोई उपभोक्ता इस आसान किस्त योजना का लाभ उठा सकेगा। दरअसल, इसकी भी सीमा निर्धारित की गई है। आसान किस्त का योजना का लाभ केवल वही लोग उठा सकेंगे, जिन्होंने अधिकतम 4 किलोवाट तक का घरेलू कनेक्शन ले रखा है। इससे सरकार को भी राजस्व में इजाफा होने की उम्मीद है। बता दें कि योजना के तहत आपको सारी किस्तों का भुगतान online ही करना होगा।

आसान किस्त योजना का लाभ कैसे उठा सकते हैं –

दोस्तों, जैसा कि हम ऊपर बता चुके हैं। इस योजना का लाभ उठाने के लिए उपभोक्ताओं को registration करना होगा। उपभोक्ता को इसके लिए अपने क्षेत्र के उप खंड यानी sub division कार्यालयों या उपभोक्ता सेवा केंद्र यानी कि Common Service Center, जिसे CSC भी पुकारा जाता है, पर जाकर संपर्क करना होगा। यहां आपको बताया जाएगा कि आप किस तरह योजना के लिए रजिस्टेशन कर सकते हैं। और आपको अपने बिल की कापी के साथ और किन किन कागजात की जरूरत पडेगी।

आसान किस्त योजना Toll free नंबर से भी ले सकते हैं मदद –

अगर आपको इस आसान किस्त योजना के संबंध में और ज्यादा जानकारी चाहिए तो आपकी मदद के लिए एक toll free number भी UPCL यानी कि Uttar Pradesh Power Corporation Limited की ओर से जारी किया गया है। यह toll free number – 1912 है। इस सहायता नंबर पर योजना के दायरे में आने वाला उपभोक्ता या योजना का लाभ उठाने का इच्छुक उपभोक्ता अपनी मुश्किल बता उसका हल पा सकता है। जैसा कि हम बता चुके हैं कि यह toll free number है, लिहाजा इस पर call करने के लिए आपको कोई शुल्क या fee भी किसी को नहीं चुकानी होगी।

आसान किस्त योजना लागू करने की जिम्मेदारी किसके पास है –

जैसा कि हम जानते हैं कि उत्तर प्रदेश देश का सबसे बडा राज्य है। उसके उपभोक्ताओं के लिए ऊर्जा निगम चार जोन में काम करता है। UPCL यानी यूपीसीएल के पास Aasan Kisht Yojana को लागू करने की जिम्मेदारी है। जैसे मध्यांचल, पूर्वांचल, पश्चिमांचल और दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगमों के प्रबंध निदेशकों पर योजना को सफलता के साथ लागू करने की जिम्मेदारी है।

बिजली का बिल न चुकाया तो होगी कार्रवाई –

अब सरकार ने बिजली का पुराना बकाया चुकाने की सहूलियत देने के लिए उपभोक्ताओं के लिए आसान किस्त योजना निकाली है तो इसका मतलब यह नहीं है कि वह बिल जमा न करें और भविष्य में भी इस तरह की योजना की राह देखें। विभाग ने साफ किया है कि अगर कोई बिजली का बकाया करता है या बिल जमा नहीं करता तो उसके खिलाफ निर्धारित विभागीय कार्रवाई की ही जाएगी। ग्रामीण क्षेत्रों में खास तौर पर विभाग के इस तरह के ग्राहक हैं, जो बिल देने में हीला हवाली करते हैं। या जो थोडा सा पैसा जमाकर अपना कनेक्शन कटने से बचाए रहते हैं, ऐसे में उनका बकाया बढता रहता है।

विभाग अब ऐसे ग्राहकों पर भी सख्ती बरतने की पूरी तैयारी में है। पुराने बकाये को निपटाने के लक्ष्य पर निगाह के साथ ही उसका यह भी लक्ष्य है कि नए सिरे से किसी को भी बिजली बिल जमा करने में लापरवाही की इजाजत कदापि न दी जाए। इसके लिए उसने कई स्थानों पर टीमों का भी गठन किया है। जो कि इस समस्या से निपटेंगी।

बिल संशोधन की स्थिति में क्या होगा –

आप एक बात और जान लें कि आसान किस्त योजना के तहत हालांकि यह साफ किया गया है कि अगर बिल बगैर संशोधन जमा करना है तो 31 दिसंबर तक रजिस्ट्रेशन कराना होगा। लेकिन अगर कोई उपभोक्ता बिजली बिल में संशोधन का विकल्प देंगे तो वह बिल हासिल होने के एक सप्ताह में इसके लिए रजिस्टेशन करा सकेंगे और इस योजना का लाभ उठा सकेंगे।

त्रुटियों की वजह से करोडों का बिल बकाया –

साथियों, आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में उपभोक्ताओं पर बिजली बिल का सालों का करोडों बकाया चल रहा है। ढेरों ऐसे लोग भी इनमें शामिल हैं, जिनके बिजली के बिलों में गड़बड़ी थी और इसे ठीक कराने के लिए वह निगम के चक्कर काटते रहे ताकि, वह संशोधित बिल जमा करा सकें, लेकिन उनकी दिक्कत दूर नहीं हुई।

ऐसे में उन पर बकाया बढता गया। यह जो नई योजना लाई गई है इसमें संशोधित बिल जमा करने का प्रावधान किया गया है, यह ऐसे ही लोगों के लिए है, जिनके बिलों में कोई न कोई त्रुटि है और उन्हें इसे दूर कराकर अपना बिल जमा कराना है। उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन लिमिटेड यानी यूपीसीएल के Aasan Kisht Yojana लाने के पीछे एक वजह यह भी है कि कम से कम सहूलियत से किश्तों के जरिये भुगतान से यह बकाया कम होगा, दूसरे यूपीसीएल को राजस्व भी हासिल होगा।

हालात तो यह भी हैं –

बिजली उपभोक्ताओं की हालत तो यह है कि उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड के गांवों में लोग तारों पर कटिया डालकर बिजली चोरी करते हैं ताकि उन्हें बिजली का बिल न देना पडे। कई बार इस संबंध में शिकायत किए जाने पर उत्तर प्रदेश या उत्तराखंड उर्जा निगम की विजिलेंस टीम छापा मारने के लिए इन गांवों में जाती हैं, लेकिन होता यह है कि या तो उन्हें ग्रामीणों के द्वारा बंधक बना लिया जाता है, या कई बार गांव वाले टीम के सदस्यों पर हमला कर उनको भगा देते हैं।

कई बार अधिकारियों की ओर से ग्रामीणों पर मुकदमा कराया जाता है। कुछ को हिरासत में भी लिया जाता है। जुर्माना पडता है, जेल भी होती है। लेकिन हालात में सुधार आने का नाम नहीं लेते। ऐसी स्थिति में Aasan Kisht Yojana कम से कम एक अच्छा कदम साबित होगी, ऐसी उम्मीद की जा सकती है।

तो साथियों अगर आप या आपका कोई संबंधी या मित्र भी उत्तर प्रदेश में रहने वाले हैं और किसी भी कारण आप पर बिजली बिल का बकाया है और आप इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो दी गई तारीख तक अपना रजिस्टेशन करा लें। सहूलियत के लिए लाई गई इस योजना से लाभान्वित हो लें। इस योजना के जरिये दरअसल उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार खुद को गरीबों का खैर ख्वाह साबित भी करना चाहती है।

बडी संख्या में लोग इस योजना से लाभान्वित होंगे। ऐसे में इसे भी सरकार के लोकहित और लोकप्रिय कदमों की संज्ञा दी जाएगी। सरकार भविष्य में या यूं कहिए कि चुनाव के वक्त इस योजना को भुनाएगी। इसे अपनी उपलब्धियों में शामिल करेगी। अगर इस योजना के प्रति रिस्पांस बेहतर रहा तो सरकार बाद में इसे
बढावा देने पर भी विचार करेगी।

तो दोस्तों यह है आसान किस्त योजना के सम्बन्ध में कदम दर कदम जानकारी। उम्मीद है कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। अगर इस पोस्ट को पढकर आपके दिल ओ दिमाग में भी कोई सवाल सिर उठा रहा है तो आप बेझिझक पूछ सकते हैं। कोशिश रहेगी कि हम आपको उस सवाल का पूरी तरह जवाब दे सकें।

Spread the love

1 thought on “आसान किस्त योजना क्या है? Aasan Kisht Yojana लाभ कैसे प्राप्त करें?”

Leave a Comment